Skip to main content
Follow Us On
Hindi News, India News in Hindi, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi, ताजा ख़बरें, News

मध्य प्रदेश: 12वीं तक के सभी स्कूल 31 जनवरी तक बंद, राजनीतिक व धार्मिक सभाओं पर भी रोक

इसके साथ ही उन्होंने सभी राजनीतिक और धार्मिक सभाओं और मेलों पर प्रतिबंध लगाने का भी एलान किया है। हालांकि, मकर संक्रांति 'स्नान' (Makar Sankranti) पर उन्होंने कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है।

इनपुट एजेंसियां

भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने नई पाबंदियों का ऐलान किया है । उन्होंने कहा कि कक्षा 1-12 के छात्रों के लिए 15 जनवरी से 31 जनवरी के बीच सभी सरकारी और निजी स्कूल बंद (All schools closed) रहेंगे। 

इसके साथ ही उन्होंने सभी राजनीतिक और धार्मिक सभाओं और मेलों पर प्रतिबंध लगाने का भी एलान किया है। हालांकि, मकर संक्रांति 'स्नान' (Makar Sankranti) पर उन्होंने कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 31 जनवरी तक सभी स्कूलों को बंद रखने का ऐलान कर दिया है। मालूम हो कि 20 जनवरी से प्री-बोर्ड टेक होम एग्जाम होने हैं। यानी पेपर ऑनलाइन घर से हल करना होगा। इसके अलावा सभी तरह के मेले और रैलियों पर भी रोक लगा दी गई है।

 इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खेल गतिविधियां 50 फीसदी क्षमता के साथ जारी रहेंगी। बड़ी सभाएं और आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे। वहीं 50फीसदी क्षमता के साथ हॉल में कार्यक्रम हो सकेंगे। सभी तरह के धार्मिक और आर्थिक मेलों पर रोक रहेगी। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोशल मीडिया एप कू पर एक वीडियो जारी कर इसका एलान किया।


शिवराज के मंत्री के करीबी Sex Scandal में फंसे, थाईलैंड की युवतियों के साथ BJPYM के 3 नेता गिरफ्तार

इंदौर जिले की पुलिस में भारतीय जनता पार्टी की युवा मोर्चा इकाई के 3 नेताओं को सेक्स स्कैंडल में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए नेताओं में से एक मध्य प्रदेश के एक मंत्री का भी करीबी बताया जा रहा है।

फ़ोटो साभार: दैनिक भास्कर

इंदौर: मध्य प्रदेश की इंदौर जिले की पुलिस में भारतीय जनता पार्टी की युवा मोर्चा इकाई के 3 नेताओं को सेक्स स्कैंडल में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए नेताओं में से एक मध्य प्रदेश के एक मंत्री का भी करीबी बताया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक, इंदौर के विजयनगर में स्पा सेंटर पर थाईलैंड की 10 लड़कियों से पकड़े गए 8 ग्राहकों में 3 खंडवा के खालवा मंडल के भाजपा युवा मोर्चा के पदाधिकारी हैं। सभी को गुरुवार को छापा मारकर सेक्स रैकेट पकड़ा था। हरसूद विधानसभा क्षेत्र के यह नेता प्रदेश सरकार में वन मंत्री विजय शाह के करीबी भी हैं। तीनों मसाज कराने वहां गए थे, इस दौरान छापा पड़ गया और पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।


इंदौर पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार- सेक्स रैकेट मामले में खंडवा के तीन युवकों गिरफ्तार किया था। इनमें वरुण यादव, विवेक नामदेव और अशोक सिंगला शामिल थे। 

ये तीनों युवक भाजपा के पदाधिकारी हैं। वरुण यादव युवा मोर्चा खालवा मंडल में उपाध्यक्ष और विवेक नामदेव महामंत्री के पद पर हैं। अशोक सिंगला भाजपा का कार्यकर्ता है और ढाबा संचालक है।

BJP के तीनों पदाधिकारी प्रदेश सरकार में वन मंत्री विजय शाह के करीबी है। मंत्री शाह इसी क्षेत्र से विधायक है। मामला सामने आया तो कई लोगों ने मंत्री और उनके बेटे दिव्यादित्य के साथ आरोपियों के फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर किए है।

कांग्रेस ने कहा तंज

भारतीय जनता युवा मोर्चा के 3 नेताओं की सेक्स रैकेट में गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस नेता मुकेश दरबार ने लिखा- ये लोग एक आदर्श पार्टी के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता भी है। मंत्री के घनिष्ठ लोग मुंह काला करवा रहे हैं।


पीएम की सुरक्षा में चूक: पंजाब सरकार के विरोध में पूरे मध्य प्रदेश में गांधी प्रतिमा के समक्ष BJP का मौन धरना

भाजपा के आह्वान पर राजधानी भोपाल सहित पूरे प्रदेश में गांधी प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। धरने में पार्टी नेताओं के साथ सामाजिक संगठनों एवं प्रबुद्धजनों ने भी भागीदारी कर पंजाब सरकार की निंदा की।

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर भाजपा में भारी गुस्सा है और सुरक्षा में हुए खिलवाड़ को कांग्रेस की पंजाब सरकार का षड्यंत्र बताते हुए मध्य प्रदेश में भाजपा ने महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। भोपाल में भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल मंगुभाई पटेल को ज्ञापन सौंपा। 


भाजपा के आह्वान पर राजधानी भोपाल सहित पूरे प्रदेश में गांधी प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। धरने में पार्टी नेताओं के साथ सामाजिक संगठनों एवं प्रबुद्धजनों ने भी भागीदारी कर पंजाब सरकार की निंदा की। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने झाबुआ के राजवाड़ा चौक पर आयेाजित मौन धरना में हिस्सा लिया।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष शर्मा ने कहा कि संवैधानिक व्यवस्था के अंतर्गत राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री जिस प्रदेश में दौरे पर जाते हैं, उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है। दुर्भाग्य है कि कांग्रेस नेतृत्व ने पंजाब सरकार द्वारा जिस प्रकार प्रधानमंत्री की जान से खिलवाड़ कर उनकी सुरक्षा में कोताही बरती वह निदंनीय है। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पंजाब दौर के समय पुलिस के मुखिया का उपस्थित न होना और इस घटना के बाद मुख्यमंत्री द्वारा फोन न उठाना, कोई सामान्य घटना नहीं है। अंतर्राष्ट्रीय षडयंत्रों के तहत कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के इशारे पर पंजाब सरकार ने प्रधानमंत्री के खिलाफ षडयंत्र रचा।


मध्य प्रदेश: मास्क नहीं पहनने पर पेट्रोल पंपों पर नहीं दिया जाएगा पेट्रोल

राज्य के गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि प्रदेश में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। पेट्रोल पंप पर मास्क नहीं लगाने वाले वाहन चालकों को पेट्रोल और डीजल नहीं दिया जाएगा। इसके साथ मास्क नहीं लगाने पर सख्ती से जुर्माना भी वसूला जाएगा।

भोपाल: मध्य प्रदेश में केारेाना के मामले तेजी से बढ़ रहा है। इसे रोकने के लिए सरकार कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए सख्ती भी बरत रही है। इसी क्रम में शिवराज सरकार ने ऐलान किया है कि वाहन चलाने वालों को पेट्रोल और डीजल तभी मिलेगा, जब वे मास्क लगाएंगे।

राज्य के गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि प्रदेश में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। पेट्रोल पंप पर मास्क नहीं लगाने वाले वाहन चालकों को पेट्रोल और डीजल नहीं दिया जाएगा। इसके साथ मास्क नहीं लगाने पर सख्ती से जुर्माना भी वसूला जाएगा।


राज्य में कोरोना मरीजों का ब्यौरा देते हुए गृहमंत्री डा मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1320 नए केस आए हैं। वहीं 169 मरीज स्वस्थ हुए है। प्रदेश में वर्तमान में कुल 3780 एक्टिव केस हैं। कोरोना संक्रमण की दर 1.94 प्रतिषत और रिकवरी रेट 97.90 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि राज्य में पुलिस के 13 जवान भी कोरोना संक्रमित हुए है, इनमें छह ग्वालियर में और एक दतिया का है।


मध्य प्रदेश: झाबुआ में लोगों को गालियां देना 2 पुलिसवालों को पड़ा महंगा, सस्पेंड किये गए

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई। वीडियो में रायपुरिया थाना प्रभारी अनिल बामनिया कुछ लोगों पर लाठी बरसाते नजर आ रहे हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक ऑडियो क्लिप में बामनिया के साथ जा रहे सहायक उप निरीक्षक अजीत सिंह को भी लोगों को गाली देते हुए सुना गया।

भोपाल: मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले में लोगों को कथित तौर पर लाठियों से मारने और गाली-गलौज करने के आरोप में थाना प्रभारी समेत दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई। वीडियो में रायपुरिया थाना प्रभारी अनिल बामनिया कुछ लोगों पर लाठी बरसाते नजर आ रहे हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक ऑडियो क्लिप में बामनिया के साथ जा रहे सहायक उप निरीक्षक अजीत सिंह को भी लोगों को गाली देते हुए सुना गया।


घटना जिला मुख्यालय झाबुआ से करीब 40 किलोमीटर दूर रायपुरिया कस्बे के एक चौक पर शनिवार की रात हुई। जिसके बाद कुछ लोगों ने थाना प्रभारी की पिटाई भी कर दी। पुलिस ने कहा कि घटना के समय पहली नजर में बामनिया नशे में धुत प्रतीत होता है। कुछ लोगों ने कथित तौर पर बामनिया की पिटाई भी की, जिसे चोटें आईं और बाद में उनका मेडिकल टेस्ट कराया गया।

अधिकारी ने बताया कि वीडियो का संज्ञान लेने के बाद बामनिया और सिंह को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता ने बताया कि सूचना मिलने के बाद दो वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर भेजा गया है। गुप्ता ने कहा, "शुरुआती सूचना से पता चला है कि थाना प्रभारी नशे की हालत में थे। उनकी (बामनिया) मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है। दोनों पुलिसकर्मियों को उनके कथित गलत आचरण के लिए निलंबित कर दिया गया।"


महात्मा गांधी के हत्यारे की मनाई गई पुण्यतिथि, दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की उतारी गई आरती

ग्वालियर: छत्तीसगढ़ सरकार को चेतावनी के बाद आज ग्वालियर में महात्मा गांधी के हत्यारे दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की जयंती मनाई गई। यह आयोजन हिंदू महासभा की तरफ से किया गया। हिंदू महासभा ने दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की 37वीं पुण्यतिथि के अवसर पर उनकी तस्वीर का अनावरण किया है। इस मौके पर हिंदू महासभा के प्रदेश पदाधिकारी से लेकर सभी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 कार्यक्रम पूर्व घोषित होने के बावजूद पुलिस प्रशासन की तरफ से इसे रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। इस मौके पर हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने कहाकि देश का विभाजन मोहनदास करमचंद गांधी ने किया था। इसके चलते 50 लाख हिंदू बेघर हो गए और 10 हिंदुओं का कत्लेआम हो गया।


शहर के बीचों-बीच स्थित हिंदू महासभा कार्यालय में शुक्रवार दोपहर को प्रदेश के सभी हिंदू महासभा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता एकजुट हुए। इसके बाद यहां विधिवत बापू के हत्यारे गोडसे, नारायण आप्टे और दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की तस्वीर लगाई गई। इसके बाद पूजा-अर्चना कर आरती उतारी गई। इस दौरान अंबाला की जेल से लाई गई मिट्टी से बापू के तीनों हत्यारों की तस्वीर का अभिषेक किया।

पूजा-अर्चना के दौरान बापू के हत्यारों की अमर होने की आवाज गूंज रही थी। हिंदू महासभा के लोग बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे नारायण आप्टे और परचुरे के अमर रहने के जयकारे लग रहे थे। इसके साथ ही हिंदू महासभा के लोगों ने उनकी आरती भी उतारी। सबसे खास बात यह है हिंदू महासभा का यह कार्यक्रम पहले से ही घोषित था। कल महासभा के लोगों ने खुद शहर में बीच चौराहे पर चुनौती दी थी कि वह बापू के हत्यारों की पुण्यतिथि मनाएंगे। लेकिन इसके बावजूद आज पुलिस प्रशासन बेखबर नजर आया। 

बापू के हत्यारे गोडसे,आप्टे और परचुरे के लगे जयकारे
पूजा-अर्चना के दौरान बापू के हत्यारों की अमर होने की आवाज गूंज रही थी। हिंदू महासभा के लोग बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे नारायण आप्टे और परचुरे के अमर रहने के जयकारे लग रहे थे। इसके साथ ही हिंदू महासभा के लोगों ने उनकी आरती भी उतारी। सबसे खास बात यह है हिंदू महासभा का यह कार्यक्रम पहले से ही घोषित था। कल महासभा के लोगों ने खुद शहर में बीच चौराहे पर चुनौती दी थी कि वह बापू के हत्यारों की पुण्यतिथि मनाएंगे। लेकिन इसके बावजूद आज पुलिस प्रशासन बेखबर नजर आया। 

कौन है डॉ दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे

दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे का साथी था। परचुरे ने ही ग्वालियर में स्थित अपने घर में नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को शरण दी थी। परचुरे ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या के लिए नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को पिस्टल उपलब्ध कराई थी। इसके आरोप में ही डॉ दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे को आजीवन कारावास हुआ था।


बापू के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करनेवाला कालीचरण एमपी के खजुराहो से गिरफ्तार, नरोत्तम मिश्रा में जताई आपत्ति

छत्तीसगढ़ में आयोजित हुए एक धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में कालीचरण महाराज को छत्तीसगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कालीचरण की गिरफ्तारी मध्य प्रदेश के खजुराहो से की गई है।

खजुराहो: छत्तीसगढ़ में आयोजित हुए  एक धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में कालीचरण महाराज को छत्तीसगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कालीचरण की गिरफ्तारी मध्य प्रदेश के खजुराहो से की गई है।

काली जुबान वाले कालीचरण के खिलाफ छत्तीसगढ़ से लेकर महाराष्ट्र तक केस दर्ज हो चुके हैं। महाराष्ट्र पुलिस काफी दिनों से कालीचरण की तलाश में थी। महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और NCP नेता जितेंद्र आहवाड़ ने कालीचरण महाराज के खिलाफ ठाणे पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

बता दें कि कालीचरण ने रायपुर धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर अपशब्द कहे थे। इसके बाद 27 दिसंबर देर रात कालीचरण ने अपने यूट्यूब चैनल में 8 मिनट 51 सेकेंड का एक वीडियो जारी किया था।

वीडियो में कालीचरण ने कहा था कि उसे इस बात का कोई अफसोस नहीं कि उसने गांधी के लिए अपशब्द कहे। बल्कि एक बार फिर कालीचरण ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर आरोप लगाए हैं। उसने सरदार पटेल के बजाय नेहरू को प्रधामंत्री बनने पर सवाल उठाया है। इतना ही नहीं महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता नहीं वंशवाद का जनक बोला गया है।

कालीचरण ने आगे कहा था कि गांधी के बारे में अपशब्द बोलने के लिए मेरे खिलाफ प्राथमिकी हुई है। मुझे उसका कोई पश्चाताप नहीं है। मैं गांधी को राष्ट्रपिता नहीं मानता हैं... यदि सच बोलने की सजा मृत्यु है तो वह स्वीकार है।" 

इतना ही नहीं कालीचरण ने धर्म संसद में गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे की सराहना करने के साथ ही अन्य कई आपत्तिजनक बातें भी कही थीं।

एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा में जताई गिरफ्तारी पर आपत्ति


प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने छत्तीसगढ़ पुलिस के तरीके पर भारी आपत्ति जताई है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के डीजीपी (DGP) को छत्तीसगढ़ के डीजीपी से बात करने के निर्देश दिए हैं।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी में छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा संघीय ढांचे का उल्लंघन किया गया है। गृहमंत्री का कहना है कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने इंटरस्टेट प्रोटोकॉल (interstate protocol) का उल्लंघन किया है। वहीं छत्तीसगढ़ पुलिस की कार्यशैली पर भी गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सवाल खड़े किए हैं।


मध्य प्रदेश: निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव किए निरस्त

मध्य प्रदेश में राज्य निर्वाचन आयोग ने आगामी समय में होने वाले पंचायत चुनावों को निरस्त कर दिया है। साथ ही उम्मीदवारों ने नामांकन के साथ जो जमानत की रकम जमा की थी, उस राशि को वापस करने का भी फैसला लिया है।

भोपाल: मध्य प्रदेश में राज्य निर्वाचन आयोग ने आगामी समय में होने वाले पंचायत चुनावों को निरस्त कर दिया है। साथ ही उम्मीदवारों ने नामांकन के साथ जो  जमानत की रकम जमा की थी, उस राशि को वापस करने का भी फैसला लिया है। 

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव बी.एस. जामोद ने बताया है कि राज्य सरकार के पंचायत राज संशोधन अध्यादेश-2021 वापस लिए जाने के बाद कानून के जानकारों से सलाह ली गई। उनकी सलाह के आधार पर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को निरस्त कर दिया गया है।  

राज्य में पंचायत चुनाव 4 दिसंबर को घोषित किया गया था और उसके बाद से चुनावी प्रक्रिया जारी थी। दो चरणों के लिए नामांकन भरने से लेकर चुनाव चिह्न आवंटित भी कर दिए गए थे। 

शिवराज सरकार द्वारा मध्य प्रदेश पंचायत राज और ग्राम स्वराज संशोधन अध्यादेश को वापस लिए जाने के बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव स्थगित या रद्द कर किए जाएंगे। 

राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने बीते रोज पंचायत एवं ग्रामीण विकास के साथ आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक कर सभी पहलुओं पर चर्चा की। इसके बाद विधि विशेषज्ञों की राय ली गई।

राज्य में हुए चुनाव में आरक्षण के रोटेशन और परिसीमन के मामले को लेकर सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालय में कई याचिकाएं दायर की गईं थीं। उसके बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षित स्थानों पर चुनाव स्थगित कर अन्य स्थानों पर चुनाव प्रक्रिया जारी रखी थी। 

राज्य सरकार द्वारा अध्यादेश वापस लिए जाने के बाद चुनाव आयोग ने विधि विशेषज्ञों से सलाह लेने के बाद चुनाव प्रक्रिया को ही स्थगित कर दिया है।


कोरोना की तीसरी लहर की आहट के बीच मध्य प्रदेश में लगाया गया नाइट कर्फ्यू, सीएम शिवराज ने खुद किया एलान

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संबोधन कर रात्रिकालीन कर्फ्यू को फिर शुरू कर दिया है। यह कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा।

भोपाल: ओमिक्रोन के बढ़ते केसों और कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संबोधन कर रात्रिकालीन कर्फ्यू को फिर शुरू कर दिया है। यह कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा। 

उन्होंने कहा कि अगर आवश्यकता पड़ी तो और भी फैसले लिए जाएंगे। यह ध्यान रखें कि स्कूल में बच्चों की 50 फीसदी उपस्थिति ही रहे। शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संबोधन में कोविड की तीसरी लहर की आशंका पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि कई महीनों बाद मध्य प्रदेश में कोविड के तीस नए प्रकरण आए हैं। 

महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ने को लेकर सीएम ने चिंता जताई है और कहा है कि पूर्व के अनुभव से यह आशंका है कि मध्य प्रदेश में भी कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ सकते हैं। 

सीएम चौहान ने कहा कि कल महाराष्ट्र में 1201, गुजरात 91 दिल्ली में 125 प्रकरण आए। पूर्व के अनुभव रहे हैं कि गुजरात-महाराष्ट्र में जब केस बढ़े हैं तो मध्य प्रदेश में भी उसके बाद असर हुआ था। 

उन्होंने कहा कि पहली व दूसरी लहर में इंदौर-भोपाल से ही शुरुआत होती है। कोरोना ने अपना स्वरूप बदला है। नया स्वरूप ओमक्रॉन देश के 16 राज्यों में आ चुका है और मध्य प्रदेश में इससे इंकार नहीं किया जा सकता कि यहां भी ओमिक्रॉन वायरस आ जाए। 

अपने संबोधन में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि कोविड का कोई केस आता है तो घर में पर्याप्त स्थान होने पर होम आइसोलेशन किया जाए। अन्यथा अस्पताल में भी भर्ती कराया जाए। कोविड की तीसरी लहर को आने से रोकने के लिए हर आवश्यक उपाय करने की अपील की है। 

उन्होंने कहा कि भारत सरकार की गाइड लाइन का पालन किया जाए। अनावश्यक रूप से भीड़़ में नहीं जाएं  और मास्क जरूर पहनें। कोरोना का दूसरा डोज तुरंत लगाएं जिसने पहला नहीं लगवाया हो तो टीका जरूर लगवा लें।


मध्य प्रदेश: सीएम शिवराज ने किया वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा, कहा-'आ चुकी है तीसरी लहर'

सीएम शिवराज ने कहा कि कई देशों में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। इसलिए मेरा निवेदन है कि आप असावधान ना रहें। जिन्होंने अब तक कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज़ नहीं लगाई है, कृपया वह दूसरी डोज़ लगवा ले। कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए आप सभी का सहयोग चाहिए।

भोपाल:  महा वैक्सीनेशन अभियान के अंतर्गत भोपाल में आज सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक स्कूल में बने वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा किया।

इस मौके पर सीएम शिवराज ने कहा कि कई देशों में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। इसलिए मेरा निवेदन है कि आप असावधान ना रहें। जिन्होंने अब तक कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज़ नहीं लगाई है, कृपया वह दूसरी डोज़ लगवा ले। कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए आप सभी का सहयोग चाहिए।


मध्य प्रदेश: छिंदवाड़ा में वकील की तलवार से काटकर हत्या

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा स्थित परासिया में सोमवार को एक वकील की दिनदहाड़े धारदार हथियार से हमलाकर हत्या कर दी गई। अज्ञात हमलावरों के इस दुस्साहसिक कारनामे से वहां अफरा-तफरी मच गई।

छिंदवाड़ा: मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा स्थित परासिया में सोमवार को एक वकील की दिनदहाड़े धारदार हथियार से हमलाकर हत्या कर दी गई। अज्ञात हमलावरों के इस दुस्साहसिक कारनामे से वहां अफरा-तफरी मच गई। 

हमले के दौरान वकील ने भागकर खुद को बचाने की कोशिश की, लेकिन गंभीर रूप से घायल होने के चलते सफल नहीं हो पाया। पास ही स्थित पेट्रोल पंप के केबिन में पहुंचकर वकील ने दम तोड़ दिया। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। सूत्रों के मुताबिक मामला प्रेम विवाह से जुड़ा है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक चांदामेटा के मंगली बाजार निवासी 32 वर्षीय एडवोकेट रितेश चौरिया परासिया स्थित पेट्रोल पंप के समीप पहुंचा था। इसी दौरान दो अज्ञात हमलावर बाइक से आए और तलवार व धारधार हथियारों रितेश पर पीछे से हमला कर दिया। घटना के बाद पेट्रोल पंप पर भीड़ लग गई।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और वकील को अस्पताल ले गई, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने तत्काल आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। इसके लिए आसपास के सीसीटीवी की भी तलाश की गई है। 


मध्य प्रदेश के छतरपुर में भीषण सड़क हादसा, 80 से ज्यादा घायल

मामले की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां कुछ घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है।

छतरपुर: मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में आज 2 यात्री बसों के गिरने से एक भीषण सड़क हादसा हुआ है। इस सड़क हादसे में 80 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। मामले की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां कुछ घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार छतरपुर से बड़ामलहरा की ओर जा रही बस गुलगंज में रुककर सवारी भर रही थी। तभी पीछे से तेज रफ्तार में आ रही आ रही एक अन्य बस ने पहली बस को पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि पीछे से टक्कर मारने वाली बस के परखच्चे उड़ गए। दूसरी बस भी पलट गई। घटना के समय दोनों बसों में बड़ी संख्या में यात्री मौजूद थे। घटना में 80 यात्रियों के चोटें आई हैं, जबकि 20 से 25 यात्री गंभीर रूप से घायल हैं। 

घटना की जानकारी लगते ही मौके पर गुलगंज पुलिस पहुंच गई। इसके बाद घायलों को डायल 100 और एम्बुलेंस की मदद से उपचार के लिए प्राथमिक उपस्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। यहां से गंभीर घायलों को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। घायलों में महिलाएं एवं बच्चे भी शामिल हैं। फिलहाल पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है तो वहीं।

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो घटना पीछे से आ रही थी बस चालक की लापरवाही से हुई है। वह गाड़ी को तेज रफ्तार में चला रहा था जिसके चलते यह हादसा हुआ।


योगी के नक्शेकदम शिवराज! MP में प्रदर्शन व दंगे के दौरान सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से होगी वसूली

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार भी अब यूपी की योगी सरकार के नक्शेकदम चल पड़ी है। अब मध्य प्रदेश में भी सार्वजनिक प्रदर्शन, दंगे व आंदोलन के दौरान सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवियों से वसूली की जाएगी। इस बावत कैबिनेट में विधेयक पास हो गया है।

भोपाल: मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार भी अब यूपी की योगी सरकार के नक्शेकदम चल पड़ी है। अब मध्य प्रदेश में भी सार्वजनिक प्रदर्शन, दंगे व आंदोलन के दौरान सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवियों से वसूली की जाएगी। इस बावत कैबिनेट में विधेयक पास हो गया है।

जानकारी के मुताबिक, इसके लिए ट्रिब्यूनल का गठन किया जाएगा जो नुकसान की वसूली के आदेश पारित करेगा। शिवराज कैबिनेट के फैसलों को सरकार के प्रवक्ता और गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया को बताया। उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने सरकारी और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वालों से निपटने के लिए मध्य प्रदेश लोक एवं निजी संपत्ति को नुकसान का एवं नुकसानी वसूली विधेयक 2021 लाया गया है। 


इस विधेयक को शिवराज कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है और शीतकालीन सत्र में इसे विधानसभा के पटल पर रखा जाएगा। इसमें गठित किए जाने वाले ट्रिब्यूनल के आदेश को हाईकोर्ट में ही चैलेंज किया जा सकता है। 90 दिन के भीतर वहां अपील की जा सकती है। ट्रिब्यूनल को नुकसान से दो गुना राशि का आदेश पारित करने का अधिकार दिया गया है। 


बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की ग्वालियर में मूर्ति स्थापित करने की तैयारी, SDM से मांगी अनुमति

हिंदू महासभा ने अपने कार्यालय में नाथूराम गोडसे और उनके साथी नारायण आप्टे की प्रतिमा लगाने की प्रशासन से अनुमति मांगी है।

ग्वालियर: मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एकबार फिर से महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे की प्रतिमा की स्थापना की तैयारी तेज कर दी है। मिली जानकारी के मुताबिक, हिंदू महासभा ने एडीएम को पत्र लिखकर इसकी परमिशन मांगी है।

बता दें कि अब तक हिंदू महासभा गोडसे और नारायण आप्टे की जयंती पर कार्यक्रम करती रही है। ग्वालियर में हिंदू महासभा एक बार फिर बापू के हत्यारा नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को लेकर फिर सक्रिय हो गई है। हिंदू महासभा ने अपने कार्यालय में नाथूराम गोडसे और उनके साथी नारायण आप्टे की प्रतिमा लगाने की प्रशासन से अनुमति मांगी है।

इसके लिए बाकायदा हिंदू महासभा ने प्रतिमा  लगाने की अनुमति के लिए जिले के अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी को पत्र लिखा है। हिंदू महासभा ने जिला प्रशासन को दिए पत्र में कहा है कि विश्व मानव अधिकार दिवस पर गोडसे और नारायण आप्टे की मूर्ति लगाने की अनुमति दी जाए। 

बताते चलें कि नाथूराम गोडसे को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाली हिंदू महासभा ने साल 2017 में गोडसे की मूर्ति स्थापित कर मंदिर बनाया था। उस समय गांधी के हत्यारे के मंदिर पर काफी विवाद हुआ था। इसके बाद प्रशासन हरकत में आया और मंदिर को बंद कराकर मूर्ति को अपने कब्जे में ले लिया था। उसके बाद अभी भी नाथूराम गोडसे की मूर्ति जिला प्रशासन के कब्जे में है लेकिन इसके बावजूद भी हिंदू महासभा गोडसे की जयंती और पुण्यतिथि पर कार्यक्रम आयोजित करती है। व्याख्यान माला के साथ साथ कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं। 


भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हैं, संयोग से नहीं: मोहन भागवत

मोहन भागवत ने कहा कि हिन्दू के बिना भारत नहीं और भारत के बिना​ हिन्दू नहीं। भारत टूटा, पाकिस्तान हुआ क्योंकि हम इस भाव को भूल गए कि हम हिन्दू हैं, वहां के मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिन्दू मानने वालों की पहले ताकत कम हुई फिर संख्या कम हुई इसलिए पाकिस्तान भारत नहीं रहा।

ग्वालियर: आज आरएसएस चीफ मोहन भागवत में मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में एक कार्यक्रम में शिरकत की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आरएसएस चीफ ने कहा कि ये हिन्दुस्तान है और यहां परंपरा से हिन्दू लोग रहते आए हैं जिस-जिस बात को हिन्दू कहते हैं उन सारी बातों का विकास इस भूमि में हुआ है। भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हैं, संयोग से नहीं।

मोहन भागवत ने कहा कि हिन्दू के बिना भारत नहीं और भारत के बिना​ हिन्दू नहीं। भारत टूटा, पाकिस्तान हुआ क्योंकि हम इस भाव को भूल गए कि हम हिन्दू हैं, वहां के मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिन्दू मानने वालों की पहले ताकत कम हुई फिर संख्या कम हुई इसलिए पाकिस्तान भारत नहीं रहा।

आरएसएस चीफ ने आगे कहा कि हिन्दू और भारत अलग नहीं हो सकते हैं। भारत को भारत रहना है तो भारत को हिन्दू रहना ही पड़ेगा। हिन्दू को हिन्दू रहना है तो भारत को अखंड बनना ही पड़ेगा।


उधमपुर एक्सप्रेस बनी 'बर्निंग ट्रेन', 2 बोगी जलकर खाक, सभी यात्री सुरक्षित

आग बुझाने के लिए ट्रेन को मुरैना के पास हेतमपुर रेलवे स्टेशन पर रोका गया था। हालांकि, इस हादसे में किसी यात्री के घायल होने की सूचना नहीं है लेकिन कई यात्रियों के सामान जरूर जलकर खाक हो गए।

मुरैना: आज उधमपुर एक्सप्रेस ट्रेन में उस समय अफरातफरी मच गई जब अचानक 2 बोगियों में आग लग गई। जानकारी के मुताबिक, आग बुझाने के लिए ट्रेन को मुरैना के पास हेतमपुर रेलवे स्टेशन पर रोका गया था। हालांकि, इस हादसे में किसी यात्री के घायल होने की सूचना नहीं है लेकिन कई यात्रियों के सामान जरूर जलकर खाक हो गए।

मिली जानकारी के मुताबिक, उधमपुर से दुर्ग जा रही उधमपुर एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 20848 में शुक्रवार दोपहर में अचानक आग लग गई। आग लगने के बाद ट्रेन को हेतमपुर रेलवे स्टेशन के पास रोका गया था। आग बुझाने के लिए मुरैना और आसपास के क्षेत्र की दमकलों को बुलाया गया था। जीआरपी और जिला पुलिस के जवान भी वहां पहुंच गए थे। उन्होंने बर्निंग ट्रेन के रुकने पर ग्रामीणों और यात्रियों की भीड़ को आग में जल रही बोगियों से दूर हटाया।


ड्रग्स माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्यवाई, समीर वानखेड़े की टीम ने पकड़ा ड्रग्स, बड़े पैमाने पर अफीम हुई बरामद

समीर वानखेड़े की टीम ने नांदेड़ जिले के कंधार में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। यहां से एनसीबी टीम ने 1.4 किलो अफीम बरामद की है। इसके अलावा 111 किलो पॉपी स्ट्रॉ भी पकड़ा गया है।

मुंबई: क्रूज पर ड्रग्स पार्टी मामले का भंडाफोड़ करने वाले एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े की टीम ने महाराष्ट्र ने नांदेड़ में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। टीम ने बड़ी मात्रा में अफीम और पॉपी स्ट्रा बरामद किया है।

समीर वानखेड़े की टीम ने नांदेड़ जिले के कंधार में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। यहां से एनसीबी टीम ने 1.4 किलो अफीम बरामद की है। इसके अलावा 111 किलो पॉपी स्ट्रॉ भी पकड़ा गया है। 

इतना ही नहीं 1.55 लाख रुपये और 2 ग्राइंडिंग भी पकड़ी गई हैं। समीर वानखेड़े ने कहा कि इन मशीनों का इस्तेमाल पॉपी सीड्स की ग्राइंडिंग के लिए किया जाता था। यही नहीं नोट गिनने की मशीन भी पकड़ी गई है। समीर वानखेड़े ने कहा कि सोमवार को की गई छापेमारी के दौरान इन चीजों को पकड़ा गया है।

बता दें कि इस मामले में अब तक तीन लोगों को पकड़ा गया है। ड्रग्स के सप्लायर्स को पकड़ने के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है। मुंबई जोन एनसीबी डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने कहा कि इस साल का यह 99वां मामला है।


इंदौर पुलिस ने जंगली जानवरों के अंगों की तस्करी करने वाले 5 तस्करों को दबोचा

ASP पुनीत गहलोत ने बताया,

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर जिले की पुलिस ने 5 ऐसे तस्करों को गिरफ्तार किया है जो जंगली जानवरों को मारकर उनके अंगों की तस्करी करते थे।

इंदौर में पुलिस ने तेंदुए की हत्या और उसके अंगों की ब्रिकी करने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ़्तार किया है। ASP पुनीत गहलोत ने बताया, "हमें सूचना मिली कि कुछ लोग वन्य जीवों की हत्या कर उनके अंगों की ब्रिकी में लिप्त है। पता चला कि वे इन्हें बेचने के लिए जा रहे हैं।

एएसपी ने आगे बताया कि सूचना के प्राप्त होने पर संयुक्त पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर 5 लोगों को गिरफ़्तार किया। इनके पास से तेंदुए की खाल, दर्जन भर नाखून, तेंदुए को मारने के लिए किए गए हथियार और वाहन को ज़ब्त किया गया।


लगातार 5वीं बार सबसे स्वच्छ शहर बना इंदौर, राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

इंदौर शहर को 2017 से लगातार सबसे स्वच्छ शहर के रूप में स्वच्छता मिशन के तहत पुरस्कार दिया जा रहा है। इस बार इंदौर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में सर्वश्रेष्ठ शहर घोषित किया गया है।

इंदौर: मध्य प्रदेश की औद्योगिक राजधानी कहलाने वाले इंदौर शहर में रोजाना 1200 टन कचरा निकलता है लेकिन इसके बाद भी शहर में गंदगी दिखाई नहीं देती है। इसीलिए शहर ने लगातार पांचवीं बार देश में सबसे स्वच्छ शहर होने का गौरव हासिल किया है। इसे दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने नगरीय विकास और आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने यह पुरस्कार ग्रहण किया है। 

बता दें कि इंदौर शहर को 2017 से लगातार सबसे स्वच्छ शहर के रूप में स्वच्छता मिशन के तहत पुरस्कार दिया जा रहा है। इस बार इंदौर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज  में सर्वश्रेष्ठ शहर घोषित किया गया है। इसमें स्वच्छता मिशन के कार्यक्रम के तहत न केवल स्वच्छता का काम किया जाता है बल्कि इसके माध्यम से लोगों को रोजगार भी उपलब्ध कराया जा रहा है। इंदौर को डस्ट फ्री शहर माना गया है। यहां नदी नालों के गंदे पानी को पुनः उपयोग करने लायक बनाने का काम भी किया जाता है। 

इंदौर शहर में 1200 टन कचरा निकलता है जिसमें से 700 टन गीला कचरा है।  कचरा प्रबंधन के लिए खाद और बायोमिथेनाइजेशन प्लांट का उपयोग कर उससे आमदनी भी की जाती है। 343 करोड़ रुपए से  शहर में 137 किलोमीटर नदी और नाले की सफाई होती है। शहर में 450 टन सूखा कचरा निकलता है जिसे प्रोसेस करने वाली कंपनियां नगर निगम इंदौर को दो करोड़ रुपए देती हैं। 


मध्य प्रदेश: CM शिवराज ने 8 मेट्रो रेलवे स्टेशनों के निर्माण का किया भूमि पूजन

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुझे विश्वास है कि भोपाल में मेट्रो प्रोजेक्ट सफल होगा। जब इनका निर्माण कार्य चलेगा तो 5-7 हज़ार नौजवानों को रोज़गार मिलेगा। हम कोशिश कर रहे हैं कि मेट्रो स्टेशन में कोयले से बनने वाली बिजली न लगे, सूरज से बनने वाली बिजली से मेट्रो स्टेशन चलें।

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल मेट्रो रेलवे परियोजना के अंतर्गत 426.67 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले 8 मेट्रो रेलवे स्टेशनों का भूमि-पूजन किया।

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुझे विश्वास है कि भोपाल में मेट्रो प्रोजेक्ट सफल होगा। जब इनका निर्माण कार्य चलेगा तो 5-7 हज़ार नौजवानों को रोज़गार मिलेगा। हम कोशिश कर रहे हैं कि मेट्रो स्टेशन में कोयले से बनने वाली बिजली न लगे, सूरज से बनने वाली बिजली से मेट्रो स्टेशन चलें।


मध्य प्रदेश में लगेगा 'COW TAX', महंगी होगी शराब

एक अधिकारी ने बताया कि प्रदेश भर में 1300 गौशालाएं हैं। इनमें रहने वाली गायों की संख्या 2.6 लाख है। इन सभी को खिलाने के लिए गौ संवर्धन बोर्ड हर साल 160 करोड़ रुपए चाहिए, लेकिन जो बजट मुहैया कराया गया है वह महज 60 करोड़ रुपए है।

भोपाल: मध्य प्रदेश में जल्द ही शराब के लिए लोगों को और ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। दरअसल, शिवराज सरकार 'काऊ टैक्स' लगाने जा रही है। अब शराब व अन्य चीजों पर जो सरचार्ज लगाएं जाएंगे वह गौशालाओं में रह रही गायों पर खर्च की जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात के एक दिन बाद शुक्रवार को वित्त विभाग के एक अधिकारी ने यह बात कही। 

अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में निर्णय गुरुवार को भोपाल में गौ संवर्धन बोर्ड की मीटिंग के दौरान लिया गया।  अधिकारी के मुताबिक 2020 में नए कृषि कानूनों के लागू होने के बाद मंडी बोर्ड से गौरक्षा के लिए मिलने वाले रेवेन्यू में कमी आई थी। हालांकि प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को कृषि कानूनों को वापस ले लिया। लेकिन राज्य सरकार के अधिकारियों को इस बारे में स्पष्टता नहीं थी कि मंडियों में कृषि उत्पादों की खरीद-बिक्री कब से शुरू होगी। 

अधिकारी ने बताया कि प्रदेश भर में 1300 गौशालाएं हैं। इनमें रहने वाली गायों की संख्या 2.6 लाख है। इन सभी को खिलाने के लिए गौ संवर्धन बोर्ड हर साल 160 करोड़ रुपए चाहिए, लेकिन जो बजट मुहैया कराया गया है वह महज 60 करोड़ रुपए है। 

अधिकारी के मुताबिक प्रतिदिन एक गाय पर 20 रुपए का खर्च आता जो कि मुहैया कराए गए 6 रुपए प्रतिदिन से काफी अधिक है। वहीं पशुपालन विभाग के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में फंड जुटाने को लेकर चर्चा की गई। 

पशुपालन विभाग के अपर मुख्य सचिव जेएन कंसोतिया ने कहाकि मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कुछ उत्पादों और सेवाओं पर वेलफेयर सरचार्ज लगाने के निर्देश दिए हैं। इससे होनी वाली आय का इस्तेमाल गौ संरक्षण और गौपालन में किया जाएगा। उन्होंने बताया कि फाइनेंस और कॉमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट को इस बारे में प्रपोजल तैयार करने के लिए कहा गया है। 


मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना की वजह से लगी सारी पाबंदियां हटाई, सीएम शिवराज की अपील-'लोग करते रहे कोविड प्रोटोकॉल का पालन'

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पाबंदियों को हटाने का एलान करते हुए कहा कि कोरोना की स्थिति पर लगातार नज़र बनाए हुए हैं। कोविड के दौरान जो प्रतिबंध लगाए गए थे, वे सभी प्रतिबंध आज से हटाने का फै़सला किया गया है। सभी धार्मिक, खेल-कूद, राजनीतिक, सांस्कृतिक और अन्य आयोजन पूरी क्षमता के साथ अब हो सकेंगे।

भोपाल: आज से मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना की वजह से जो पाबंदियां लगाई तो उन सभी पाबंदियों को हटा दिया है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पाबंदियों को हटाने का एलान करते हुए कहा कि कोरोना की स्थिति पर लगातार नज़र बनाए हुए हैं। कोविड के दौरान जो प्रतिबंध लगाए गए थे, वे सभी प्रतिबंध आज से हटाने का फै़सला किया गया है। सभी धार्मिक, खेल-कूद, राजनीतिक, सांस्कृतिक और अन्य आयोजन पूरी क्षमता के साथ अब हो सकेंगे।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि विवाह में सीमित संख्या का प्रावधान और नाइट कर्फ्यू आज रात से समाप्त हो रहा है। इसके साथ ही क्लब, स्विमिंग पूल, स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर पूर्ण क्षमता के साथ संचालित हो सकेंगे लेकिन इस दौरान कोविड नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा।

सीएम ने आगे कहा कि हॉस्टल में 18 साल से ऊपर के छात्रों को कोविड की दोनों डोज़ लगवाना अनिवार्य है। सिनेमा हॉल के कर्मचारियों को दोनों डोज़ और दर्शकों को कोविड की एक डोज़ लगवाना अनिवार्य होगा। सभी शासकीय सेवकों को कोरोना की दोनों डोज़ लगवाना अनिवार्य है।


युवाओं के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने खोला खजाना, जानिए क्या है स्कीम

भोपाल: मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने युवाओं के लिए सरकारी खजाना खोला है। मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना को प्रारंभ करने की सहमति मिली है। ये योजना मध्य प्रदेश के युवाओं को रोज़गार दिलाने के लिए मील का पत्थर साबित होगी।

उन्होंने बताया कि इस योजना में 12वीं पास 18 से 40 वर्ष के युवा पात्र होंगे और वो युवा जो निर्माण यूनिट लगाएंगे उन्हें 1 लाख से 50 लाख रुपए तक का लोन उपलब्ध कराया जाएगा। जिसकी गांरटी मध्य प्रदेश सरकार लेगी और इसमें 3% ब्याज की सब्सिडी भी दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि जो युवा सेवा की गतिविधियों में अपना रोज़गार शुरू करना चाहते हैं उन्हें मध्य प्रदेश सरकार 1 लाख से 25 लाख रुपए तक का लोन उपलब्ध कराने की गांरटी लेगी और 3% ब्याज की सब्सिडी देगी।


PM मोदी ने 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का किया उद्घाटन, कही ये बड़ी बात

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल में पुनर्विकसित 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घाटन किया। इस मौके पर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और तमाम दिग्गज मौजूद रहे।

नई दिल्ली/भोपाल: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल में पुनर्विकसित 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घाटन किया। इस मौके पर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और तमाम दिग्गज मौजूद रहे।

Image

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह ने पीएम मोदी को धन्यवाद देते हुए कहा कि वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन की सौगात जो अपने तरह का अनोखा स्टेशन है, आप ने आज यह स्टेशन मध्य प्रदेश को दिया है और दूसरा उसका नाम भोपाल की रानी कमलापति के नाम पर रखा। इसके लिए आपका दिल से अभिनंदन है।

Image

भोपाल में 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घान करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भोपाल में 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घान करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय रेल का भविष्य कितना आधुनिक है, कितना उज्जवल है इसका प्रतिबिंब भोपाल के इस भव्य रेलवे स्टेशन में जो भी आएगा उसे दिखाई देगा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि भोपाल के इस रेलवे स्टेशन का सिर्फ़ कायाकल्प ही नहीं हुआ है बल्कि रानी कमलापति जी का नाम इससे जुड़ने से इसका महत्व और भी बढ़ गया है। भारत कैसे बदल रहा है, सपने कैसे सच हो सकते हैं, यह देखना हो तो आज इसका एक उत्तम उदाहरण भारतीय रेलवे भी बन रहा है। 6-7 साल पहले तक, जिसका भी पाला भारतीय रेल से पड़ता था, तो वह भारतीय रेल को ही कोसते हुए नज़र आते थे।


उन्होंने आगे कहा कि एक ज़माना था, जब रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं को भी ड्राइंग बोर्ड से ज़मीन पर उतरने में ही सालों-साल लग जाते थे। लेकिन आज भारतीय रेलवे में भी जितनी अधीरता नए प्रोजेक्ट्स की प्लानिंग की है, उतना ही गंभीरता उनको समय पर पूरा करने की भी है।

इस मौके पर रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव ने कहा कि देश के इंजीनियरों ने अपनी क्षमता से आधुनिक इंजन, कोच, मेट्रो, ट्रेनों के सुरक्षा कवच विकसित किए। भारतीय डिजाइन और देश में निर्मित टेक्नोलॉजी से भारत के आम आदमी को विश्व स्तरीय सुविधाएं मिल सकेंगी।


ई कॉमर्स कंपनी अमेजन ने शुरू किया गांजा तस्करी का नया धंधा, अबतक 1 टन से ज्यादा गांजा कर डाली सप्लाई!

आरोपी सूतजी पवैया अमेज़न द्वारा कड़ी पत्ते के टैग से आंध्र प्रदेश से मारिजुआना की डिलीवरी अमेजन के जरिए ग्वालियर, भोपाल, कोटा और आगरा समेत अन्य जिलों में करता था मारिजुआना की इस बिक्री का करीब 66.66 फीसदी हिस्सा अमेजन को जाता है।

ग्वालियर: ई कामर्स कंपनी अमेजन आजकल गांजे की भी सप्लाई करती है। इतना ही नहीं वह कमीशन के रूप में टोटल रकम का 60 फीसदी से भी ज्यादा रकम लेती है। मध्य प्रदेश पुलिस ने इस बात का खुलासा किया है तो तस्करी में लिप्त अमेजन के दो कर्मचारियों को हिरासत में लेकर जब पूछताछ की तो जो सच्चाई सामने आई उसकी पुलिसवाले या आम आदमी कल्पना भी नहीं कर सकते थे।


अमेजन द्वारा ऑनलाइन मारिजुआना यानी गांजा तस्करी के मामले में एक बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर अमेजन ऑनलाइन द्वारा सप्लाई किया जा रहा 20 किलो गांजा जब्त किया है। आरोपियों से शुरुआती पूछताछ में जानकारी मिली है कि अभी तक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से करीब 1 टन मारिजुआना की तस्करी की जा चुकी है।

पुलिस को ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म अमेजन द्वारा गांजे की डिलीवरी की सूचना मिली थी जिसके आधार पर भिंड एसपी मनोज सिंह ने साइबर सेल की टीम को इस की जिम्मेदारी देते हुए मामले में संदिग्ध आरोपी ग्वालियर मुरार निवासी सूरज पवैया पर नजर रखने के निर्देश दिए। 


पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने गोहद एसडीओपी समेत साइबर सेल और अन्य पुलिस अधिकारियों को उसे पकड़ने के लिए निर्देशित किया जिसमें गोहद थाना प्रभारी और साइबर सेल ने मिलकर आरोपी सूरज पवैया को बैंक ग्वालियर हाइवे रोड पर गोविंद धागे के पास पकड़ा, साथ ही गोविंद धावा के संचालक बृजेंद्र तोमर को भी हिरासत में लिया है।

पुलिस ने आरोपियों से 20 किलो गांजा सहित अंतरराष्ट्रीय कंपनी अमेजन की पैकिंग के डिब्बे रैपर बारकोड टैगिंग समेत अन्य सामग्री भी जब्त की है। पुलिस को आरोपी से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी द्वारा babu tax नाम के फर्म बनाकर विशाखापट्टनम की कंपनी अमेजन पर सेलर के रूप में दर्ज कराई गई थी। जिसके माध्यम से विशाखापट्टनम आंध्र प्रदेश से अमेजन ऑनलाइन के माध्यम से लगातार मारिजुआना की तस्करी की जा रही थी। अभी तक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से 1 टन मारिजुआना की तस्करी की गई है। ऑनलाइन डिजिटल प्लेटफार्म के जरिए लगभग 1 करोड़ 10 लाख रुपये के लेनदेन हुई है।

आरोपी सूतजी पवैया अमेज़न द्वारा कड़ी पत्ते के टैग से आंध्र प्रदेश से मारिजुआना की डिलीवरी अमेजन के जरिए ग्वालियर, भोपाल, कोटा और आगरा समेत अन्य जिलों में करता था  मारिजुआना की इस बिक्री का करीब 66.66 फीसदी हिस्सा अमेजन को जाता है।


मध्य प्रदेश: रानी कमलापति के नाम पर होगा हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति रखा जाएगा।

भोपाल: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के नक्शेकदम अब मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चैहान भी चल पड़े हैं। पहले उत्तर प्रदेश में कई जिलों व रेलवे स्टेशनों के नाम बदले गए हैं और अब मध्य प्रदेश में भी रेलवे स्टेशनों के नाम बदलने का काम शुरू हो चुका है।

अब मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदले की तैयारी में सूबे की सरकार है। इस बात की घोषणा खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने की है। आने वाले समय में हबीबगंज रेलवे स्चेशन को रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के नाम से जाना जाएगा।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति रखा जाएगा। रानी कमलापति अंतिम हिंदू रानी थी। छल कपट और धोखा देकर उनके राज्य को दोस्त मोहम्मद ने हड़पने का काम किया था। रानी ने जब देखा कि विजय संभव नहीं है तो उन्होंने जल जौहर किया।


अब लोगों को घर तक पहुंचाया जाएगा राशन: CM शिवराज

उन्होंने कहा कि अब घर पर ही राशन मिलेगा। अब राशन की गाड़ी घर-घर लोगों को राशन देने जाएगी।

भोपाल: मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 15 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मध्य प्रदेश दौरे की तैयारियों का निरीक्षण किया। 

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जनजातीय गौरव दिवस की तैयारी चल रही है। ये साधारण कार्यक्रम नहीं है। इस दिन भगवान बिरसा मुंडा का जन्म दिवस है उन्होंने आज़ादी की लड़ाई लड़ी और अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ी। केंद्र सरकार ने पूरे देश में 15-22 नवंबर तक जनजातीय गौरव दिवस मनाने का फैसला किया है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि ये आदिवासी भाई-बहनों की जिंदगी बदलने का कार्यक्रम है उनका आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण होगा। इस कार्यक्रम के माध्यम से हमने अलग-अलग योजनाएं घोषित की है। अब घर पर ही राशन मिलेगा। अब राशन की गाड़ी घर-घर लोगों को राशन देने जाएगी।


मध्य प्रदेश: कमला नेहरू अस्पताल में हुए अग्निकांड को लेकर CM शिवराज की उच्च स्तरीय बैठक

बैठक में शामिल होने पहुंचे मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने मीडियाकर्मियों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री ने सुनिश्चित किया है कि जो भी इस घटना में दोषी पाया जाएगा उस पर सख़्त कार्रवाई की जाएगी। हमने बाल चिकित्सा वार्ड शुरू कर दिया है और लगभग 72 बच्चे दाखिल हुए हैं।

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित कमला नेहरू अस्पताल में हुए अग्निकांड को लेकर मंत्रियों और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में शामिल होने पहुंचे  मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने मीडियाकर्मियों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री ने सुनिश्चित किया है कि जो भी इस घटना में दोषी पाया जाएगा उस पर सख़्त कार्रवाई की जाएगी। हमने बाल चिकित्सा वार्ड शुरू कर दिया है और लगभग 72 बच्चे दाखिल हुए हैं।

बता दें कि इस अग्निकांड में 4 बच्चों की जलकर मौत हो गई थी। आग लगने के कारण बच्चा वार्ड में कई नवजात शिशु और डॉक्टर्स अंदर फंस गए थे। जिनमें से बाकी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया था। आग हमीदिया अस्पताल परिसर के कमला नेहरू अस्पताल के बच्चा वार्ड में लगी थी। जिस समय आग लगी, उस वक्त वार्ड में 50 के करीब बच्चे भर्ती थे। आग लगने पर बाकी बच्चों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया।


भोपाल के कमला नेहरू हॉस्पिटल में आग लगने से 4 बच्चों की मौत

आग लगने के कारण बच्चा वार्ड में कई नवजात शिशु और डॉक्टर्स अंदर फंस गए थे। जिनमें से बाकी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया।

भोपाल: आज मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित कमला नेहरू हॉस्पिटल के बच्चा वार्ड में अचानक आग लग गई। इस अग्निकांड में 4 बच्चों की जलकर मौत हो गई। आग की सूचना पाकर फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया। घटना को लेकर अस्पताल में अफरा तफरी मच गई थी। आग लगने के कारण बच्चा वार्ड में कई नवजात शिशु और डॉक्टर्स अंदर फंस गए थे। जिनमें से बाकी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए फतेहगढ़, बैरागढ़, पुल बोगदा सहित अन्य इलाकों की दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं थी। 

मिली जानकारी के मुताबिक, आग हमीदिया अस्पताल परिसर के कमला नेहरू अस्पताल के बच्चा वार्ड में लगी थी। जिस समय आग लगी, उस वक्त वार्ड में 50 के करीब बच्चे भर्ती थे। आग लगने पर बाकी बच्चों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया। वहीं आग लगने के चलते बच्चों के परिजनों में गुस्सा है और बड़ी संख्या में लोग अस्पताल के बाहर जमा हो गए थे। बाद में प्रशासन ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कर दिया है। आग का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। हालांकि जांच के बाद ही हादसे की असल वजह सामने आ पाएगी। 

मामले की जानकारी मिलते ही  चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री विश्वास सारंग भी मौके पर पहुंच गए थे। साथ ही शीर्ष प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर मौजूद थे। वहीं सीएम शिवराज भी हालात पर नजर बनाए रहे। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि "राजधानी के कमला नेहरू अस्पताल के चाइल्ड वार्ड में आग लगने की घटना दुखद है। इस वार्ड में बचाव कार्य तेजी से जारी हैं। प्रशासन की टीम और बचाव कर्मी मौके पर हैं। घटना पर मेरी लगातार नजर है।

एक अन्य ट्वीट में सीएम ने लिखा कि मौके पर मौजूद अधिकारी और प्रशासन लगातार मेरे संपर्क में हैं। हमारे कैबिनेट के साथी मंत्री श्री विश्वास सारंग जी घटना की सूचना पाते ही पहुंच गए हैं और बचाव कार्य पर नजर रखे हुए हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि सभी सकुशल हों।"


मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता को दी ये 7 गारंटी

उन्होंने कहा कि मैं आज आपको 7 गांरटी देने आया हूं। जोबट, अंबुआ विधानसभा क्षेत्र के विकास, सड़क, बिजली, स्कूल, पानी की गांरटी मैं लेता हूं। दूसरी गांरटी आदिवासी बच्चों के लिए बड़े स्कूलों में दाखिला और उनकी कोचिंग फीस हमारी सरकार देगी। तीसरी गांरटी स्वास्थ्य की।

भोपाल: मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज सूबे की जनता को 7 गारंटी दी है। उन्होंने अलीराजपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आज आपको 7 गांरटी देने आया हूं। जोबट, अंबुआ विधानसभा क्षेत्र के विकास, सड़क, बिजली, स्कूल, पानी की गांरटी मैं लेता हूं। दूसरी गांरटी आदिवासी बच्चों के लिए बड़े स्कूलों में दाखिला और उनकी कोचिंग फीस हमारी सरकार देगी। तीसरी गांरटी स्वास्थ्य की।

उन्होंने आगे कहा कि मैं आज आपको 7 गांरटी देने आया हूं। जोबट, अंबुआ विधानसभा क्षेत्र के विकास, सड़क, बिजली, स्कूल, पानी की गांरटी मैं लेता हूं। दूसरी गांरटी आदिवासी बच्चों के लिए बड़े स्कूलों में दाखिला और उनकी कोचिंग फीस हमारी सरकार देगी। तीसरी गांरटी स्वास्थ्य की।


मध्‍य प्रदेश: भिंड में वायु सेना का विमान दुर्घटनाग्रस्‍त, बाल-बाल बचा पायलट

मध्य प्रदेश के भिंड जिले के मन का बाग गांव के बीहड़ में सुबह-सुबह वायु सेना का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विपमान नियमित प्रशिक्षण पर रवाना हुआ था। विमान में एक ही पायलट फ्लाइट लेफ्टिनेंट अभिलाष थे, जो पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

भिंड: मध्य प्रदेश के भिंड जिले के मन का बाग गांव के बीहड़ में सुबह-सुबह वायु सेना का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विपमान नियमित प्रशिक्षण पर रवाना हुआ था। विमान में एक ही पायलट फ्लाइट लेफ्टिनेंट अभिलाष थे, जो पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

मामले की जानकारी मिलते ही एसपी एसपी मनोज कुमार सिंह भी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। पायलट ने पैराशूट से कूद अपनी जान बचायी, पैराशूट से कूदते हुए उसका वीडियो तेजी से इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। पायलट को आर्मी हॉस्पिटल पहुंचा दिया गया है जहां उनका चेकअप किया जा रहा है।

मिली जानकारी के मिताबिक, क्रैश हुआ एयरफोर्स का मिराज विमान नियमित प्रशिक्षण के लिए रवाना हुआ था। जैसे ही विमान भिंड जिले के मन का बाग के पास पहुंचा अचानक विमान में तकनीकी समस्‍या आ गई।

पायलट फ्लाइट लेफ्टिनेंट अभिलाष ने पैराशूट के जरिए विमान से कूद गए। इसके बाद ये विमान वहां स्थित खेतों में जा गिरा। उसके पास ही रिहायशी इलाका था जहां लोगों ने जैसे ही जोरदार आवाज सुनी वो लो विमान के पास दौड़ पड़े। विमान खेतों में गिरा हुआ था गनीमत ये रही कि इस हादसे में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई।

देखते ही देखते घटनास्‍थल पर लोगों का जमावड़ा लग गया। फ्लाइट लेफ्टिनेंट का पैराशूट से जमीन पर उतरते समय लोगों ने इसका वीडियो भी बनाया है। इंटरनेट मीडिया पर ये वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है।


मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज ने कालाबाजारियों को दी चेतावनी, कहा-'जो गरीबों का राशन खायेगा, वह सीधे जेल जाएगा'

रैगांव विधानसभा उपचुनाव में प्रचार करने पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंच से अधिकारियों को निर्देश दिए कि गरीबों का राशन रोकने वालों को जेल भिजवा दो।

भोपाल/सतना: '1 रुपये किलो गेंहू, चावल, नमक खिला रहे हैं। एक शिकायत हुई है,  किसी ने मुझे आवेदन दिया है कि 2 महीने से राशन नहीं मिला। हथकड़ी लगाकर जेल भिजवा दीजिए। कोई भी हो जो गरीबों का राशन खाएगा, जेल भेजा जाएगा।'

उक्त बातें मध्य प्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान ने सतना में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही। रैगांव विधानसभा उपचुनाव में प्रचार करने पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंच से अधिकारियों को निर्देश दिए कि गरीबों का राशन रोकने वालों को जेल भिजवा दो। दरअसल मुख्यमंत्री को एक शिकायत मिली थी जिसमें इस बात का जिक्र था कि स्थानीय लोगों को पिछले दो महीने से राशन नहीं मिला है। रैगांव विधानसभा उपचुनाव में श्रीनगर इलाके में प्रचार करने के लिए पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सख्त तेवर दिखाए। उनके पास एक शिकायत पहुंची थी जिसमें इस बात का जिक्र था कि राशन की दुकानों से पिछले दो महीने से लोगों को अनाज नहीं मिला है।

शिवराज ने मंच से ही अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन लोगों ने भी ऐसा किया है, उन्हें जेल भिजवा दो। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि किसी भी व्यक्ति को गरीबों का अनाज नहीं खाने दिया जाएगा चाहे वह कोई भी हो। जांच करने के बाद कड़ी से कड़ी कार्रवाई की बात भी शिवराज ने कही। 

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि कमलनाथ (Kamal Nath) उन्हें झूठा कहते हैं लेकिन गरीबों की हित की सारी योजनाएं कमलनाथ ने सरकार में आते ही बंद कर दी। चाहे वह महिलाओं से जुड़ी योजनाएं हो या फिर युवाओं से। अनुसूचित जाति, जनजाति और गरीब वर्ग के लोगों के लिए विभिन्न कल्याण योजनाएं, जो कमलनाथ ने बंद कर दी थी, एक बार फिर दोबारा शुरू कर दी गई है।


शिवराज ने लोगों को आश्वस्त किया कि उनके रहते लोगों को अब किसी तरह की समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। शिवराज ने स्वसहायता समूह की महिलाओं को विभिन्न बैंकों से राज्य सरकार (MP Government) की गारंटी पर ढाई हजार करोड़ रुपए लोन दिलाने की बात भी कही। 

इसके साथ ही शिवराज ने यह भी कहा कि अब आंगनबाड़ियों में मध्यान्ह भोजन बनाने की बात हो या फिर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए ड्रेस सिलने की बात हो, यह सारे कार्य महिलाओं के समूह के माध्यम से ही किए जाएंगे।


मध्य प्रदेश: कम्प्यूटर बाबा ने जताई खुद की हत्या किये जाने की आशंका

घटना से जुड़ा जो सीसीटीवी वीडियो सामने आया है उसमें एक ट्रक और कम्प्यूटर बाबा के वाहन का आमने सामने से भिड़ंत हुआ है लेकिन कम्प्यूटर बाबा को इस हादसे में खुद की हत्या किए जाने की बू आ रही है।

बुरहानपुर: आज मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के नेपानगर इलाके में मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री "कंप्यूटर बाबा" की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। घटना से जुड़ा जो सीसीटीवी वीडियो सामने आया है उसमें एक ट्रक और कम्प्यूटर बाबा के वाहन का आमने सामने से भिड़ंत हुआ है लेकिन कम्प्यूटर बाबा को इस हादसे में खुद की हत्या किए जाने की बू आ रही है।

पूर्व मंत्री व कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि मुझे इसमें साजिश लग रही है। मुझे मारने की साजिश की गई है। मैं चाहता हूं कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस मामले की जांच कराएं। इसमें जो भी दोषी है, उन्हें सज़ा दी जाए। गाड़ी में बैठे अन्य लोगों को भी चोट आई है।


अब भोपाल में छत्तीसगढ़ जैसा हादसा, मूर्ति विसर्जन के दौरान कार ने लोगों को रौंदा, 4 घायल

भोपाल में दुर्गा विसर्जन के जुलूस में एक तेज रफ्तार कार घुस गई। इसमें एक हेड कांस्टेबल सहित चार लोग घायल हो गये। यह घटना शनिवार देर रात बजरिया पुलिस थाना इलाके में भोपाल रेलवे स्टेशन के पास हुई।

भोपाल: छत्तीसगढ़ जैसा हादसा मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आ रही है। यहां एक तेज रफ्तार कार ने 4 लोगों को रौंद डाला है।


भोपाल में दुर्गा विसर्जन के जुलूस में एक तेज रफ्तार कार घुस गई। इसमें एक हेड कांस्टेबल सहित चार लोग घायल हो गये। यह घटना शनिवार देर रात बजरिया पुलिस थाना इलाके में भोपाल रेलवे स्टेशन के पास हुई।  

मिली जानकारी के मुताबिक, बजरिया पुलिस थाना प्रभारी उमेश यादव ने रविवार को बताया कि भोपाल रेलवे स्टेशन के पास सड़क पर शनिवार की रात करीब सवा ग्यारह बजे दुर्गा प्रतिमा विसर्जन का जुलूस निकल रहा था। जुलूस के बीच एक अज्ञात व्यक्ति ने तेज रफ्तार कार घुसा दी, जिससे चार लोगों को चोटें आई हैं। उन्होंने कहा कि इनमें से एक को गंभीर चोटें आई हैं और उसका इलाज एक अस्पताल में चल रहा है, हालांकि उसकी स्थिति खतरे से बाहर है।


थाना प्रभारी ने बताया कि हादसे में वहां ड्यूटी पर मौजूद एक हेड कांस्टेबल के पांव पर भी यह कार चढ़ गई थी, जिससे उसे भी हल्की चोट आई है। यादव ने बताया कि जैसे ही यह कार जुलूस में घुसी, जुलूस में शामिल कथित तौर पर शराब पिये कुछ लोग उसे पकड़ने के लिए चिल्लाने लगे। इससे कार चालक घबरा गया और उसने अपने वाहन को तेजी से रिवर्स किया और उसके बाद मौके से वाहन सहित फरार हो गया।  उन्होंने कहा कि इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और उसे पकड़ने के प्रयास जारी हैं।

थाना प्रभारी ने बताया कि हादसे में वहां ड्यूटी पर मौजूद एक हेड कांस्टेबल के पांव पर भी यह कार चढ़ गई थी, जिससे उसे भी हल्की चोट आई है। यादव ने बताया कि जैसे ही यह कार जुलूस में घुसी, जुलूस में शामिल कथित तौर पर शराब पिये कुछ लोग उसे पकड़ने के लिए चिल्लाने लगे। इससे कार चालक घबरा गया और उसने अपने वाहन को तेजी से रिवर्स किया और उसके बाद मौके से वाहन सहित फरार हो गया।  उन्होंने कहा कि इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और उसे पकड़ने के प्रयास जारी हैं।


शिव'राज का हाल! कोयले की भारी कमी के बीच मात्र 9 दिन में बर्बाद कर डाला 30 करोड़ रुपए ज्यादा का कोयला

देश में कोयले की भारी कमी की वजह से बिजली संकट पैदा हो चुका है। लगभग एक पखवाड़े से कोयला संकट की खहरें सुर्खियों में हैं लेकिन मध्य प्रदेश के अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेक रही है। उन्होंने 9 दिन में 30 करोड़ रुपए से ज्यादा का कोयला 9 दिन अंदर बर्बाद कर डाला।

भोपाल: देश में कोयले की भारी कमी की वजह से बिजली संकट पैदा हो चुका है। लगभग एक पखवाड़े से कोयला संकट की खहरें सुर्खियों में हैं लेकिन मध्य प्रदेश के अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेक रही है। उन्होंने 9 दिन में 30 करोड़ रुपए से ज्यादा का कोयला 9 दिन अंदर बर्बाद कर डाला।


इस क्राइसिस टाइम में भी मध्य प्रदेश में थर्मल पावर स्टेशन बिजली उत्पादन के लिए तय मात्रा से ज्यादा कोयला इस्तेमाल कर रहे हैं। यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है एक मीडिया रिपोर्ट में। विशेषज्ञों का दावा है कि एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए 620 ग्राम कोयला पर्याप्त होता है, जबकि इस दौरान यहां पर एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए 768 ग्राम कोयला यूज हुआ।

विशेषज्ञों का अनुमान है कि 1 अक्टूबर से 9 अक्टूबर के बीच थर्मल पावर स्टेशनों ने 88000 मीट्रिक टन अतिरिक्त कोयले का इस्तेमाल किया। इसकी कीमत करीब 30 करोड़ रुपए है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने यह खबर प्रकाशित की है। इन नौ दिनों में सतपुड़ा, श्री सिंगाजी, संजय गांधी और अमरकंटक थर्मल पावर स्टेशन में कुल 4 लाख मीट्रिक टन कोयले का इस्तेमाल हुआ। जबकि इस दौरान 5229 लाख यूनिट बिजली पैदा की गई। सवाल इस बात पर है कि इस दौरान एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए 768 ग्राम कोयला इस्तेमाल किया गया। जबकि आदर्श रूप में एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए 620 ग्राम कोयला पर्याप्त होता है। 

अगर बात करें श्री सिंगाजी थर्मल पावर स्टेशन की तो इन नौ दिनों में यहां पर एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए सबसे ज्यादा 817 ग्राम कोयला इस्तेमाल किया गया है। हालांकि श्री सिंगाजी प्लांट के सुप्रीटेंडेंट इंजीनियर इसके पीछे कोयले की खराब क्वॉलिटी समेत कई अन्य कारण बताते हैं। वहीं एमपी जेनको के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि इन दिनों जो हालात हैं उनमें क्वॉलिटी चेक बहुत मुश्किल है। ऐसे में हमें जो मिल रहा है उसी से काम चलाना पड़ रहा है। 


मुम्बई में क्रूज में चल रही थी रेव पार्टी, NCB ने 8 को किया गिरफ्तार

NCB को सूत्रों से पता चला था कि शनिवार शाम मुंबई से गोवा के लिए रवाना हो रहे क्रूज शिप कार्डेलिया (Cruise Ship Cordelia) पर बीच समुद्र में ड्रग्स पार्टी होने वाली है।

मुम्बई: नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने शनिवार को मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज शिप पर छापा मारकर एक बड़ी ड्रग्स पार्टी का भंडाफोड़ किया है।  पार्टी में प्रतिबंधित मादक पदार्थो का सेवन करने के आरोप में NCB ने दस लोगों को हिरासत में ले लिया। 


NCB, मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेडे ने बताया, 'हमने कुछ लोगों से पूछताछ की। जांच जारी है। ड्रग्स बरामद किए गए हैं। हम 8-10 लोगों से पूछताछ कर रहे हैं।' क्रूज पर चल रही रेव पार्टी में किसी सेलिब्रिटी की मौजूदगी से जुड़े सवाल का जवाब देने से वानखेडे ने इनकार किया। उन्होंने कहा, 'मैं इसपर कमेंट नहीं कर सकता हूं।'

NCB को सूत्रों से पता चला था कि शनिवार शाम मुंबई से गोवा के लिए रवाना हो रहे क्रूज शिप कार्डेलिया (Cruise Ship Cordelia) पर बीच समुद्र में ड्रग्स पार्टी होने वाली है। 

यह सूचना मिलने के बाद NCB मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) अपनी टीम के साथ सामान्य यात्री बनकर क्रूज शिप पर सवार हो गए। मुंबई की सीमा से बाहर निकलते ही शिप पर पार्टी शुरू हो गई। जहाज पर सवार लोग खुलेआम मादक पदार्थ लेने लगे।


बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को NCB ने एक ऐसे ही रैकेट का पर्दाफाश किया था समें गद्दे में छिपाकर ड्रग्स की स्मगलिंग आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में की जा रही थी। हैदराबाद से आया गद्दे का एक पैकेट मुंबई एयरपोर्ट से आस्ट्रेलिया के लिए भेजा जाना था।


मध्य प्रदेश में आकाशीय बिजली का कहर, अलग-अलग जिलों में 9 लोगों की मौत

मध्य प्रदेश के देवास और आगर मालवा जिलों में सोमवार को आकाशीय बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाओं में सात महिलाओं सहित कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए।


देवास/मालवा: मध्य प्रदेश के देवास और आगर मालवा जिलों में सोमवार को आकाशीय बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाओं में सात महिलाओं सहित कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए। 

प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि देवास जिले के डेरिया गुडिया, खल और बामनी गांवों में आज दोपहर बिजली गिरने की तीन अलग-अलग घटनाओं में पांच महिलाओं सहित नौ में से छह लोगों की मौत हो गई।

इसी तरह आगर मालवा जिले के नलखेड़ा थाना अंतर्गत मनासा, पिलवास और लसुदिया केलवा गांवों में तीन अलग-अलग घटनाओं में दो महिलाओं और एक लड़के सहित तीन लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए। 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कहा कि देवास एवं आगर मालवा जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से कई अमूल्य जिंदगियों के असमय निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान और परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं। विनम्र श्रद्धांजलि।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटनाओं पर दुख व्यक्त करते हुए दोनों जिलों के कलेक्टरों को अनुग्रह राशि प्रदान करने का निर्देश दिया है। राज्य सरकार की ओर से प्रत्येक मृतक के परिवार को चार-चार लाख रुपए की अनुग्रह राशि प्रदान की जाएगी। 


कोरोना से जंग: वैक्सीन की पहली डोज लगाने के मामले में MP नंबर-1 पर

आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ज़िला, विकासखंड, वार्ड, ग्राम पंचायत स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों को संबोधित करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वैक्सीन की पहली डोज़ लगाने में प्रदेश देश में पहले स्थान पर पहुंच गया है। ये जनभागीदारी का चमत्कार है।

भोपाल: कोरोना से जंग में सबसे ज्यादा असरदार वैक्सीन लोगों तो सरकार द्वारा तेजी के साथ और युद्धस्तर पर पहुंचाई जा रही है। आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ज़िला, विकासखंड, वार्ड, ग्राम पंचायत स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों को संबोधित करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वैक्सीन की पहली डोज़ लगाने में प्रदेश देश में पहले स्थान पर पहुंच गया है। ये जनभागीदारी का चमत्कार है।

सीएम शिवराज ने आगे कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में है। इंदौर में 30 पॉजिटिव मामले एक साथ मिले। वे सेना के जवान हैं जो कहीं बाहर से आए थे। इसलिए कल का संक्रमितों का आंकड़ा 36 के आसपास पहुंच गया है। हमें अत्यंत सावधानी रखने की आवश्यकता है।

उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश में हम अबतक 83% से अधिक लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ लगा चुके हैं। पहली डोज़ के लिए 85 लाख लोग बचे हैं। हमारा लक्ष्य है कि हम 27 सितंबर के महाअभियान तक इनमें से जितने लोग राज्य में उपलब्ध हों उनको ढूंढ-ढूंढकर वैक्सीन लगा दें।


मध्य प्रदेश: पन्ना में युवती की आंखों में बदमाशों ने फेंका तेजाब!

युवती को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां अब उसकी हालत स्थिर है। माना जा रहा है कि मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है। लड़का एकतरफा प्रेम का दवाब डालने की कोशिश कर रहा था।

पन्ना: मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में आज बुधवार को एसिड अटैक का एक मामला सामने आया है। पन्ना में एक युवती की ऑख में कुछ बदमाशों ने तथाकथित रूप से तेजाब डाला और भाग गए। मामले के बाद युवती को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां अब उसकी हालत स्थिर है। माना जा रहा है कि मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है। लड़का एकतरफा प्रेम का दवाब डालने की कोशिश कर रहा था। 


मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में आज एक युवती पर कुछ बदमाशों ने तेजाब से हमला कर दिया। हमले के दौरान युवती की आंख में तेजाब जाने से उसकी हालत बिगड़ गई। पन्ना पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीणा ने बताया कि तेजाब के द्वारा हमले के बारे में जानकारी नहीं है। बदमाशों ने युवती की ऑख में आई ड्राप डाला था। हमने पीड़िता के साथ मुलाक़ात की। मामले में जांच जारी है। 

Image


पुलिस फिलहाल मामले की हर पहलू से जांच कर रही है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आरोपियों को जल्द ही पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


जागरूकता अभियान से नहीं लट्ठ से लागू होगी शराबबंदी: उमा भारती

शराबबंदी को लेकर उमा भारती ने कहा है कि मध्यप्रदेश में शराबबंदी जागरूकता अभियान से नहीं बल्कि लट्ठ के दम पर होगी।

भोपाल: ऐसा लग रहा है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते नजर आएंगी। मध्य प्रदेश में शराबबंदी को लेकर उन्होंने एक बड़ा बयान दिया है। शराबबंदी को लेकर उमा भारती ने कहा है कि मध्यप्रदेश में शराबबंदी जागरूकता अभियान से नहीं बल्कि लट्ठ के दम पर होगी।

उमा भारती ने कहा कि बी.डी. शर्मा और शिवराज सिंह ने कहा कि जागरुकता अभियान से शराबबंदी होनी चाहिए। मेरा मानना है कि यह जागरुकता से नहीं लठ्ठ से ही खत्म होता है... मैं उनको 15 जनवरी तक का समय देती हूं, तब तक हम जागरुकता अभियान चलाएंगे। उसके बाद अभियान का नेतृत्व करने मैं सड़क पर उतर जाऊंगी।


हिंदी दिवस पर MP सरकार का बड़ा एलान, राज्य में हिंदी में होगी MBBS की पढ़ाई, कांग्रेस ने जताया विरोध

आज 14 सितम्बर यानी हिंदी दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश सरकार ने बड़ा एलान करते हुए कहा है कि अब राज्य में एमबीबीएस के छात्र हिंदी में पढ़ाई करेंगे। हालांकि, कांग्रेस ने इस बात पर आपत्ति जताई है।

भोपाल: आज 14 सितम्बर यानी हिंदी दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश सरकार ने बड़ा एलान करते हुए कहा है कि अब राज्य में एमबीबीएस के छात्र हिंदी में पढ़ाई करेंगे। हालांकि, कांग्रेस ने इस बात पर आपत्ति जताई है।

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा, 'एमबीबीएस पाठ्यक्रम, नर्सिंग और अन्य पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों में हिंदी माध्यम कैसे शुरू किया जाए, यह तय करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया जाएगा। यह चिकित्सा शिक्षा विभाग और अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय का संयुक्त प्रयास होगा।'

हिंदी विश्वविद्यालय के कुलपति रामदेव भारद्वाज ने कहा कि अब राज्य सरकार ने पाठ्यक्रम के लिए अनुमति लेने का फैसला किया है और पाठ्यक्रम हिंदी विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किया जाएगा।

मामले से वाकिफ एक अधिकारी के मुताबिक, 'हिंदी प्रोजेक्ट में इंजीनियरिंग के फेल होने का कारण इंजीनियरिंग शब्दावली का हिंदी में अनुवाद भी हो चुका है। लेकिन अब हमने तय किया है कि मेडिकल कोर्स की शब्दावली एक जैसी होगी ताकि छात्रों को मेडिकल शिक्षा के बारे में सीखने में दिक्कत न हो।'

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन छात्र विंग के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अनुराग गुप्ता ने कहा, “राज्य सरकार को छात्रों को हिंदी सिखानी चाहिए लेकिन अंग्रेजी की कीमत पर नहीं। चिकित्सा एक विशाल क्षेत्र है और डॉक्टर नई तकनीक और उपचार योजना के बारे में जानने के लिए विभिन्न देशों द्वारा आयोजित संगोष्ठियों में भाग लेते हैं। हिंदी माध्यम के छात्रों को नुकसान होगा और वे खुद को अपग्रेड नहीं कर पाएंगे। यह एक अच्छा निर्णय नहीं है।”

कांग्रेस ने जताया विरोध

एमपी कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता जेपी धनोपिया ने कहा, “हिंदी में इंजीनियरिंग सफल नहीं हुई, पैरा-मेडिकल सफल नहीं हुई और अब राज्य सरकार एमबीबीएस पाठ्यक्रमों के साथ एक बार और प्रयास करना चाहती है। उन्हें केवल अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए छात्रों के भविष्य को खराब करने के लिए पाठ्यक्रमों के साथ प्रयोग नहीं करना चाहिए। हिंदी एक अच्छी भाषा है और लोगों को इसे जानना चाहिए, लेकिन मेडिकल कॉलेजों में हिंदी की शुरुआत करके वे छात्र को विकलांग बनाना चाहते हैं।”

भाजपा में कही ये बात

भजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, “यह कदम न केवल एक भाषा को बढ़ावा देने के लिए है बल्कि हिंदी माध्यम के छात्रों को बढ़ावा देने के लिए है, जो भाषा की बाधाओं के कारण चीजों को सीखने में कठिनाइयों का सामना करते हैं। उन्हें अपनी मातृभाषा में ज्ञान प्राप्त करने के साथ अंग्रेजी सीखने और इसे समझने के लिए पांच साल का समय मिलेगा। यह एक बहुत अच्छा कदम है।”


अपराधियों व बदमाशों की संपत्ति गरीबों में बाटेंगी MP सरकार, लाने जा रही कानून

मध्य प्रदेश सरकार ऐसा कानून लाने जा रही है जिसके तहत अपराधियों और बदमाशों की संपत्ति को गरीबों में बांट दिया जाएगा। यह कानून उत्तर प्रदेश के कानून गैंगस्टर एक्ट से भी ज्यादा प्रभावी होगा।

भोपाल: मध्यप्रदेश में अब अपराधियों को कोई अपराध करने से पहले सौ बार सोचना पड़ेगा। दरअसल, मध्य प्रदेश सरकार ऐसा कानून लाने जा रही है जिसके तहत अपराधियों और बदमाशों की संपत्ति को गरीबों में बांट दिया जाएगा। यह कानून उत्तर प्रदेश के कानून गैंगस्टर एक्ट से भी ज्यादा प्रभावी होगा। कानून के तहत अपराधियों की संपत्ति को गरीबों में बांटने का प्रावधान होगा।

राज्य के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार संगठित अपराध पर लगाम के लिए जल्द नया कानून लाने जा रही है। उन्होंने कहा कि यह उत्तर प्रदेश के गैंगस्टर ऐक्ट से भी ज्यादा सख्त हो सकता है। इस कानून में अपराधियों का पैसा और संपत्ति गरीबों में बांटने का प्रावधान किया जाएगा।

भोपाल में पत्रकारों से बातचीत में नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि गृह और कानून विभाग बिल का ड्राफ्ट तैयार करने के लिए साथ में काम कर रहे हैं, जो संगठित अपराध को टारगेट करेगा। उन्होंने कहा, ''खनन माफिया, शराब माफिया, जमीन माफिया और अन्य असमाजिक तत्व इस बिल के बाद राज्य में खत्म हो जाएंगे।'' 

मिश्रा ने कहा कि ड्राफ्ट बिल में सरकार अपराधियों की संपत्ति जब्त करने का भी प्रावधान करेगी। उन्होंने कहा, ''जब्त धन और संपत्ति को गरीबों में बांटने का प्रावधान भी हम ला रहे हैं। केसों के जल्द निपटारे के लिए हम स्पेशल कोर्ट बनाएंगे और गवाहों की सुरक्षा के लिए विशेष प्रावधान किए जाएंगे। इन अपराधियों की प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से मदद करने वालों को भी सजा का प्रावधान इस बिल में किया जाएगा।'' 

माना जा रहा है कि मध्य प्रदेश सरकार इस बिल को विधासभा में शीतकालीन सत्र में पेश कर सकती है। 


ग्वालियर त्रिपल मर्डर केस: दोनों आरोपी गिरफ्तार, 'अपना' ही निकला कातिल, संपत्ति के लिए दिया गया वारदात को अंजाम

पुलिस महानिरीक्षक अवनीश शर्मा ने आगे बताया कि 3 लोगों की हत्या का मामला सामने आया। मृतकों में एक वृद्ध पुरूष, 55 वर्षीय महिला और 10 वर्ष की बच्ची शामिल हैं। मामले में 2 लोगो को गिरफ़्तार किया गया है।

ग्वालियर: शहर में हुए त्रिपल मर्डर केस को पुलिस ने सुलझा लिया है। आरोपी मृतक परिवार का रिश्तेदार बताया जा रहा है। तिहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस महानिरीक्षक ग्वालियर जोन अवनीश शर्मा ने बताया कि ये संपत्ति संबंधित अपराध था। सोना, चांदी और नकद के लिए इस घटना को अंजाम दिया गया। घटना में इस्तेमाल चाकू और कट्टा ज़ब्त किए गए हैं।

पुलिस महानिरीक्षक अवनीश शर्मा ने आगे बताया कि 3 लोगों की हत्या का मामला सामने आया। मृतकों में एक वृद्ध पुरूष, 55 वर्षीय महिला और 10 वर्ष की बच्ची शामिल हैं। मामले में 2 लोगो को गिरफ़्तार किया गया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से मृतक परिवार के घर से चोरी किए हुए गहने, नगदी व हत्या में प्रयुक्त किए गए हथियारों को भी बरामद कर लिया है।

Gwalior Crime News: ट्रिपल मर्डर का खुलासा, माेहल्ले के लड़काें ने की वृद्ध, उसकी पत्नी व गाेद ली हुई बेटी की हत्या


बता दें कि ग्वालियर में एक नहीं बल्कि तीन लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया। हत्यारा कोई बाहर का नहीं बल्कि उनके साढ़ू का बेटा ही निकला। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने दो दोस्तों के साथ मिलकर इस खतरनाक वारदात को अंजाम दिया।

Image


पुलिस ने बताया कि साढ़ू के बेटे ने एक प्लान बनाया, इसमें उसने दो दोस्तों को शामिल कर लिया। ये तोनों चोरी के लिए घर में घुस गए, इसके बाद जो भी सामने आया उन सब को मारते गए। उसने अपनी मौसी, मौसा और छोटी बहन तीनों को मार दिया।




पुलिस ने वारदात में शामिल पहले एक आरोपी अरूण उर्फ घोड़ा को पकड़ा। फिर उसने पूछताछ में बताया कि पूरा प्लान साढ़ू के लड़के सचिन पाल का था और इसमें मैं और मोनू भी शामिल थे। घोड़ा के मुताबिक, जब हम चोरी कर रहे थे तो मौसी जाग गई, उस पर चाकू से हमला कर दिया और उसकी हत्या कर दी। फिर मौसा और बहन की नींद खुली तो उन्हें भी गला घोंटकर मार दिया।


जब पुलिस जांच कर रही थी तो उसे एक सुराग मिला। दरअसल, पुलिस ने जांच के दौरान पड़ोसियों से पूछताछ की। मृतक के घर के सामने साढ़ू का परिवार भी रहता है, लेकिन हत्या के बाद उनका बेटा सचिन गायब था। इस पर पुलिस को शक हुआ और उसकी छानबीन शुरू की। तब उसके दोस्त अरूण उर्फ घोड़ा का पता चला।

 घोड़ा के बारे में पता चला कि वह अक्सर चोरी करता है। इसके बाद पुलिस ने घोड़ा और मोनू की तलाश की जो गायब मिले। पुलिस ने घेराबंदी शुरू कर दी और इस दौरान घोड़ा पुलिस के हत्थे चढ़ गया। इसके बाद घोड़ा ने पूरे मामले को पुलिस के सामने खोल कर रख दिया। फिलहाल पुलिस ने मामले की गुत्थी सुलझा ली है और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।


एमपी में अब विश्व विद्यालयों के कुलपति को कहा जाएगा कुलगुरु !

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने आगे कहा कि उनके विभाग ने कुलपति का नाम हिंदी में बदलने के प्रस्ताव पर चर्चा की है। उन्होंने कहा कि नाम बदलने का प्रस्ताव जल्द ही मुख्यमंत्री की अध्यक्षता वाली मंत्रिपरिषद की बैठक में पेश किया जाएगा।

भोपाल: मध्य प्रदेश के विश्वविद्यालयो के कुलपति पदनाम को बदलकर कुलगुरु करने पर विचार किया जा रहा है। राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने सोमवार को इसके बारे में जानकारी दी। उन्होंने  बताया कि जिला कलेक्टर को हिंदी में जिलाधीश कहा जाता था। यह शब्द एक राजा की तरह लगता था। उन्होंने कहा कि यदि हम कुलगुरु कहते हैं तो यह कुलपति से अधिक अपना लगता है।

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने आगे कहा कि उनके विभाग ने कुलपति का नाम हिंदी में बदलने के प्रस्ताव पर चर्चा की है। उन्होंने कहा कि नाम बदलने का प्रस्ताव जल्द ही मुख्यमंत्री की अध्यक्षता वाली मंत्रिपरिषद की बैठक में पेश किया जाएगा। यदि इसे मंजूरी मिल जाती है तो प्रस्ताव को लागू किया जाएगा। उच्च शिक्षा विभाग की वेबसाइट के अनुसार मध्यप्रदेश में आठ पारंपरिक विश्वविद्यालय हैं। इसके अलावा एक अलग अधिनियम के तहत और अन्य विभागों द्वारा 17 विश्वविद्यालय (पत्रकारिता, इंजीनियरिंग और खुले पाठ्यक्रमों सहित) स्थापित किए गए हैं।

131 नए पाठ्यक्रम लागू किए जाएंगे

इसके अलावा मध्यप्रदेश निजी विश्वविद्यालय नियामक आयोग के अनुसार राज्य में 32 निजी विश्वविद्यालय भी चलाए जा रहे हैं। प्रदेश में दो केंद्रीय विश्वविद्यालय भी हैं। यादव ने यह भी बताया कि केंद्र की नयी शिक्षा नीति के अनुसार उनके विभाग द्वारा ''नई नीति के तहत हमारी उच्च शिक्षा प्रणाली को आगे बढ़ाने के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण के तहत 131 पाठ्यक्रमों को लागू किया जाएगा।



हाईकोर्ट से शिवराज सरकार को तगड़ा झटका, एमपी में 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण पर जारी रहेगी रोक

ओबीसी आरक्षण मुद्दे पर मध्य प्रदेश सरकार को आज हाईकोर्ट से तगड़ा झटका मिला है। दरअसल, हाई कोर्ट ने ओबीसी आरक्षण में लगी रोक हटाने से इनकार करते हुए अंतिम सुनवाई के निर्देश जारी किए हैं।

भोपाल: ओबीसी आरक्षण मुद्दे पर मध्य प्रदेश सरकार को आज हाईकोर्ट से तगड़ा झटका मिला है। दरअसल,  हाई कोर्ट ने ओबीसी आरक्षण में लगी रोक हटाने से इनकार करते हुए अंतिम सुनवाई के निर्देश जारी किए हैं। ओबीसी वर्ग का आरक्षण 27 फीसदी किए जाने के मामले में सरकार को हाईकोर्ट से झटका लगा है। 

बता दें कि सरकार की तरफ से 6 याचिका में ओबीसी आरक्षण 27 प्रतिशत किए जाने के खिलाफ लगी रोक को हटाने के लिए आवेदन पेश किया गया था। मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक और न्यायाधीश वी के शुक्ला की डबल बेंच ने संबंधित याचिकाओं की आज सुनवाई करते हुए ओबीसी आरक्षण में लगी रोक को हटाने से इनकार करते हुए अंतिम सुनवाई के निर्देश जारी किए हैं। याचिकाओं पर अंतिम सुनवाई 20 सितंबर को निर्धारित की गई है। 

प्रदेश सरकार द्वारा ओबीसी आरक्षण 14 प्रतिशत से बढ़ाकर 27 प्रतिशत किए जाने के खिलाफ दायर की गई अशिता दुबे की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र में ओबीसी वर्ग को 14 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने के अंतरिम आदेश 19 मार्च 2019 को जारी किए थे।

डबल बेंच ने पीएससी द्वारा विभिन्न पदों की परीक्षाओं की चयन सूची में भी ओबीसी वर्ग को 14 फीसदी आरक्षण दिए जाने का अंतरिम आदेश पारित किए थे। इसके अलावा चार अन्य याचिकाओं में भी सरकार ने ओबीसी आरक्षण 27 प्रतिशत किए जाने पर स्थगन आदेश जारी किए थे। 

ओबीसी आरक्षण के समर्थन, ईडब्ल्यूएस आरक्षण, न्यायिक सेवा में 27 प्रतिशत ओबीसी आरक्षण, महिला आरक्षण तथा एनएचएम भतीर् में आरक्षण के संबंध में भी याचिकाए दायर की गई थी। बेंच ने दायर सभी 24 याचिकाओं की सुनवाई संयुक्त रूप से आज की गई।


6 याचिकाएं की गई थी दाखिल

सरकार की तरफ से 6 याचिकाओं में ओबीसी आरक्षण 27 प्रतिशत किए जाने पर लगी रोक को हटाने के लिए आवेदन पेश किया गया। आवेदन में कहा गया था कि प्रदेश में 51 प्रतिशत आबादी ओबीसी वर्ग की है।

 ओबीसी, एसटी, एससी वर्ग की आबादी कुल 87 प्रतिशत है। ओबीसी वर्ग के व्यक्तियों का सरकारी नौकरियों में प्रतिनिधित्व, रहन-सहन की स्थिति आदि के अध्ययन के लिए एक आयोग का गठन किया गया था। आयोग की रिपोर्ट और आबादी के अनुसार सरकार ने ओबीसी आरक्षण 27 प्रतिशत लागू करने का निर्णय लिया है।


याचिकाकर्ता की तरफ से पैरवी करते हुए अधिवक्ता आदित्य संघी ने बेंच को बताया की सर्वोच्च न्यायालय की संवैधानिक पीठ ने साल 1993 में इंदिरा साहनी और साल 2021 में मराठा आरक्षण के मामलें में स्पष्ट आदेश दिए हैं कि जाति जनगणना के आधार पर आरक्षण प्रदान नहीं किया जा सकता है। आरक्षण 50 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए।


कोर्ट का डिसीजन

बेंच ने सुनवाई के बाद सरकार के अंतरिम आवेदन को खाजिर करते हुए याचिकाओं पर अंतिम सुनवाई के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने ओबीसी आरक्षण को चुनौती देने वाली याचिका की अलग सुनवाई का निर्देश दिया। शेष याचिकाओं पर सुनवाई के अलग से प्रस्तुत करने आदेश जारी किए हैं। याचिकाकतार्ओं की तरफ से अधिवक्ता आदित्य संधी और सरकार की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता और महाधिवक्ता पुरूषेन्द्र कौरव पेश हुए। 


व्यापम घोटाला: 9 साल बाद आया फैसला, सीबीआई कोर्ट ने 8 दोषियों को सुनाई 7 साल की सजा, 2 बरी

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापम घोटाले के मामले में आज सीबीआई कोर्ट ने 8 दोषियों को को 7-7 वर्ष की सजा की सजा सुनाई है और 2 को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है।

भोपाल: मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापम घोटाले के मामले में आज सीबीआई कोर्ट ने 8 दोषियों को को 7-7 वर्ष की सजा की सजा सुनाई है और 2 को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है।


व्यापम पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा घोटाला 2012 मामले में कोर्ट ने 8 आरोपियों को दोषी करार दिया है। अदालत ने इन सभी लोगों को 7-7 साल जेल की सजा सुनाई है। इसके अलावा इन सभी पर 10,000 रुपया का जुर्माना भी लगाया गया है। इसके अलावा अदालत ने इस मामले के 2 आरोपियों को बरी भी किया है।

दरअसल सीबीआई कोर्ट में 3 उम्मीदवार, 3 सॉल्वर और 4 बिचौलियों को आरोपी बनाया गया था। इन्हीं 4 बिचौलियों में से 2 को अदालत ने बरी कर दिया है। सुनवाई के दौरान अदालत ने राजेश धाकड़, कवींद्र, विशाल, कमलेश, ज्योतिष, नवीन समेत 8 आरोपियों को दोषी माना और इसमें से 2 को बरी कर दिया।

व्यापम (व्यावसायिक परीक्षा मंडल) घोटाला 2013 में तब सामने आया था जब इंदौर पुलिस ने 2001 की पीएमटी प्रवेश से जुड़े केस में 20 नकली अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया था। साल 2013 में डॉक्टर जगदीश सागर के पकड़े जाने के बाद इस मामले की परतें खुलती चली गई थीं। आरोप लगा था कि कई लोग असली अभ्यर्थियों की जगह पर परीक्षा देने आए थे।

साल 2015 में सुप्रीम कोर्ट ने व्यापम केस की जांच सीबीआई को सौंपी थी। राष्ट्रीय एजेंसी ने इस मामले में 100 से ज्यादा केस दर्ज किये थे। घोटालेबाजों ने असली प्रतियोगियों और उनकी जगह परीक्षा में बैठने वाले लोगों की तस्वीरों को मिला कर ये तस्वीरें बनाई थीं। लिहाजा मोर्फ तस्वीरों से असली परीक्षार्थी और नकली परीक्षार्थी की पहचान करना एजेंसी के लिए काफी मुश्किलों भरा रहा। इस मामले में दर्ज सभी केसों की जांच पूरी हो चुकी है। 


नीमच कांड पर बोले सीएम शिवराज सिंह-'अपराधियों को कुचल कर रख दिया जाएगा, इसमें कोई कसर नही छोड़ेंगे', पुलिस ने आरोपी का घर ढहाया

शिवराज सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "ऐसे कुकृत्य करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, कुचल दिया जाएगा। बाकी जो आरोपी थे उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। ऐसी कार्रवाई करेंगे कि ऐसी घटना करने से पहले कोई सोचे। अपराधियों को कुचल कर रख दिया जाएगा, इसमें कोई कसर नही छोड़ेंगे।"

बालाघाट/नीमच: मध्य प्रदेश के नीमच में एक आदिवासी युवक की बेरहमी से हत्या किए जाने के मामले में सूबे के सीएम शिवराज सिंह ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी। नीमच की घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "ऐसे कुकृत्य करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, कुचल दिया जाएगा। बाकी जो आरोपी थे उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। ऐसी कार्रवाई करेंगे कि ऐसी घटना करने से पहले कोई सोचे। अपराधियों को कुचल कर रख दिया जाएगा, इसमें कोई कसर नही छोड़ेंगे।" सीएम शिवराज सिंह ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं, दूसरी तरफ नीमच पुलिस ने केस में कार्रवाई करते हुए आरोपी के मकान को ध्वस्त कर दिया है। 


बताते चलें कि  मध्यप्रदेश के नीमच में एक बहुत ही हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। कुछ दबंगों ने कथित चोरी के शक में एक आदिवासी युवक को पहले तो बुरी तरह से पिटाई कर दी। इसके बाद उसे रस्सी से बांधकर गाड़ी से घसीटा गया। जिसके कारण युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। बाद में उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान मौत हो गई।

मानवता को शर्मसार कर देने वाली इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। वीडियो में लोगों को युवक पर लात-घूंसे बरसाते और युवक को जान की भीख मांगते देखा जा रहा है। मामले में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार को घेरते हुए पूछा है कि आखिर मध्य प्रदेश में क्या हो रहा है। 
बता दें कि एक आदिवासी युवक कन्हैया लाल भील अपने साथी के साथ अथवा कलां गांव से गुजर रहा था। तभी उनकी बाइक की टक्कर एक शख्स से हो गई। इसपर वहां के लोगों ने आदिवासी युवक को लाठी-डंडों से पिटाई कर दी। जब दबंगों का मन नहीं भरा तो युवक को  पिकअप वाहन से बांधकर उसे घसीटा। जिससे वो गंभीर रूप से घायल हो गया। बाद में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी मौत हो गई। 


मध्य प्रदेश: आदिवासी युवक को वाहन के पीछे बांधकर घसीटकर मार डाला, पूर्व सीएम कमलनाथ का सवाल-'ये क्या हो रहा है?'

सिंगोली थाना क्षेत्र के ग्राम अथवा कला में गुरुवार सुबह एक आदिवासी युवक की बाइक से टक्कर लगने के बाद हुए विवाद में आदिवासी युवक को वाहन से बांधकर घसीटा। बाद में युवक को अस्‍पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। इस वारदात का वीडियो भी सामने आया है।

नीमच: मध्य प्रदेश में गुंडों के हौसले इतनी बुलंदी पर हैं वह सरेराह किसी के भी साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर जा रहे हैं। कुछ इसी तरह का वाकया मध्‍य प्रदेश के नीमच जिले में देखने को मिला है। यहां सिंगोली थाना क्षेत्र के ग्राम अथवा कला में गुरुवार सुबह एक आदिवासी युवक की बाइक से टक्कर लगने के बाद हुए विवाद में आदिवासी युवक को वाहन से बांधकर घसीटा। बाद में युवक को अस्‍पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। इस वारदात का वीडियो भी सामने आया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, गुरुवार सुबह आदिवासी युवक कान्हा उर्फ कन्हैया लाल भील (35 वर्ष) निवासी बाणदा अपने एक अन्य साथी के साथ ग्राम अथवा कलां के पास से जा रहा था। इस दौरान गुर्जर समाज के किसी अन्य व्यक्ति से मोटरसाइकिल की टक्कर हो गई। इसके बाद विवाद बढ़ने पर गुर्जर समाज के लोगों ने मिलकर आदिवासी युवक के साथ बेरहमी से पिटाई की और उसे पिकअप से बांधकर घसीटा। इससे उसकी मौत हो गई।


घटना के बारे में नीमच के एसपी सूरज कुमार वर्मा ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब छह बजे आरोपी छीतरमल गुर्जर ने कान्हा को मोटर साइकिल से टक्कर मार दी थी। इस दौरान छीतरमल की बाइक पर लदा दूध नीचे गिर गया था। टक्कर लगने पर कान्हा ने पत्थर उठा लिया। इस पर छीतरमल ने रिश्तेदारों को बुला लिया और कान्हा से जमकर मारपीट की। इसी दौरान उस सड़क से एक पिकअप गाड़ी निकली। इसमें रस्सी भी बंधी थी। आरोपियों ने कान्हा के पैर बांधकर पिकअप से उसे 100 मीटर से ज्यादा दूर तक घसीटा।

एसपी सूरज कुमार वर्मा ने बताया कि 27 अगस्त को गोविंद ने रतनगढ़ थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। उसने पुलिस को बताया कि 25 अगस्त की रात नौ बजे उसके गांव में रहने वाले कान्हा उर्फ कन्हैयालाल ने कॉल कर शराब पीने के लिए बुलाया था। जब वह उसके घर पहुंचा तो कान्हा और उसकी पत्नी दोनों घर पर नहीं थे। रात में कान्हा घर लौटा और सुबह करीब पांच बजे गोविंद को जगाकर पत्नी को खोजने की बात कही। इसके बाद गोविंद और कान्हा बाइक से अथवाकला फंटा पहुंचे। यहां कान्हा गाड़ियों में पत्नी को तलाशने लगा। पत्नी के न मिलने पर वह परेशान हो गया और उसने गुस्से में पत्थर उठा लिया।

इस बारे में मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और कांग्रेस नेता कमल नाथ ने ट्वीट किया। उन्‍होंने लिखा कि सतना, इंदौर, देवास और अब नीमच में अमानवीयता की घटनाएँ…? पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल, लोग बेख़ौफ़ होकर क़ानून हाथ में ले रहे है, कानून का कोई डर नही, सरकार नाम की चीज़ कही भी नजर नही आ रही है…? मध्‍य प्रदेश में यह क्‍या हो रहा है।

अब नीमच जिले के के सिंगोली में कन्हैयालाल भील नाम के एक आदिवासी व्यक्ति के साथ बर्बरता की बेहद अमानवीय घटना सामने आयी है? मृतक को चोरी की शंका पर बुरी तरह से पीटने के बाद उसे एक वाहन से बांधकर निर्दयता से घसीटा गया, जिससे उसकी मौत हो गयी? मै सरकार से मांग करता हूँ कि ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने को लेकर तत्काल आवश्यक कदम उठाये, दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो, प्रदेश में क़ानून का राज स्थापित हो। उन्‍होंने घटना का वीडियो भी इसके साथ अटैच किया है।

इस मामले में जानकारी देते हुए सिंगोली थाना क्षेत्र के थानाधिकारी रमेशचन्द्र दांगी ने बताया कि आरोपी छितर गुर्जर, महेंद्र गुर्जर, लक्ष्मण गुर्जर सहित आठ आरोपितों के खिलाफ हत्या व एट्रोसिटी एक्ट में प्रकरण दर्ज किया गया है। आरोपितों की तलाश की जा रही है। जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी।


मध्य प्रदेश: चूड़ी बेचने वाले को 'धर्म के ठेकेदारों' ने घेरकर पीटा, कुमार विश्वास ने सुनाई खरी खोटी

तस्लीम उत्तर प्रदेश के जिला हरदोई का निवासी बताया जा रहा है। पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद इस मामले में पुलिस ने FIR भी दर्ज कर ली है मगर अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। वीडियो वारयल होने के बाद कई जाने-माने लोगों ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

नई दिल्ली: कुछ धर्म के ठेकेदार धर्म को ही बदनाम करने में इस कदर जुटे हुए हैं कि इंसानियत उनके लिए कुछ नहीं रह गई है। एक बार फिर से हिंदू-मुस्लिम के बीच जहर घोलने का काम कुछ धर्म के ठेकेदारों द्वारा किया गया है। दरअसल, मध्य प्रदेश के इन्दौर में चूड़ियां बेचने वाले एक व्यक्ति को कुछ लोगों द्वारा बुरी तरह से पीटते हुए एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर काफी तेजी से वायरल है। वीडियो में जिस व्यक्ति को पीटते हुए दिखाया जा रहा है उसकी पहचान 25 साल के एक युवक के रूप में हुई है जिसका नाम तस्लीम बताया जा रहा है।

तस्लीम उत्तर प्रदेश के जिला हरदोई का निवासी बताया जा रहा है। पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद इस मामले में पुलिस ने FIR भी दर्ज कर ली है मगर अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। वीडियो वारयल होने के बाद कई जाने-माने लोगों ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। एक यूजर ने तो यहां तक लिख दिया कि ये वीडियो अफगानिस्तान का नहीं बल्कि आज के इंदौर शहर का है।

मिली जानकारी के मुताबिक, मूल रूपसे यूपी के हरदोई के रहने वाले तस्लीम घर-घर जाकर चूड़ियाां बेचने का काम करते हैं, वो इन्दौर के गोविन्द नगर इलाके में चूड़ियां बेचने के लिए गए हुए थे, तभी कुछ लोग उनके पास आए उनका नाम पूछा, नाम बताने पर उन्हें मारापीटा जाने लगा, इस दौरान कोई वीडियो भी बना रहा था जिसने ये वीडियो शेयर की और ये इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। वायरल वीडियो में ये भी दिखता है कि भगवा रंग का कुर्ता पहने एक व्यक्ति तस्लीम की पिटाई कर रहा है, उसके साथ कुछ और लोग भी वीडियो में नजर आ रहे हैं।

इस वीडियो को कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी ने भी ट्वीट किया और लिखा कि “ये वीडियो अफगानिस्तान का नहीं बल्कि आज इंदौर का है, @ChouhanShivraj जी के सपनों के मध्यप्रदेश में एक चूड़ी बेंचने वाले मुसलमान का सामान लूट कर सरेआम भीड़ से लिंचिंग करवाई जाती है। @narendramodi जी क्या यही भारत बनाना चाहते थे आप ? इन आतंकियों पर कार्यवाही कब ?”