ड्रग्स पार्टी मामला: 'आरोप साबित करने के लिए आर्यन के खिलाफ कोई सबूत नहीं हैं', बेल ऑर्डर में बॉम्बे हाईकोर्ट

आज बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा आर्यन खान को दिए गए बेल ऑर्डर की कॉपी पब्लिश हुई है। बेल ऑर्डर में आर्यन को जमानत देते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने टिप्पणी की है कि अभियोजन पक्ष द्वारा एक भी सबूत ऐसा नहीं पेश किया गया जिसमें उनके मामले में संलिप्पता होने की पुष्टि हो रही हो।

मुंबई: अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज पर ड्रग्स पार्टी करने के मामले में गिरफ्तार तो कर लिया गया लेकिन एनसीबी उनके खिलाफ कोई ठोस सबूत रखने में नकाम रही है। दरअसल, आज बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा आर्यन खान को दिए गए बेल ऑर्डर की कॉपी पब्लिश हुई है। बेल ऑर्डर में आर्यन को जमानत देते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने टिप्पणी की है कि अभियोजन पक्ष द्वारा एक भी सबूत ऐसा नहीं पेश किया गया जिसमें उनके मामले में संलिप्पता होने की पुष्टि हो रही हो।


बता दें कि बेल ऑर्डर के साथ कोर्ट ने 14 पन्नों के आदेश में बताया कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के पास आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा के खिलाफ कोई सबूत नहीं है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने आदेश में कहा, 'कोर्ट के सामने ये साबित करने के लिए कोई ऑन-रिकॉर्ड पॉजिटिव सबूत पेश नहीं किए गए हैं कि सभी आरोपी व्यक्ति सामान्य इरादे से गैरकानूनी कार्य करने के लिए सहमत हुए।'

बॉम्बे हाई कोर्ट ने आदेश में आगे कहा, 'अदालत इस बात के प्रति संवेदनशील है कि सबूत के रूप में ठोस सामग्री होनी चाहिए, जिससे आवेदकों के खिलाफ साजिश के मामले को साबित किया जा सके। सिर्फ इसलिए कि आर्यन और उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट, मुनमुन धमेचा एक ही क्रूज में थे, ये अपने आप में उनके खिलाफ साजिश के आरोप का आधार नहीं हो सकता है।'


न्यूज9इंडिया डेस्क

न्यूज9इंडिया डेस्क