कब्ज और गैस से आराम चाहिए, लोहे की नहीं मिट्टी के तवे पर सेंकी गई रोटी खाइए !

मिट्टी के बर्तन में पका खाना न सिर्फ स्वादिष्ट बल्कि पौष्टिक भी होता है। इन बर्तनों पर भोजन पकाने से उसके पोषक तत्व खत्म नहीं होते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ फायदे जो व्यक्ति को मिट्टी के बर्तनों में खाना पकाकर खाने से मिलते हैं।

प्राकृतिक चीजें लाभदायक होती हैं। खाने पीने की चीजों से लेकर दवा तक  अगर आप देशी यानी प्राकृतिक चीजें खाएंगे-पियेंगे तो आपको लाभ ही होगा। ऐसे में अगर आप कब्ज या गैस की समस्या से परेशान हैं तो आप आज से ही मिट्टी के तवे पर सेंकी गई रोटी खानी शुरू कर दीजिए।

दरअसल, मिट्टी के बर्तन में पका खाना न सिर्फ स्वादिष्ट बल्कि पौष्टिक भी होता है। इन बर्तनों पर भोजन पकाने से उसके पोषक तत्व खत्म नहीं होते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ फायदे जो व्यक्ति को मिट्टी के बर्तनों में खाना पकाकर खाने से मिलते हैं। 

गैस से छुटकारा:

घंटों एक ही जगह बैठकर काम करने से अधिकतर लोगों को पेट में गैस की समस्या होने लगती है। अगर आप भी इस समस्या से जुझ रहे हैं तो मिट्टी के तवे पर रोटी पकाकर खाएं। आपको जल्दी ही पेट गैस की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

कब्ज से राहत:

गलत खान-पान आजकल ज्यादातर लोगों के लिए कब्ज का कारण बनता जा रहा है।इस परेशानी से राहत पाने के लिए मिट्टी के तवे पर सेंकी रोटी को अपनी डाइट में शामिल करें।

रोगों से बचाए रखने में करता है मदद:

मिट्टी के तवे पर रोटी पकाकर खाने से यह मिट्टी के तत्वों को अवशोषित करके रोटी की पौष्टिकता बढ़ देता है। इसमें मौजूद प्रोटीन बीमारियों से बचाने में भी मदद करते हैं। 

मिट्टी का तवा दूसरे तवों से क्यों है बेहतर:

विशेषज्ञों की मानें तो मिट्टी के तवे पर रोटी बनाने से उसका एक भी पोषक तत्व नष्ट नहीं होता है। जबकि एल्यूमीनियम के बर्तन में खाना बनाने से 87 प्रतिशत पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं। पीतल के बर्तन में खाना बनाने से  7 प्रतिशत पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। साथ ही कांसे के बर्तन में बने खाने से 3 प्रतिशत पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। केवल मिट्टी के बर्तन में बने खाने में 100 प्रतिशत पोषक तत्व मौजूद रहते हैं।

इन बातों का रखें विशेष ध्यान

  • मिट्टी के तवे पर रोटी कभी भी तेज आंच पर न सेंकें। ऐसा करने से आपका तवा चटक सकता है।
  • इस तवे का इस्तेमाल करते समय इस पर पानी लगाना चाहिए।
  • मिट्टी के तवे को कभी भी साबुन से नहीं धोना चाहिए। ऐसा करने से यह साबुन को अवशोषित कर लेता है।
  • मिट्टी के तवे को साफ करने के लिए साफ कपड़े का यूज करें। 


न्यूज9इंडिया डेस्क

न्यूज9इंडिया डेस्क