कोरोना की भेंट चढ़ा भारत-इंग्लैड के बीच होनेवाला 5वां टेस्ट मैच

मैच को रद्द करने का फैसला दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड द्वारा आपसी सहमति से लिया गया है। दरअसल, बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए टीम इंडिया ने पहले दिन मैदान पर उतरने से इनकार कर दिया, जिसके बाद इस फैसले को मंजूरी दी गई।

नई दिल्ली: आखिर जिस बात की आशंका थी वही हुआ। दरअसल, कोरोना की वजह से भारत और इंग्लैंड के बीच खेला जाने वाले पांचवा टेस्ट मैं रद्द कर दिया है। यह मुकाबला मैनचेस्टर के एमिरेट्स ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर होने वाला था। 

मैच को रद्द करने का फैसला दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड द्वारा आपसी सहमति से लिया गया है। दरअसल, बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए टीम इंडिया ने पहले दिन मैदान पर उतरने से इनकार कर दिया, जिसके बाद इस फैसले को मंजूरी दी गई।

इस सीरीज में भारत फिलहाल 2-1 से आगे है, लेकिन पांचवें मैच के रद्द होने की सूरत में इस मैच को इंग्लैंड के खाते में जोड़ा जाएगा या फिर भविष्य में इस रद्द हुए मैच को फिर से आयोजित किया जाएगा। इस मैच के अब अगले इंग्लैंड दौरे पर होने की उम्मीद है।

बता दें कि अगले साल भारत सीमित ओवरों की सीरीज खेलने के लिए इंग्लैंड का दौरा करेगा। इस मैच के रद्द होने के साथ ही भारत ने इस साल 2007 के बाद पहली बार इंग्लैंड की सरजमीं पर टेस्ट सीरीज जीतने का मौका गंवा दिया। हालांकि टीम के पास अब भी मौका है, लेकिन उसके लिए उसे अब अगले साल तक का इंतजार करना होगा।

बतातें चलें कि चौथे टेस्ट मैच के दौरान भारतीय खेमे में कोरोना की एंट्री हो गई थी। सबसे पहले टीम के हेड कोच रवि शास्त्री कोरोना की चपेट में आए थे। शास्त्री इस समय आइसोलेशन पीरियड से गुजर रहे हैं। उनके अलावा फील्डिंग कोच आर श्रीधर, बॉलिंग कोच भारत अरुण और फिजियो नितिन पटेल भी लंदन में आइसोलेशन में हैं।

इन सबके बाद मैच शुरू हो एक दिन पहले टीम के जूनियर फिजियो योगेश परमार के भी कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सभी खिलाड़ियों का प्रैक्टिस सेशन रद्द कर दिया गया था और उन्हें होटल रूम में ही रहने के लिए कहा गया था। हालांकि बाद में सभी खिलाड़ियों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई थी, जिसकी वजह से इस मैच के तय समय पर होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ गई थी।

भारत और इंग्लैंड के बीच नॉटिघम में खेला गया इस सीरीज का पहला टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। यहां भारत के पास जीतने का सुनहरा मौका था, लेकिन बारिश ने उसका काम खराब कर दिया। सीरीज का दूसरा टेस्ट ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर खेला गया था, जहां भारत ने हार की स्थिति में होने पर जबरदस्त तरीके से पलटवार किया और 151 रनों से मैच जीतकर सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल की थी।

हैडिंग्ले में खेले गए सीरीज के तीसरे मुकाबले में भारत बुलंद हौसलों के साथ उतरा था, लेकिन यहां मेजबान इंग्लैंड ने शानदार तरीके से पलटवार किया और पारी और 76 रनों से जीत दर्ज कर सीरीज को 1-1 की बराबरी पर ला दिया।

सीरीज के चौथे और पिछले मैच में एक बार फिर भारत ने पिछड़ने के बाद धमाकेदार वापसी की और 157 रनों से मैच में जीत करके सीरीज में 2-1 की बढ़त हासिल कर ली थी।


न्यूज9इंडिया डेस्क

न्यूज9इंडिया डेस्क