Skip to main content
Follow Us On
Hindi News, India News in Hindi, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi, ताजा ख़बरें, News

MP News: कटनी में मुस्लिम प्रत्याशी की जीत के जश्न में ‘पाकिस्तान-जिंदाबाद’ के लगे नारे, VIDEO हुआ वायरल

मुस्लिम प्रत्याशी की जीत पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वायरल वीडियो कटनी जनपद पंचायत के अंतर्गत हुए सरपंच पद के चुनाव का बताया जा रहा है।

कटनी: मुस्लिम प्रत्याशी की जीत पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वायरल वीडियो कटनी जनपद पंचायत के अंतर्गत हुए सरपंच पद के चुनाव का बताया जा रहा है।

वीडियो वायरल होने की पुष्टि पुलिस ने की है। वहीं शिकायत के बाद पुलिस वायरल वीडियो की सत्यता की जांच में जुट गई है। वायरल वीडियो में 'जीत गया.. भाई जीत गया.. वाजिद भाई जीत गया' सुनाई दे रहा है, लेकिन एक जगह पर पाकिस्तान जिंदाबाद जैसा नारा भी सुनाई दे रहा है। अब इस वीडियो की सत्यता की पड़ताल पुलिस कर रही है।

पंचायत चुनाव के दूसरे चरण का चुनाव 1 जुलाई को हुआ। दूसरे चरण में कटनी जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत चाका में भी सरपंच पद का चुनाव हुआ। चुनाव में सरपंच पद प्रत्याशियों की रात तक मतगणना चलती रही। आधी रात को सरपंच पद के प्रत्याशी राहिशा वाजिद खान की जीत हुई। जीत के बाद उमड़ी समर्थकों की भीड़ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे, देखते ही देखते वीडियो जिले में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।


आस्था या अंध विश्वास? तंत्र मंत्र के चक्कर में 5 दिन तक नहीं किया बेटी का अंतिम संस्कार, जीवित होने का कर रहा था परिवार इंतजार

शव कई दिन पुराना था और उससे दुर्गंध आ रही थी। इतना ही नहीं घर के अंदर तमाम सदस्य बीमार अवस्था में थे। इनमें मृतका की तीन बहनें, तीन भाई और उनके 5 बच्चे शामिल थे, जिसमें 5 साल की एक बच्ची कृति की हालत बेहद गंभीर थी।

प्रयागराज: परिवार के किसी सदस्य की मौत के बाद आम तौर पर लोग क्या करते हैं? शरीर का अंतिम संस्कार और मृत व्यक्ति की आत्मा की शांति के लिए हवन व शांतिपाठ, लेकिन प्रयागराज के एक परिवार ने 18 साल की मृत बेटी अंतिमा का शव का अंतिम संस्कार करने की बजाय उसे घर में छिपाए रखा। 

इस उम्मीद में कि उनकी लड़की उठ बैठेगी और पुनः जीवित हो जाएगी, जिसके लिए उन्हें तंत्र मंत्र का सहारा था। इतना ही नहीं घर में मौजूद इस परिवार के सभी 12 लोग बीते 5 दिनों से खाना भी नहीं खा रहे थे, केवल गंगाजल पीकर रह रहे थे।

लेकिन, परिवार की उम्मीद तब टूटी जब घर से दुर्गंध आने पर पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा खुलवाया तो अंदर का दृश्य देखकर पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। घर के अंदर एक कमरे में अंतिमा का शव पड़ा था, जिसके इर्द-गिर्द तंत्र मंत्र की सामग्री बिखरी थी। 
शव कई दिन पुराना था और उससे दुर्गंध आ रही थी। इतना ही नहीं घर के अंदर तमाम सदस्य बीमार अवस्था में थे। इनमें मृतका की तीन बहनें, तीन भाई और उनके 5 बच्चे शामिल थे, जिसमें 5 साल की एक बच्ची कृति की हालत बेहद गंभीर थी। 

बीमार पाए गए सभी 11 सदस्यों को पुलिस ने अस्पताल भेजवाया, जबकि घर के मालिक और मृतका का पिता अभयराज जो स्वस्थ्य था उसे पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया।

जानकारी के मुताबिक, अभयराज घर में आए दिन तंत्र मंत्र करता था। उसके घर तमाम अनजान और विचित्र वेशभूषा के लोग आते जाते थे। जानकारी के मुताबिक बेटी अंतिमा के बीमार पड़ने पर अभयराज ने उसका इलाज करवाने की बजाय तंत्र मंत्र का सहारा लिया, लेकिन तब तक बेटी दम तोड़ चुकी थी। 

बावजूद इसके वो पूजा पाठ में जुटा रहा। इस दौरान घर के दूसरे लोग भी बीमार हो गए, लेकिन अभयराज अपने परिवार के साथ तंत्रमंत्र में जुटा रहा। उन्हें यकीन था कि एक दिन न सिर्फ बेटी अंतिमा जी उठेगी बल्कि परिवार के दूसरे सदस्य भी स्वस्थ हो जाएंगे। 

चौंकाने की बात ये है कि अभयराज ने तांत्रिक क्रिया के दौरान परिवार के सदस्यों के खाने पीने पर भी पूरी तरह रोक लगा रखी थी। घर के लोग केवल गंगाजल पी रहे थे। इस घटना में सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि अभयराज का पूरा परिवार पढ़ा लिखा था उसकी सभी 5 बेटियां और 3 बेटे ग्रेजुएट हैं। बावजूद इसके वो अंधविश्वास के मकड़जाल में फंसे हुए थे।

पूरा मामला करछना तहसील के डीहा गांव का है। पुलिस ने अंतिमा के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, जबकि अभयराज को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है। वहीं, इस घटना के बाद से इलाके में तरह-तरह की चर्चाएं हो रहीं है, अफवाहों का बाजार गर्म है।


Madhya Pradesh News: इंदौर में दर्दनाक सड़क हादसा, खाई में बस गिरने से 5 की मौत, 20 घायल

मध्य प्रदेश के इंदौर ज़िले के इंदौर-खंडवा मार्ग पर एक बस खाई में गिरी। पुलिस मौके पर मौजूद है और घायलों को अस्पताल भेजा गया है। पुलिस के अनुसार हादसे में 5 यात्रियों की मौत हुई है, जबकि 20 से अधिक लोग घायल हैं।

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर ज़िले के इंदौर-खंडवा मार्ग पर एक बस खाई में गिरी। पुलिस मौके पर मौजूद है और घायलों को अस्पताल भेजा गया है। पुलिस के अनुसार हादसे में 5 यात्रियों की मौत हुई है, जबकि 20 से अधिक लोग घायल हैं।

इंदौर के डीएम मनीष सिंह ने बताया कि खंडवा इलाके के एक घाट में 40 से अधिक सवारियां लेकर जा रही बस पुलिया से 20 -25 फुट नीचे खाई में गिर गई। मामले 20 से ज्यादा लोग घायल हैं जिनका इलाज चल रहा है। घायलों को लगातार अस्पताल लाया जा रहा है और सभी का निशुल्क इलाज हो रहा है।

डीएम ने आगे बताया कि 5 लोगों की डेड बॉडी अस्पताल लाई गई थी, एक की मृत्यु इलाज के दौरान हुई है। अभी कुल मौतों का आंकड़ा बता पाना मुश्किल है। मुख्यमंत्री ने मृतकों को 4 लाख और घायलों को 50 हज़ार रुपए देने का ऐलान किया है।

डीएम ने इस बात की भी जानकारी दी कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्थिति का जायजा लिया है और मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हज़ार रुपए देने की घोषणा की है। बस मालिक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज़ करने के निर्देश दिए गए हैं।


मध्य प्रदेश नगरीय निकाय चुनाव 2022: मंत्रियों-नेताओं ने अपराधियों व दागियों को दिलाए टिकट, तो भड़क उठे CM शिवराज सिंह चौहान, कही ये बड़ी बातें

इंदौर में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खास समर्थक गैंगस्टर युवराज उस्ताद की पत्नी स्वाति काशिद को बीजेपी ने वार्ड 56 से प्रत्याशी बनाया थ। सीएम ने इस टिकट को बदलवा दिया है।

भोपाल: मध्यप्रदेश में हो रहे नगरीय निकाय के चुनावों में अपराधियों को टिकट दिये जाने को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बेहद नाराज हैं. चौहान ने साफ कर दिया है कि नगरीय निकाय चुनाव में किसी आदतन अपराधी को बीजेपी का उम्मीदवार नहीं बनाया जायेगा।

बताया जा रहा है कि बीजेपी के कुछ मंत्रियों और विधायकों ने जिलों में टिकट चयन समिति पर दबाव बनाकर अपने समर्थकों को टिकट दिलवाए। इनमें से कुछ लोग आपराधिक प्रवृति के हैं। सीएम ने इन सारे लोगों के टिकट बदले जाने को लेकर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा से बात की है।


इंदौर में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खास समर्थक गैंगस्टर युवराज उस्ताद की पत्नी स्वाति काशिद को बीजेपी ने वार्ड 56 से प्रत्याशी बनाया थ।  सीएम ने इस टिकट को बदलवा दिया है।

वहीं, भोपाल में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अपने समर्थक आदतन अपराधी भूपेन्द्र भदौरिया, सट्टा किंग बाबू मस्तान की पत्नी को बीजेपी से पार्षद प्रत्याशी बनवा दिया है। ऐसे ही छतरपुर में भी कुछ अपराधियों को टिकट दे दिया गया है।


इस सारे मामले को लेकर सीएम ने बीजेपी संगठन नेताओं को साफ कहा है कि नामांकन वापसी की तिथि के पहले यह टिकट बदले जायएं। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक बयान में कहा है कि बीजेपी स्वच्छ राजनीति की पक्षधर है। 

कांग्रेस ने राजनीति का अपराधीकरण किया है। लेकिन बीजेपी किसी आदतन, कुख्यात अपराधी को जनप्रतिनिधि नहीं बनायेगी। ऐसे अपराधियों को अगर टिकट दे भी दिया गया है, तो पार्टी उसे वापस लेकर दूसरे कार्यकर्ताओं को टिकट दे देगी।


अग्निपथ स्कीम के खिलाफ मध्य प्रदेश में भी फूटा युवाओँ का गुस्सा, ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर जमकर की तोड़-फोड़

केंद्र सरकार द्वारा सेना में जवानों के लिए शुरू की गई 'अग्निपथ योजना' को लेकर बिहार से भड़की आंदोलन की चिंगारी का असर मध्य प्रदेश तक पहुंच गया है। ग्वालियर में भी युवाओं ने सड़क पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया, रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ की और रेल पटरी पर भी आवागमन को प्रभावित किया है।

ग्वालियर: केंद्र सरकार द्वारा सेना में जवानों के लिए शुरू की गई 'अग्निपथ योजना' को लेकर बिहार से भड़की आंदोलन की चिंगारी का असर मध्य प्रदेश तक पहुंच गया है। ग्वालियर में भी युवाओं ने सड़क पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया, रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ की और रेल पटरी पर भी आवागमन को प्रभावित किया है।

मिली जानकारी के अनुसार, गुरुवार को बड़ी संख्या में युवा केंद्र सरकार की सेना में भर्ती के लिए शुरू की गई अग्निपथ योजना के विरोध में गोला का मंदिर क्षेत्र में जमा हुए। यहां छात्रों ने टायर में आग लगा दी और विरोध प्रदर्शन शुरू किया। उसके बाद युवाओं का हुजूम बिरला नगर रेलवे स्टेशन पहुंचा।

प्रदर्शनकारी युवाओं ने रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ कर रेलवे ट्रैक पर आग लगाई और रेल गाड़ियों के आवागमन को बाधित कर दिया। पुलिस को प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए बल प्रयोग करना पड़ा। आंसूगैस के गोले भी छोड़े गए। वहीं रेलवे ने एहतियात के तौर पर ग्वालियर की ओर आने वाली गाड़ियों को पहले ही रोक दिया है।

केद्र सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ ने कहा, अब क्या ऐसी 'टेंपरेरी अप्रोच' से भारत भूमि की रक्षा होगी और ऐसे भारत माता के सम्मान की सुरक्षा होगी ? असली राष्ट्रभक्ति सामने आ रही है ? यह अग्निपथ है या अग्निकुंड ?


Madhya Pradesh News: शिव'राज में TC ने बिना टिकट पकड़ी गई महिला से किया रेप!

सागर में टिकट नहीं होने पर एक TC ने महिला यात्री से रेप कर दिया। घटना शनिवार रात की है। महिला ने रविवार को कैंट थाने पहुंचकर आरोपी TC के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ जीरो पर केस दर्ज करने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर GRP के हवाले कर दिया है।

सागर: सागर में टिकट नहीं होने पर एक TC ने महिला यात्री से रेप कर दिया। घटना शनिवार रात की है। महिला ने रविवार को कैंट थाने पहुंचकर आरोपी TC के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ जीरो पर केस दर्ज करने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर GRP के हवाले कर दिया है।

पुलिस के अनुसार, महिला और उसका पति शनिवार को गुना से सागर के लिए निकले थे। सागर के मकरोनिया में महिला का मायका है। उन्हें भागलपुर एक्सप्रेस से आना था। वे शाम 4.30 बजे गुना स्टेशन पहुंचे। पत्नी को ट्रेन में बैठाकर पति टिकट लेने चला गया। इतने में ट्रेन चल पड़ी और पति स्टेशन पर ही छूट गया। महिला रात 8.15 बजे सागर पहुंच गई।

प्लेटफार्म नंबर-1 पर उतरते ही ड्यूटी कर रहे TC राजूलाल मीणा ने महिला से टिकट मांगा। महिला ने टिकट नहीं होने और पति के गुना स्टेशन पर छूट जाने की बात कही। कहा- टिकट पति के पास ही है। इस पर TC महिला से बोला- तुम्हारा चालान कटेगा। मेरे साथ बड़े साहब के पास चलो, नहीं तो FIR हो जाएगी। डर की वजह से महिला TC के साथ चली गई। आरोपी TC उसे पंचशील पेट्रोल पंप के सामने रेलवे क्वार्टर ले गया। कमरे में महिला के साथ जबरदस्ती की। रात 9.30 बजे महिला को जाने दिया।

शशि दुबे (GRP थाना प्रभारी, सागर) ने बताया कि 4 जून को एक महिला गुना से सागर के लिए निकली थी। ट्रेन छूटने के कारण महिला टिकट नहीं ले पाई थी और वो बिना टिकट के ही सागर आई थी, जिसके बाद स्टेशन पर आरोपी ने महिला से टिकट पूछा और टिकट नहीं होने पर बोला कि जुर्माना लगेगा और बोला कि आपको साहब बुला रहे हैं वहां चलना पड़ेगा। जिसके बाद महिला को घर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपी की तलाश की जा रही है और उसे जल्द गिरफ़्तार किया जाएगा।


मध्य प्रदेश में भी Tax Free हुई अक्षय कुमार की फिल्म 'सम्राट पृथ्वीराज'

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फिल्म सम्राट पृथ्वीराज को राज्य में कर मुक्त घोषित किया।

भोपाल: उत्तर प्रदेश के बाद अब मध्य प्रदेश में भी अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म 'सम्राट पृथ्वीराज' टैक्स फ्री कर दी गई है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फिल्म सम्राट पृथ्वीराज को राज्य में कर मुक्त घोषित किया।


फिल्म को टैक्स फ्री करने का एलान करते हुए सीएम शिवराज ने ट्वीट किया, 'महान योद्धा सम्राट पृथ्वीराज चौहान के जीवन पर आधारित श्री अक्षय कुमार जी अभिनीत फिल्म "सम्राट पृथ्वीराज" को मध्यप्रदेश में हमने टैक्स फ्री करने का निर्णय लिया, जिससे महान सम्राट के जीवन को अधिक से अधिक युवा देखें और उनमें मातृभूमि के प्रति अधिक प्रेम जागृत हो।'


Madhya Pradesh News: शिवराज 'मामा' सिर्फ 1 लाख खर्च कर दो, 100 फीट हरे कुएं में घुंसकर पानी निकालने को मजबूर हैं बहनें हैं!

ताजा मामला डिंडोरी जिले के घुसिया से सामने आया है। यहां क्षेत्र के लोगों को 100 फीट गहरे कुएं में उतरकर पीने के लिए पानी अपनी बाल्टी में कटोरे या गिलास की मदद से भरते हैं क्योंकि कुआं भी अब सूख चुका है। उसमें इतना पानी नहीं रह गया है कि इंसान कुएं में बाल्टी डालकर पानी निकाल सके।

डिंडोरी: वैसे तो मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान अपनी पीठ थपथपाते नहीं थकते हैं और 'विकास-विकास' का मंत्र जपते रहते हैं लेकिन ऐसा प्रतीत हो रहा है कि शिवराज मामा के राज में सिर्फ कागजों पर ही विकास हो रहा है। ताजा मामला डिंडोरी जिले के घुसिया से सामने आया है। यहां क्षेत्र के लोगों को 100 फीट गहरे कुएं में उतरकर पीने के लिए पानी अपनी बाल्टी में कटोरे या गिलास की मदद से भरते हैं क्योंकि कुआं भी अब सूख चुका है। उसमें इतना पानी नहीं रह गया है कि इंसान कुएं में बाल्टी डालकर पानी निकाल सके।

Image

कुएं में पहले दो-तीन महिला या पुरुष घुसते हैं और फिर कटोरी, गिलास की मदद से बाल्टी में पानी भरते हैं उसके बाद एक शख्स कुएं के बार से रस्सी की मदद से उन बाल्टियों को खीचता है और इस तरह से लोग पानी की बूंद बूंद के लिए तरस रहे हैं। ऐसे में सीएम शिवराज के दावों की पोल खुलती दिख रही है कि उनके राज में विकास कैसे हो रहा है।

Image


घुसिया के स्थानीय लोग बताते हैं कि उनका इस्तेमाल सिर्फ वोट के लिए राजनीतिक पार्टियों द्वारा किया जाता है। एक महिला ने कहा कि जब चुनाव नजदीक आता है तभी सरकारी नुमाइंदे और नेता लोग खुसिया में आते हैं। उसके बाद पूरे पांच साल तक गायब हो जाते हैं। महिला ने कहा कि अब हमने निर्णय लिया है कि जबतक हमारी पानी की समस्या दूर नहीं हो जाती हम तबतक वोटिंग नहीं करेंगे। 

Image

महिला ने बताया कि हमें पीने का पानी निकालने के लिए कुएं के अंदर घुसना पड़ता है। क्षेत्र में तीन-तीन कुएं हैं लेकिन तीनों की कुएं लगभग सूख चुके हैं, हमारे लिए हैंडपम्प तक की व्यवस्था नहीं है।


MP News: विधायक सज्जन सिंह वर्मा का विवादित बयान, कहा-'विभाजन के लिए देश नेहरू और जिन्ना को शुक्रिया कहे', मंत्री विश्वास सारंग ने दिया करारा जवाब

मध्य प्रदेश के आगर मालवा सीट से कांग्रेस विधय सज्जन सिंह वर्मा ने विवादित बयान दिया है। विधायक वर्मा ने कहा कि 26 जनवरी के भाषण में PM मोदी ने कहा था कि मेरे सीने का दर्द है कि 1947 में जब देश आज़ाद हुआ तब इसके दो टुकड़े किए गए जिसके दोषी नेहरू और जिन्ना हैं। देश उन्हें धन्यवाद करें कि नेहरू और जिन्ना ने अक्ल से देश के दो टूकड़े किए।

नई दिल्ली: कांग्रेस के नेता कुछ भी उलूल जुलूल बयान देत रहते हैं। ताजा मामले में मध्य प्रदेश के आगर मालवा सीट से कांग्रेस विधय सज्जन सिंह वर्मा ने विवादित बयान दिया है। विधायक वर्मा ने कहा कि 26 जनवरी के भाषण में PM मोदी ने कहा था कि मेरे सीने का दर्द है कि 1947 में जब देश आज़ाद हुआ तब इसके दो टुकड़े किए गए जिसके दोषी नेहरू और जिन्ना हैं। देश उन्हें धन्यवाद करें कि नेहरू और जिन्ना ने अक्ल से देश के दो टूकड़े किए।

अब विधायक वर्मा के बयान पर मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि इसका मतलब कांग्रेस ने स्वीकार कर लिया है कि हिंदुस्तान के विभाजन के दोषी नेहरू और जिन्ना थे। हम तो कहते आए हैं कि नेहरू और जिन्ना ने अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए देश के दो टुकड़े करवा दिए।

मंत्री ने आगे कहा कि जिन्ना राष्ट्रपति और नेहरू प्रधानमंत्री बनना चाहते थे इसलिए उन्होंने धर्म के आधार पर देश का बंटवारा किया। अब सवाल ये है कि कांग्रेस का नेतृत्व चुप क्यों है? वो इस बात का खंडन करें नहीं तो ये बात स्वीकार हो जाएगी कि नेहरू ही देश के बंटवारे के दोषी थे।


MP News: रतलाम में सांप्रदायिक हिंसा, 4 लोग घायल

स्थानीय पुलिस ने सोमवार को कहा कि यह घटना एक बारात में डीजे बजाने के कारण हुई, जिस पर दूसरे समूह ने विरोध किया, जिसके परिणामस्वरूप हिंसा हुई।

भोपाल: मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में दो समूहों की हिंसा और एक दूसरे पर पथराव में कम से कम चार लोग घायल हो गए। स्थानीय पुलिस ने सोमवार को कहा कि यह घटना एक बारात में डीजे बजाने के कारण हुई, जिस पर दूसरे समूह ने विरोध किया, जिसके परिणामस्वरूप हिंसा हुई। पुलिस के मुताबिक रविवार रात एक मुस्लिम परिवार शादी के बाद रस्म अदा कर रहा था। इस दौरान कुछ लोग डीजे की धुन पर डांस कर रहे थे। जैसे ही जुलूस कोठडी गांव के एक मंदिर से गुजरा, हिंदू समुदाय के लोगों के एक समूह ने गाने पर आपत्ति जताई।

इसके परिणामस्वरूप दोनों समुदायों के बीच गरमागरमी शुरू हुई, जो जल्द ही हिंसक हो गई और दोनों ग्रुपों ने एक दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने कहा कि पथराव में कम से कम चार लोग घायल हो गए। उन्हें जिले के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास किया। पुलिस ने कहा कि स्थिति को नियंत्रित करने के लिए आसपास के पुलिस थानों से अतिरिक्त पुलिस बल भी मंगवाया गया है।

इस दौरान जिला एसपी और एसडीएम (अनुमंडल दंडाधिकारी) मौके पर पहुंच गए। रतलाम के एसपी अभिषेक तिवारी ने कहा, "हमने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों के लोगों से बात की और स्थिति को नियंत्रण में लाया गया। हालांकि, आगे किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।"

तिवारी ने आगे बताया कि एक प्राथमिकी दर्ज की गई है और नौ लोगों पर हिंसा में शामिल होने का मामला दर्ज किया गया है। तिवारी ने कहा, "चार घायलों को इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आगे की जांच जारी है।"

संयोग से सोमवार की सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिला प्रशासन और राजगढ़ जिले की पुलिस के साथ बैठक की जहां पिछले एक सप्ताह में हिंसा की दो घटनाएं हुई हैं। बैठक के दौरान चौहान ने स्थानीय विधायकों और सांसदों से अपने-अपने क्षेत्र के लोगों से मिलने और उनसे बातचीत करने की अपील की।


अब भोपाल की जामा मस्जिद के सर्वे की मांग उठी

संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने राज्य के गृहमंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा को ज्ञापन सौंपकर जामा मस्जिद का पुरातत्व विभाग से सर्वेक्षण कराए जाने की मांग की है। उनका कहना है कि पहले वहां शिव मंदिर था और उस पर यह मस्जिद बनाई गई।

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद जैसा ही विवाद मध्य प्रदेश की राजधानी में जोर पकड़ने लगा है। यहां की जामा मस्जिद का सर्वे कराए जाने की मांग जोर पकड़ने लगी है। 

संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने राज्य के गृहमंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा को ज्ञापन सौंपकर जामा मस्जिद का पुरातत्व विभाग से सर्वेक्षण कराए जाने की मांग की है। उनका कहना है कि पहले वहां शिव मंदिर था और उस पर यह मस्जिद बनाई गई।

तिवारी ने कहा कि दिल्ली की जामा मस्जिद की तरह भोपाल की जामा मस्जिद भी बाग पद्धति पर आधारित है। मस्जिद का इतिहास पुराना है। उन्होंने कहा है कि भोपाल रियासत की आठवीं शासिका सुल्तान जहां बेगम ने हयाते कुदसी नामक किताब लिखी है, जिसमें इस बात का जिक्र किया गया है कि पहले इसे हिन्दुओं के पुराने मंदिर के तौर पर जाना जाता था।

तिवारी ने मांग की है कि मस्जिद का पुरातात्विक सर्वेक्षण कराया जाए। जरुरत पड़ी तेा अदालत में भी याचिका लगाएंगे।


MP News: गुना में पुलिसकर्मियों की हत्या में शामिल एक और बदमाश मुठभेड़ में ढेर, 2 अभी भी फरार

गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि गुना के आरोन में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या की वारदात का एक और आरोपी छोटू पठान आज तड़के पुलिस से हुई मुठभेड़ में मारा गया है। क्रॉसफायर में हमारा एक कांस्टेबल भी घायल हुआ है।

भोपाल/गुना: मध्य प्रदेश के गुना जिले में शिकारियों द्वारा तीन पुलिस जवानों की हत्या करने के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी को मंगलवार की सुबह मुठभेड़ में मार गिराया है। 

राज्य के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि गुना के आरोन में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या की वारदात का एक और आरोपी छोटू पठान आज तड़के पुलिस से हुई मुठभेड़ में मारा गया है। क्रॉसफायर में हमारा एक कांस्टेबल भी घायल हुआ है।

गृहमंत्री मिश्रा ने कहा है कि फरार चल रहे दो और आरोपियों को फिर चेतावनी दे रहा हूं कि वे सरेंडर करें। मेरा लगातार कहना है कि इस केस में ऐसी कार्रवाई करेंगे जो इतिहास में नजीर बन जाएगी।

बता दें कि शुक्रवार -शनिवार की दरम्यानी रात को आरोन के जंगल में काले हिरण और मोर का शिकार करने वालों की पुलिस से मुठभेड़ हो गई थी, जिसमें तीन पुलिस कर्मी शहीद हुए थे और एक शिकारी मारा गया था। उसके बाद पुलिस ने दूसरे आरोपी को भी मुठभेड़ में मार गिराया था, यह दोनों शहजाद और नौशाद भाई थे। अब तीसरा आरोपी मारा गया है। अब भी कुछ आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।


शिव'राज में हिरण शिकारियों का दुस्साहस, SI समेत 3 पुलिसकर्मियों को गोलियों से भूना

मध्य प्रदेश के गुना में पुलिस और बदमाशों की बीच मुठभेड़ हुई हुई है, जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। मृतकों में सब इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम शामिल हैं। बताया जाता है कि बदमाश काले हिरण को मारकर ले जा रहे थे। घटना शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात की है।

गुना: मध्य प्रदेश के गुना में पुलिस और बदमाशों की बीच मुठभेड़ हुई हुई है, जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। मृतकों में सब इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम शामिल हैं। बताया जाता है कि बदमाश काले हिरण को मारकर ले जा रहे थे। घटना शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात की है। 

इस घटना में एक शख्स के घायल होने की भी सूचना मिली है, जिसे अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। इस घटना के बाद हत्‍यारे वहां से फरार हो गए, मौके से चार हिरण और मोर के शव बरामद किए गए हैं।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि गुना के पास अपराधियों की गोलीबारी में पुलिस के तीन जांबाज अफसर और कर्मचारी  शहीद हुए हैं। उन्होंने कहा कि अपराधियों को छोड़ा नहीं जाएगा और सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान स्वयं इसकी मानिटरिंग कर रहे हैं। 


शिव'राज का हाल: छतरपुर में महिला से सामूहिक दुष्कर्म, 4 गिरफ्तार

मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में रात को घर से बाहर शौच के लिए निकली युवती को चार से ज्यादा युवकों ने अगवा कर लिया और उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

छतरपुर: मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में रात को घर से बाहर शौच के लिए निकली युवती को चार से ज्यादा युवकों ने अगवा कर लिया और उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

छतरपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह ने गुरुवार को बताया कि बिजावर थाना क्षेत्र के कंचनपुर की एक युवती दो दिन पहले रात के समय शौच के लिए घर से बाहर निकली थी। इसी दौरान कुछ युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। युवती की शिकायत पर चार युवकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और सभी की गिरफ्तारी कर ली गई है।

पीड़ित युवती के भतीजे ने बताया कि उसकी चाची शौच के लिए घर से बाहर निकली थी, तभी कुछ युवकों ने उसे अगवा कर लिया और निर्जन स्थान पर ले गए। जहां पर उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया गया।

वहीं पीड़िता ने बताया है कि रात को उसे युवक घर के बाहर से उठा ले गए और कई युवकों ने उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। वह कुछ युवकों को पहचानती भी है। महिला की हालत गंभीर है और उसका अस्पताल में इलाज जारी है।



इंदौर अग्निकांड: सिरफिरे आशिक ने दिया आगजनी को अंजाम, 7 की हुई थी मौत

शुभम का जो कबूलनामा सामने आ रहा है उसमें वह कह रहा है कि उसका स्वर्ण बाग कॉलोनी की इमारत में रहने वाली लड़की से कथित तौर पर प्रेम प्रसंग था और उससे विवाद चल रहा था। इसी विवाद के चलते उसने कार में आग लगाई। पुलिस से बचने के फेर में उसके हाथ पैर की हड्डियां भी टूट गई।

इंदौर: मध्य प्रदेश की व्यापारिक नगरी इंदौर के स्वर्ण बाग कॉलोनी में हुए अग्निकांड का आरोपी सामने आया है और उसकी पहचान संजय उर्फ शुभम दीक्षित के तौर पर हुई है जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने इस अग्निकांड को अंजाम देने की बात कबूल की है और कहा है कि वह एक युवती से प्रेम करता था और उसी के चलते उसने यह कारनामा किया।

शुभम का जो कबूलनामा सामने आ रहा है उसमें वह कह रहा है कि उसका स्वर्ण बाग कॉलोनी की इमारत में रहने वाली लड़की से कथित तौर पर प्रेम प्रसंग था और उससे विवाद चल रहा था। इसी विवाद के चलते उसने कार में आग लगाई। पुलिस से बचने के फेर में उसके हाथ पैर की हड्डियां भी टूट गई।

आरोपी ने स्वीकार किया है कि वह एक लड़की से बहुत परेशान हो गया था। उसने मेरे साथ बहुत गलत किया, उसने मुझसे खूब खर्चा करवाया, मैंने उसे खर्च के लिए दिए पैसे कभी वापस नहीं मांगे। वह हमेशा किसी ना किसी बात के लिए पैसे मांगती थी। इतना परेशान था कि उसकी गाड़ी की सीट जलाना चाहता था।

पुलिस के अनुसार, शनिवार की देर रात पुलिस को आरोपी के संबंध में जानकारी मिली और उसे स्कीम नंबर 74 के करीब से गिरफ्तार कर लिया। घटना का फुटेज मिलने के बाद साफ हो गया कि किसी सफेद शर्ट वाले युवक ने गाड़ियों में आग लगाई है। पुलिस ने उस इलाके की रहने वाली युवती से पूछताछ की जिससे एकतरफा प्रेम का राज खुल गया और पूरा घटनाक्रम साफ हो गया।

घटना शुक्रवार-शनिवार की रात को हुई थी, जब इंदौर के स्वर्ण बाग कॉलोनी के एक दो मंजिला मकान में आग लग जाने से सात लोगों की झुलस कर और दम घुटने से मौत हो गई। हादसा तब हुआ जब लोग गहरी नींद में थे। आग ने धीरे-धीरे विकराल रूप लिया और पूरा मकान आग की लपटों में घिर गया। किसी तरह लोगों ने मकान के अलग-अलग हिस्सों से कूद कर अपनी जान बचाने की कोशिश की।


Madhya Pradesh News: इंदौर में भीषण आगजनी, 7 लोग जिंदा जलकर मरे

आग पर जल्द ही काबू पा लिया गया, लेकिन तब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी थी। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है।

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर में बीती रात भीषण आग लग गई। यहां स्वर्णबाग कॉलोनी की एक इमारत में आग लगने से सात लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में 6 पुरुष और एक महिला शामिल हैं। 


शुरुआती जानकारी के अनुसार विजय नगर थाना क्षेत्र की इस इमारत में देर रात 3 बजे भीषण आग लग गई। सूचना मिलते ही आला अधिकारी व दमकल वाहन मौके पर पहुंच गए। 


आग पर जल्द ही काबू पा लिया गया, लेकिन तब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी थी। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। पुलिस की जांच जारी है। मृतकों के शवों और घायलों को एमवाय अस्पताल भेजा गया है।

दो मंजिला इमारत में आग लगने से सात लोगों की मौत के बाद इमारत को सील कर दिया गया है। फोरेंसिक विभाग की टीम सुबह ही जांच के लिए मौके पर पहुंच गई थी। 

आग कैसे लगी पुलिस इसकी जांच कर रही है। इसके साथ ही इंदौर के पुलिस आयुक्त हरिनारायणचारी मिश्रा और क्षेत्र के विधायक महेंद्र हार्डिया भी वहां पहुंच चुके हैं।


मामा का भी बुल्डोजर एक्शन में, 6 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म, मुरैना में 24 घंटे के अंदर आरोपी के घर चला बुलडोजर

आरोपी दुकानदार रिंकू शर्मा ने मासूम बच्ची को चॉकलेट व बिस्किट का लालच दिया। इसके बाद दुकान के पीछे कमरे में ले जाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया और फरार हो गया। घटना का पता चलते ही गांव में हंगामा हो गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर 24 घंटे के अंदर उसके घर पर बुलडोजर चलाकर ध्वस्त कर दिया। मासूम बच्ची को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मुरैना: मध्य प्रदेश के मुरैना स्थित देवगढ़ थाना क्षेत्र के खिटोरा गांव में आज 6 साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म की सनसनीखेज घटना सामने आई है। मासूम बच्ची अपने पिता के लिए बीड़ी का बंडल लेने दुकान पर गई हुई थी।

आरोपी दुकानदार रिंकू शर्मा ने मासूम बच्ची को चॉकलेट व बिस्किट का लालच दिया। इसके बाद दुकान के पीछे कमरे में ले जाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया और फरार हो गया। घटना का पता चलते ही गांव में हंगामा हो गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर 24 घंटे के अंदर उसके घर पर बुलडोजर चलाकर ध्वस्त कर दिया। मासूम बच्ची को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


जानकारी के अनुसार देवगढ़ गांव निवासी 6 साल की बच्ची करीब साढ़े आठ बजे पिता के लिए बीड़ी लेने दुकान पर गई थी। दुकानदार रिंकू शर्मा उम्र 32 वर्ष टॉफी का लालच देकर उसे दुकान के अंदर एक कमरे में ले गया। यहां पर आरोपी ने उसका मुंह बंद कर दुष्कर्म की बारदात को अंजाम दिया। वारदात के बाद आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए छोड़ दिया। पीड़ित बच्ची किसी तरह रोते हुए अपने घर पहुंची, और परिजनों को पूरी बात बताई। परिजन मासूम बच्ची को लेकर थाने पहुंचे। यहां पर पुलिस ने मासूम बच्ची के बयान दर्ज कर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। 

पुलिस ने घायल बच्ची को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। इसके बाद पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए एसडीएम जौरा की मौजूदगी में आरोपी के घर पर बुलडोजर चलाकर तोड़ दिया। वहीं पुलिस आरोपी की तलाश में दबिश दे रही है। देवगढ़ थाना प्रभारी सुखदेव सिंह चौहान का कहना है कि मंगलवार की शाम को आरोपी ने 6 साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म की बारदात को अंजाम दिया है। आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर एसडीएम की मौजूदगी में बुलडोजर चलाकर उसके घर को तोड़ने की कार्यवाही की गई है।


शिवराज कैबिनेट के विस्तार की चल रही है तैयारी, कई मंत्रियों की छुट्टी तय!

मध्य प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच राज्य की शिवराज सरकार जल्द कैबिनेट विस्तार कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व और प्रदेश नेताओं ने दिल्ली में इसे लेकर एक बैठक की है। बैठक में मंत्रिमंडल विस्तार और विभिन्न आयोगों के अध्यक्षों के पदों को लेकर चर्चा की गई है।

भोपाल: मध्य प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच राज्य की शिवराज सरकार जल्द कैबिनेट विस्तार कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व और प्रदेश नेताओं ने दिल्ली में इसे लेकर एक बैठक की है। बैठक में मंत्रिमंडल विस्तार और विभिन्न आयोगों के अध्यक्षों के पदों को लेकर चर्चा की गई है।


इकॉनमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश भाजपा महासचिव हितानंद, भाजपा के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय इस बैठक में शामिल हुए। यह बैठक भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष के आवास पर हुई और इसमें पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ राष्ट्रीय संगठन मंत्री शिव प्रकाश भी शामिल हुए।

आपको बता दें कि वर्तमान में मध्य प्रदेश में 31 मंत्री हैं और अधिकतम 35 मंत्री हो सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, मंत्रिंडल में अनुसूचित जनजाति को प्रतिनिधित्व प्रदान करने के लिए पार्टी दो एसटी नेताओं सुलोचना रावत और गौरी शंकर बिसेन को मंत्रिमंडल में शामिल कर सकती है। आदिवासी नेता रावत कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे और जोबट विधानसभा से उपचुनाव जीता था। माना जा रहा है कि उन्हें महिला एवं बाल विकास मंत्री बनाया जा रहा है।

वहीं बिसेन कैबिनेट रैंक के साथ ओबीसी कल्याण समिति के अध्यक्ष हैं। गोविंद सिंह राजपूत जैसे कुछ मंत्रियों के पास एक से अधिक विभाग हैं। इनसे कुछ विभाग वापस लेकर नए मंत्रियों की नियुक्ति की जा सकती है।


Amit Shah in MP: अमित शाह ने भोपाल में किया रोड शो, मुस्लिम महिलाओं और कश्मीरी पंडितों ने दिल खोलकर किया स्वागत

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के भोपाल प्रवास के दौरान हुए रोड शो में कई रंग देखने को मिले। एक तरफ जहां बुर्का वाली मुस्लिम महिलाएं उनका स्वागत करती नजर आईं, तो वहीं कश्मीरी पंडित स्वागत करने में पीछे नहीं रहे।

भोपाल: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के भोपाल प्रवास के दौरान हुए रोड शो में कई रंग देखने को मिले। एक तरफ जहां बुर्का वाली मुस्लिम महिलाएं उनका स्वागत करती नजर आईं, तो वहीं कश्मीरी पंडित स्वागत करने में पीछे नहीं रहे।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह एक दिवसीय प्रवास पर भोपाल पहुंचे। केन्द्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी के 48वीं अखिल भारतीय पुलिस विज्ञान कांग्रेस के उदघाटन-सत्र और जंबूरी मैदान में तेंदूपत्ता संग्राहकों को लाभांश का वितरण करने के बाद उनका भाजपा दफ्तर जाना हुआ। इससे पहले भाजपा दफ्तर जाने के दौरान रोड शो शिवाजी नगर में हुआ।

शिवाजी नगर से पार्टी कार्यालय तक के रोड शो के दौरान कार के एक गेट पर अमित शाह खड़े होकर लोगों का अभिवादन स्वीकार रहे थे तो दूसरे गेट पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा खड़े थे।

इस रोड शो वाले मार्ग पर सौ से ज्यादा मंच और स्वागत द्वार बनाए गए थे। इनमें खास दो मंच थे, एक मुस्लिम महिलाओं का और दूसरा कश्मीरी पंडितों का। मुस्लिम महिलाओं ने तीन तलाक को खत्म किए जाने पर अमित शाह का आभार माना तो वहीं कश्मीरी पंडितों ने कश्मीर से धारा 370 को खत्म किए जाने पर।

रोड शो के रास्ते के दोनों ओर बड़ी संख्या में भाजपा समर्थकों से लेकर आमजनों का हुजूम था। कई महिलाएं तो भगवा साड़ी में और सिर पर भगवा साफा बांधे हुए थीं। बैंड बाजों की धुन और कार्यकर्ताओं के जिंदाबाद के नारे हर तरफ गूंज रहे थे।


रामनवमी हिंसा: शिवराज 'मामा' की पुलिस ने जेल में बंद 3 लोगों को बना डाला आरोपी!

हिंसा के मामले में पुलिस (MP Police) ने तीन ऐसे लोगों को भी नामजद किया है, जो हत्या के प्रयास के मामले में फिलहाल जेल की सजा काट रहे हैं। इनमें से एक व्यक्ति के घर को कथित तौर पर अवैध निर्माण का हवाला देते हुए जिला प्रशासन ने गिरा दिया था।

भोपाल: मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले में हाल ही में हुई सांप्रदायिक झड़प के मामले में पुलिस (MP Police) पर बड़े सवाल उठ रहे हैं। दरअसल हिंसा के मामले में पुलिस (MP Police) ने तीन ऐसे लोगों को भी नामजद किया है, जो हत्या के प्रयास के मामले में फिलहाल जेल की सजा काट रहे हैं। इनमें से एक व्यक्ति के घर को कथित तौर पर अवैध निर्माण का हवाला देते हुए जिला प्रशासन ने गिरा दिया था।

पिछले महीने गिरफ्तारी के बाद से जेल में बंद तीन लोगों पर रामनवमी यानी 10 अप्रैल को बड़वानी जिले के सेंधवा में एक मोटरसाइकिल में आग लगाने का आरोप है। हैरान करने वाली बात यह है कि उनके खिलाफ उसी थाने में मामला दर्ज किया गया है, जहां उनपर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है।

इस चूक को लेकर जब पुलिस (MP Police) अधिकारियों से पूछा गया तो उनका कहना था कि शिकायतकर्ता के बयान के आधार पर यह मामला दर्ज किया गया है। वरिष्ठ पुलिस (MP Police) अधिकारी मनोहर सिंह ने कहा, 'हम मामले की जांच करेंगे और जेल सुपरिटेंडेंट से इसकी जानकारी लेंगे, फिलहाल शिकायतकर्ता के आरोपों के आधार पर मामला दर्ज किया गया है।'

तीनों की पहचान शबाज, फकरू और रऊफ के रूप में हुई है। ये तीनों के खिलाफ पिछले महीने 5 मार्च को हत्या के प्रयास के मामला दर्ज हुआ था, तब से वे जेल में हैं। शाहबाज की मां सकीना ने आरोप लगाया है कि सांप्रदायिक झड़प के बाद उनके घर में तोड़फोड़ की गई और उन्हें किसी भी तरह का कोई नोटिस नहीं दिया गया। 

सकीना ने कहा, 'पुलिस (MP Police) यहां आई और हमें घर से बाहर निकाल दिया। मेरा बेटा करीब डेढ़ महीने से जेल में है। उसे एक झगड़े के बाद गिरफ्तार किया गया था इसलिए मैं पूछना चाहता हूं कि उसके खिलाफ एफआईआर क्यों दर्ज की गई? हमने पुलिस (MP Police)कर्मियों से कहा भी कि वह जेल है लेकिन कोई हमारी सुनने को तैयार नहीं है। हमने हाथ जोड़कर माफी मांगी। वे मेरे छोटे बेटे को भी ले गए हैं।'


खरगोन हिंसा: एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के खिलाफ FIR दर्ज, कर दी थी ये 'बड़ी' गलती

मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई झड़प के बाद तनाव के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने से राज्य में सियासत गरमा गई है।

भोपाल: मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई झड़प के बाद तनाव के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने से राज्य में सियासत गरमा गई है।

सांप्रदायिक हिंसा के लिए जिला प्रशासन और पुलिस को जिम्मेदार ठहराने वाले राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने एक तस्वीर पोस्ट की है जिसमें एक मस्जिद पर लोगों के एक समूह को भगवा झंडा लहराते हुए दिखाया गया है। हालांकि, तस्वीर नकली निकली और बाद में, सिंह की पोस्ट को उनके ट्विटर अकाउंट से हटा दिया गया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा सहित राज्य के भाजपा नेताओं ने सिंह की पोस्ट को 'राज्य में सांप्रदायिक हिंसा फैलाने की साजिश' बताया।

राज्य के गृह मंत्री ने कहा कि दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद मंगलवार शाम को भोपाल थाने में सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई।

एफआईआर के जवाब में दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने बाद में मंगलवार शाम भोपाल पुलिस कमिश्नर और श्यामला हिल्स थाने को पत्र लिखकर सोशल मीडिया पर एक पुरानी पोस्ट के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ शिकायत दर्ज करने की मांग की।

पत्र में, दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने उल्लेख किया कि चौहान ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी का एक छेड़छाड़ वाला वीडियो साझा किया था। उन्होंने पत्र में कहा कि 19 मई 2019 को, शिवराज सिंह चौहान ने तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का एक छेड़छाड़ वाला वीडियो साझा किया था। यह चौहान द्वारा किया गया एक अपराध था और उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

पार्टी प्रवक्ता ने बताया कि कांग्रेस नेता ने उस वीडियो को भोपाल के पुलिस आयुक्त के साथ भी साझा किया है।

इस बीच खरगोन में पुलिस और जिला प्रशासन की ओर से दंगाइयों के खिलाफ कार्रवाई जारी है और अब तक करीब 100 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मंगलवार शाम तक 50 से अधिक इमारतों को भी ध्वस्त कर दिया गया है।

हालांकि, कई विपक्षी दलों ने राज्य सरकार की बुलडोजर कार्रवाई का विरोध करते हुए तर्क दिया है कि उचित जांच के बिना कोई भी कार्रवाई अन्याय होगी।

वहीं राज्य के गृह मंत्री ने सरकार की कार्रवाई को सही ठहराते हुए कहा कि जिन्हें कैमरे में पत्थर फेंकते देखा जा सकता है, उन्हें दंडित किया जा रहा है, और जिन भवनों को तोड़ा गया वे अवैध थे।


खरगोन हिंसा: एक्शन में CM शिवराज, खरगोन हिंसा के उपद्रवियों के घर पर चला 'मामा' का बुलडोज़र

मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी के अवसर पर हुई हिंसा के बाद राज्य की शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा एक्शन लेते हुए सोमवार को दंगाईयों के मकानों को बुलडोज़र से ढाहने की कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक शहर के संवेदनशील छोटी मोहन टाकीज इलाके में भारी पुलिस बल की तैनाती में मकानों को तोड़ा गया है।

भोपाल: मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी के अवसर पर हुई हिंसा के बाद राज्य की शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा एक्शन लेते हुए सोमवार को दंगाईयों के मकानों को बुलडोज़र से ढाहने की कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक शहर के संवेदनशील छोटी मोहन टाकीज इलाके में भारी पुलिस बल की तैनाती में मकानों को तोड़ा गया है।

बता दें कि सरकार के इस कार्रवाई पर कांग्रेस ने विरोध किया है। कांग्रेस नेता व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मामू का बुलडोजर बलात्कार करने वाले और उसके सहयोगियों पर नहीं चलता है। मामू का बुलडोजर केवल शक्ल देखकर चलवाए जाते हैं। 

भोपाल: मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी के अवसर पर हुई हिंसा के बाद राज्य की शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा एक्शन लेते हुए सोमवार को दंगाईयों के मकानों को बुलडोज़र से ढाहने की कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक शहर के संवेदनशील छोटी मोहन टाकीज इलाके में भारी पुलिस बल की तैनाती में मकानों को तोड़ा गया है।

बता दें कि सरकार के इस कार्रवाई पर कांग्रेस ने विरोध किया है। कांग्रेस नेता व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मामू का बुलडोजर बलात्कार करने वाले और उसके सहयोगियों पर नहीं चलता है। मामू का बुलडोजर केवल शक्ल देखकर चलवाए जाते हैं। 


मध्य प्रदेश: खरगोन में हिंसा के बाद कर्फ्यू, SP को गोली लगी, एक्शन में सरकार

रविवार को रामनवमीं का जुलूस निकल रहा था, इस दौरान डीजे बजाए जाने को लेकर विवाद हुआ और इस विवाद ने हिंसा का रुप ले लिया। कुछ घंटों की मशक्कत के बाद पुलिस और प्रशासन हालात को काबू में लाने में सफल रहा। कर्फ्यू भी कुछ थाना क्षेत्रों में लगाया गया, मगर रात 12 बजे के बाद फिर हिंसा भड़क उठी और मकानों दुकानों में आग लगा दी गई।

भोपाल: मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में रामनवमीं के मौके पर निकल रहे जुलूस पर हुए पथराव के बाद हिंसा भड़क उठी। पथराव हुआ, दंगाइयों ने दुकानों और मकानों में आग लगा दी। हालात बिगड़े तो कर्फ्यू लगाया गया है, वहीं इस उपद्रव में कई पुलिस जवान घायल हुए हैं और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी के पैर में गोली लगी है।


रविवार को रामनवमीं का जुलूस निकल रहा था, इस दौरान डीजे बजाए जाने को लेकर विवाद हुआ और इस विवाद ने हिंसा का रुप ले लिया। कुछ घंटों की मशक्कत के बाद पुलिस और प्रशासन हालात को काबू में लाने में सफल रहा। कर्फ्यू भी कुछ थाना क्षेत्रों में लगाया गया, मगर रात 12 बजे के बाद फिर हिंसा भड़क उठी और मकानों दुकानों में आग लगा दी गई।

मिली जानकारी के अनुसार, दंगाइयों ने कई मकानों और दुकानों में आग लगाई तो बड़ी संख्या में लोगों को अपने घरों को छोड़कर जाना पड़ा। दोनों पक्षों की ओर से पत्थरबाजी चलती रही, पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, फिर भी हालात काबू में नहीं आए तो कर्फ्यू के दायरे को बढ़ा दिया गया। वहीं उपद्रवियों के हमलों में पुलिस के छह जवानों को चोटें आई हैं, वहीं पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी के बाएं पैर में गोली लगी है।

राज्य के गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि खरगोन में कर्फ्यू जारी है, वहां के गुनहगारों से सख्ती से निपटा जायेगा। वहां जिन घरों से पत्थर आए हैं, उन घरों को पत्थर का ढ़ेर बनाएंगे।

उन्होंने आगे कहा, मध्य प्रदेश में कानून का राज है और सांप्रदायिक सौहार्द को किसी कीमत पर बिगड़ने नहीं दिया जाएगा। अब तक 77 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

डा मिश्रा ने कहा कि, खरगोन में उपद्रवी बड़ी साजिश को अंजाम देना चाहते थे लेकिन मप्र पुलिस की जांबाजी के कारण वे अपने मंसूबे में सफल नहीं हो पाए।

अराजक तत्वों को रोकने के दौरान खरगोन के एसपी सिद्धार्थ चौधरी और 6 पुलिस जवान घायल हुए हैं। सिद्धार्थ चौधरी को पैर में गोली लगी है, जिसे ऑपरेशन कर निकाला गया है।

राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर कानून व्यवस्था की समीक्षा की। चौहान ने कहा, पूरे प्रदेश में रामनवमी पूरे उत्साह के साथ मनाई गई। खरगोन में दुर्भाग्यपूण घटना हुई है, दंगाई छोड़े नही जायेंगे, कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, मध्यप्रदेश की धरती में दंगाइयों के लिए कोई स्थान नहीं है, दंगाई चिन्हित कर लिए गए हैं, दंगाइयों को सिर्फ जेल भेजना नहीं है। जिन्होंने पत्थर चलाए हैं, संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है, उनको दंडित तो करेंगे ही साथ में सार्वजनिक या निजी संपत्ति के नुकसान की वसूली भी की जाएगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने आगे कहा, मध्यप्रदेश में हमने लोक एवं निजी संपत्ति नुकसान की वसूली का अधिनियम पास किया है। क्लेम टिब्यूनल का गठन हम कर रहे हैं, नुकसान का आकलन कर वसूली भी करेंगे और कठोरतम दंड देंगे, हम किसी दंगाई को छोड़ेंगे नहीं।


अब मध्य प्रदेश में लोकतंत्र के 'चौथे स्तंभ' का चीरहरण, पत्रकार को थाने में 18 घंटों तक नंगा बैठाकर रखा!

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि विरोध के दौरान, वे 'जनता की आवाजाही को बाधित' करते हुए एक सड़क पर बैठ गए।

सीधी: मध्य प्रदेश के एक पुलिस थाने में खड़े अर्ध-नग्न पुरुषों के एक समूह की तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आई हैं, जिसमें एक स्थानीय यूट्यूब पत्रकार कनिष्क तिवारी को भी देखा जा सकता है। 


तिवारी के अनुसार, उन्हें अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया था, जब वे एक थिएटर कलाकार नीरज कुंदर के बारे में पूछताछ करने के लिए पुलिस स्टेशन गए थे। कुंदर को भाजपा विधायक और उनके बेटे के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

तिवारी सहित अन्य लोगों को कुंदर की गिरफ्तारी का विरोध करने पर गिरफ्तार किया गया था। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि विरोध के दौरान, वे 'जनता की आवाजाही को बाधित' करते हुए एक सड़क पर बैठ गए।

सोशल मीडिया पर दिखाई देने वाली तस्वीरें सीधी जिले के एक पुलिस स्टेशन की हैं, जिन्हें कथित तौर पर 2 अप्रैल को क्लिक किया गया था।

तिवारी ने बताया कि वह अन्य लोगों के साथ नीरज कुंदर की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे थे, जिन्हें पुलिस ने सीधी से भाजपा विधायक केदारनाथ शुक्ला की प्राथमिकी के आधार पर गिरफ्तार किया था।

तिवारी ने दावा किया कि वह अपने कैमरापर्सन के साथ थिएटर कलाकार के पिता के अनुरोध पर कुंदर की गिरफ्तारी के बारे में पूछने के लिए पुलिस स्टेशन गए थे।

तिवारी ने कहा कि पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और 18 घंटे से अधिक समय तक लॉकअप में रखा और बुरी तरह पीटा।

तिवारी ने कहा, "मैं एक स्वतंत्र पत्रकार के रूप में काम कर रहा हूं और हाल ही में मैंने एक रिपोर्ट फाइल की थी, जिसे केदारनाथ शुक्ला के खिलाफ माना गया था और उस खबर के कारण मुझे निशाना बनाया गया।"


इस बीच, सोशल मीडिया पर सामने आए एक वीडियो से पता चलता है कि तिवारी अन्य लोगों के साथ थाने के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

वीडियो में प्रदर्शन कर रहे लोगों को विधायक शुक्ला और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सुना गया। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मी उन्हें थाने ले जाते नजर आए। वीडियो में यह भी दिख रहा है कि प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने पीटा।

मामले में सीधी के एसपी मुकेश श्रीवास्तव ने बताया कि केदारनाथ शुक्ला ने नीरज कुंदर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि वह फर्जी खबरें साझा कर रहा था और उनके और उनके परिवार के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहा था।

श्रीवास्तव ने कहा कि प्राथमिकी 16 मार्च को दर्ज की गई थी और उनकी शिकायत के आधार पर मामले की जांच की गई थी।

श्रीवास्तव ने कहा, "जांच के दौरान पाया गया कि कुंदर ने फेसबुक पर एक नकली पहचान के साथ एक खाता बनाया था। हमने फेसबुक से एक जांच रिपोर्ट भी मांगी है और हमें बताया गया कि खाता एक नकली आईडी का उपयोग करके बनाया गया था। इसके बाद उसे 2 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था और अदालत में पेश किया।"

उन्होंने आगे कहा कि 3 अप्रैल को तिवारी अन्य लोगों के साथ सड़क पर धरने पर बैठ गए, जिससे लोगों की आवाजाही बाधित हुई।


राज निवास रेप केस: दुष्कर्मी महंत सीताराम दास के पुश्तैनी घर पर चला 'मामा' का बुल्डोजर

गुढ़वा में आरोपी सीताराम का पुश्तैनी मकान है, उस मकान पर प्रशासन ने बुलडोजर चला दिया है। यह सीताराम का पुश्तैनी मकान था और यहां वह रहा भी है।

रीवा: मध्य प्रदेश के रीवा जिले के सर्किट हाउस में एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी कथावाचक महंत सीताराम दास महाराज के पुश्तैनी मकान को बुलडोजर चलाकर ढहा दिया गया। ज्ञात हो कि बीते दिनों सीताराम दास ने यहां के राजनिवास सर्किट हाउस में एक नाबालिग को अपनी हवस का शिकार बनाया था। उसके बाद वह फरार हो गया था। आरोपी को सिंगरौली से गिरफ्तार किया गया। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त कार्रवाई की हिदायत दी थी।

मिली जानकारी के अनुसार गुढ़वा में आरोपी सीताराम का पुश्तैनी मकान है, उस मकान पर प्रशासन ने बुलडोजर चला दिया है। यह सीताराम का पुश्तैनी मकान था और यहां वह रहा भी है।

आरोपी के खिलाफ पुलिस का रवैया भी सख्त है, उसे पुलिस थाने से न्यायालय तक पैदल तेज धूप में ले जाया गया था। इस आरोपी को देखने के लिए सड़क पर लोग काफी संख्या में इकट्ठे हो गए थे तो बड़ी संख्या में लोग आरोपी को फांसी की सजा दिए जाने की मांग करते हुए नारे भी लगा रहे थे।

ज्ञात हेा कि राज्य में इससे पहले भी दुष्कर्म के आरेापियों के आशियानों पर प्रशासन को बुलडोजर चल चुका है। मुख्यमंत्री चौहान बेटियों की सुरक्षा के लिए सख्त कदम उठाने के प्रशासन को निर्देश दे चुके है।





मध्य प्रदेश: नाबालिग से दुष्कर्म का आरोपी बाबा सीताराम दास गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक, दास के मोबाइल को सर्विलांस पर रखा गया था और रीवा से करीब 150 किलोमीटर दूर सिंगरौली में उसकी आखिरी लोकेशन ट्रेस की गई थी। सिंगरौली जिला पुलिस सतर्क हो गई और उसे एक सैलून से गिरफ्तार कर लिया गया।

रीवा: मध्य प्रदेश के रीवा जिले में 17 साल की युवती से दुष्कर्म के एक आरोपी महंत सीताराम दास उर्फ समर्थ त्रिपाठी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी। घटना के बाद से फरार दास को सिंगरौली जिले से गिरफ्तार कर रीवा लाया गया।

पुलिस के मुताबिक, दास के मोबाइल को सर्विलांस पर रखा गया था और रीवा से करीब 150 किलोमीटर दूर सिंगरौली में उसकी आखिरी लोकेशन ट्रेस की गई थी। सिंगरौली जिला पुलिस सतर्क हो गई और उसे एक सैलून से गिरफ्तार कर लिया गया।

वह अपना रूप बदलने के लिए सैलून गया था। हालांकि पुलिस मौके पर पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। दास एक धार्मिक कथाकार हैं और वेदांती महाराज (उनके दादा) के सप्ताह भर चलने वाले धार्मिक कार्यक्रम, हनुमान कथा की तैयारी की देखरेख के लिए रीवा में थे, जो 1 से 10 अप्रैल तक होने वाली थी।

रीवा में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "हमने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एक को पहले गिरफ्तार किया गया था और दूसरे को महंत सीताराम दास उर्फ समर्थ त्रिपाठी को आज सुबह गिरफ्तार किया गया था। हम दो अन्य लोगों की तलाश कर रहे हैं जो फरार हैं। आगे की जांच जारी है।"

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को रीवा के दौरे के दौरान पुलिस अधीक्षक (एसपी) नवनीत भसीन से मामले में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा।

चौहान ने जिला कलेक्टर मनोज पुष्प को बलात्कार के मामले में शामिल सभी आरोपियों के घरों को ध्वस्त करने के लिए बुलडोजर का इस्तेमाल करने का भी निर्देश दिया था।

यह घटना कथित तौर पर 28 मार्च को जिला मुख्यालय स्थित सर्किट हाउस के एक सरकारी गेस्ट हाउस में हुई थी। पीड़िता, रीवा में गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज फॉर गर्ल्स (जीडीसी) की छात्रा थी, जिसे कथित तौर पर सर्किट हाउस लाया गया था। युवती के दोस्त ने कहा था कि उसे परीक्षा में अच्छा स्कोर करने में मदद मिलेगी। वहां उसे जबरन शराब पिलाई गई और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था।


राज निवास रेप केस: CM शिवराज का रीवा के एसपी को आदेश-'बुलडोजर से गिरा दो दुष्कर्मी का घर'

सीएम चौहान ने कहा, "मैंने राज निवास में दुष्कर्म की घटना के बारे में पढ़ा है। जिला कलेक्टर और एसपी, मैं आपको इस मामले में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए कह रहा हूं। इन बुलडोजरों का उपयोग कब किया जाएगा?"

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को रीवा जिले के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक (एसपी) से राज निवास में हुए दुष्कर्म के एक मामले का जिक्र करते हुए कहा कि इन बुलडोजरों का इस्तेमाल कब किया जाएगा। जिले में सरकार संचालित गेस्टहाउस में रह रहे आध्यात्मिक गुरु वेदांती महाराज के पोते-सह-शिष्य महंत सीताराम दास भी आरोपियों में से एक हैं। मुख्यमंत्री बुधवार को जिला प्रशासन द्वारा आयोजित 'रोजगार दिवस' कार्यक्रम में भाग लेने और जिले में एक वात्सल्य अस्पताल का उद्घाटन करने के लिए रीवा में थे।

सभा को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा, "मैंने राज निवास में दुष्कर्म की घटना के बारे में पढ़ा है। जिला कलेक्टर और एसपी, मैं आपको इस मामले में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए कह रहा हूं। इन बुलडोजरों का उपयोग कब किया जाएगा?"

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार दुष्कर्म और गरीबों पर अत्याचार में शामिल लोगों को नहीं बख्शेगी, चाहे वह कोई भी हो।

चौहान ने कहा, "दुष्कर्म के मामले में शामिल लोगों के घर गिराने के लिए बुलडोजर का इस्तेमाल करें। मैं आपको निर्देश दे रहा हूं।"

राज निवास में दुष्कर्म की घटना के सामने आने के बाद से स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ता और सामाजिक कार्यकर्ता राज निवास और जिला पुलिस मुख्यालय के बाहर सहित जिले के विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

विरोध प्रदर्शन के लिए राज निवास जा रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं के एक समूह को पुलिस ने बुधवार को रीवा में मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर के उतरने से पहले ही हिरासत में ले लिया।

महंत सीताराम दास एक सप्ताह तक चलने वाली 'हनुमान कथा' की तैयारी की देखरेख के लिए पिछले कुछ हफ्तों से रीवा में हैं, जो 1 अप्रैल से शुरू होने वाली थी, लेकिन घटना के बाद रद्द कर दी गई।

कुछ दिनों पहले कई स्थानीय नेताओं से मजबूत संबंध रखने वाले महंत सीताराम दास उर्फ समर्थ त्रिपाठी को रीवा जिले के एसपी नवनीत भसीन को होली के मौके पर बधाई देते देखा गया था।

रीवा महंत सीताराम के दादा रामविलास वेदांती का जन्मस्थान है, जिन्हें अब वेदांती महाराज के नाम से जाना जाता है।

28 मार्च को राज निवास में 17 वर्षीय एक लड़की के साथ दुष्कर्म किया गया था। अब तक इस मामले में एक व्यक्ति हिस्ट्रीशीटर विनोद पांडे को गिरफ्तार किया गया है, जिसके खिलाफ 30 से अधिक मामले हैं। पांडे के स्थानीय राजनेताओं से भी गहरे संबंध हैं।


मध्य प्रदेश: हिजाब पहनकर छात्रा ने क्लासरूम में पढ़ी नमाज, हिंदू संगठन ने उठाया ये बड़ा कदम

फाइनल ईयर की छात्रा का हिजाब पहनकर क्लास रूम में नमाज पढ़ने का वीडियो सामने आने के बाद हिंदू संगठनों ने नाराजगी जताई है। बिगड़ते हालात को देखते हुए यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने जांच के लिए 6 सदस्यीय कमेटी की गठन कर दी। ये कमेटी 3 दिन में रिपोर्ट सौंपेगी।

नई दिल्ली: कर्नाटक से शुरू हुआ हिजाब मामला अब मध्यप्रदेश के सागर विश्वविद्यालय (Sagar University) तक पहुंच गया है। खबर है कि सागर के डॉ. हरि सिंह गौर (Dr. Hari Singh Gaud) केंद्रीय विश्वविद्यालय में एक छात्रा द्वारा क्लासरूम में नमाज पढ़ने को लेकर मामला तूल पकड़ लिया है। 

फाइनल ईयर की छात्रा का हिजाब पहनकर क्लास रूम में नमाज पढ़ने का वीडियो सामने आने के बाद हिंदू संगठनों ने नाराजगी जताई है। बिगड़ते हालात को देखते हुए यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने जांच के लिए 6 सदस्यीय कमेटी की गठन कर दी। ये कमेटी 3 दिन में रिपोर्ट सौंपेगी।

 जानकारी के मुताबिक छात्रा एजुकेशन डिपार्टमेंट से B.ed कर रही है और उसका यह फाइनल ईयर है। छात्रा अक्सर हिजाब में क्लास लेने आती है। शुक्रवार दोपहर वह क्लास रूम के अंदर नमाज पढ़ रही थी। किसी ने VIDEO बनाकर वायरल कर दिया। जिसके बाद यह मामला तूल पकड़ता गया है। शनिवार को विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता विश्वविद्यालय पहुंचे और विरोध करते हुए प्रदर्शन शुरू किया और विश्वविद्यालय में बने शंकर मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ भी किया।

इस मामले में विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता (NIlima Gupta) ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। कमेटी बनाकर जांच कराया जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी में कोई भी ऐसी हरकत नहीं की जाए, जिससे आपसी सौहार्द्र बिगड़े। अपने निजी कार्य अपने घर पर करें, क्योंकि विश्वविद्यालय पढ़ने-लिखने के लिए है। इस संबंध में आदेश जारी किया गया है। उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।


शिव'राज का हाल: भीड़ भरी सड़क पर 2 आदिवासी महिलाओं का होता रहा उत्पीड़न, वीडियो बनाते रहे लोग

मध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल अलीराजपुर जिले के एक गांव में पुरुषों के एक समूह ने दो आदिवासी महिलाओं का सड़क पर यौन उत्पीड़न किया। पुलिस ने रविवार को कहा कि इस अपराध के सिलसिले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। सोशल मीडिया पर एक चौंकाने वाला वीडियो सामने आने के बाद इस घटना के बारे में लोगों को पता चला।

भोपलः मध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल अलीराजपुर जिले के एक गांव में पुरुषों के एक समूह ने दो आदिवासी महिलाओं का सड़क पर यौन उत्पीड़न किया। पुलिस ने रविवार को कहा कि इस अपराध के सिलसिले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। सोशल मीडिया पर एक चौंकाने वाला वीडियो सामने आने के बाद इस घटना के बारे में लोगों को पता चला। 

भोपाल से लगभग 400 किलोमीटर दूर अलीराजपुर में एक व्यस्त सड़क पर एक वाहन के पास खड़ी दो महिलाओं को दिन के उजाले में पुरुषों के एक समूह द्वारा जबरन यौन उत्पीड़न करते दिखाया गया। जबकि कुछ अन्य लोगों को इस घटना को अपने मोबाइल फोन में कैद करते देखा गया।

वायरल वीडियो की पुष्टि के बाद स्थानीय पुलिस ने कहा कि यह घटना एक लोकप्रिय आदिवासी उत्सव के दौरान हुई। क्लिप में महिलाओं में से एक सड़क किनारे खड़ी एक गाड़ी के पीछे छिपती दिखाई दे रही है। वहां से गुजर रहे एक व्यक्ति ने उसे पकड़ लिया और उसके साथ मारपीट की। महिला को दूसरे राहगीर ने बचाया। हालांकि इसी बीच एक अन्य व्यक्ति ने उसी स्थान पर खड़ी एक अन्य महिला को पकड़ लिया और उसके साथ दुष्कर्म किया। अलीराजपुर के पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने कहा, "लोगों के एक समूह के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मामले में शामिल दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एक अन्य आरोपी की तलाश की जा रही है।

इस घटना में शामिल और तीन-चार लोगों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। सिंह ने बताया कि हिरासत में लिए गए और गिरफ्तार किए गए सभी लोग आदिवासी हैं। उन्होंने कहा, हमें किसी महिला की तरफ से इस संबंध में शिकायत नहीं मिली है। हमने सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के आधार पर कार्रवाई की है। एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा, हमने और दो लोगों को शनिवार को हिरासत में लिया है। इनमें से एक व्यक्ति ने यह वीडियो बनाया था और दूसरे ने इसे सोशल मीडिया पर साझा किया था। 


Air India का विमान दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा, 54 यात्री थे सवार; बाल-बाल बची जान

दिल्ली से चलकर जबलपुर आने वाली एयर इंडिया की फ्लाइट E-6 दोपहर को जबलपुर के डुमना एयरपोर्ट पर पहुंची थी। हवाई पट्टी पर उतरते वक्त विमान अनियंत्रित होकर रनवे से बाहर की तरफ जाने लगा। इससे विमान में हड़कंप मच गया और यात्री भयभीत हो गए। हालांकि, पायलटों की सूझबूझ से बड़ा हादसा होने से टल गया।

जबलपुर: आज मध्य प्रदेश के जबलपुर के डुमना एयरपोर्ट पर आज एयर इंडिया का विमान हादसे का शिकार होने से बच गया। दिल्ली से चलकर आने वाला यह विमान एयरपोर्ट पर लैंड करते समय अनियंत्रित हो गया। इसके चलते विमान फिसलते हुए रनवे से बाहर चला गया। इससे यात्रियों में हड़कंप मच गया। पायलटों की सूझबूझ से किसी तरह विमान को वापस रनवे पर लाया गया। विमान में 54 यात्री सवार थे।


मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली से चलकर जबलपुर आने वाली एयर इंडिया की फ्लाइट E-6 दोपहर को जबलपुर के डुमना एयरपोर्ट पर पहुंची थी। हवाई पट्टी पर उतरते वक्त विमान अनियंत्रित होकर रनवे से बाहर की तरफ जाने लगा। इससे विमान में हड़कंप मच गया और यात्री भयभीत हो गए। हालांकि, पायलटों की सूझबूझ से बड़ा हादसा होने से टल गया।

एयरपोर्ट पर दुर्घटना बचने की जानकारी होते ही एयरपोर्ट अथॉरिटी और फायरब्रिगेड के लोग मौके पर पहुंचे। इसके बाद लोगों को सकुशल बाहर लाया गया। विमान कैसे रनवे से फिसला और यह हादसा कैसे हुआ इसकी जांच की जा रही है। 


लता जी को शिवराज सरकार की श्रद्धांजलि, स्वर कोकिला के नाम से बनाई जाएगी संगीत अकादमी और संग्रहालय

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल स्थित स्मार्ट सिटी पार्क में स्वर्गीय लता मंगेशकर की स्मृति में पौधा लगाया। इस मौके पर उन्होंने यह भी एलान किया कि सरकार स्वर कोकिला लता मंगेशकर के नाम पर संगीत अकादमी बनाएगी और साथ ही संग्राहलय भी बनवाएगी।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

इनपुट एजेंसियां
भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल स्थित स्मार्ट सिटी पार्क में स्वर्गीय लता मंगेशकर की स्मृति में पौधा लगाया। इस मौके पर उन्होंने यह भी एलान किया कि सरकार स्वर कोकिला लता मंगेशकर के नाम पर संगीत अकादमी बनाएगी और साथ ही संग्राहलय भी बनवाएगी।

Image

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लता जी का जाना सभी लोगों की एक व्यक्तिगत क्षति है और उसकी पूर्ति कभी नहीं हो सकती। लता जी के बिना ना संगीत जाना जाएगा और ना ही ये देश जाना जाएगा, लेकिन ये सच है कि अब लता दीदी अपने संगीत के माध्यम से हमारे बीच हमेशा बनी रहेंगी।

उन्होंने आगे कहा कि मध्य प्रदेश सरकार ने ये फैसला किया है कि इंदौर में लता जी के नाम से एक संगीत अकादमी खोली जाएगी और एक संग्रहालय बनाया जाएगा।  इंदौर में उनकी प्रतिमा भी स्थापित की जाएगी। उनके जन्मदिन पर हर साल लता मंगेशकर पुरस्कार दिया जाएगा।


भय्यू जी महाराज केस: कोर्ट ने तीनों आरोपियों को करार दिया दोषी

भय्यू जी महाराज सुसाइड केस में बड़ा फैसला आ गया है। करीब साढ़े तीन साल की सुनवाई के बाद शुक्रवार को इंदौर की आदालत ने तीनों आरोपियों को दोषी करार दिया है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

इनपुट एजेंसियां
इंदौर: भय्यू जी महाराज सुसाइड केस में बड़ा फैसला आ गया है। करीब साढ़े तीन साल की सुनवाई के बाद शुक्रवार को इंदौर की आदालत ने तीनों आरोपियों को दोषी करार दिया है।


सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र सोनी ने महाराज के सेवादार रहे विनायक दुधाले, ड्राइवर शरद देशमुख और केयरटेकर पलक पुराणिक को महाराज को आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने के मामले में सजा सुनाई। कोर्ट ने माना कि आरोपित महाराज को पैसों के लिए प्रताड़ित करते थे। पैसों के लिए उन्हें ब्लैकमेल भी किया जाता था।

मालूम हो कि भय्यू महाराज ने 12 जून 2018 को खुद के माथे पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। घटना के करीब छह महीने बाद पुलिस ने महाराज के तीन नौकरों पलक, विनायक और शरद को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया था। तब से तीनों आरोपी जेल में हैं।


मध्य प्रदेश: 12वीं तक के सभी स्कूल 31 जनवरी तक बंद, राजनीतिक व धार्मिक सभाओं पर भी रोक

इसके साथ ही उन्होंने सभी राजनीतिक और धार्मिक सभाओं और मेलों पर प्रतिबंध लगाने का भी एलान किया है। हालांकि, मकर संक्रांति 'स्नान' (Makar Sankranti) पर उन्होंने कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

इनपुट एजेंसियां

भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने नई पाबंदियों का ऐलान किया है । उन्होंने कहा कि कक्षा 1-12 के छात्रों के लिए 15 जनवरी से 31 जनवरी के बीच सभी सरकारी और निजी स्कूल बंद (All schools closed) रहेंगे। 

इसके साथ ही उन्होंने सभी राजनीतिक और धार्मिक सभाओं और मेलों पर प्रतिबंध लगाने का भी एलान किया है। हालांकि, मकर संक्रांति 'स्नान' (Makar Sankranti) पर उन्होंने कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 31 जनवरी तक सभी स्कूलों को बंद रखने का ऐलान कर दिया है। मालूम हो कि 20 जनवरी से प्री-बोर्ड टेक होम एग्जाम होने हैं। यानी पेपर ऑनलाइन घर से हल करना होगा। इसके अलावा सभी तरह के मेले और रैलियों पर भी रोक लगा दी गई है।

 इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खेल गतिविधियां 50 फीसदी क्षमता के साथ जारी रहेंगी। बड़ी सभाएं और आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे। वहीं 50फीसदी क्षमता के साथ हॉल में कार्यक्रम हो सकेंगे। सभी तरह के धार्मिक और आर्थिक मेलों पर रोक रहेगी। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोशल मीडिया एप कू पर एक वीडियो जारी कर इसका एलान किया।


शिवराज के मंत्री के करीबी Sex Scandal में फंसे, थाईलैंड की युवतियों के साथ BJPYM के 3 नेता गिरफ्तार

इंदौर जिले की पुलिस में भारतीय जनता पार्टी की युवा मोर्चा इकाई के 3 नेताओं को सेक्स स्कैंडल में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए नेताओं में से एक मध्य प्रदेश के एक मंत्री का भी करीबी बताया जा रहा है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

फ़ोटो साभार: दैनिक भास्कर

इंदौर: मध्य प्रदेश की इंदौर जिले की पुलिस में भारतीय जनता पार्टी की युवा मोर्चा इकाई के 3 नेताओं को सेक्स स्कैंडल में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए नेताओं में से एक मध्य प्रदेश के एक मंत्री का भी करीबी बताया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक, इंदौर के विजयनगर में स्पा सेंटर पर थाईलैंड की 10 लड़कियों से पकड़े गए 8 ग्राहकों में 3 खंडवा के खालवा मंडल के भाजपा युवा मोर्चा के पदाधिकारी हैं। सभी को गुरुवार को छापा मारकर सेक्स रैकेट पकड़ा था। हरसूद विधानसभा क्षेत्र के यह नेता प्रदेश सरकार में वन मंत्री विजय शाह के करीबी भी हैं। तीनों मसाज कराने वहां गए थे, इस दौरान छापा पड़ गया और पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।


इंदौर पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार- सेक्स रैकेट मामले में खंडवा के तीन युवकों गिरफ्तार किया था। इनमें वरुण यादव, विवेक नामदेव और अशोक सिंगला शामिल थे। 

ये तीनों युवक भाजपा के पदाधिकारी हैं। वरुण यादव युवा मोर्चा खालवा मंडल में उपाध्यक्ष और विवेक नामदेव महामंत्री के पद पर हैं। अशोक सिंगला भाजपा का कार्यकर्ता है और ढाबा संचालक है।

BJP के तीनों पदाधिकारी प्रदेश सरकार में वन मंत्री विजय शाह के करीबी है। मंत्री शाह इसी क्षेत्र से विधायक है। मामला सामने आया तो कई लोगों ने मंत्री और उनके बेटे दिव्यादित्य के साथ आरोपियों के फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर किए है।

कांग्रेस ने कहा तंज

भारतीय जनता युवा मोर्चा के 3 नेताओं की सेक्स रैकेट में गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस नेता मुकेश दरबार ने लिखा- ये लोग एक आदर्श पार्टी के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता भी है। मंत्री के घनिष्ठ लोग मुंह काला करवा रहे हैं।


पीएम की सुरक्षा में चूक: पंजाब सरकार के विरोध में पूरे मध्य प्रदेश में गांधी प्रतिमा के समक्ष BJP का मौन धरना

भाजपा के आह्वान पर राजधानी भोपाल सहित पूरे प्रदेश में गांधी प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। धरने में पार्टी नेताओं के साथ सामाजिक संगठनों एवं प्रबुद्धजनों ने भी भागीदारी कर पंजाब सरकार की निंदा की।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर भाजपा में भारी गुस्सा है और सुरक्षा में हुए खिलवाड़ को कांग्रेस की पंजाब सरकार का षड्यंत्र बताते हुए मध्य प्रदेश में भाजपा ने महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। भोपाल में भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल मंगुभाई पटेल को ज्ञापन सौंपा। 


भाजपा के आह्वान पर राजधानी भोपाल सहित पूरे प्रदेश में गांधी प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। धरने में पार्टी नेताओं के साथ सामाजिक संगठनों एवं प्रबुद्धजनों ने भी भागीदारी कर पंजाब सरकार की निंदा की। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने झाबुआ के राजवाड़ा चौक पर आयेाजित मौन धरना में हिस्सा लिया।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष शर्मा ने कहा कि संवैधानिक व्यवस्था के अंतर्गत राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री जिस प्रदेश में दौरे पर जाते हैं, उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है। दुर्भाग्य है कि कांग्रेस नेतृत्व ने पंजाब सरकार द्वारा जिस प्रकार प्रधानमंत्री की जान से खिलवाड़ कर उनकी सुरक्षा में कोताही बरती वह निदंनीय है। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पंजाब दौर के समय पुलिस के मुखिया का उपस्थित न होना और इस घटना के बाद मुख्यमंत्री द्वारा फोन न उठाना, कोई सामान्य घटना नहीं है। अंतर्राष्ट्रीय षडयंत्रों के तहत कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के इशारे पर पंजाब सरकार ने प्रधानमंत्री के खिलाफ षडयंत्र रचा।


मध्य प्रदेश: मास्क नहीं पहनने पर पेट्रोल पंपों पर नहीं दिया जाएगा पेट्रोल

राज्य के गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि प्रदेश में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। पेट्रोल पंप पर मास्क नहीं लगाने वाले वाहन चालकों को पेट्रोल और डीजल नहीं दिया जाएगा। इसके साथ मास्क नहीं लगाने पर सख्ती से जुर्माना भी वसूला जाएगा।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

भोपाल: मध्य प्रदेश में केारेाना के मामले तेजी से बढ़ रहा है। इसे रोकने के लिए सरकार कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए सख्ती भी बरत रही है। इसी क्रम में शिवराज सरकार ने ऐलान किया है कि वाहन चलाने वालों को पेट्रोल और डीजल तभी मिलेगा, जब वे मास्क लगाएंगे।

राज्य के गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि प्रदेश में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। पेट्रोल पंप पर मास्क नहीं लगाने वाले वाहन चालकों को पेट्रोल और डीजल नहीं दिया जाएगा। इसके साथ मास्क नहीं लगाने पर सख्ती से जुर्माना भी वसूला जाएगा।


राज्य में कोरोना मरीजों का ब्यौरा देते हुए गृहमंत्री डा मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1320 नए केस आए हैं। वहीं 169 मरीज स्वस्थ हुए है। प्रदेश में वर्तमान में कुल 3780 एक्टिव केस हैं। कोरोना संक्रमण की दर 1.94 प्रतिषत और रिकवरी रेट 97.90 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि राज्य में पुलिस के 13 जवान भी कोरोना संक्रमित हुए है, इनमें छह ग्वालियर में और एक दतिया का है।


मध्य प्रदेश: झाबुआ में लोगों को गालियां देना 2 पुलिसवालों को पड़ा महंगा, सस्पेंड किये गए

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई। वीडियो में रायपुरिया थाना प्रभारी अनिल बामनिया कुछ लोगों पर लाठी बरसाते नजर आ रहे हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक ऑडियो क्लिप में बामनिया के साथ जा रहे सहायक उप निरीक्षक अजीत सिंह को भी लोगों को गाली देते हुए सुना गया।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

भोपाल: मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले में लोगों को कथित तौर पर लाठियों से मारने और गाली-गलौज करने के आरोप में थाना प्रभारी समेत दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई। वीडियो में रायपुरिया थाना प्रभारी अनिल बामनिया कुछ लोगों पर लाठी बरसाते नजर आ रहे हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक ऑडियो क्लिप में बामनिया के साथ जा रहे सहायक उप निरीक्षक अजीत सिंह को भी लोगों को गाली देते हुए सुना गया।


घटना जिला मुख्यालय झाबुआ से करीब 40 किलोमीटर दूर रायपुरिया कस्बे के एक चौक पर शनिवार की रात हुई। जिसके बाद कुछ लोगों ने थाना प्रभारी की पिटाई भी कर दी। पुलिस ने कहा कि घटना के समय पहली नजर में बामनिया नशे में धुत प्रतीत होता है। कुछ लोगों ने कथित तौर पर बामनिया की पिटाई भी की, जिसे चोटें आईं और बाद में उनका मेडिकल टेस्ट कराया गया।

अधिकारी ने बताया कि वीडियो का संज्ञान लेने के बाद बामनिया और सिंह को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता ने बताया कि सूचना मिलने के बाद दो वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर भेजा गया है। गुप्ता ने कहा, "शुरुआती सूचना से पता चला है कि थाना प्रभारी नशे की हालत में थे। उनकी (बामनिया) मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है। दोनों पुलिसकर्मियों को उनके कथित गलत आचरण के लिए निलंबित कर दिया गया।"


महात्मा गांधी के हत्यारे की मनाई गई पुण्यतिथि, दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की उतारी गई आरती

by न्यूज9इंडिया डेस्क

ग्वालियर: छत्तीसगढ़ सरकार को चेतावनी के बाद आज ग्वालियर में महात्मा गांधी के हत्यारे दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की जयंती मनाई गई। यह आयोजन हिंदू महासभा की तरफ से किया गया। हिंदू महासभा ने दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की 37वीं पुण्यतिथि के अवसर पर उनकी तस्वीर का अनावरण किया है। इस मौके पर हिंदू महासभा के प्रदेश पदाधिकारी से लेकर सभी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 कार्यक्रम पूर्व घोषित होने के बावजूद पुलिस प्रशासन की तरफ से इसे रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। इस मौके पर हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने कहाकि देश का विभाजन मोहनदास करमचंद गांधी ने किया था। इसके चलते 50 लाख हिंदू बेघर हो गए और 10 हिंदुओं का कत्लेआम हो गया।


शहर के बीचों-बीच स्थित हिंदू महासभा कार्यालय में शुक्रवार दोपहर को प्रदेश के सभी हिंदू महासभा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता एकजुट हुए। इसके बाद यहां विधिवत बापू के हत्यारे गोडसे, नारायण आप्टे और दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे की तस्वीर लगाई गई। इसके बाद पूजा-अर्चना कर आरती उतारी गई। इस दौरान अंबाला की जेल से लाई गई मिट्टी से बापू के तीनों हत्यारों की तस्वीर का अभिषेक किया।

पूजा-अर्चना के दौरान बापू के हत्यारों की अमर होने की आवाज गूंज रही थी। हिंदू महासभा के लोग बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे नारायण आप्टे और परचुरे के अमर रहने के जयकारे लग रहे थे। इसके साथ ही हिंदू महासभा के लोगों ने उनकी आरती भी उतारी। सबसे खास बात यह है हिंदू महासभा का यह कार्यक्रम पहले से ही घोषित था। कल महासभा के लोगों ने खुद शहर में बीच चौराहे पर चुनौती दी थी कि वह बापू के हत्यारों की पुण्यतिथि मनाएंगे। लेकिन इसके बावजूद आज पुलिस प्रशासन बेखबर नजर आया। 

बापू के हत्यारे गोडसे,आप्टे और परचुरे के लगे जयकारे
पूजा-अर्चना के दौरान बापू के हत्यारों की अमर होने की आवाज गूंज रही थी। हिंदू महासभा के लोग बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे नारायण आप्टे और परचुरे के अमर रहने के जयकारे लग रहे थे। इसके साथ ही हिंदू महासभा के लोगों ने उनकी आरती भी उतारी। सबसे खास बात यह है हिंदू महासभा का यह कार्यक्रम पहले से ही घोषित था। कल महासभा के लोगों ने खुद शहर में बीच चौराहे पर चुनौती दी थी कि वह बापू के हत्यारों की पुण्यतिथि मनाएंगे। लेकिन इसके बावजूद आज पुलिस प्रशासन बेखबर नजर आया। 

कौन है डॉ दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे

दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे का साथी था। परचुरे ने ही ग्वालियर में स्थित अपने घर में नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को शरण दी थी। परचुरे ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या के लिए नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को पिस्टल उपलब्ध कराई थी। इसके आरोप में ही डॉ दत्तात्रेय सदाशिव परचुरे को आजीवन कारावास हुआ था।


बापू के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करनेवाला कालीचरण एमपी के खजुराहो से गिरफ्तार, नरोत्तम मिश्रा में जताई आपत्ति

छत्तीसगढ़ में आयोजित हुए एक धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में कालीचरण महाराज को छत्तीसगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कालीचरण की गिरफ्तारी मध्य प्रदेश के खजुराहो से की गई है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

खजुराहो: छत्तीसगढ़ में आयोजित हुए  एक धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में कालीचरण महाराज को छत्तीसगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कालीचरण की गिरफ्तारी मध्य प्रदेश के खजुराहो से की गई है।

काली जुबान वाले कालीचरण के खिलाफ छत्तीसगढ़ से लेकर महाराष्ट्र तक केस दर्ज हो चुके हैं। महाराष्ट्र पुलिस काफी दिनों से कालीचरण की तलाश में थी। महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और NCP नेता जितेंद्र आहवाड़ ने कालीचरण महाराज के खिलाफ ठाणे पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

बता दें कि कालीचरण ने रायपुर धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर अपशब्द कहे थे। इसके बाद 27 दिसंबर देर रात कालीचरण ने अपने यूट्यूब चैनल में 8 मिनट 51 सेकेंड का एक वीडियो जारी किया था।

वीडियो में कालीचरण ने कहा था कि उसे इस बात का कोई अफसोस नहीं कि उसने गांधी के लिए अपशब्द कहे। बल्कि एक बार फिर कालीचरण ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर आरोप लगाए हैं। उसने सरदार पटेल के बजाय नेहरू को प्रधामंत्री बनने पर सवाल उठाया है। इतना ही नहीं महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता नहीं वंशवाद का जनक बोला गया है।

कालीचरण ने आगे कहा था कि गांधी के बारे में अपशब्द बोलने के लिए मेरे खिलाफ प्राथमिकी हुई है। मुझे उसका कोई पश्चाताप नहीं है। मैं गांधी को राष्ट्रपिता नहीं मानता हैं... यदि सच बोलने की सजा मृत्यु है तो वह स्वीकार है।" 

इतना ही नहीं कालीचरण ने धर्म संसद में गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे की सराहना करने के साथ ही अन्य कई आपत्तिजनक बातें भी कही थीं।

एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा में जताई गिरफ्तारी पर आपत्ति


प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने छत्तीसगढ़ पुलिस के तरीके पर भारी आपत्ति जताई है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के डीजीपी (DGP) को छत्तीसगढ़ के डीजीपी से बात करने के निर्देश दिए हैं।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी में छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा संघीय ढांचे का उल्लंघन किया गया है। गृहमंत्री का कहना है कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने इंटरस्टेट प्रोटोकॉल (interstate protocol) का उल्लंघन किया है। वहीं छत्तीसगढ़ पुलिस की कार्यशैली पर भी गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सवाल खड़े किए हैं।


मध्य प्रदेश: निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव किए निरस्त

मध्य प्रदेश में राज्य निर्वाचन आयोग ने आगामी समय में होने वाले पंचायत चुनावों को निरस्त कर दिया है। साथ ही उम्मीदवारों ने नामांकन के साथ जो जमानत की रकम जमा की थी, उस राशि को वापस करने का भी फैसला लिया है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

भोपाल: मध्य प्रदेश में राज्य निर्वाचन आयोग ने आगामी समय में होने वाले पंचायत चुनावों को निरस्त कर दिया है। साथ ही उम्मीदवारों ने नामांकन के साथ जो  जमानत की रकम जमा की थी, उस राशि को वापस करने का भी फैसला लिया है। 

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव बी.एस. जामोद ने बताया है कि राज्य सरकार के पंचायत राज संशोधन अध्यादेश-2021 वापस लिए जाने के बाद कानून के जानकारों से सलाह ली गई। उनकी सलाह के आधार पर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को निरस्त कर दिया गया है।  

राज्य में पंचायत चुनाव 4 दिसंबर को घोषित किया गया था और उसके बाद से चुनावी प्रक्रिया जारी थी। दो चरणों के लिए नामांकन भरने से लेकर चुनाव चिह्न आवंटित भी कर दिए गए थे। 

शिवराज सरकार द्वारा मध्य प्रदेश पंचायत राज और ग्राम स्वराज संशोधन अध्यादेश को वापस लिए जाने के बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव स्थगित या रद्द कर किए जाएंगे। 

राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने बीते रोज पंचायत एवं ग्रामीण विकास के साथ आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक कर सभी पहलुओं पर चर्चा की। इसके बाद विधि विशेषज्ञों की राय ली गई।

राज्य में हुए चुनाव में आरक्षण के रोटेशन और परिसीमन के मामले को लेकर सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालय में कई याचिकाएं दायर की गईं थीं। उसके बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षित स्थानों पर चुनाव स्थगित कर अन्य स्थानों पर चुनाव प्रक्रिया जारी रखी थी। 

राज्य सरकार द्वारा अध्यादेश वापस लिए जाने के बाद चुनाव आयोग ने विधि विशेषज्ञों से सलाह लेने के बाद चुनाव प्रक्रिया को ही स्थगित कर दिया है।


कोरोना की तीसरी लहर की आहट के बीच मध्य प्रदेश में लगाया गया नाइट कर्फ्यू, सीएम शिवराज ने खुद किया एलान

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संबोधन कर रात्रिकालीन कर्फ्यू को फिर शुरू कर दिया है। यह कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

भोपाल: ओमिक्रोन के बढ़ते केसों और कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संबोधन कर रात्रिकालीन कर्फ्यू को फिर शुरू कर दिया है। यह कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा। 

उन्होंने कहा कि अगर आवश्यकता पड़ी तो और भी फैसले लिए जाएंगे। यह ध्यान रखें कि स्कूल में बच्चों की 50 फीसदी उपस्थिति ही रहे। शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संबोधन में कोविड की तीसरी लहर की आशंका पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि कई महीनों बाद मध्य प्रदेश में कोविड के तीस नए प्रकरण आए हैं। 

महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ने को लेकर सीएम ने चिंता जताई है और कहा है कि पूर्व के अनुभव से यह आशंका है कि मध्य प्रदेश में भी कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ सकते हैं। 

सीएम चौहान ने कहा कि कल महाराष्ट्र में 1201, गुजरात 91 दिल्ली में 125 प्रकरण आए। पूर्व के अनुभव रहे हैं कि गुजरात-महाराष्ट्र में जब केस बढ़े हैं तो मध्य प्रदेश में भी उसके बाद असर हुआ था। 

उन्होंने कहा कि पहली व दूसरी लहर में इंदौर-भोपाल से ही शुरुआत होती है। कोरोना ने अपना स्वरूप बदला है। नया स्वरूप ओमक्रॉन देश के 16 राज्यों में आ चुका है और मध्य प्रदेश में इससे इंकार नहीं किया जा सकता कि यहां भी ओमिक्रॉन वायरस आ जाए। 

अपने संबोधन में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि कोविड का कोई केस आता है तो घर में पर्याप्त स्थान होने पर होम आइसोलेशन किया जाए। अन्यथा अस्पताल में भी भर्ती कराया जाए। कोविड की तीसरी लहर को आने से रोकने के लिए हर आवश्यक उपाय करने की अपील की है। 

उन्होंने कहा कि भारत सरकार की गाइड लाइन का पालन किया जाए। अनावश्यक रूप से भीड़़ में नहीं जाएं  और मास्क जरूर पहनें। कोरोना का दूसरा डोज तुरंत लगाएं जिसने पहला नहीं लगवाया हो तो टीका जरूर लगवा लें।


मध्य प्रदेश: सीएम शिवराज ने किया वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा, कहा-'आ चुकी है तीसरी लहर'

सीएम शिवराज ने कहा कि कई देशों में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। इसलिए मेरा निवेदन है कि आप असावधान ना रहें। जिन्होंने अब तक कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज़ नहीं लगाई है, कृपया वह दूसरी डोज़ लगवा ले। कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए आप सभी का सहयोग चाहिए।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

भोपाल:  महा वैक्सीनेशन अभियान के अंतर्गत भोपाल में आज सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक स्कूल में बने वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा किया।

इस मौके पर सीएम शिवराज ने कहा कि कई देशों में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। इसलिए मेरा निवेदन है कि आप असावधान ना रहें। जिन्होंने अब तक कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज़ नहीं लगाई है, कृपया वह दूसरी डोज़ लगवा ले। कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए आप सभी का सहयोग चाहिए।


मध्य प्रदेश: छिंदवाड़ा में वकील की तलवार से काटकर हत्या

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा स्थित परासिया में सोमवार को एक वकील की दिनदहाड़े धारदार हथियार से हमलाकर हत्या कर दी गई। अज्ञात हमलावरों के इस दुस्साहसिक कारनामे से वहां अफरा-तफरी मच गई।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

छिंदवाड़ा: मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा स्थित परासिया में सोमवार को एक वकील की दिनदहाड़े धारदार हथियार से हमलाकर हत्या कर दी गई। अज्ञात हमलावरों के इस दुस्साहसिक कारनामे से वहां अफरा-तफरी मच गई। 

हमले के दौरान वकील ने भागकर खुद को बचाने की कोशिश की, लेकिन गंभीर रूप से घायल होने के चलते सफल नहीं हो पाया। पास ही स्थित पेट्रोल पंप के केबिन में पहुंचकर वकील ने दम तोड़ दिया। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। सूत्रों के मुताबिक मामला प्रेम विवाह से जुड़ा है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक चांदामेटा के मंगली बाजार निवासी 32 वर्षीय एडवोकेट रितेश चौरिया परासिया स्थित पेट्रोल पंप के समीप पहुंचा था। इसी दौरान दो अज्ञात हमलावर बाइक से आए और तलवार व धारधार हथियारों रितेश पर पीछे से हमला कर दिया। घटना के बाद पेट्रोल पंप पर भीड़ लग गई।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और वकील को अस्पताल ले गई, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने तत्काल आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। इसके लिए आसपास के सीसीटीवी की भी तलाश की गई है। 


मध्य प्रदेश के छतरपुर में भीषण सड़क हादसा, 80 से ज्यादा घायल

मामले की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां कुछ घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

छतरपुर: मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में आज 2 यात्री बसों के गिरने से एक भीषण सड़क हादसा हुआ है। इस सड़क हादसे में 80 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। मामले की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां कुछ घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार छतरपुर से बड़ामलहरा की ओर जा रही बस गुलगंज में रुककर सवारी भर रही थी। तभी पीछे से तेज रफ्तार में आ रही आ रही एक अन्य बस ने पहली बस को पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि पीछे से टक्कर मारने वाली बस के परखच्चे उड़ गए। दूसरी बस भी पलट गई। घटना के समय दोनों बसों में बड़ी संख्या में यात्री मौजूद थे। घटना में 80 यात्रियों के चोटें आई हैं, जबकि 20 से 25 यात्री गंभीर रूप से घायल हैं। 

घटना की जानकारी लगते ही मौके पर गुलगंज पुलिस पहुंच गई। इसके बाद घायलों को डायल 100 और एम्बुलेंस की मदद से उपचार के लिए प्राथमिक उपस्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। यहां से गंभीर घायलों को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। घायलों में महिलाएं एवं बच्चे भी शामिल हैं। फिलहाल पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है तो वहीं।

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो घटना पीछे से आ रही थी बस चालक की लापरवाही से हुई है। वह गाड़ी को तेज रफ्तार में चला रहा था जिसके चलते यह हादसा हुआ।


योगी के नक्शेकदम शिवराज! MP में प्रदर्शन व दंगे के दौरान सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से होगी वसूली

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार भी अब यूपी की योगी सरकार के नक्शेकदम चल पड़ी है। अब मध्य प्रदेश में भी सार्वजनिक प्रदर्शन, दंगे व आंदोलन के दौरान सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवियों से वसूली की जाएगी। इस बावत कैबिनेट में विधेयक पास हो गया है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

भोपाल: मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार भी अब यूपी की योगी सरकार के नक्शेकदम चल पड़ी है। अब मध्य प्रदेश में भी सार्वजनिक प्रदर्शन, दंगे व आंदोलन के दौरान सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवियों से वसूली की जाएगी। इस बावत कैबिनेट में विधेयक पास हो गया है।

जानकारी के मुताबिक, इसके लिए ट्रिब्यूनल का गठन किया जाएगा जो नुकसान की वसूली के आदेश पारित करेगा। शिवराज कैबिनेट के फैसलों को सरकार के प्रवक्ता और गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया को बताया। उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने सरकारी और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वालों से निपटने के लिए मध्य प्रदेश लोक एवं निजी संपत्ति को नुकसान का एवं नुकसानी वसूली विधेयक 2021 लाया गया है। 


इस विधेयक को शिवराज कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है और शीतकालीन सत्र में इसे विधानसभा के पटल पर रखा जाएगा। इसमें गठित किए जाने वाले ट्रिब्यूनल के आदेश को हाईकोर्ट में ही चैलेंज किया जा सकता है। 90 दिन के भीतर वहां अपील की जा सकती है। ट्रिब्यूनल को नुकसान से दो गुना राशि का आदेश पारित करने का अधिकार दिया गया है। 


बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की ग्वालियर में मूर्ति स्थापित करने की तैयारी, SDM से मांगी अनुमति

हिंदू महासभा ने अपने कार्यालय में नाथूराम गोडसे और उनके साथी नारायण आप्टे की प्रतिमा लगाने की प्रशासन से अनुमति मांगी है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

ग्वालियर: मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एकबार फिर से महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे की प्रतिमा की स्थापना की तैयारी तेज कर दी है। मिली जानकारी के मुताबिक, हिंदू महासभा ने एडीएम को पत्र लिखकर इसकी परमिशन मांगी है।

बता दें कि अब तक हिंदू महासभा गोडसे और नारायण आप्टे की जयंती पर कार्यक्रम करती रही है। ग्वालियर में हिंदू महासभा एक बार फिर बापू के हत्यारा नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को लेकर फिर सक्रिय हो गई है। हिंदू महासभा ने अपने कार्यालय में नाथूराम गोडसे और उनके साथी नारायण आप्टे की प्रतिमा लगाने की प्रशासन से अनुमति मांगी है।

इसके लिए बाकायदा हिंदू महासभा ने प्रतिमा  लगाने की अनुमति के लिए जिले के अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी को पत्र लिखा है। हिंदू महासभा ने जिला प्रशासन को दिए पत्र में कहा है कि विश्व मानव अधिकार दिवस पर गोडसे और नारायण आप्टे की मूर्ति लगाने की अनुमति दी जाए। 

बताते चलें कि नाथूराम गोडसे को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाली हिंदू महासभा ने साल 2017 में गोडसे की मूर्ति स्थापित कर मंदिर बनाया था। उस समय गांधी के हत्यारे के मंदिर पर काफी विवाद हुआ था। इसके बाद प्रशासन हरकत में आया और मंदिर को बंद कराकर मूर्ति को अपने कब्जे में ले लिया था। उसके बाद अभी भी नाथूराम गोडसे की मूर्ति जिला प्रशासन के कब्जे में है लेकिन इसके बावजूद भी हिंदू महासभा गोडसे की जयंती और पुण्यतिथि पर कार्यक्रम आयोजित करती है। व्याख्यान माला के साथ साथ कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं। 


भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हैं, संयोग से नहीं: मोहन भागवत

मोहन भागवत ने कहा कि हिन्दू के बिना भारत नहीं और भारत के बिना​ हिन्दू नहीं। भारत टूटा, पाकिस्तान हुआ क्योंकि हम इस भाव को भूल गए कि हम हिन्दू हैं, वहां के मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिन्दू मानने वालों की पहले ताकत कम हुई फिर संख्या कम हुई इसलिए पाकिस्तान भारत नहीं रहा।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

ग्वालियर: आज आरएसएस चीफ मोहन भागवत में मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में एक कार्यक्रम में शिरकत की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आरएसएस चीफ ने कहा कि ये हिन्दुस्तान है और यहां परंपरा से हिन्दू लोग रहते आए हैं जिस-जिस बात को हिन्दू कहते हैं उन सारी बातों का विकास इस भूमि में हुआ है। भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हैं, संयोग से नहीं।

मोहन भागवत ने कहा कि हिन्दू के बिना भारत नहीं और भारत के बिना​ हिन्दू नहीं। भारत टूटा, पाकिस्तान हुआ क्योंकि हम इस भाव को भूल गए कि हम हिन्दू हैं, वहां के मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिन्दू मानने वालों की पहले ताकत कम हुई फिर संख्या कम हुई इसलिए पाकिस्तान भारत नहीं रहा।

आरएसएस चीफ ने आगे कहा कि हिन्दू और भारत अलग नहीं हो सकते हैं। भारत को भारत रहना है तो भारत को हिन्दू रहना ही पड़ेगा। हिन्दू को हिन्दू रहना है तो भारत को अखंड बनना ही पड़ेगा।


उधमपुर एक्सप्रेस बनी 'बर्निंग ट्रेन', 2 बोगी जलकर खाक, सभी यात्री सुरक्षित

आग बुझाने के लिए ट्रेन को मुरैना के पास हेतमपुर रेलवे स्टेशन पर रोका गया था। हालांकि, इस हादसे में किसी यात्री के घायल होने की सूचना नहीं है लेकिन कई यात्रियों के सामान जरूर जलकर खाक हो गए।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

मुरैना: आज उधमपुर एक्सप्रेस ट्रेन में उस समय अफरातफरी मच गई जब अचानक 2 बोगियों में आग लग गई। जानकारी के मुताबिक, आग बुझाने के लिए ट्रेन को मुरैना के पास हेतमपुर रेलवे स्टेशन पर रोका गया था। हालांकि, इस हादसे में किसी यात्री के घायल होने की सूचना नहीं है लेकिन कई यात्रियों के सामान जरूर जलकर खाक हो गए।

मिली जानकारी के मुताबिक, उधमपुर से दुर्ग जा रही उधमपुर एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 20848 में शुक्रवार दोपहर में अचानक आग लग गई। आग लगने के बाद ट्रेन को हेतमपुर रेलवे स्टेशन के पास रोका गया था। आग बुझाने के लिए मुरैना और आसपास के क्षेत्र की दमकलों को बुलाया गया था। जीआरपी और जिला पुलिस के जवान भी वहां पहुंच गए थे। उन्होंने बर्निंग ट्रेन के रुकने पर ग्रामीणों और यात्रियों की भीड़ को आग में जल रही बोगियों से दूर हटाया।


ड्रग्स माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्यवाई, समीर वानखेड़े की टीम ने पकड़ा ड्रग्स, बड़े पैमाने पर अफीम हुई बरामद

समीर वानखेड़े की टीम ने नांदेड़ जिले के कंधार में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। यहां से एनसीबी टीम ने 1.4 किलो अफीम बरामद की है। इसके अलावा 111 किलो पॉपी स्ट्रॉ भी पकड़ा गया है।

by न्यूज9इंडिया डेस्क

मुंबई: क्रूज पर ड्रग्स पार्टी मामले का भंडाफोड़ करने वाले एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े की टीम ने महाराष्ट्र ने नांदेड़ में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। टीम ने बड़ी मात्रा में अफीम और पॉपी स्ट्रा बरामद किया है।

समीर वानखेड़े की टीम ने नांदेड़ जिले के कंधार में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। यहां से एनसीबी टीम ने 1.4 किलो अफीम बरामद की है। इसके अलावा 111 किलो पॉपी स्ट्रॉ भी पकड़ा गया है। 

इतना ही नहीं 1.55 लाख रुपये और 2 ग्राइंडिंग भी पकड़ी गई हैं। समीर वानखेड़े ने कहा कि इन मशीनों का इस्तेमाल पॉपी सीड्स की ग्राइंडिंग के लिए किया जाता था। यही नहीं नोट गिनने की मशीन भी पकड़ी गई है। समीर वानखेड़े ने कहा कि सोमवार को की गई छापेमारी के दौरान इन चीजों को पकड़ा गया है।

बता दें कि इस मामले में अब तक तीन लोगों को पकड़ा गया है। ड्रग्स के सप्लायर्स को पकड़ने के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है। मुंबई जोन एनसीबी डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने कहा कि इस साल का यह 99वां मामला है।


इंदौर पुलिस ने जंगली जानवरों के अंगों की तस्करी करने वाले 5 तस्करों को दबोचा

ASP पुनीत गहलोत ने बताया,

by न्यूज9इंडिया डेस्क

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर जिले की पुलिस ने 5 ऐसे तस्करों को गिरफ्तार किया है जो जंगली जानवरों को मारकर उनके अंगों की तस्करी करते थे।

इंदौर में पुलिस ने तेंदुए की हत्या और उसके अंगों की ब्रिकी करने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ़्तार किया है। ASP पुनीत गहलोत ने बताया, "हमें सूचना मिली कि कुछ लोग वन्य जीवों की हत्या कर उनके अंगों की ब्रिकी में लिप्त है। पता चला कि वे इन्हें बेचने के लिए जा रहे हैं।

एएसपी ने आगे बताया कि सूचना के प्राप्त होने पर संयुक्त पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर 5 लोगों को गिरफ़्तार किया। इनके पास से तेंदुए की खाल, दर्जन भर नाखून, तेंदुए को मारने के लिए किए गए हथियार और वाहन को ज़ब्त किया गया।