Skip to main content
Follow Us On
Hindi News, India News in Hindi, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi, ताजा ख़बरें, News

पटना में चला बुलडोजर, विरोध कर रहे 7 लोग आग में झुलसे, गुस्साई भीड़ सड़कों पर उतरी

बिहार की राजधानी पटना में प्रशासन की बड़ी कार्रवाई शुरू हो गई है। शहर के राजीव नगर में बने अवैध निर्माण पर सरकार का बुलडोजर चलना शुरू हो गया है। रविवार की सुबह भारी संख्या में पुलिस बल के साथ प्रसाशनिक अधिकारी राजीव नगर पहुंचे और अवैध मकानों को तोड़ना शुरू कर दिया

पटना: बिहार की राजधानी पटना में प्रशासन की बड़ी कार्रवाई शुरू हो गई है। शहर के राजीव नगर में बने अवैध निर्माण पर सरकार का बुलडोजर चलना शुरू हो गया है। रविवार की सुबह भारी संख्या में पुलिस बल के साथ प्रसाशनिक अधिकारी राजीव नगर पहुंचे और अवैध मकानों को तोड़ना शुरू कर दिया। इस दौरान विरोध कर रहे सात लोगों ने खुद को आग के हवाले कर लिया, जिससे वो बुरी तरह झुलो गए। इस कार्रवाई में 14 बुलडोजर लगाए गए हैं। वहीं, मौके पर करीब दो हजार पुलिस बल तैनात हैं।


जानकारी के अनुसार, राजीव नगर में प्रशासन द्वारा जब बुलडोजर से अवैध पक्के निर्माण तोड़ा जा रहा था तभी आक्रोशित लोगों ने टीम पर हमला बोल दिया। इसके बाद राजीव नगर में स्थिति तनावपूर्ण है। इस दौरान काफी संख्या में लोग सड़क पर उतर आए और प्रशासन की टीम पर पथराव शुरू कर दिया। प्रशासन ने लोगों को शांति बनाए रखने की अपील की है, लेकिन इलाके में स्थिति फिलहाल तनावपूर्ण बनी हुई है। बता दें कि पटना के राजीव नगर में करीब 20 एकड़ जमीन पर फिलहाल अस्थाई रूप से बनाए गए निर्माण को बुलडोजर से तोड़ा जा रहा है। जिला प्रशासन ने 70 मकानों को तय सीमा में खाली करने का निर्देश दिया था, लेकिन मकान खाली नहीं करने पर रविवार को उक्त कार्रवाई की जा रही है।


Bihar News: पटना सिविल कोर्ट में धमाका, 1 दारोगा सहित 3 पुलिसकर्मी घायल

पटना के सि​विल कोर्ट में एक जोरदार धमाका हुआ। इस धमाके में पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। घायल पुलिसवालों में एक दारोगा भी शामिल है।

पटना: बिहार की राजधानी पटना के सि​विल कोर्ट में एक जोरदार धमाका हुआ। इस धमाके में पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। घायल पुलिसवालों में एक दारोगा भी शामिल है।

ऐसा कहा जा रहा है कि अगमकुआं थाने की पुलिस से विस्फोटक बरामद हुआ था। इस विस्‍फोटक को सिविल कोर्ट लाया गया था। इसे एक कमरे में रखा गया था। कुछ ही समय बाद अदालत के एक कमरे में रखा गया विस्‍फोटक ब्‍लास्‍ट हो गया। इस धमाके की चपेट  में चार पुलिसवाले भी आ गए। 

गंभीर रूप से घायल दरोगा को इलाज के लिए PMCH भेजा गया है।अन्‍य दो घायल पुलिसकर्मियों का इलाज अस्पताल में जारी है। अभी तक इस बात की जानकारी नहीं है ​कि पटना सिविल कोर्ट के एक कमरे में रखा विस्‍फोटक अचानक कैसे ब्‍लास्‍ट हो गया? धमाके की आवाज सुनकर अदालत परिसर में भगदड़ मच गई। अदालत परिसर में मौजूद लोग वहां एकत्र हो गए। धमाके  में घायल पुलिसकर्मियों को पीएमसीएच में इलाज के लिए लाया गया है।


CAG की रिपोर्ट ने खोली नीतीश सरकार की पोल, बड़े घोटाले की आशंका

बिहार विधानसभा का मानसून सत्र इस बार खूब हंगामेदार और रोचक रहा। इस सत्र में एक दल ने अपने विधायकों की संख्या में इजाफा किया तो वहीं एक दल की विधायक टूट गए। राष्ट्रीय जनता दल ने चार विधायक जुड़े और चरों विधायक ओवैसी की पार्टी AIMIM से टूटे। RJD के अब 80 विधायक हो गए हैं और वहीं AIMIM का केवल एक ही विधायक ही रह गया है।


पटना: बिहार विधानसभा का मानसून सत्र इस बार खूब हंगामेदार और रोचक रहा। इस सत्र में एक दल ने अपने विधायकों की संख्या में इजाफा किया तो वहीं एक दल की विधायक टूट गए। राष्ट्रीय जनता दल ने चार विधायक जुड़े और चरों विधायक ओवैसी की पार्टी AIMIM से टूटे। RJD के अब 80 विधायक हो गए हैं और वहीं AIMIM का केवल एक ही विधायक ही रह गया है। मानसून सत्र के अंतिम दिन गुरुवार को सदन में CAG का रिपोर्ट पेश की गई। डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने सदन में यह रिपोर्ट पेश की। इस रिपोर्ट में नीतीश कुमार की सरकार को लेकर एक बड़ा खुलासा किया गया है।  

सदन में पेश CAG की रिपोर्ट के अनुसार, मार्च 2021 तक नीतीश सरकार ने 92 हजार 687 करोड़ रुपये का उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा ही नहीं किया है। यही नहीं, 2004-05 के बाद पहली बार 11,325 करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व का घाटा हुआ है। आसान शब्दों में कहें तो RJD की राबड़ी देवी सरकार के बाद नीतीश कुमार की सरकार में पहली बार बिहार को इतना बड़ा राजकोषीय घाटा का सामना करना पड़ा रहा है।


बिहार में एआईएमआईएम के 4 विधायक राजद में शामिल, भाजपा से छीना सबसे बड़ी पार्टी का तमगा

बिहार में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के पांच विधायकों में से चार विधायकों के राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में शामिल होने के बाद विधानसभा का समीकरण फिर से बदल गया। एक दिन पहले तक विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में भाजपा का मिला तमगा छीन गया और राजद अब फिर से सबसे बड़ी पार्टी बन गई।

पटना: बिहार में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के पांच विधायकों में से चार विधायकों के राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में शामिल होने के बाद विधानसभा का समीकरण फिर से बदल गया। एक दिन पहले तक विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में भाजपा का मिला तमगा छीन गया और राजद अब फिर से सबसे बड़ी पार्टी बन गई।

वैसे, विधानसभा चुनाव 2020 के बाद से ऐसा नहीं कि विधानसभा के समीकरण में यह कोई पहली बार बदलाव हुआ हो। इस चुनाव के बाद से ही सभी दल अपनी संख्या बल को मजबूत करने में जुटे रहे, जिसमें उन्हें सफलता भी मिली।

चुनाव के बाद यानी सरकार बनने के दो महीने बाद ही बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के एकमात्र विधायक जमा खान जदयू का दामन थाम लिया तो इसके कुछ ही दिनों के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के विधायक राजकुमार सिंह को भी जदयू भाने लगा और वे जदयू के सदस्य बन गए।

इसके बाद इस साल विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के तीन विधायकों ने पाला बदलकर भाजपा का दामन थाम लिया, जिससे विधानसभा के अंदर का परि²श्य बदल गया। इस दल बदल में फिलहाल विधानसभा में वीआईपी, लोजपा और बसपा के एक भी विधायक नहीं बचे।

चुनाव के बाद राजद राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। लेकिन वीआईपी में टूट के बाद भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप सामने आई। इस बीच, एआईएमआईएम के पांच में से चार विधायक राजद का दामन थाम लिया जिससे राजद राज्य में फिर से सबसे बड़ी पार्टी बन गई।

गौरतलब है कि चुनाव में राजद को 75 सीटें मिली थीं, लेकिन अब इसके विधायकों की संख्या 80 हो गई है। राजद ने वीआईपी के विधायक मुसाफिर पासवान के निधन के बाद खाली हुई सीट बोचहा में हुए उपचुनाव में भी जीत दर्ज की थी।

बिहार विधानसभा में फिलहाल राजद के पास जहां 80 सीटे हैं, वहीं भाजपा के पास 77 और जदयू के पास 45 विधायक हैं। वैसे, इन बदलावों से सरकार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।


Bihar News: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ बिहार विधानसभा परिसर में विपक्षी विधायकों का हंगामा

विधानसभा के मुख्य द्वार से पूरे परिसर में विधायकों ने जमकर प्रदर्शन किया। इनकी मांग है कि इस योजना को वापस लिया जाए, नहीं तो ये सदन से सड़क तक हंगामा जारी रखेंगे।

पटना: बिहार में विधानसभा का नया सत्र शुरू हो गया है, लेकिन ये बेहद हंगामेदार रहा। सत्र की शुरुआत से ही विपक्षी दलों ने सरकार पर हमला बोल दिया। आरजेडी और वामदलों ने सरकार से अग्निपथ योजना वापस लेने की मांग करते हुए जमकर हंगामा काटा।

जानकारी के मुताबिक, बिहार विधानसभा परिसर में विपक्षी दलों के सदस्यों ने जोरदार हंगामा किया है। विधानसभा भवन में राष्ट्रीय जनता दल और वाम दल के विधायकों ने अग्निपथ योजना के खिलाफ हंगामा किया है।

विधानसभा के मुख्य द्वार से पूरे परिसर में विधायकों ने जमकर प्रदर्शन किया। इनकी मांग है कि इस योजना को वापस लिया जाए, नहीं तो ये सदन से सड़क तक हंगामा जारी रखेंगे। 

बता दें कि गुरुवार को महागठबंधन ने इस मुद्दे पर राजभवन मार्च भी किया था। आरजेडी का आरोप है कि केंद्र सरकार अग्निपथ योजना के माध्यम से देश के युवाओं को निशाना बना रही है।

बता दें कि गुरुवार को राष्ट्रीय जनता दल ने 'अग्निपथ' योजना को वापस लेने की मांग को लेकर पटना विधानसभा से लेकर राजभवन तक का विरोध मार्च निकाला। मार्च में राजद नेता तेजस्वी यादव (RJD Leader Tejashwi Yadav), तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) मौजूद रहीं। 

इसके अलावा राज्यसभा सांसद मनोज झा जैसे नेता भी मौजूद रहे। आरजेडी नेताओं ने अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग की।


Bihar News: एके-47 और हैंड ग्रेनेड रखने के जुर्म में बाहुबली अनंत सिंह को 10 साल की सजा, विधायकी खतरे में

पुलिस ने अपना आरोप साबित करने के लिए अदालत में 13 गवाहों को पेश किया था। वहीं बचाव पक्ष की ओर से 34 गवाहों का बयान करवाया गया था।

पटना: बिहार के चर्चित बाहुबली विधायक अंनत सिंह अब बड़ी मुश्किल में फंस गए हैं। एमपी एमएलए कोर्ट ने उन्हें अवैध हथियार रखने के मामले में दस साल की सजा सुनाई गई है। 

एके-47 और हैंड ग्रेनेड बरामदगी मामले में अनंत सिंह को 10 साल की सजा सुनाई गई है। गौरतलब है कि 16 अगस्त 2019 को पुलिस की छापेमारी में उनके पैतृक आवास लदमा गांव में छापेमारी के दौरान एक एके 47, 26 गोली, दो हैंड ग्रेनेड और एक मैगजीन बरामद हुई थी।

इसके बाद पुलिस ने उनके खिलाफ 389/19 के तहत केस दर्ज किया था। इस केस में आर्म्स एक्ट और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के धाराओं का इस्तेमाल किया गया है।

इससे पहले 14 जून को स्पेशल कोर्ट में सुनवाई हुई थी, जिसमें अनंत सिंह को दोषी करार दिया गया था। इसके बाद कोर्ट ने सजा के लिए 21 जून की तारीख मुकर्रर की थी। अनंत सिंह इसी मामले में करीब 34 महीने से पटना के बेऊर जेल में बंद हैं।

पुलिस ने अपना आरोप साबित करने के लिए अदालत में 13 गवाहों को पेश किया था। वहीं बचाव पक्ष की ओर से 34 गवाहों का बयान करवाया गया था।

इस सजा के बाद अब विधायक अनंत सिंह के विधायकी पर खतरा मंडराने लगा है। उनके वकील सुनील कुमार ने बताया कि हम लोग उच्च न्यायालय में अपील करेंगे। अगर सजा पर स्टे मिला तो अनंत सिंह की विधायकी बच सकती है। अनन्त सिंह के सेह इनके घर काम करने वाले सुनील राम को भी दस साल की सज़ा हुई है।


अग्निपथ स्कीम: बिहार में बवाल थमा, भारत बंद में कोई हंगामा नहीं

अग्निपथ को लेकर बिहार में जो भी उपद्रव हुआ, उसमें 16 जून से लेकर अब तक में पूरे बिहार में उपद्रवियों के खिलाफ कुल 159 FIR दर्ज हो चुकी है। इसके तहत कुल 877 उपद्रवियों को पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है।

पटना: अग्निपथ के विरोध की ज्वाला बिहार में शांत हो गई है। भारत बंद में आज शांति छाई रही, कहें तो बिहार में हालात कंट्रोल में है। बिहार में लॉ एंड ऑर्डर की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए सोमवार को पुलिस मुख्यालय में एक हाई लेवल मीटिंग हुई है।


इस मीटिंग की अगुवाई खुद DGP संजीव कुमार सिंघल ने की। सभी बड़े पुलिस अधिकारियों के साथ-साथ हर जिले के पुलिस कप्तान से बात की गई। मीटिंग में हर एक जिले की वर्तमान स्थिति की रिपोर्ट ली गई है। सूत्रों की मानें तो करीब 45 मिनट तक चले इस रिव्यू मीटिंग में बिहार पुलिस के अधिकारियों के साथ ही CRPF के अधिकारी भी शामिल थे।

ADG मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार के अनुसार, बिगड़े हुए हालात को कंट्रोल में करने के लिए ही सरकार की तरफ से एतिहात के तौर पर राज्य के 20 जिलों में इंटरनेट की सेवा बंद की गई थी। अगर हालात ऐसे ही रहे तो कुछ जिलों में इंटरनेट सेवा फिर से बहाल किए जाने पर विचार हो सकता है।

अग्निपथ को लेकर बिहार में जो भी उपद्रव हुआ, उसमें 16 जून से लेकर अब तक में पूरे बिहार में उपद्रवियों के खिलाफ कुल 159 FIR दर्ज हो चुकी है। इसके तहत कुल 877 उपद्रवियों को पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है।

इसमें सबसे अधिक 139 उपद्रवियों को पटना जिला में पकड़ा गया है, जबकि रोहतास में 89, नवादा में 68 और औरंगाबाद में 58 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है और यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।


Bihar News : स्पाइसजेट की फ्लाइट में लगी आग, करानी पड़ी एमरजेंसी लैंडिंग, सभी यात्री सुरक्षित

मानवजीत सिंह ढिल्लों, SSP, पटना ने बताया कि स्पाइसजेट की एक फ्लाइट दिल्ली जा रही थी। उड़ान भरते ही एयरपोर्ट प्राधिकरण ने ध्यान दिया कि उसके एक विंग में आग लगी है। प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग सफलतापुर्वक हो गई है। अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। अन्य प्रोटोकॉल को पूरा किया जा रहा है।

पटना: दिल्ली जाने वाली स्पाइसजेट की फ्लाइट इंजन में खराबी के बाद पटना एयरपोर्ट लौटी। 

मानवजीत सिंह ढिल्लों, SSP, पटना  ने बताया कि स्पाइसजेट की एक फ्लाइट दिल्ली जा रही थी। उड़ान भरते ही एयरपोर्ट प्राधिकरण ने ध्यान दिया कि उसके एक विंग में आग लगी है। प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग सफलतापुर्वक हो गई है। अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। अन्य प्रोटोकॉल को पूरा किया जा रहा है।

पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि स्थानीय लोगों ने पहले विमान में आग लगता हुआ देखा जिसके बाद जिला और हवाईअड्डा अधिकारियों को सूचित किया। इसके बाद दिल्ली जाने वाली उड़ान पटना हवाई अड्डे पर वापस लैंड कराई गई है। सभी 185 यात्रियों को सुरक्षित उतार लिया गया।वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।


अग्निपथ योजना: बिहार में बवाल, पटना में शुक्रवार की हिंसा को लेकर 80 से ज्यादा गिरफ्तार, 7 कोचिंग सेंटर जांच के घेरे में

पटना में शुक्रवार को भीषण हिंसा के बाद जिला प्रशासन ने दानापुर रेलवे स्टेशन पर आगजनी में कथित संलिप्तता के आरोप में 86 लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारी कोचिंग सेंटरों के संचालकों की भूमिकाओं की भी जांच कर रहे हैं, जिनमें से 7 जिला प्रशासन के रडार पर हैं।

पटना: पटना में शुक्रवार को भीषण हिंसा के बाद जिला प्रशासन ने दानापुर रेलवे स्टेशन पर आगजनी में कथित संलिप्तता के आरोप में 86 लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारी कोचिंग सेंटरों के संचालकों की भूमिकाओं की भी जांच कर रहे हैं, जिनमें से 7 जिला प्रशासन के रडार पर हैं।

गुस्साए युवक ने शुक्रवार को दानापुर रेलवे स्टेशन पर फरक्का एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगा दी और एक पेट्रोल पंप से सटी एक कार में भी आग लगा दी थी।

पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने कहा, "हमने दानापुर रेलवे स्टेशन और दीदारगंज टोल प्लाजा में हिंसा से जुड़े 86 युवकों को गिरफ्तार किया है। 7 कोचिंग संस्थानों के संचालक भी जिला प्रशासन के रडार पर हैं। हाई अलर्ट अगर जरूरी हुआ, तो हम पटना में इंटरनेट सेवाएं बंद करने से नहीं हिचकिचाएंगे।"

सरकार ने शुक्रवार को बिहार के 12 जिलों में दूरसंचार और इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया और यह रविवार तक जारी रहेगा।

चंद्रशेखर सिंह के अलावा पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए पटना की सड़कों पर फ्लैग मार्च किया। उन्होंने स्थिति की समीक्षा करने के लिए पटना रेलवे स्टेशन, बाजार समिति, दानापुर रेलवे स्टेशन, पटना कॉलेज और अन्य स्थानों का दौरा किया। जिलाधिकारी ने प्रत्येक ड्यूटी मजिस्ट्रेट को हिंसा में लिप्त लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया है।

सिंह ने कहा, "7 कोचिंग सेंटरों के संचालकों की भूमिका जांच के दायरे में है। हम व्यक्तियों के साथ-साथ व्हाट्सएप ग्रुप के व्यवस्थापकों के सोशल मीडिया खातों को भी स्कैन कर रहे हैं। दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।"


वहीं, डीजीपी एस.के. सिंघल ने स्थिति की समीक्षा करने के लिए पटना जंक्शन सहित कुछ संवेदनशील स्थानों का भी दौरा किया।

दरभंगा में सभी यात्री और एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। प्रशासन ने यात्रियों को रेलवे स्टेशन से हटा दिया है। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए फ्लैग मार्च किया गया है।

पूर्व मध्य रेलवे ने 32 एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है, जो बिहार से शुरू होती है या राज्य से होकर गुजरती है।


अग्निपथ स्कीम के विरोध में बिहार बंद शुरू, प्रदर्शनकारियों ने बस और ट्रक फूंके

सेना की नई अग्निपथ योजना के खिलाफ बिहार के छात्र-युवा संगठन आईसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने शनिवार को बिहार बंद की घोषणा की है। बंद को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध के दावा किए गए हैं। इधर, बंद की सुबह ही शरारती तत्व सक्रिय हो गए और जहानाबद जिले में एक खड़ी बस और ट्रक में आग लगा दिया।

पटना: सेना की नई अग्निपथ योजना के खिलाफ बिहार के छात्र-युवा संगठन आईसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने शनिवार को बिहार बंद की घोषणा की है। बंद को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध के दावा किए गए हैं। इधर, बंद की सुबह ही शरारती तत्व सक्रिय हो गए और जहानाबद जिले में एक खड़ी बस और ट्रक में आग लगा दिया।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि टेहटा सहायक थाना क्षेत्र में असमाजिक तत्वों ने खड़ी एक बस में आग लगा दी। जहां आग लगाई गई वहीं एक ट्रक भी खड़ी थी, जिससे वह भी जल गई। इस बंद को कई दलों का नैतिक समर्थन भी दिया है।

इधर, बिहार बंद को लेकर प्रशसन और पुलिस सख्त नजर आ रही है। पटना में भी सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। पटना में सुबह से ही जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सडकों पर घूम-घूमकर सुरक्षा जायजा ले रहे हैं।

पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि पटना में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। सभी संदिग्ध इलाकों में पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को हुई अप्रिय घटनाओं में 170 लोगों की पहचान कर ली गई है, जिसमें से 46 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने छात्रों से शांतिपूर्वक विरोध करने का आग्रह किया है।

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव ने उपद्रवियों से सख्ती से निपटने के आदेश दिए हैं। इस बीच राज्य के 15 जिलों में अगले 48 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। इसके तहत सोशल नेटवर्किं ग साइट पर पाबंदी लगा दी गई है।


अग्निपथ योजना: आज 'बिहार बंद', कई राजनीतिक दलों का भी समर्थन, 12 जिलों में इंटरनेट बंद

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के विरोध में हिंसक विरोध प्रदर्शनों के बीच लेफ्ट छात्र संगठनों खासकर आईसा (AISA) ने पूरे बिहार में बंद बुलाया है। इसे तमाम राजनीतिक पार्टियों जैसे आरजेडी, हम, कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन ने समर्थन दिया है।

पटना: केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के विरोध में हिंसक विरोध प्रदर्शनों के बीच लेफ्ट छात्र संगठनों खासकर आईसा (AISA) ने पूरे बिहार में बंद बुलाया है। इसे तमाम राजनीतिक पार्टियों जैसे आरजेडी, हम, कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन ने समर्थन दिया है।


इस बीच बिहार सरकार ने उपद्रव को देखते हुए कई कदम उठाए हैं, जिसमें बड़े स्तर पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती से लेकर बिहार के 12 जिलों में अगले 48 घंटों के लिए इंटरनेट सेवा को बंद करने का भी फैसला शामिल है। बिहार बंद के मद्देनजर सूबे के 9 जिलों में पारा मिलिट्री फ़ोर्स की तैनाती की जा रही है।

पटना में रैपिड एक्शन फ़ोर्स और एसएसबी के एक एक बटालियन की तैनाती की गई है। सारण, समस्तीपुर,वैशाली, बेतिया, सहरसा में एसएसबी की एक एक बटालियन की तैनाती की गई है। वहीं, भोजपुर, लखीसराय और औरंगाबाद में सीआरपीएफ की एक एक बटालियन तैनात है।

सरकार ने कई जिलों में इंटरनेट और टेलीफोन मोबाइल सेवा को बंद कर दिया है। बिहार के जिन जिलों में अगले 48 घंटों के लिए इंटरनेट और टेलीकॉम सेवाएं बंद रहेंगी उनमें कैमूर,भोजपुर, औरंगाबाद, रोहतास, बक्सर, नवादा, पश्चिम चंपारण, समस्तीपुर, लखीसराय, बेगूसराय, वैशाली और सारण शामिल है। इन जिलों में 17 जून की दोपहर 2 बजे से 19 जून तक इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है, साथ ही साथ सोशल मीडिया एप्लीकेशन भी प्रभावित रहेगा।


अग्निपथ स्कीम के विरोध में शनिवार को बिहार बंद का एलान, राजद-वीआईपी ने दिया नैतिक समर्थन

सेना भर्ती के लिए नई योजना अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग पर बिहार के कई छात्र-युवा संगठन आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने 18 जून यानी शनिवार को एकदिवसीय बिहार बंद की घोषणा की है।

पटना: सेना भर्ती के लिए नई योजना अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग पर बिहार के कई छात्र-युवा संगठन आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने 18 जून यानी शनिवार को एकदिवसीय बिहार बंद की घोषणा की है।

इस बंद का राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) ने नैतिक समर्थन दिया है। एनडीए में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) ने भी सैद्धांतिक समर्थन दिया है।

इन संगठनों ने कहा कि सरकार इस योजना को वापस करने में जितनी देर करेगी, आंदोलन उतना ही विस्फोटक होता जाएगा और तब इसके लिए केवल और केवल सरकार ही जिम्मेदारी होगी।

संगठन के नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार को 72 घण्टे का अल्टीमेटम देते हुए कहा है कि यदि सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ और युवाओं का मजाक उड़ाने वाली इस योजना को वापस नहीं लेती, तो 18 को बिहार बन्द और फिर भारत बंद की ओर बढ़ेंगे।

उक्त घोषणा इनौस के राष्ट्रीय अध्यक्ष व अगिआंव विधायक मनोज मंजिल, आइसा के महासचिव व पालीगंज विधायक संदीप सौरभ, इनौस के सम्मानित बिहार राज्य अध्यक्ष व डुमराँव विधायक अजीत कुशवाहा, इनौस के राज्य अध्यक्ष आफताब आलम ने संयुक्त रूप से की। इधर राजद और वीआईपी ने भी बंद का नैतिक समर्थन किया है।

वीआईपी के प्रमुख और बिहार के पूर्व मंत्री मुकेश सहनी ने कहा कि सेना में भर्ती के लिए नई योजना अग्निपथ को लेकर युवाओं में उभरा आक्रोश यह साबित करता है कि देश की सेवा का सपना लिए हजारों युवा आज सड़क पर उतर गए हैं। लगातार विरोध के बावजूद सरकार ने अब तक प्रदर्शनकारियों से बातचीत नहीं की।

उन्होंने कहा कि सरकार के अड़ियल रवैया के विरोध में शनिवार को वीआईपी बिहार बंद का नैतिक समर्थन करेगी।

हम के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि अग्निपथ योजना को लेकर देश के युवाओं के साथ है। हम किसी भी तरह के हिंसा के पक्षधर नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि देश के युवाओं से आग्रह है कि आप शांति बनाए रखें। युवा एवं राष्ट्रहित में हमारी पार्टी 18 जून को युवाओं द्वारा बुलाई गई 'बिहार बंद' को सैद्धांतिक तौर पर समर्थन करती है।


अग्निपथ स्कीम का विरोध: बिहार में 55 पैसेंजर ट्रेनें रद्द, 100 से ज्यादा गाड़ियों का रूट बदला

पूर्व मध्य रेलवे के दानापुर रेल मंडल (Danapur Railway Division) ने बड़ा फैसला लेते हुए करीब 55 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है। वहीं, 100 से ज्यादा ट्रेनों के रूट को बदल दिया गया है। रेलवे के इस कदम से नुकसान को कम से कम करने में मदद मिलेगी।

पटना: बिहार (Bihar) में केंद्र सरकार द्वारा घोषित अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के विरोध में हिंसक विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। समस्तीपुर में ट्रेन के डिब्बों में आग लगाने का मामला सामने आया, तो पूरे बिहार में जगह-जगह रेलवे ट्रैक (Railway Tracks) को बाधित करने की खबरें आ रही है। इन खबरों के बीच पूर्व मध्य रेलवे के दानापुर रेल मंडल (Danapur Railway Division) ने बड़ा फैसला लेते हुए करीब 55 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है। वहीं, 100 से ज्यादा ट्रेनों के रूट को बदल दिया गया है। रेलवे के इस कदम से नुकसान को कम से कम करने में मदद मिलेगी।


दानापुर रेल मंडल (Danapur Railway Division) के डीआरएम प्रभात कुमार (DRM Prabhat Kumar) ने बताया कि अग्निपथ योजना के विरोध में युवकों और छात्रों के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए 5 इंटरसिटी एक्‍सप्रेस समेत 55 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है।

बता दें कि लखीसराय और समस्‍तीपुर में कुल 3 एक्‍सप्रेस ट्रेनों में आग लगा दी। इससे रेलवे को व्‍यापक पैमाने पर नुकसान हुआ है। रेलवे प्‍लेटफॉर्म पर भी उपद्रव किया गया और दुकानें भी लूटी गईं।


अग्निपथ स्कीम: बिहार में विरोध जारी, प्रदर्शनकारियों के निशाने पर रेलवे, ट्रेनों में लगाई आग

बिहार में सेना भर्ती में अग्निपथ योजना का विरोध लगातार तीसरे दिन शुकवार को भी जारी है। सुबह पांच बजे ही बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर पहुंच गए और जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस क्रम में उनके निशाने पर ट्रेन और रेलवे स्टेशन हैं। समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगा दी। अग्निपथ योजना के तहत सेना भर्ती का विरोध करते प्रदर्शन कर रहे युवा शुक्रवार को सुबह-सुबह हावड़ा दिल्ली लाइन पर डुमरांव स्टेशन के पास ट्रेनों को रोक दिया।

पटना: बिहार में सेना भर्ती में अग्निपथ योजना का विरोध लगातार तीसरे दिन शुकवार को भी जारी है। सुबह पांच बजे ही बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर पहुंच गए और जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस क्रम में उनके निशाने पर ट्रेन और रेलवे स्टेशन हैं। समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगा दी। अग्निपथ योजना के तहत सेना भर्ती का विरोध करते प्रदर्शन कर रहे युवा शुक्रवार को सुबह-सुबह हावड़ा दिल्ली लाइन पर डुमरांव स्टेशन के पास ट्रेनों को रोक दिया।

समस्तीपुर में जम्मूतवी गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन में उपद्रवियों ने आग लगा दी। ट्रेन की दो बोगी जलकर खाक हो गई। लखीसराय में भी प्रदर्शनकारी सुबह से हाथ में डंडे लिए स्टेशन पहुंच गए और जमकर तोडफोड की। इस क्रम में एक ट्रेन में भी आग लगा दी। प्रदर्शनकारियों के धरना और प्रदर्शन के कारण रेल परिचालन में असर पड़ा है।

बक्सर में शुक्रवार को तीसरे दिन प्रदर्शनकारी रेल पटरियों को अपना निशाना बनाया। डुमरांव स्टेशन पर रेलवे पटरी पर प्रदर्शनकारी पांच बजे ही पहुंच गए और उसे जाम कर दिया। प्रदर्शन कर रहे छात्रों को रेल और जिला प्रशासन समझाने में जुटी है।

इससे पहले बुधवार और गुरुवार को राज्य के अधिकांश जिलों में अग्निपथ योजना का विरोध हुआ था। छात्र सेना में चार साल की भर्ती वाली इस योजना से नाराज हैं। छात्रों का कहना है कि चार साल की नौकरी के बाद 25 प्रतिशत छात्रों को तो नौकरी मिल जाएगी लेकिन 75 फीसदी लोग बेरोजगार हो जायेंगे।

कई राज्यों ने पुलिस भर्ती में अग्निवीरों को प्राथमिकता देने की घोषणा की है। कई विभागों ने भी इन लोगों की प्राथमिकता देने की घोषणा की है।

इस बीच, केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना के लिए ऊपरी आयु सीमा को 21 साल से बढ़ाकर 23 साल करने का फैसला किया है।


अग्निपथ स्कीम: बिहार में भारी बवाल, BJP कार्यालय और ट्रेनों में लगाई आग, नियमित भर्ती की कर रहे मांग

आर्मी, नेवी और वायुसेना में भर्ती के लिए सरकार की नई योजना 'अग्निपथ' के विरोध में बिहार में शुरू हुआ युवाओं का विरोध दूसरे दिन यानी गुरुवार को उग्र रूप अख्‍त‍ियार कर लिया है। नवादा जिले के भाजपा कार्यालय में उपद्रवियों ने आग लगा दी। इससे पहले इसी जिले में भाजपा विधायक पर हमला हुआ था।

पटना: आर्मी, नेवी और वायुसेना में भर्ती के लिए सरकार की नई योजना 'अग्निपथ' के विरोध में बिहार में शुरू हुआ युवाओं का विरोध दूसरे दिन यानी गुरुवार को उग्र रूप अख्‍त‍ियार कर लिया है। नवादा जिले के भाजपा कार्यालय में उपद्रवियों ने आग लगा दी। इससे पहले इसी जिले में भाजपा विधायक पर हमला हुआ था। दिल्‍ली- हावड़ा मुख्‍य रेल लाइन के बक्‍सर और आरा स्‍टेशनों पर जमकर तोड़फोड़ हुई है और रेल संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया है।

विरोध की यह कड़ी भागलपुर से बक्‍सर तक देखने को मिल रही है। कई जगह ट्रेनों की बोगियों में आग लगा दी गई है, तो आरा में ट्रेन पर पथराव से कई यात्री जख्‍मी हो गए हैं। सिवान, छपरा, जहानाबाद, अरवल, नवादा, पटना, मुजफ्फरपुर, कैमूर सहित कई शहरों में पिछले दो दिनों में विरोध तेज हुआ है। युवाओं का कहना है कि सरकार को सेना में भर्ती, वेतन और पेंशन के लिए पुरानी प्रक्रिया को ही जारी रखा जाना चाहिए।


इससे पहले गुरुवार को पटना - गया रेलखंड, पटना-पीडीडीयू रेलखंड, गया- किउल रेलखंड, छपरा- सिवान रेलखंड पर युवाओं ने ट्रेन परिचालन बाधित किया है। बुधवार की शाम गया में पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी के काफिले पर इसी विषय पर हंगामे के दौरान पथराव किया गया था। गुरुवार को नवादा में विधायक की गाड़ी पर उपद्रवियों ने हमला कर दिया। उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ दिए। हंगामा के चलते पटना-रांची जनशताब्‍दी एक्‍सप्रेस, काशी-पटना जनशताब्‍दी एक्‍सप्रेस, लोकमान्‍य तिलक-कामख्‍या एक्‍सप्रेस सहित कई ट्रेनों को अलग -अलग स्‍टेशनों पर घंटों रोकना पड़ा है। बुधवार को पटना, भागलपुर, बक्‍सर, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय सहित और भी कई शहरों में हंगामा हुआ था। 


Bihar News: बुरे फंसे मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह, AK-47 और हैंड ग्रेनेड रखने के जुर्म में कोर्ट ने माना दोषी, सजा पर फैसला 21 जून को

बाहुबली विधायक अनंत सिंह (MLA Anant Singh) को कोर्ट ने दोषी करार दिया है। बिहार के पटना (Bihar Patna) की MP- MLA कोर्ट ने मोकामा विधायक अनंत सिंह के घर से AK-47 और हैंड ग्रेनेड मिलने के मामले में दोषी करार दिया है। इस मामले में कोर्ट 21 जून को सजा का ऐलान करेगी।

पटना: बाहुबली विधायक अनंत सिंह (MLA Anant Singh) को कोर्ट ने दोषी करार दिया है। बिहार के पटना (Bihar Patna) की MP- MLA कोर्ट ने मोकामा विधायक अनंत सिंह के घर से AK-47 और हैंड ग्रेनेड मिलने के मामले में दोषी करार दिया है।

 इस मामले में कोर्ट 21 जून को सजा का ऐलान करेगी। बाहुबली विधायक अनंत सिंह के घर से एके-47 बरामदगी के मामले में सोमवार को अंतिम बहस पूरी हुई थी। जज त्रिलोकी दुबे ने मामले में कानूनी बिंदु पर सोमवार को दोनों पक्षों की बातें सुनी और इसके बाद कोर्ट ने मंगलवार को फैसला सुनाया। MP-MLA मामलों की सुनवाई के लिए गठित विशेष अदालत के जज त्रिलोकी दुबे ने विधायक अनंत सिंह को इस मामले में दोषी करार दिया है।

दरअसल पटना पुलिस ने छापेमारी में मोकामा विधायक अनंत सिंह के पैतृक आवास लदवां गांव से आधुनिक हथियार एके 47 राइफल, कारतूस और हैंड ग्रेनेड बरामद किया था। तब पुलिस ने वहां से एके 47, 33 जिंदा कारतूस और दो ग्रेनेड बरामद किया था। इसके बाद इस मामले में 16 अगस्त 2019 को बाढ़ थानाध्यक्ष ने बाढ़ थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी।


Bihar News : बिहार के पूर्णिया में सड़क हादसा, पानी भरे गड्ढे में गिरी स्कॉर्पियो, 9 लोगों की मौत

बिहार के पूर्णिया जिले के अनगढ़ सहायक थाना क्षेत्र में शनिवार को तड़के किशनगंज जा रही एक स्कॉर्पियो के अनियंत्रित हो कर सड़क किनारे पानी से भरे गड्ढे में गिर जाने से 9 लोगों की मौत हो गई।

पूर्णिया: बिहार के पूर्णिया जिले के अनगढ़ सहायक थाना क्षेत्र में शनिवार को तड़के किशनगंज जा रही एक स्कॉर्पियो के अनियंत्रित हो कर सड़क किनारे पानी से भरे गड्ढे में गिर जाने से 9 लोगों की मौत हो गई।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि किशनगंज जिले के नुनिया गांव के रहने वाले 10 से 11 लोग पूर्णिया के बायसी थाना इलाके के ताराबाड़ी गांव गए हुए थे और वहां से सभी एक स्कॉर्पियो पर सवार होकर वापस लौट रहे थे।

बयासी के पुलिस उपाधीक्षक आदित्य कुमार ने आईएएनएस को बताया कि घटना कंजिया मध्य विद्यालय के समीप की है, जहां तीखा मोड़ है। संभवत: मोड़ पर वाहन पर से चालक का नियंत्रण हट गया और वाहन सड़क के किनारे पानी से भरे गड्ढे में चली गई।

उन्होंने बताया कि इस दुर्घटना में 9 लोगो की मौत हुई है। घटना की सूचना मिलते पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है।

सभी मृतक किशनगंज के रहने वाले बताए जा रहे हैं। पुलिस ने बताया कि सभी शवों को पानी से निकाल लिया गया है तथा पूरे मामले की छानबीन की जा रही है।


Bihar News: सहरसा में ढलाई के चंद घटे बाद ढहा निर्माणाधीन पुल, 1 करोड़ 47 लाख रुपए हुए स्वाहा

यह पुल व एप्रोच 147 लाख रुपये की लागत से बनना था। 35 मीटर लंबा पुल व 100 मीटर एप्रोच पथ का कार्य खगड़िया जिले के शिववा चौथम के महेंद्र कुमार को आवंटित किया गया था। कंपनी को पहले ही डिबार घोषित कर दिया गया है।

सहरसा: जिले के सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड अंतर्गत पूर्वी कोसी तटबंध के अंदर एक निर्माणाधीन पुल गुरूवार को गिर गया। बुधवार की रात पुल के एक हिस्स की ढलाई की गयी थी। विभाग का कहना था कि ठेकेदार को सेंटरिंग बदलने को कहा गया था। लेकिन आनन-फानन में ठेकेदार ने पुल की ढलाई कर दी।

इस बाबत ग्रामीण कार्य प्रमंडल, सिमरी बख्तियारपुर के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि यह पुल व एप्रोच 147 लाख रुपये की लागत से बनना था। 35 मीटर लंबा पुल व 100 मीटर एप्रोच पथ का कार्य खगड़िया जिले के शिववा चौथम के महेंद्र कुमार को आवंटित किया गया था। कंपनी को पहले ही डिबार घोषित कर दिया गया है।

बिहार में निर्माणाधीन पुल गिरने की कड़ी में सहरसा का भी नाम शुमार हो गया। यहां चौबीस घंटे के अंदर ही निर्माणाधीन पुल औंधे मुंह गिर पड़ा। इस हादसे में तीन मजदूर दबकर जख्मी हो गये। जख्मी मजदूरों का इलाज जारी है। विभाग ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी अनुसार पूर्वी कोसी तटबंध के अंदर कठडुमर व दह के बीच लगभग एक करोड़ 48 लाख रुपये की लागत से एक उच्चस्तरीय पुल व एप्रोच पथ का कार्य जारी है। बुधवार को इस पुल की ढ़लाई की गयी और गुरूवार को वो ध्वस्त हो गया।

पुल के अचानक गिरने से वहां अफरातफरी का माहौल बन गया। पुल गिरने से कार्य कर रहे तीन मजदूर भी दब गये। जिससे ग्रामीणों के सहयोग से आनन-फानन में निकाला गया।


Bihar News: पश्चिम चंपारण में नाबालिग लड़की से गैंगरेप, आरोपी गिरफ्तार

बिहार के पश्चिम चंपारण के बेतिया में एक नाबालिग लड़की से बस में तीन दरिंदों द्वारा गैंगरेप किए जाने का मामला सामने आया है। मामले में पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए घटना में प्रयुक्त बस को सीज कर दिया है और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

बेतिया: बिहार के पश्चिम चंपारण के बेतिया में एक नाबालिग लड़की से बस में तीन दरिंदों द्वारा गैंगरेप किए जाने का मामला सामने आया है। मामले में पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए घटना में प्रयुक्त बस को सीज कर दिया है और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

मामले में बेतिया के SDPO मुकुल पांडे ने बताया कि पश्चिम चंपारण ज़िले के बेतिया में एक बस में एक नाबालिग लड़की के साथ कथित तौर पर बलात्कार करने का 3 लोगों पर आरोप लगाया गया है। युवती बेहोश की स्थिति में बस में मिली। बस को सीज कर लिया गया है। बस के ड्राइवर और हेल्पर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

वहीं, इस घटना पर बिहार की उपमुख्यमंत्री रेणु देवी ने कहा कि जिसने भी गलत काम किया है उसको बख्शा नहीं जाएगा। वहां पर प्रशासन काम कर रहा है।


Bihar News: केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने की CM नीतीश से मुलाकात, महात्मा गांधी सेतु के पूर्वी लेन का किया उद्घाटन

सीएम नीतीश से मुलाकात के बाद नितिन गडकरी कार्यक्रम स्थल की ओर रवाना हुए और सेतु का उद्घाटन किया। इस सेतु के कारण अब लोगों को महाजाम से निजात मिलेगा।

पटना: महात्मा गांधी सेतु (Mahatma Gandhi Setu) के पूर्वी लेन का आज केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Union Minister Nitin Gadkari) ने उद्घाटन किया। इसके लिए नितिन गडकरी पटना पहुंचे थे। पटना एयरपोर्ट पर भारतीय जनता पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया।


एयरपोर्ट से सीधे नितिन गडकरी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने मुख्यमंत्री आवास ( Nitin Gadkari Met Nitish Kumar ) पहुंचे। सीएम नीतीश से मुलाकात के बाद नितिन गडकरी कार्यक्रम स्थल की ओर रवाना हुए और सेतु का उद्घाटन किया। इस सेतु के कारण अब लोगों को महाजाम से निजात मिलेगा।

सेतु का 2100 करोड़ की लगात से निर्माण कार्य कराया गया है। इसके निर्माण में 66360 मीट्रिक टन स्टील, 25 लाख नट वोल्ट के अलावा 460 एलईडी लाइट भी लगाया गया। सेतु के पूर्वी लेन की लम्बाई 5 किलोमीटर 575 मीटर है। आज नवनिर्मित पुल का उद्घाटन केन्द्रीय नितिन गडकरी ने किया। आपको बता दें कि नितिन गडकरी ने बिहार में 13000 करोड़ से ज्यादा राशि की योजनाओं का शुभारंभ किया।


एक्शन में सीएम नीतीश कुमार, बिहार में जातीय जनगणना को लेकर नोटिफिकेशन जारी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) बिहार में जातीय जनगणना (Caste Census In Bihar) को लेकर काफी एक्टिव मोड में दिखाई पड़ रही है। तभी तो बिना देरी किए इसपर लगातार फैसले लिए जा रहे हैं। सर्वदलीय बैठक के बाद इसपर कैबिनेट ने मुहर लगायी। अब इसके लिए बकायदा नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने नोटिफिकेशन जारी किया है।

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) बिहार में जातीय जनगणना (Caste Census In Bihar) को लेकर काफी एक्टिव मोड में दिखाई पड़ रही है। तभी तो बिना देरी किए इसपर लगातार फैसले लिए जा रहे हैं। सर्वदलीय बैठक के बाद इसपर कैबिनेट ने मुहर लगायी। अब इसके लिए बकायदा नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने नोटिफिकेशन जारी किया है।

दरअसल 1 जून को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई थी। जिसमें जातीय जनगणना कराने पर सहमति बनी थी। इसके अगले दिन यानी 2 जून को बिहार कैबिनेट की बैठक हुई। इस बैठक में बिहार में जातीय जनगणना की स्वीकृति दे दी गई। बैठक में फरवरी, 2023 तक जाति आधारित गणना पूरा करने का लक्ष्य रखा गया। इसपर 500 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान लगाया गया।


Bihar News: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बिहार को देंगे कई सौगात, गांधी सेतु का पूर्वी लेन होगा शुरू

केंद्रीय सड़क और राजमार्ग परिवहन मंत्री नितिन गडकरी मंगलवार को बिहार में 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे। इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद भी मौजूद रहेंगे।

पटना: केंद्रीय सड़क और राजमार्ग परिवहन मंत्री नितिन गडकरी मंगलवार को बिहार में 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे। इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद भी मौजूद रहेंगे।

उपमुख्यमंत्री प्रसाद ने बताया कि हाजीपुर में आयोजित कार्यक्रम में 13585 करोड़ की लागत से 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं में 9607 करोड़ रुपए की कुल 308 किलोमीटर लंबाई की 11 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास और 2761 करोड़ रुपए लागत की कुल 100 किलोमीटर लंबाई की दो राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण होगा।

महात्मा गांधी सेतु की पूर्वी लेन भी आज से शुरू हो जाएगा, जिससे उत्तर बिहार आना-जाना आसान होगा।

गडकरी के सुबह 10 बजे पटना पहुंचने की संभावना है। यहां से वे सीधे मुख्यमंत्री आवास जायेंगे। 11 बजे मुख्यमंत्री के साथ केंद्रीय मंत्री पटना छोर पर ही गांधी सेतु के सुपर स्ट्रक्चर रिप्लेसमेंट परियोजना का शुभारंभ करेंगे। इसके बाद हाजीपुर में आयोजित मुख्य समारोह में हिस्सा लेंगे।

उपमुख्यमंत्री प्रसाद ने जानकारी देते हुए बताया कि इन महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास हो जाने से बिहार में विकास की रफ्तार तेज होगी और राज्य समृद्ध बनेगा।


Bihar News : सुशासन बाबू के राज में कर्ज तले दबकर एक ही परिवार के 5 सदस्यों ने फंदे से लटककर दी जान, समस्तीपुर का है मामला

बिहार के समस्तीपुर से एक बड़ी घटना सामने आ रही है। यहां एक ही परिवार के 5 लोगों का शव फंदे से लटकता मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है।

समस्तीपुर: बिहार के समस्तीपुर से एक बड़ी घटना सामने आ रही है। यहां एक ही परिवार के 5 लोगों का शव फंदे से लटकता मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है।

मिली जानकारी के मुताबिक, विद्यापतिनगर थाना के मऊ गांव में एक ही परिवार के पांच लोगों के फंदे से लटकते शव मिले हैं। घटना शनिवार की देर रात्रि की बताई जा रही है। सुबह होने पर जब इसकी जानकारी मिली तो लोगों की भीड़ जमा हाे गई। जितनी मुंह, उतनी बातें। यह सामूहिक आत्‍महत्‍या है या हत्‍या के बाद आत्‍महत्‍या, या फिर सामूहिक हत्‍या, इसपर से पर्दा तो जांच के बाद ही हटेगा; लेकिन फिलहाल इसके पीछे आर्थिक तंगी व कर्ज को कारण सामूहिक आत्‍महत्‍या माना जा रहा है। परिवार में अब केवल दो शादीशुदा बेटियां ही बची हैं।

बताया जाता है कि मऊ गांव के वार्ड निवासी मनोज झा आटो चलाकर व खैनी बेचकर अपने परिवार का गुजर बसर करते थे। पारिवारिक दायित्वों का निर्वहन करने के क्रम में उन्होंने कई समूहों से ऋण भी लिया था। समय-सीमा के अंदर इसकी अदायगी करने में वे सक्षम नहीं हो पा रहे थे। इस कारण बार-बार उन्हें तकादा भी झेलना पड़ रहा था। साथ ही डांट भी खानी पड़ रही थी।

मृतकों में वार्ड 11 निवासी रविकांत झा के पुत्र मनोज झा (45), मनोज झा की मां सीता देवी (65), मनोज झा के पुत्र सत्यम कुमार (10), शिवम कुमार (07) एवं मनोज की पत्नी सुंदरमणि देवी (38) शामिल हैं। घटनास्थल पर पुलिस ने पहुंचकर पूरी तरह घेराबंदी कर दी है। एफएसल टीम को यहां बुलाया गया है। दलसिंहसराय के डीएसपी दिनेश पांडेय ने बताया कि पुलिस कई बिंदुओं को ध्यान में रखकर जांच कर रही है। अभी तक कोई स्पष्ट कारण सामने नहीं आ पाया है। एफएसल टीम को बुलाया गया है।


Bihar News : कश्मीर में टार्गेट किलिंग पर जीतन राम मांझी का विवादित बयान, कहा-'द कश्मीर फाइल्स' का नतीजा है ये सब

मांझी ने कहा, "केंद्र सरकार को निर्माताओं के आतंकवादियों के साथ संबंधों की जांच करनी चाहिए और उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।"

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने शुक्रवार को कहा कि कश्मीर में टारगेट किलिंग की घटनाएं सिर्फ 'द कश्मीर फाइल्स' फिल्म की वजह से हो रही हैं।

मांझी ने कहा, "जब फिल्म रिलीज हुई, तो बीजेपी ने नीतीश कुमार सरकार को राज्य में इसे टैक्स फ्री करने के लिए मजबूर किया। कई कैबिनेट मंत्री और अन्य विधायक राज्य सरकार के खर्च पर फिल्म देखने के लिए थिएटर गए थे। उस समय मैंने कहा था कि यह फिल्म बनाने के लिए आतंकवादियों की साजिश है और मैं इसे फिर से कह रहा हूं।"

मांझी ने कहा, "केंद्र सरकार को निर्माताओं के आतंकवादियों के साथ संबंधों की जांच करनी चाहिए और उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।"

उन्होंने आगे कहा, "द कश्मीर फाइल्स बनाने का मकसद कश्मीरी पंडितों में डर पैदा करना था, ताकि वे घाटी में वापस न जा सकें। यहां तक कि जो हिंदू घाटी में रह रहे हैं, वे चले जाएंगे या फिर परिणाम का सामना करेंगे। बिहारी मजदूरों की लक्षित हत्याओं का परिणाम इसका एक उदाहरण है और इसने मेरी बात को साबित कर दिया है।"

मांझी ने कहा, "अगर हम शांति बनाए रखना चाहते हैं, तो कश्मीर को बिहारी लोगों को सौंप दें। हम तुरंत शांति बहाल करेंगे।"

कश्मीर के बडगाम जिले में गुरुवार को आतंकियों ने एक बिहारी मजदूर दिलखुश की हत्या कर दी थी। उसके अलावा एक अन्य प्रवासी मजदूर को भी गोली लगी है।

इससे पहले गुरुवार को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में राजस्थान के एक गैर-स्थानीय बैंक प्रबंधक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

हिंसक गतिविधियों के बाद, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने स्थिति का आकलन करने के लिए नई दिल्ली में एक बैठक की। इसके साथ ही श्रीनगर में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने भी स्थिति को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की।


सर्वदलीय बैठक के बाद CM नीतीश कुमार का ऐलान, बिहार में होगी जातीय जनगणना

सीएम नीतीश कुमार ने जानकारी दी कि सभी पार्टियों के साथ सर्वसम्मति से बिहार में जातीय जनगणना कराने का फैसला लिया गया है।

पटना: बिहार में जातीय जनगणना को लेकर बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। बैठक की अध्यक्षता सूबे के सीएम नीतीश कुमार ने की। शाम 4 बजे बुलाई गई इस बैठक में यह तय किया गया कि राज्य में किस तरीके से जातीय जनगणना कराई जाए। इसकी रूपरेखा क्या होगी इन सभी विषयों पर सभी राजनीतिक दलों ने अपना पक्ष रखा। 

बैठक के बाद सीएम नीतीश कुमार ने जानकारी दी कि सभी पार्टियों के साथ सर्वसम्मति से बिहार में जातीय जनगणना कराने का फैसला लिया गया है। ऐसे में कहा जा रहा है कि जल्दी ही कैबिनेट की बैठक होगी। बैठक के बाद जनगणना कराने को लेकर अधिकारियों और कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी।

मालूम हो कि इससे पहले भी बिहार में करीब दो बार जातीय जनगणना को लेकर दोनों सदनों से प्रस्ताव पास हो चुका है। इसके बावजूद राज्य में जनगणना नहीं कराई जा सकी। पिछले साल नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इस मुद्दे को उठाया था जिसके बाद नीतीश कुमार भी तेजस्वी के साथ इस मुद्दे पर साथ नजर आएं। 


Bihar Political News: साधु यादव को मारपीट के आरोप में 3 साल की जेल

एमएलए-एमएलसी अदालत ने उन्हें भारतीय दंड की धारा 347 (घृणित कारावास), 353 (लोक सेवक को उसके कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिए हमला या आपराधिक बल), 448 (घर-अतिचार), और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत दोषी ठहराया।

पटना: एमएलए-एमएलसी के खिलाफ मामलों की विशेष अदालत ने सोमवार को राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के साले साधु यादव को 2001 के मारपीट मामले में तीन साल जेल की सजा सुनाई। 


एमएलए-एमएलसी अदालत ने उन्हें भारतीय दंड की धारा 347 (घृणित कारावास), 353 (लोक सेवक को उसके कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिए हमला या आपराधिक बल), 448 (घर-अतिचार), और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत दोषी ठहराया। उन पर पटना में राज्य परिवहन विभाग के कार्यालय में घुसने और वहां के अधिकारियों के साथ बदसलूकी करने का आरोप है।

साथ ही उन पर 15 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। जुर्माना नहीं भरने पर जेल की अवधि एक माह और बढ़ा दी जाएगी।

साधु यादव के वकील ने कहा कि वह अस्थायी जमानत हासिल करने के लिए प्रयास कर रहे हैं और उसी के लिए एक याचिका दायर की है।

जब लालू यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी मुख्यमंत्री थे, उस समय बिहार की सरकार में साधु यादव की मजबूत पकड़ थी। जब 2005 में राजद की सरकार थी, तो उनकी बहन राबड़ी देवी और लालू प्रसाद यादव के साथ उनके संबंधों में खटास आ गई थी। उन्होंने हाल ही में अपने भांजे तेजस्वी यादव को उनके अंतर-सामुदायिक विवाह को लेकर फटकार लगाई थी।

साधु यादव गोपालगंज के सांसद थे और एक विधायक और एक एमएलसी के रूप में भी काम कर चुके हैं।


Bihar News: अररिया में दिन-दहाड़े बैंक से 37 लाख की लूट

बिहार के अररिया जिला मुख्यलय में शुक्रवार को दिनदहाड़े हथियारबंद बदमाशों ने एक बैंक में धावा बोलकर 37 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। पुलिस अब घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की जांच कर रही है।

अररिया: बिहार के अररिया जिला मुख्यलय में शुक्रवार को दिनदहाड़े हथियारबंद बदमाशों ने एक बैंक में धावा बोलकर 37 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। पुलिस अब घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अररिया बस स्टैंड रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया शुक्रवार को जैसे ही खुला और सभी कर्मचारी अभी अपने सीट पर पहुंचे ही थे कि मास्क लगाए बदमाश ग्राहक बनकर बैंक के अंदर प्रवेश कर गए।

इसके बाद हथियार के बल पर बैंक कर्मचारियों को अपने कब्जे में लिया और 37 लाख रुपए लूट कर आराम से चलते बने।

अररिया थाना के प्रभारी कुमार अभिनव ने बताया कि बैंक अधिकारियों के मुताबिक लुटेरों की संख्या चार बताई जा रही है और उनके हाथ 37 लाख रुपए लगे हैं। उन्होंने बताया कि घटना की सूचना मिलते पुलिस घटनास्थल पहुंच गई और मामले की छानबीन की जा रही है।

उन्होंने बताया कि बदमाशों को गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। शहर से बाहर निकलने वाले सभी रास्तों पर वाहनों की जांच कराई जा रही है।


Rajya Sabha Election 2022: राजद ने मीसा भारती और फैयाज अहमद को बनाया उम्मीदवार

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) की डॉ. मीसा भारती और डॉ. फैयाज अहमद राज्यसभा के लिए पार्टी के उम्मीदवार होंगे।

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (RJD) की डॉ. मीसा भारती और डॉ. फैयाज अहमद राज्यसभा के लिए पार्टी के उम्मीदवार होंगे।

राज्‍यसभा चुनाव 2022 को लेकर बिहार के सियासी गलियारे में अब हलचल तेज होने लगी है। राजनीतिक दलों ने अब अपने उम्मीदवारों के नामों पर मुहर लगाना शुरू कर दिया है।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के पटना आगमन के साथ ही राजद ने अपने प्रत्याशियों के नाम भी तय कर लिये है। समाचार एजेंसी ANI के अनुसार, सूबे में प्रमुख विपक्षी पार्टी आरजेडी ने अपने दो उम्मीदवारों के नामों को हरी झंडी दे दी है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती और पार्टी के वरिष्‍ठ नेता फैयाज अहमद को उम्मीदवार बनाया गया है।


बिहार में जातिगत जनगणना का समर्थन करेगी भाजपा, JDU को दिया भरोसा

बीजेपी और जेडीयू के बीच इस मुद्दे पर बातचीत हो गई है। बीजेपी ने जेडीयू को समर्थन देने का वादा किया है।

नई दिल्ली:बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर सियासत चरम पर है। अब तक बीजेपी को छोड़कर बिहार के लगभग सभी दल जातिगत अधारित जनगणना कराने को तैयार थी।

हालांकि सूत्रों के हवाले से खबर है कि अब बिहार बीजेपी की ओर जातिगत जनगणना का समर्थन किया गया है। जानकारी के मुताबिक बीजेपी और जेडीयू के बीच इस मुद्दे पर बातचीत हो गई है। बीजेपी ने जेडीयू को समर्थन देने का वादा किया है। 

सूत्रों के मुताबिक, जातीय जनगणना पर बीजेपी से समर्थन के वादे के बाद से ही नीतीश कुमार ने ऑल पार्टी मीटिंग की बैठक 1 जून को रखी गई है। इससे पहले यह मीटिंग 27 मई को रखी गई थी। 



Bihar News: पूर्णिया में पाइप लदा ट्रक अनियंत्रित होकर पलटा, 8 मजदूरों की मौत

पूर्णिया में सोमवार को तड़के एक अनियंत्रित ट्रक के सड़क के किनारे पलट जाने से आठ मजदूरों की मौत हो गई, जबकि आठ अन्य मजदूर गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि ट्रक सिलीगुड़ी से जम्मू जा रहा था।

पूर्णिया: बिहार के पूर्णिया में सोमवार को तड़के एक अनियंत्रित ट्रक के सड़क के किनारे पलट जाने से आठ मजदूरों की मौत हो गई, जबकि आठ अन्य मजदूर गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि ट्रक सिलीगुड़ी से जम्मू जा रहा था। 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पाइप लदा एक ट्रक जो सिलीगुड़ी से जम्मू जा रहा था, जलालगढ़ थाना के सीमा काली मंदिर से आगे झाझा चौक के पास अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे बड़े गड्ढे में पलट गया। इस ट्रक पर 16 मजदूर बैठे थे।

इस घटना में आठ मजदूरों की घटनास्थल पर मौत हो गई, जबकि आठ मजदूर घायल हो गए।

पूर्णिया (सदर) के अनुमंडल पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) एस के सरोज ने  बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद स्थानीय पुलिस भी राहत और बचाव के लिए पहुंची। हादसे में मारे गए सभी लोग राजस्थान के रहने वाले बताए जाते हैं।

उन्होंने कहा कि सभी घायल मजदूरों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। घटना के बाद ट्रक चालक और सहचालक को हिरासत में लिया गया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।


बिहार के सोनू की अभिनेता सोनू सूद ने सुनी पुकार, पढ़ाई और हॉस्टल का किया इंतजाम

शिक्षा की गुहार लगाने वाले सोनू कुमार के लिए बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद सामने आए हैं। सोनू सूद ने पटना के एक निजी स्कूल में बिहार बॉय के नाम से फेमस सोनू कुमार का एडमिशन कराया है।

पटना: इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे सोनू कुमार (Sonu Kumar) ने बड़ी ही बेबाकी से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से मदद मांगी थी। सोनू कुमार ने सीएम नीतीश से कहा था कि, वह पढ़ना चाहता है। उसके बाद से ही सोनू सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा।

शिक्षा की गुहार लगाने वाले सोनू कुमार के लिए बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद सामने आए हैं। सोनू सूद ने पटना के एक निजी स्कूल में बिहार बॉय के नाम से फेमस सोनू कुमार का एडमिशन कराया है। जिसके बाद सोनू ने ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा "सोनू ने सोनू की सुन ली भाई। स्कूल का बस्ता बांधिए। आपकी पूरी शिक्षा और हॉस्टल की व्यवस्था हो गयी है।" 

बिहार बॉय का मंगलवार को एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। जिसमें तेजप्रताप यादव ने सोनू कुमार से वीडियो कॉल पर बात की थी। तेजप्रताप यादव ने जब सोनू से कहा कि तुम पढ़-लिखकर IAS बनना और जब मेरी सरकार बनेगी तो, तुम मेरे अंडर में काम करना। जिस पर सोनू ने कहा कि वह किसी के अंडर में काम नहीं करेगा। यह सुनते ही तेजप्रताप ने फोन काट दिया। 


Bihar News: बिहार में रंगदारी नहीं मिलने पर बदमाशों ने पेट्रोल पंप में लगाई आग

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मंगलवार की देर रात को तरवन मोड़ के पास अनन्या पेट्रोल पंप पर दो बाइक पर सवार होकर चार लोग पहुंचे। इसके बाद हथियार दिखाते हुए बाइक में पेट्रोल भरवाया और पैसा नही दिए।

गया: बिहार के गया जिले के बांके बाजार थाना क्षेत्र में मंगलवार की रात बदमाशों ने एक पेट्रोल पंप और दो वाहनों को फूंक दिया। 


पुलिस के मुताबिक, रंगदारी नहीं दिए जाने के कारण घटना को अंजाम देने की बात सामने आ रही है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मंगलवार की देर रात को तरवन मोड़ के पास अनन्या पेट्रोल पंप पर दो बाइक पर सवार होकर चार लोग पहुंचे। इसके बाद हथियार दिखाते हुए बाइक में पेट्रोल भरवाया और पैसा नही दिए।

जब कर्मचारियों ने पैसे की मांग की तो आरोपी भड़क गए और उनके साथ मारपीट की। उन्होंने पेट्रोल का भुगतान करने के बजाय उनसे रंगदारी की मांग की। इसी दौरान अपराधियों ने पंप में आग लगा दी।

पेट्रोल पंप के कर्मचारियों ने आग पर काबू पा लिया। घटना में चार वेंडिंग नोजल जल गए।

इसके बाद बदमाशों ने पास खड़ी एक स्कूली बस और एक बाइक को भी फूंक दिया। घटना करने के बाद अपराधी आराम से मौके से फरार हो गए।

बांके बाजार के थाना प्रभारी कुमार सौरभ ने बुधवार को इस घटना को नक्सली घटना मानने से इंकार करते हुए बताया कि रंगदारी नहीं देने के कारण अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है।

उन्होंने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।


Bihar News: बिहार में जल्दी ही शुरू होगी जातीय जनगणना, CM नीतीश ने दिए संकेत, बड़ा सवाल-क्या भाजपा होगी राजी

जातीय जनगणना को लेकर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने कहा कि जल्द ही ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई जाएगी और सब लोग बैठ कर अपना सुझाव देंगे। उसी के आधार पर अंतिम तैयारी करके कैबिनेट का अप्रूवल देकर जातीय जनगणना राज्य में शुरू कराया जाएगा।

पटना: जातीय जनगणना को लेकर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने कहा कि जल्द ही ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई जाएगी और सब लोग बैठ कर अपना सुझाव देंगे। उसी के आधार पर अंतिम तैयारी करके कैबिनेट का अप्रूवल देकर जातीय जनगणना राज्य में शुरू कराया जाएगा। इस दौरान उन्होंने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से हुई वन टू वन मीटिंग का भी जिक्र किया। सीएम ने कहा कि ये सारी बातें उस दिन मिले थे तो हुई थी।

सोमवार को बुद्ध पुर्णिमा के मौके पर नीतीश कुमार पटना के बुद्ध स्मृति पार्क पहुंचे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने जातीय जनगणना पर कहा कि सरकार के स्तर पर सारी तैयारी जारी है, पर अंतिम फैसला ऑल पार्टी मीटिंग में ही होगी। सभी का सुझाव लेकर ही आगे का काम किया जाएगा। इसपर देर होने के सवाल पर सीएम ने कहा कि बीच में चुनाव होने के कारण मौका नहीं मिला, लेकिन अब हमलोग जल्दी आपस में बात करके सबकी सहमति से एक दिन का डेट तय करेंगे।

अब एक और बड़ा सवाल यह खड़ा हो गया है कि क्या भाजपा इस मामले में सीएम नीतीश का साथ देगी? वैसे केंद्र सरकार द्वारा पहले ही यह बात स्पष्ट किया जा चुका है कि वह बिहार में जातिगत जनगणना कराने के मूड़ में कतई नहीं है।


सुपौल गैंगरेप: 3 साल पुराने गैंगरेप और मर्डर के में कोर्ट ने 4 दोषियों को सुनाई फांसी की सज़ा

बिहार के सुपौल पॉक्सो अदालत ने गैंगरेप और हत्या (Gang Rape And Murder) के मामले के चार दोषियों को फांसी (Death Sentence) की सजा सुनाई है। साथ ही पीड़िता को साढ़े आठ लाख रुपये का प्रतिकर सहित मृतका को 10 लाख का अतिरिक्त प्रतिकर देने का आदेश दिया है।

सुपौल: बिहार के सुपौल पॉक्सो अदालत ने गैंगरेप और हत्या (Gang Rape And Murder) के मामले के चार दोषियों को फांसी (Death Sentence) की सजा सुनाई है। साथ ही पीड़िता को साढ़े आठ लाख रुपये का प्रतिकर सहित मृतका को 10 लाख का अतिरिक्त प्रतिकर देने का आदेश दिया है।

बुधवार को एडीजे 6 पॉक्सो कोर्ट के न्यायाधीश पाठक आलोक कौशिक ने यह सुनाई है। बता दें कि प्रतापगंज में आठ अक्टूबर, 2019 को तीन टोलिया गांव निवासी परिवार के नौ लोग दुर्गा पूजा का मेला देखने गए थे। जब सभी लोग मेला देख कर लौट रहे थे तो रास्ते में चार अपराधियों ने सुनसान जगह पर उन्हें घेर लिया और हथियार का भय दिखा कर एक किनारे ले गए।

अभियोजन पक्ष के मुताबिक, यहां अपराधियों ने सभी पुरुषों की आंखों पर पट्टी बांध कर उन्हें पेड़ से बांध दिया। इसके बाद उन्होंने एक महिला और नाबालिग लड़की के साथ बारी-बारी से रेप (Rape) किया। इस दौरान एक महिला ने भागने का प्रयास किया तो अपराधियों ने उसे गोली मार दी और घायल अवस्था में ही उसके साथ गैंगरेप किया।

चारों दोषियों ने हैवानियत की इंतहा करते हुए पीड़िता के अंदरूनी अंगों तक को काफी नुकसान पहुंचाया। पीड़िता समेत सभी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया puजहां गोली लगने से घायल महिला की मौत हो गयी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मृतका की आंत, लीवर, शरीर के अंदरूनी अंगों में गंभीर चोट की बात सामने आई थी।

पुलिस ने पीड़िता के द्वारा अपराधियों के बताए शक्ल और सूरत पर स्केच बनवाया और छापेमारी करते हुए चारों आरोपियों मो। अली शेर, मो। अयूब, मो। जमाल और अनमोल यादव को गिरफ्तार किया था। वर्ष 2019 में घटित इस घटना में पॉक्सो कोर्ट मे चली सुनवाई में बचाव पक्ष से वकील नागेंद्र नारायण ठाकुर, संजय सिंह और बच्चन झा शामिल हुए। वहीं, पीड़िता की तरफ विशेष लोक अभियोजक नीलम कुमारी ने कैस की पैरवी की।

न्यायाधीश पाठक आलोक कौशिक ने सभी पीड़िता को प्रतिकर के रूप में साढ़े आठ लाख रुपये, जबकि मृतका के परिजनों को 10 लाख रुपये का प्रतिकर अलग से देने का आदेश भी दिया।


विश्वेश्वरैया भवन में हुई आगजनी पर राजनीति गर्म, तेज प्रताप बोले-'घोटाला वाला सारा फाइल जला दिया'

उन्होंने यह आरोप लगाया और कहा-

पटना: बिहार की राजधानी पटना के विश्वेश्वरैया भवन में बुधवार की सुबह लगी भीषण आग को काफी मशक्कत के बाद बुझाया गया। दिन भर काफी संख्या में अग्निशमन विभाग के कर्मी और अधिकारियों के प्रयास के बाद इस पर काबू पाया गया। इधर, आग लगने के बाद सरकार के आदेश पर आज से दो दिनों तक यानी 12 और 13 मई को इस भवन में कर्मियों और लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

दूसरी तरफ, बुधवार को घटना के बाद तेज प्रताप यादव इस बिल्डिंग के सामने से गुजर रहे थे। इस दौरान उन्होंने यह आरोप लगाया और कहा- "पूरा फाइल घोटाला वाला जला दिया ई सब…" तेज प्रताप यादव अपनी कार में बैठकर जा रहे थे।

बता दें कि इस भवन में कई सरकारी विभागों का कार्यालय है। इस भवन का मरम्मत का काम चल रहा है। आग लगने से काफी सामान जले हैं। इसके पहले इस घटना को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी बुधवार को यह कहा था कि आग लगी है या लगाई गई है यह जांच का विषय है। 


बिहार में जातीय जनगणना : तेजस्वी यादव ने CM नीतीश कुमार से की मुलाकात, कहा-'सकारात्मक रही बातचीत', जानिए-दोनों के बीच क्या हुई बात

दोनों के बीच आधे घंटे से ज्यादा देर तक मुलाकात चली। मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जातीय जनगणना को लेकर जल्द ही सर्वदलीय बैठक बुलाने का आश्वासन दिया है।

पटना: बिहार में जातीय जनगणना (Caste Census) कराने की मांग को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बुधवार की शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की। 


दोनों के बीच आधे घंटे से ज्यादा देर तक मुलाकात चली।  मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जातीय जनगणना को लेकर जल्द ही सर्वदलीय बैठक बुलाने का आश्वासन दिया है।


तेजस्वी ने कहा कि सीएम नीतीश से जातीय जनगणना पर बातचीत सकारात्मक रही।जल्द ही एक ऑल पार्टी मीटिंग बुलाने की बात उन्होंने कही है। तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद बिहार से दिल्ली तक की अपने पदयात्रा को फिलहाल उन्होंने टाल दिया है। तेजस्वी ने कहा कि जिस मुद्दे को हमने उठाया है उसे अमलीजामा पहनाना जाएगा। अगर सरकार नहीं मानी तो हम सड़क पर संघर्ष करने से पीछे नहीं हटेंगे।


बता दें कि इससे पहले तेजस्वी यादव ने मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जातीय जनगणना को लेकर 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। उन्होंने सीएम नीतीश पर जातिगत जनगणना नहीं कारने का आरोप भी लगाते हुए कहा था कि सीएम 72 घंटे में अपना स्टैंड क्लीयर करें।


तेजस्वी ने तब मांग की थी कि नीतीश कुमार को तत्काल कैबिनेट की बैठक बुलाकर बिहार में जातीय जनगणना कराने पर फैसला लेना होगा। उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगों को नहीं माना जाएगा तो वह सड़क पर उतरने के लिए तैयार हैं।

 नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि देश में बंटवारा और तनाव का वातावरणबनाया जा रहा है। महंगाई, पलायन, गरीब, बेरोजगारी, जातीय जनगणना, बिहार को स्पेशल पैकेज जैसे मुद्दे पर चर्चा नहीं हो रही है।


Bihar News: पटना के विश्वेश्वरैया भवन में आगजनी, CM नीतीश खुद पहुंचे मौके पर

आज पटना के विश्वेश्वरैया भवन में आग लगने की घटना सामने आई है। मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद हैं। आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। आग लगने के कारण की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है।

पटना: आज पटना के विश्वेश्वरैया भवन में आग लगने की घटना सामने आई है। मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद हैं। आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। आग लगने के कारण की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है। अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है। 


आगजनी की सूचना पर सीएम नीतीश कुमार खुद मौके पर पहुंचे। सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि यहां सुबह से रुक-रुक कर आग लग रही है। सरकारी भवन में इतनी देर तक आग लगी होने की घटना कभी नहीं हुई इसलिए मैं खुद स्थिती का जायजा लेने आया हूं। दमकल के लोग स्थिती पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं। थोड़ा समय और लगेगा, सारे अधिकारी यहां मौजूद हैं।


वहीं, फायर सर्विसेज के डीजी ने बताया कि शोभा अहोतकर लोकल पुलिस को घटनास्थल पर रहना चाहिए, यहां क़ानून व्यवस्था से संबंधित समस्या होती है। जनता यहां पास में आ जाती है, जनता को हटाने का काम हमारा नहीं है। जो घटना घटित हुई है, हम उसपर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं।

पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि विश्वेश्वरैया भवन में सुबह 7:30 के आसपास पांचवीं मंजिल पर आग शुरू हुई थी। जैसे ही सूचना मिली फायर ब्रिगेड को भेजा गया। आग पर काबू नहीं हो पा रहा था, एयरपोर्ट से भी फायर इंजन मंगवाया है। NDRF की टीम को भी बुलाया है।  उन्होंने आगे बताया कि सातवीं मंजिल पर 2 बच्चे फंसे हुए थे जिन्हें निकाल लिया गया है। आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं। प्रयास है कि आग को जल्द से जल्द काबू कर लें। प्रथम दृष्टया बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट से आग लगी है, ये जांच का विषय है।


Bihar News: अजब बिहार की गजब कहानी, पंचायत भवन तोड़कर निकली सामग्रियों की कर दी गई बिक्री!

बताया जा रहा है कि औराई पंचायत में पंचायत भवन निर्माण का कार्य करीब 15 वर्ष पूर्व शुरू हुआ था, लेकिन उसका काम पूरा नहीं हो सका था। कहा जा रहा है कि निमार्णाधीन होने के कारण इसका कोई उपयोग भी नहीं हो पा रहा था।

मुजफ्फरपुर: बिहार के रोहतास जिले में एक पुल के बेचे जाने का मामला सुर्खियों में था, इसी बीच अब मुजफ्फरपुर के औराई प्रखंड में एक पंचायत भवन को तोड़कर बेच देने का मामला सामने आया है। इस मामले में हालांकि मुखिया और पंचायत सचिव को अब स्पष्टीकरण पूछा गया है। बताया जा रहा है कि औराई पंचायत में पंचायत भवन निर्माण का कार्य करीब 15 वर्ष पूर्व शुरू हुआ था, लेकिन उसका काम पूरा नहीं हो सका था। कहा जा रहा है कि निमार्णाधीन होने के कारण इसका कोई उपयोग भी नहीं हो पा रहा था।

अब उसी भवन को बिना नीलामी के तोड़कर ईंट सहित अन्य सामग्री बेच देने का मामला सामने आया है। भवन से निकले सभी सामग्रियों को बेचने का आरोप मुखिया और पंचायत सचिव पर लगाया गया है। इस मामले के प्रकाश में घटना आने के बाद प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी गिरिजेश नंदन ने मुखिया और पंचायत सचिव को नोटिस जारी कर दो दिनों के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा है।

नोटिस में कहा गया है कि बिना नीलामी के सरकारी भवन को निजी तौर पर तोड़ना व बेचना वित्तीय अनियमितता को दर्शाता है। उन्होंने शिकायत मिलने पर खुद स्थल जांच किया जिसमें पाया गया कि बिना नीलामी के पंचायत भवन को तोड़कर बेच दिया गया है।

इधर, जिला पंचायती राज पदाधिकारी सुषमा कुमारी भी आईएएनएस द्वारा पूछे जाने पर कहा कि इसकी जानकारी मिली है। उन्होंने कहा कि बिना नीलामी के सरकारी भवन को तोड़ा जाना अवैध है। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर संबंधित मुखिया से भी बातचीत की गई है। उन्होंने कहा कि प्रखंड से पूरी रिपोर्ट मांगी गई है, उसके आधार पर दोषी लोगों के खिलाफ कारवाई की जाएगी।

पंचायत के मुखिया उमाशंकर गुप्ता ने बताया कि औराई पंचायत भवन जीर्ण शीर्ण अवस्था में था। कहीं भी बैठने की जगह नहीं थी। उन्होंने कहा कि प्रखंड विकास पदाधिकारी सहित अन्य प्रखंड के अधिकारियों की सहमति से भवन तोड़ा गया है। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि उसी जगह सामुदायिक भवन बनाया जाएगा।





BPSC Paper Leak: बिहार के सीएम नीतीश कुमार बोले-'दोषियों को नहीं छोड़ेंगे, जांच में तेजी का निर्देश, होगी कड़ी कार्रवाई'

सीएम ने कहा कि पेपर कहां से और कैसे लीक हुई है, इसकी जांच के लिए मैंने पुलिस को तेजी लाने का निर्देश दिया है। जिस व्यक्ति ने भी पेपर लीक किया होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसा नहीं हो इसको भी देखा जाएगा।

पटना: बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) 67 वीं प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक मामले को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि मामला सामने आने के बाद तुरंत एक्शन लिया गया और परीक्षा रद्द की गई। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच की जा रही है, मैंने जांच तेज करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए सोमवार को कहा कि बीपीएससी पेपर (प्रश्नपत्र) लीक मामले में कहा कि मामला के सामने आने के बाद तुरंत एक्शन लिया गया और परीक्षा रद्द की गई। उन्होंने कहा कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। सीएम ने कहा कि पेपर कहां से और कैसे लीक हुई है, इसकी जांच के लिए मैंने पुलिस को तेजी लाने का निर्देश दिया है। जिस व्यक्ति ने भी पेपर लीक किया होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसा नहीं हो इसको भी देखा जाएगा।

उल्लेखनीय है कि बीपीएससी ने 67 वीं संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा को परीक्षा के पूर्व प्रश्न पत्र वायरल होने के मामले के बाद रद्द कर दिया गया है। पूरे मामले की जांच का जिम्मा आर्थिक अपराध इकाई को सौंपा गया है।

बीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा रविवार को दोपहर 12 बजे से प्रारंभ होनी थी। आरोप है कि इससे पहले ही प्रश्न पत्र सोशल साइटों पर वायरल हो गया। इस मामले के प्रकाश में आने के बाद आयोग ने तीन सदस्यीय एक टीम का गठन कर जांच रिपोर्ट तीन घंटे के अंदर देने का निर्देश दिया।

आयोग द्वारा गठित समिति के रिपोर्ट के आधार पर आयोग ने परीक्षा रद्द करने की घोषणा कर दी।

इधर, विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने सोमवार को इस मामले को लेकर सरकार को घेरते हुए कहा कि बिहार के करोड़ों युवाओं और अभ्यार्थियों का जीवन बर्बाद करने वाले बिहार लोक सेवा आयोग का नाम बदलकर अब कुछ और कर देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि बाहर से परीक्षा केंद्र पर आए परीक्षार्थियों को पांच-पांच हजार मुआवजा भी देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इसमें छात्रों की नहीं सिस्टम की गलती है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, पेपर लीक, विधि व्यवस्था की स्थिति खराब यही विकास है।


Bihar News: जातीय जनगणना पर CM नीतीश ने मांगी सभी दलों की राय

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में जातिगत जनगणना करने के लिए सभी दलों के साथ बातचीत की जाएगी। सरकार ने जातिगत जनगणना लागू करने के लिए पूरा जायजा कर लिया है लेकिन हम चाहते हैं कि सभी दल एक बार इस विषय पर अपनी राय रखें।

पटना: एक बार फिर से बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने जातीय जनगणना का राग छेड़ा है। खासकर उन्होंने ऐसे समय पर जब लगातार विपक्षी नेताओं से खुद करीबी बना रहे हैं और उन्हें अच्छी तरह पता है कि उनकी ही सहयोगी पार्टी भाजपा जाति आधारित जनगणना के लिए तैयार नहीं है और केंद्र की मोदी सरकार ने इसके लिए संसद में भी मना कर दिया है।

आज पटना में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में जातिगत जनगणना करने के लिए सभी दलों के साथ बातचीत की जाएगी। सरकार ने जातिगत जनगणना लागू करने के लिए पूरा जायजा कर लिया है लेकिन हम चाहते हैं कि सभी दल एक बार इस विषय पर अपनी राय रखें।

BPSC पेपर लीक मामले पर उन्होंने कहा कि पेपर लीक की सूचना मिली तो तुरंत एक्शन लेते हुए उसे रद्ध किया गया। अभी जांच की जा रही है कि पेपर कहां से लीक हुआ? मैंने पुलिस को जांच में तेजी लाने के लिए कहा है। जिस व्यक्ति ने भी पेपर लीक किया उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।


Bihar News: बेटे की जमानत के बदले फरियादी महिला से थानेदार साहब ने कराई तेल मालिश!

फरियादी महिला से तेल मालिश कराते वीडियो वायरल होने पर शशिभूषण सिंह को सस्पेंड कर दिया है।

सहरसा: नई दिल्लीः बिहार पुलिस (Bihar Police) अक्सर अपने कारनामों को लेकर चर्चा में रहती है। कभी इंस्पेक्टर द्वारा ट्रेनी कांस्टेबल (trainee constable) को छेड़ने को लेकर तो कभी एक ही आरोपी को अलग-अलग नाम से दो बार कोर्ट में पेश करने के लिए, लेकिन इस पर सहरसा के दरोगा जी ने सारी हदें पर कर दी हैं। उन्होंने एक लड़के की जमानत के बदले उसकी मां को अपनी सेवा (तेल मालिश) करने के लिए मजबूर कर दिया। 

मामला बिहार के सहरसा (Sarhasa) के नौहट्टा थाना (Nowhatta Police Station) अंतर्गत डरहार ओपी थाने का है। जहां थानेदार जी ने एक लाचार महिला से निर्वस्त्र होकर तेल मालिश कराई थानेदार का नाम शशिभूषण सिन्हा है। महिला अपने बेटे को छुड़ाने की जानकारी के लिए थाने पहुंची थी क्योंकि उसके बेटे को पकड़कर पुलिस ने जेल भेज दिया था, लेकिन दरोगा जी को जब महिला की मजबूरी पता चली तो वो इसका फायदा उठाने से नहीं चूके।

तेल मालिश कराते हुए थानेदार जी का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। थानेदार शशिभूषण सिन्हा की थानेदारी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। वीडियों में थानेदार जी तेल मालिश करवाते दिखाई दे रहे हैं। थानेदार नंगे बदन हैं उनके शरीर पर एक गमछा तक नहीं है और उनके पास ही एक कुर्सी पर एक दूसरी महिला भी बैठी दिख रही है।

महिला को तसल्ली देने के लिए थानाध्यक्ष ने एक वकील को फोन लगाकर कहा कि दस हजार रुपया हम दे रहे हैं इसके बेटे का बेल करवा दीजिए। थानाध्यक्ष शशिभूषण सिन्हा वकील से यह कहता नजर आ रहे है कि वकील साहब महिला बहुत गरीब है बेचारी.. कितने पैसा भेज दें नकल लिफाफा में भेज देंगे..दो औरत आधारकार्ड लेकर जाएगी कब भेज दे। सोमवार को पूरा पता और मोबाइल नंबर देकर भेज देते है पप्पू बाबू निवेदन है देख लीजिए इसमें 10 हजार मेरा ही खर्चा हो गया है।

थानेदार हुआ सस्पेंड

फरियादी महिला से तेल मालिश कराते वीडियो वायरल होने पर शशिभूषण सिंह को सस्पेंड कर दिया है और लाइन हाजिर करने का भी आदेश एसपी लिपि सिंह ने थानेदार साहब को भेज दिया है। 


Bihar News: पटना में त्रिपल मर्डर, शख्स ने पत्नी-बेटी की गोली मारकर की हत्या, फिर खुद को भी मार ली गोली

पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि कॉलोनी में ट्रिपल मर्डर की सूचना मिली थी। पुलिस मौके पर पहुंचकर लोगों के बयान ले रही है। CCTV फुटेज को भी देखा जा रहा है। पता चला कि व्यक्ति की पहली पत्नी की किसी कारण से मृत्यु हो गई थी, इसके बाद उसकी शादी पत्नी की बहन के साथ कर दी गई।

पटना: बिहार की राजधानी पटना में एक शख्स ने पारिवारिक कलह से तंग आकर पहले तो अपनी पत्नी व बेटी की हत्या कर दी और फिर खुद को भी गोली मार ली।

पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि कॉलोनी में ट्रिपल मर्डर की सूचना मिली थी। पुलिस मौके पर पहुंचकर लोगों के बयान ले रही है। CCTV फुटेज को भी देखा जा रहा है। पता चला कि व्यक्ति की पहली पत्नी की किसी कारण से मृत्यु हो गई थी, इसके बाद उसकी शादी पत्नी की बहन के साथ कर दी गई।

एसएसपी ने आगे बताया कि जिनसे कुछ समय बाद इनका तलाक हो गया। व्यक्ति चाहता था कि उसकी बेटी उसके साथ रहे, इसी को लेकर विवाद था। आज व्यक्ति ने अपनी बेटी और पत्नी को गोली मार दी और फिर खुद को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली।



Bihar News: आज जेल से जमानत पर रिहा होंगे लालू यादव

लालू ने रिहाई के लिए 10 लाख रुपये कोर्ट में जमा कर दिए हैं। फिलहाल, उनकी रिहाई से संबेधित कागजी कार्यवाही चल रही है। इस खबर के सामने आते ही आरजेडी के कार्यकर्ताओं में उत्साह देखने को मिल रहा है।

नई दिल्ली: बिहार की राजनीति के लिए आज का दिन काफी अहम माना जा रहा है। सीबीआई कोर्ट (CBI Court) ने चारा घोटाले (Fodder Scam) से जुड़े डोरंडा मामले (Doranda Case) में सजा काट रहे आरजेडी (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav की जमानत के आदेश जारी कर दिए हैं। लालू ने रिहाई के लिए 10 लाख रुपये कोर्ट में जमा कर दिए हैं। फिलहाल, उनकी रिहाई से संबेधित कागजी कार्यवाही चल रही है। इस खबर के सामने आते ही आरजेडी के कार्यकर्ताओं में उत्साह देखने को मिल रहा है।

बता दें कि झारखंड हाई कोर्ट (Jharkhand High Court)  से बुधवार को बेल बॉन्ड निचली अदालत में भेज दिया गया था। जिसके बाद लालू के वकील ने कहा था कि लालू यादव की जमानत के लिए बेल बॉन्ड भर दिया गया है। अब उन्हें जमानत पर रिहा किया जा सकता है। 

बता दे कि लाल प्रसाद यादव को चारा घोटाले से जुड़े डोरंडा ट्रेजरी केस में जमानत मिली है। 1990 से 1995 के बीच डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ की निकासी हुई थी। इसी साल फरवरी में घोटाले पर फैसला सुनाया था। जिसमें लालू यादव को दोषी पाया और उन्हें 5 साल की सजा सुनाई गई थी। 


Amit Shah in Bihar: वीर कुंवर सिंह को गृहमंत्री अमित शाह का सलाम, लोगों ने तिरंगा लहराकर तोड़ा पाकिस्तान का रिकॉर्ड

आज देश के गृहमंत्री अमित शाह भोजपुर(जगदीशपुर) पहुंचे। जहां एक लाख की संख्या में राष्ट्रीय ध्वज फहराकर विश्व रिकार्ड बनाने की तैयारी की जा रही है। बाबू कुंवर सिंह ने सिर्फ क्रांति में भूमिका नहीं निभाई बल्कि गुरिल्ला युद्ध के जरिए अंग्रेजी सेना को खूब क्षति पहुंचाई थी।

नई दिल्ली: देश में1857 की क्रांति के नायकों को जब भी याद किया जाता है तो उसमें एक नाम है, बिहार के भोजपुर जिले के रहने वाले बाबू कुंवर सिंह का जो 1857 की क्रांति के समय अपनी 80 साल के आयु को भूल कर स्वतंत्रता की लड़ाई में कूद पड़े थे।

आज उन्हीं महान स्वतंत्रता सेनानी के विजयोत्सव के अवसर पर हिस्सा लेने आज देश के गृहमंत्री अमित शाह भोजपुर(जगदीशपुर) पहुंचे। जहां  एक लाख की संख्या में  राष्ट्रीय ध्वज फहराकर विश्व रिकार्ड बनाने की तैयारी की जा रही है। बाबू कुंवर सिंह ने सिर्फ क्रांति में भूमिका नहीं निभाई बल्कि गुरिल्ला युद्ध के जरिए अंग्रेजी सेना को खूब क्षति पहुंचाई थी।

अमित शाह ने कुंवर सिंह को किया नमन 

देश के गृहमंत्री ने जगदीशपुर पहुंच कर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि "मैं कई कार्यक्रम में गया हूं। लेकिन इस जमीं की राष्ट्रभक्ति को देक कर में पुरी तरह से नि:शब्द हूं। इस तरह का कार्यक्रम मैंने आज तक नहीं देखा। लेकिन मैं साफ कर देना चाहता हूं कि इतिहास ने बाबू वीर कुंवर सिंह के साथ अन्याय किया क्योंकि वह इतिहास में जिस स्थान के काबिल थे वह उन्हें नहीं दिया गया। कुंवर सिंह ने इस क्षेत्र को अंग्रेजों से मुक्ति दिलाई आज से 163 साल पहले 80 साल की अवस्था में इस क्षेत्र के मुक्ति दाता को श्रद्धांजलि देने के लिए लाखों लोग इस चिलचिलाती धूप में पहुंचे है, मैं सबको नमन करता हूं। 

बिहार ने तोड़ा पाक का रिकार्ड

वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव समारोह के दौरान गृहमंत्री अमित शाह के सामने बिहार की जनता ने  77900 तिरंगा फहराकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड बनाया और पाक के रिकार्ड को तोड़ दिया गया।  जिसकी अधिकारिक घोषणा कर दी गई है।इस दौरान जगदीशपुर में 5 किलोमीटर तक तिरंगा देखा गया।

 आपको बता दे कि शाह ने विजयोत्सव के दौरान अपने संबोधन के दौरान बाबू कुंवर सिंह का स्मारक बनाने की घोषणा की । शाह ने इसी के साथ ही  राजद को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बिहार की जनता 15 साल के जंगल राज को कभी नहीं भुल सकती । विजयोत्सव में पहुंचने वालों की काफी भीड़ देखने को मिली।


बाबू कुंवर सिंह के बारे में

बाबू वीर कुंवर सिंह बिहार के उज्जैनिया क्षत्रिय और मालवा के प्रसिद्ध राजा भोज के वंशज थे। इसी वंश में महान चक्रवर्त्ती सम्राट विक्रमादित्य भी हुए थे।

80 साल की उम्र में अंग्रेजो से लड़ाई के दौरान हाथ में गोली लगने के कारण उन्होंने अपना हाथ काट गंगा में बहा दिया था। बाबू कुंवर सिंह की शख्सियत के बारे में अगर  समकालीन लेखक जॉर्ज ट्रेवेलयां के पुस्तक में लिखे वर्णन से करें तो जहां वह वीरता और अपने गुरिल्ला युद्ध से काफी प्रभावित करते थे ।

वही, अंग्रेज लेखक के अनुसार अगर कुंवर सिंह के कद का वर्णन करें तो वह 6 फीट से ज्यादा लंबे इंसान थे। वह अपने लोगों के लिए मृदुभाषी और काफी सौम्य छवि के इंसान थे। वह एक शानदार घुड़सवार थे और उनको शिकार करना काफी पसंद था।

1857 की लड़ाई के दौरान कुंवर सिंह का साथ उनके भाई अमर सिंह और सेनापति हरे कृष्ण सिंह ने दिया था । जिन्होंने गुरिल्ला तकनीक का इस्तेमाल कर अंग्रेजो को काफी नुकसान पहुंचाया था।

जिसकी पुष्टि बनारस हिंदु विश्वविद्धालय के पीएचडी होल्डर और प्रख्यात इतिहासकार भी करते है। डॉ श्री भगवान सिंह के अनुसार महराणा प्रताप और छत्रपति शिवाजी के बाद अगर किसी ने अगर गुरिल्ला युद्ध की तकनीक का इस्तेमाल किया है तो वह थे बाबु वीर कुंवर सिंह। इस शैली से बाबु जी ने बिहार से निकल कर आजमगढ़, कानपुर, और बलिया तक के अंग्रेजी हुकूमत को परेशान कर दिया था।

यहीं कारण है की आरा के पूर्व क्षेत्रों को मेवाड़ कहा जाता है।आज उन्ही के विजयोत्सव के अवसर पर देश के गृहमंत्री भोजपुर के जगदीशपुर पहुंचे


Bihar News: सीएम नीतीश कुमार का बड़ा बयान कहा,-'धर्म के आधार पर विवाद करना ठीक नहीं, हमारे बिहार में ऐसा नहीं होता है'

सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सोमवार को कहा कि, 'सभी लोगों में आपस में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए। देश में अलग-अलग धर्म और मजहब के लोग हैं, धर्म को मानने का अपना-अपना तरीका है। सब लोग अपने ढंग से त्योहार मनायें लेकिन इसको लेकर के आपस में विवाद नहीं करना चाहिए।' उन्होंने कहा कि बिहार में किसी तरह का विवाद नहीं है। बता दें कि सीएम नीतीश ने यह बात पटना में हुए जनता दरबार में पत्रकारों से बातचीत में कही है।

नई दिल्ली: इन दिनों देशभर में रामनवमी और हनुमान जयंती के अवसर हुए हिंसा की चर्चा जोरों पर है। हिंसा पर अंकुश लगाने के लिए सरकारें अपनी ओर से कार्रवाई कर रही है। वहीं इस मामले राजनेताओं की अपनी-अपनी प्रतिक्रिया भी है। धार्मिक हिंसा मामले पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने भी प्रतिक्रिया जाहिर की है।


सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सोमवार को कहा कि, 'सभी लोगों में आपस में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए। देश में अलग-अलग धर्म और मजहब के लोग हैं, धर्म को मानने का अपना-अपना तरीका है। सब लोग अपने ढंग से त्योहार मनायें लेकिन इसको लेकर के आपस में विवाद नहीं करना चाहिए।' उन्होंने कहा कि बिहार में किसी तरह का विवाद नहीं है। बता दें कि सीएम नीतीश ने यह बात पटना में हुए जनता दरबार में पत्रकारों से बातचीत में कही है।

पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने लाऊडस्पीकर पर नमाज को लेकर देश के कुछ हिस्सों में जारी विवाद के सवाल पर कहा कि, 'जब से हमें काम करने का मौका मिला है तब से ही आपस में किसी तरह का विवाद न हो, झंझट न हो इसको लेकर हमलोग काम करते रहे हैं।'

सीएम ने कहा कि, 'पहले बिहार में कितना विवाद होता था, लेकिन हमलोगों ने लोगों में जागरूकता लाकर इसको पूरी तरह समाप्त करने की लगातार कोशिश की है।' उन्होंने कहा कि हमलोग चाहते हैं कि सभी लोगों में आपस में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए। सब अपने-अपने धर्म का मजहब का पालन कीजिए। इसको लेकर कहीं कोई रोक नहीं है। अगर आप सचमुच पूजा में विश्वास करते हैं तो ठीक से पूजा कीजिये। एक-दूसरे से झगड़ा करने का, पूजा करने से कोई संबंध नहीं है। बिहार में ऐसा कुछ नहीं है लेकिन कुछ-न-कुछ तो इधर-उधर होता ही रहता है। यहां पर अलर्टनेस है।

सीएम नीतीश ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) द्वारा कांग्रेस की जिम्मेदारी संभालने के सवाल पर कहा कि इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं है। सबको अपना अधिकार है, राजनैतिक रूप से कोई क्या करना चाहता है, ये उसका अपना अधिकार है। हमसे उनका व्यक्तिगत संबंध रहा है और है भी। 






Bihar News: बिहार को 'विशेष राज्य' के दर्जे वाली मांग को लेकर जेडीयू ने भाजपा पर बोला हमला, मोदी सरकार पर लगाया ये गंभीर आरोप

ललन सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार विशेष दर्जा नहीं देकर बिहार की जनता के साथ अन्याय कर रही है।

पटना: बिहार में सत्तारूढ़ जद (यू) सहयोगी भाजपा और नरेंद्र मोदी सरकार को आड़े हाथों लेने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। उसने गुरुवार को अंबेडकर जयंती का इस्तेमाल अपनी प्रमुख मांगों को उठाने के लिए किया और कहा कि मांगों को नजरअंदाज किया जा रहा है। 


भारतीय संविधान के निर्माता की जयंती पर आयोजित एक समारोह में जद (यू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा, "जो लोग बिहार को विशेष दर्जा नहीं दे रहे हैं, वे बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के सपनों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। अगर हमें बाबा साहब का सपना पूरा करना है तो उन्हें बिहार को विशेष दर्जा देना होगा।" उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार विशेष दर्जा नहीं देकर बिहार की जनता के साथ अन्याय कर रही है।

ललन सिंह ने कहा, "केंद्र की एनडीए सरकार ने 17 राज्यों को विशेष वित्तीय पैकेज दिया है, लेकिन बिहार उस सूची में शामिल नहीं है। इसके अलावा, केंद्र ने उन राज्यों को चुना है, जहां वित्तीय प्रबंधन मजबूत नहीं है। उनकी तुलना में नीतीश कुमार ने बिहार में अनुकरणीय वित्तीय प्रबंधन किया है। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि केंद्र ने बिहार को वित्तीय सहायता नहीं दी है।"

उन्होंने कहा, "बाबा साहब ने देश में आर्थिक और सामाजिक असमानता का सपना देखा था। अगर हम बिहार को विशेष दर्जा नहीं देंगे तो यह नहीं हटेगा।"

ललन सिंह के अलावा, उपेंद्र कुशवाहा, अशोक चौधरी और नीरज कुमार जैसे नेताओं ने बताया कि नीतीश कुमार अंबेडकर के असली अनुयायी हैं और बिहार अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों का पसंदीदा राज्य बन गया है।


बिहार के CM नीतीश कुमार की सुरक्षा में बड़ी चूक, सीएम से महज 15 फीट की दूरी पर सिरफिरे ने फोड़ा पटाखा बम

थोड़ी देर बाद ही सिलाव के गांधी हाईस्कूल में ‘जन संवाद’ कार्यक्रम के दौरान पंडाल में ही सिरफिरे ने छोटा पटाखा वाला बम फोड़ दिया। बम सीएम नीतीश कुमार से महज 15 से 18 फीट की दूरी पर फूटा और फिर अफरातफरी मच गई। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है।

नालंदा: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की सुरक्षा में एक बार फिर चूक हुई है। नालंदा में एक जनसभा के दौरान पंडाल में एक सिरफिरे ने पटाखा फोड़ा, जिससे भगदड़ मच गई। बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों जनसंवाद यात्रा को लेकर नालंदा दौरे पर हैं।

मंगलवार को नीतीश कुमार पावापुरी के वर्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान में शिरकत करने के बाद नानंद गांव पहुंचे थे। यहां उनका ग्रामीणों ने भव्य स्वागत किया।

थोड़ी देर बाद ही सिलाव के गांधी हाईस्कूल में ‘जन संवाद’ कार्यक्रम के दौरान पंडाल में ही सिरफिरे ने छोटा पटाखा वाला बम फोड़ दिया। बम सीएम नीतीश कुमार से महज 15 से 18 फीट की दूरी पर फूटा और फिर अफरातफरी मच गई। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है।

पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। बता दें कि कुछ दिन पहले ही बख्तियारपुर में एक कार्यक्रम के दौरान भी नीतीश कुमार की सुरक्षा में चूक हुई थी। 


Bihar MLC Election 2022: पटना से राजद को मिली जीत, पूर्णिया में BJP का कब्जा बरकरार

राजद ने जहां वैशाली सीट गंवा दी है वही भाजपा ने पूर्णिया में कब्जा बरकरार रखा है। जानकारी के मुताबिक, पटना से राजद के कार्तिकेय कुमार ने जदयू के वाल्मिकी सिंह को हरा दिया है।

पटना: बिहार विधान परिषद के स्थानीय प्राधिकार की 24 सीटों के लिए सोमवार को हुए चुनाव की मतगणना गुरुवार सुबह आठ बजे से जारी है। मतगणना को लेकर सभी मतगणना केंद्रों के बाहर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। इस बीच, अब धीरे - धीरे नतीजे भी सामने आने लगे हैं। राजद ने जहां वैशाली सीट गंवा दी है वही भाजपा ने पूर्णिया में कब्जा बरकरार रखा है। जानकारी के मुताबिक, पटना से राजद के कार्तिकेय कुमार ने जदयू के वाल्मिकी सिंह को हरा दिया है।

औरंगाबाद में हाल ही में भाजपा में शामिल हुए एनडीए प्रत्याशी दिलीप सिंह ने 284 मतों से जीत हासिल की। एनडीए प्रत्याशी दिलीप सिंह को कुल 1798 मत मिले हैं तो वहीं राजद उम्मीदवार अनुज सिंह को 1514 मत से ही संतोष करना पड़ा।

इधर, राजद ने अपनी वैशाली सीट गंवा दी है। वैशाली में एनडीए प्रत्याशी भूषण राय ने राजद के निवर्तमान एमएलसी सुबोध राय को हरा दिया।

पूर्णिया-अररिया-किशनगंज सीट पर भाजपा ने अपना कब्जा बरकरार रखा है। यहां से एनडीए प्रत्याशी डॉ दिलीप जायसवाल ने जीत दर्ज की। दिलीप जायसवाल लगातार तीसरी बार चुनाव जीते हैं। हालांकि अब तक कई सीटों के नतीजों की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। कई सीटों पर अभी भी मतगणना का कार्य जारी है।

मतगणना को लेकर 24 जिलों में मतगणना केंद्र बनाए गए हैं, जहां संबंधित क्षेत्रों में डाले गए वोटों की गिनती हो रही है।

वोटों की गिनती के लिए सभी मतगणना केंद्रों पर 14 टेबल लगाए गए हैं।

निर्वाचन विभाग के निर्देशानुसार मतगणना वरीयता वोट के आधार पर की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को इन सभी सीटों के लिए मतदान हुआ था। इस चुनाव को लेकर मतदाताओं में उत्साह था, जिस कारण करीब 98 फीसदी से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने मतदान केंद्र पहुंचे थे।


Bihar MLC Election : 24 सीटों पर कड़ी सुरक्षा के बीच मतगणना जारी

निर्वाचन विभाग के निर्देशानुसार मतगणना वरीयता वोट के आधार पर की जा रही है। एक अनुमान के मुताबिक शाम चार बजे के बाद परिणाम आने की उम्मीद है।

पटना: बिहार विधान परिषद के स्थानीय प्राधिकार की 24 सीटों के लिए सोमवार को हुए चुनाव की मतगणना गुरुवार सुबह आठ बजे से जारी है। मतगणना को लेकर सभी मतगणना केंद्रों के बाहर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। मतगणना को लेकर 24 जिलों में मतगणना केंद्र बनाए गए हैं, जहां संबंधित क्षेत्रों में डाले गए वोटों की गिनती हो रही है।

वोटों की गिनती के लिए सभी मतगणना केंद्रों पर 14 टेबल लगाए गए हैं। एक अधिकारी के मुताबिक प्रारंभ में रद्द मतपत्रों को अलग किया जा रहा है।

निर्वाचन विभाग के निर्देशानुसार मतगणना वरीयता वोट के आधार पर की जा रही है। एक अनुमान के मुताबिक शाम चार बजे के बाद परिणाम आने की उम्मीद है।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को इन सभी सीटों के लिए मतदान हुआ था। इस चुनाव को लेकर मतदाताओं में उत्साह था, जिस कारण करीब 98 फीसदी से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने मतदान केंद्र पहुंचे थे।

गौरतलब है कि मतगणना की प्रक्रियाएं विधानसभा चुनाव से बिल्कुल भिन्न होती हैं।

इस चुनाव में सत्ता और विपक्ष दोनो गठबंधनों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। इस चुनाव में राजद जहां वामपंथी दलों के साथ चुनावी मैदान में उतरा है, वहीं भाजपा और जदयू साथ में भाग्य आजमा रहे हैं। कांग्रेस अकेले चुनाव मैदान में है।


Bihar MLC Election 2022: विधान परिषद की 24 सीटों के लिए मतदान जारी

विधान परिषद की स्थानीय प्राधिकार निर्वाचन क्षेत्रों की 24 सीटों के लिए मतदान जारी है। इस चुनाव में विभिन्न पार्टियों के 187 उम्मीदवारो के राजनीति भविष्य का फैसला होना है। इस चुनाव को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं, इसके लिए 534 प्रखंडों में मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

पटना: बिहार में विधान परिषद की स्थानीय प्राधिकार निर्वाचन क्षेत्रों की 24 सीटों के लिए मतदान जारी है। इस चुनाव में विभिन्न पार्टियों के 187 उम्मीदवारो के राजनीति भविष्य का फैसला होना है। इस चुनाव को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं, इसके लिए 534 प्रखंडों में मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

एक अधिकारी के मुताबिक, मतदान सुबह आठ बजे शांतिपूर्ण ढंग से चल रहा है। मतदाता अपराह्न् चार बजे तक अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। निर्वाचन आयोग के मुताबिक तीन स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था के तहत जिला पुलिस बल व अर्धसैनिक बलों की कंपनियों के सशस्त्र जवान मतदान केंद्रों पर तैनात किए गए है।

निर्वाचन क्षेत्रों में पेट्रोलिंग पुलिस टीम एवं मजिस्ट्रेट भी तैनात हैं।

विधान परिषद की 24 सीट पर हो रहे इस चुनाव के लिए कुल 187 उम्मीदवार अपना किस्मत आजमा रहे हैं।

24 सीटों पर हो रहे विधान परिषद चुनाव के लिए 1.34 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। विधानपरिषद के चुनाव के लिए मतदाता के रूप में सांसद, विधायक, विधान पार्षद, मुखिया, वार्ड सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य अपने मत का उपयोग कर रहे हैं।

इस चुनाव का नतीजा 7 अप्रैल को घोषित किया जाएगा।