शिव'राज का हाल! टार्गेट पूरा करने के लिए मृतक का कर दिया गया वैक्सीनेशन

ग्वालियर में एक ऐसे व्यक्ति को वैक्सीन लगाने का दावा किया जा रहा है जिसकी कुछ महीने पहले मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की इस करतूत से सरकार के वैक्सीनेशन के आंकड़ों पर भी सवाल उठने लगा है।

भोपाल: मध्य प्रदेश में किस तरह से ईमानदारी और पूरी पारदर्शिता के साथ वैक्सीनेशन किया गया है उसका अंदाजा आप इस रिपोर्ट को पढ़कर लगा सकते हैं। सूबे के ग्वालियर जिले में टार्गेट पूरा करने के लिए मुर्दों का वैक्सीनेशन कर दिया गया है। आपको यह खबर पढ़कर या सुनकर हैरानी जरूर हो रही होगी लेकिन कागजी हकीकत यही है।

ग्वालियर में एक ऐसे व्यक्ति को वैक्सीन लगाने का दावा किया जा रहा है जिसकी कुछ महीने पहले मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की इस करतूत से सरकार के वैक्सीनेशन के आंकड़ों पर भी सवाल उठने लगा है। 

मिली जानकारी के मुताबिक, भितरवार वार्ड-3 निवासी विनोद पाठक स्वास्थ्य विभाग में कर्मचारी हैं। उनके पिता 81 वर्षीय शिवचरण पाठक की गैंगरीन के चलते 10 मई 2021 को मौत हो चुकी है। शिवचरन की मौत से पहले 9 अप्रैल 2021 को उनको वैक्सीन की पहली डोज लगवाई गई थी। रजिस्ट्रेशन के लिए बेटे विनोद का मोबाइल नंबर यूज किया गया था। 

शिवचरन की मौत के बाद उनका डेथ सार्टिफिकेट भी बन गया था। लेकिन 17 नवंबर 2021 को विनोद के पास एक मैसेज आया जिसमें लिखा था कि आपको वैक्सीन का दूसरा डोज सफलतापूर्वक लग गया है। यह देखकर खुद विनोद भी हैरान रह गए। इसकी जानकारी के लिए विनोद भितरवार स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। उन्होंने यहां पता किया तो कोई जानकारी नहीं मिली। मामले में सीएमएचओ डॉ. मनीष शर्मा का कहना है कि वह इसकी जांच कराएंगे कि ऐसा कैसे हो गया। 


न्यूज9इंडिया डेस्क

न्यूज9इंडिया डेस्क