नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट: 30 जिले की 4 एक्सप्रेसवे के जरिए सीधी कनेक्टिविटी, 2024 में भरी जाएगी पहली उड़ान

इस एयरपोर्ट से 2024 में पहली उड़ान भरी जाएगी। पहले चरण का काम तब तक पूरा जाएगा। यह हवाई अड्डा दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से 72 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

गौतमबुद्धनगर: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया। भाजपा को इस एयरपोर्ट के जरिए जहां चुनावी उड़ान मिलने की उम्मीद है तो वहीं पश्चिम यूपी, हरियाणा के कुछ जिलों और एनसीआर के लिए यह हवाई अड्डा बेहद अहम रहने वाला है। इससे एक तरफ दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर दबाव कम होगा तो वहीं एनसीआर के बड़े हिस्से के लोगों को अपने नजदीक से ही फ्लाइट मिल सकेगी।

तो आइए जानते हैं कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से आम लोगों को क्या लाभ मिलेंगे:

1. यूपी के 30 जिले सीधे जुड़ेंगे

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट आगरा, मेरठ, मथुरा, गाजियाबाद, नोएडा, अलीगढ़, बुलंदशहर, हाथरस समेत पश्चिम यूपी और ब्रज क्षेत्र के करीब 30 जिलों को जोड़ेगा। इस एयरपोर्ट पर नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, आगरा समेत कई जिलों से पहुंचना बेहद आसान होगा।

2. हरियाणा के नजदीकी शहरों को फायदा

इसके अलावा हरियाणा के भी नजदीकी शहरों के लोगों को इस एयरपोर्ट से सुविधा मिलेगी। इससे क्षेत्र के विकास पर कितना असर पड़ेगा, इसे इससे ही समझा जा सकता है कि आसपास के गांवों में प्रॉपर्टी के रेट तेजी से बढ़े हैं। इसके अलावा इन्फ्रास्ट्रक्चर का विकास भी तेजी से हुआ है।

3. चार एक्सप्रेस वे से कनेक्टिीविटी

कनेक्टिंग फ्लाइट्स से बचने के लिए लोग बड़ी संख्या में इसका इस्तेमाल करेंगे। इसकी वजह यह भी है कि एयरपोर्ट की 4 एक्सप्रेसवे से सीधे कनेक्टिविटी होगी, जिससे लोगों के लिए यहां पहुंचना आसान होगा। यमुना एक्सप्रेसवे, आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे और बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इससे सीधे तौर पर जुड़ेंगे।

4. 2024 में भरी जाएगी पहली उड़ान

इस एयरपोर्ट से 2024 में पहली उड़ान भरी जाएगी। पहले चरण का काम तब तक पूरा जाएगा। यह हवाई अड्डा दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से 72 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।


न्यूज9इंडिया डेस्क

न्यूज9इंडिया डेस्क