सावधान! नीबू का ज्यादा सेवन बिगाड़ सकता है आपकी सेहत, जानिए- कैसे

यकीनन शरीर में डिहाइड्रेशन रोकने, पाचन में सहायता करने और वजन घटाने में नींबू मददगार है। परंतु हमें यह समझने की ज़रुरत है कि संतुलित मात्रा में ही हर चीज़ का सेवन सही है।

वैसे तो नीबू में तमाम तरीके के कुदरती चीजें शामिल होती हैं और कोरोना काल में नीबू हमारे लिए अमृत से कम नहीं था। लेकिन ज्यादा नीबू का इस्तेमाल करने से आपकी सेहत बिगड़ सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि संतुलित रूप से नीबू का इस्तेमाल किया जाए। आजकल लोग नींबू पानी का सेवन करना पसंद करते हैं, क्योंकि इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं। यकीनन शरीर में डिहाइड्रेशन रोकने, पाचन में सहायता करने और वजन घटाने में नींबू मददगार है। परंतु हमें यह समझने की ज़रुरत है कि संतुलित मात्रा में ही हर चीज़ का सेवन सही है। तो आइए हम आपको बताते हैं कि नीबू किस तरह से आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाता है:

ज्यादा सेवन पेट खराब कर सकता है

नींबू पानी अक्सर पेट के लिए बेहद फायदेमंद होता हैं। मगर पानी में बहुत अधिक नींबू निचोड़ने से गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (GIRD) और एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux) जैसी समस्याएं हो सकती हैं। जीईआरडी और एसिड रिफ्लक्स नींबू जैसे एसिडिक खाद्य पदार्थों से शुरू होते हैं, और पाचन तंत्र में गड़बड़ी, घबराहट और उल्टी का कारण बन सकते हैं।

दांतों को नुकसान पहुंचा सकता है

अमेरिकन डेंटल एसोसिएशन के अनुसार नींबू अत्यधिक एसिडिक होते हैं, इसलिए बार-बार एक्सपोजर आपके दांतों के इनेमल को खराब कर सकता है। आपको नींबू पानी या ऐसी किसी भी चीज़ का सेवन करने के तुरंत बाद अपने दांतों को ब्रश करने से बचना चाहिए और तुरंत सादा पानी पीना चाहिए।



टॉन्सिल्स की समस्या

अमेरिकन डेंटल एसोसिएशन के अनुसार, बहुत अधिक नींबू पानी पीने से आपके गले में घाव हो सकते हैं। इतना ही नहीं ज्यादा खट्टी चीजों या फलों का सेवन करने से गले में दर्द और टॉन्सिल्स की समस्या आ सकती हैं। इसलिए, सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करें!

माइग्रेन हो सकता है

यह अभी तक सिद्ध नहीं हुआ है, मगर पिछले कुछ वर्षों में कुछ अध्ययनों ने माइग्रेन और खट्टे फलों के बीच एक संबंध की खोज की है। नींबू में टाइरामाइन अधिक होता है - एक प्राकृतिक मोनोमाइन जो अक्सर सिरदर्द से जुड़ा होता है। यह अन्य फलों की तुलना में नींबू में ज्यादा होता है।


न्यूज9इंडिया डेस्क

न्यूज9इंडिया डेस्क