Skip to main content
Follow Us On
Hindi News, India News in Hindi, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi, ताजा ख़बरें, News

फडणवीस ने नए स्पीकर को दी बधाई, राहुल नार्वेकर को बताया सबसे कम उम्र का विधानसभा अध्यक्ष

भाजपा के राहुल नार्वेकर को महाराष्ट्र के नए स्पीकर के रूप में निर्वाचित होने के बाद महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विधानसभा को संबोधित करते हुए खुलासा किया कि वह पद संभालने वाले सबसे कम उम्र के नेता हैं।

नई दिल्ली: भाजपा के राहुल नार्वेकर को महाराष्ट्र के नए स्पीकर के रूप में निर्वाचित होने के बाद महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विधानसभा को संबोधित करते हुए खुलासा किया कि वह पद संभालने वाले सबसे कम उम्र के नेता हैं। नार्वेकर को बधाई देते हुए फडणवीस ने उम्मीद जताई कि शिवसेना और भाजपा का गठबंधन विधानसभा अध्यक्ष के सहयोग से महाराष्ट्र की आकांक्षाओं को पूरा करने का काम कर सकता है।


देवेंद्र फडणवीस ने टिप्पणी की, "यह कहना कि हर पहलू के दो पहलू होते हैं, हमेशा सच नहीं होता। एक तीसरा पक्ष भी मौजूद होता है, जो सच हो सकता है। स्पीकर को ही सत्य का पक्ष चुनना होता है। पिछले वक्ताओं ने भी बहुत अच्छा काम किया है, यह है उन्हें भी बधाई देना महत्वपूर्ण है। एक अध्यक्ष और सदन का यह रिश्ता एक सास और बहू का होता है।" 

नरवेकर के पिछले कार्यों की सराहना करते हुए उपमुख्यमंत्री ने आगे खुलासा किया कि नवनिर्वाचित अध्यक्ष सावंतवाड़ी परिवार से थे और उन्होंने 15 वर्षों तक उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में अभ्यास किया था। उन्होंने कहा, "भाजपा-शिवसेना गठबंधन की यह सरकार, एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में, महाराष्ट्र की सभी आकांक्षाओं को पूरा करने की कोशिश करेगी और हम आशा करते हैं कि आप (अध्यक्ष) इसके लिए अच्छा सहयोग देंगे। मुझे विश्वास है कि आप दोनों पक्षों को न्याय देंगे।"

एनडीए उम्मीदवार और भाजपा के राहुल नार्वेकर को रविवार को महाराष्ट्र विधानसभा के नए अध्यक्ष के रूप में घोषित किया गया। एमवीए उम्मीदवार और शिवसेना विधायक राजन साल्वी के लिए पंजीकृत 107 मतों के विपरीत, राहुल नार्वेकर 164 मतों के साथ बहुमत के निशान से आगे निकल गए।

इस प्रक्रिया के दौरान, समाजवादी पार्टी और एआईएमआईएम ने मतदान से परहेज किया। सपा के दो विधायक अबू आजमी और रईस शेख और एआईएमआईएम के शाह फारूक अनवर ने वोट डालने से परहेज किया। कुल मिलाकर, तीन विधायक मतदान से दूर रहे।


अमरावती हत्याकांड में आतंकी एंगल की होगी जांच NIA ने आरोपियों के खिलाफ लगाया UAPA एक्ट

एनआईए संगठनों और अंतरराष्ट्रीय संबंधों की किसी भी तरह की संलिप्तता की भी गहन जांच करेगी। वहीं एनआईए ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ यूएपीए लगागया है। अब इस केस की आतंकी एंगल से जांच होगी। 54 वर्षीय कोल्हे की पिछले हफ्ते गला काटकर हत्या कर दी गई थी।

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के अमरावती में एक केमिस्ट की हत्या मामले में मुख्य आरोपी को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान एनजीओ चलाने वाले इरफान खान के रूप में हुई है। इस मामले में इरफान के अलावा पांच और लोगों को पहले ही गिरफ्तार किया गया है।


अमरावती शहर में गत 21 जून 54 वर्षीय केमिस्ट उमेश कोल्हे की चाकू मारकर हत्या कर दी गयी थी। पुलिस ने संदेह जताया है कि कोल्हे द्वारा फेसबुक पर नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले पोस्ट के प्रतिशोधस्वरुप उसकी हत्या की गयी है। 

इससे पहले गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने शनिवार को कहा था कि हत्या मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) करेगी। उन्होंने कहा कि एनआईए संगठनों और अंतरराष्ट्रीय संबंधों की किसी भी तरह की संलिप्तता की भी गहन जांच करेगी। वहीं एनआईए ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ यूएपीए लगागया है। अब इस केस की आतंकी एंगल से जांच होगी।

54 वर्षीय कोल्हे की पिछले हफ्ते गला काटकर हत्या कर दी गई थी। यह वाकया 21 जून का है, जब कोल्हे अपनी दुकान से वापस लौट रहा था। भाजपा का दावा है कि कोल्हे ने फेसबुक पर नूपुर शर्मा के पक्ष में पोस्ट किया था और इसकी कीमत उसने जान देकर चुकाई। 

घटना को अंजाम देने वाले तत्काल वहां से भाग निकले। यहां तक कि उन्होंने पीड़ित की मोबाइल तक को हाथ नहीं लगाया था। मामले में छह लोगों को गिरफ्तार करने की सूचना है।


अयोध्या में भी उदयपुर और अमरावती जैसी घटना, हनुमान चबूतरे पर मिली गर्दन कटी हिंदू की लाश!

जान लें कि अयोध्या में शख्स की बेरहमी से गला काट कर हत्या होने के बाद से इलाके में सनसनी मची हुई है। इसकी सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई।

अयोध्या: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) में एक चौंकाने वाली घटना हुई है। दरअसल यहां पंकज नामक एक शख्स की गला काटकर हत्या (Murder) कर दी गई है। वारदात के खुलासे के बाद से इलाके में हड़कंप मच गया है। 


आपको जानकर हैरानी होगी कि इस खौफनाक वारदात को हनुमान चबूतरे पर अंजाम दिया गया है। बता दें कि जिस शख्स की गला रेत कर अयोध्या में हत्या की गई है, उसकी उम्र 35 साल थी। शख्स हनुमान मंदिर (Hanuman Temple) के चबूतरे पर सो रहा था। अयोध्या पुलिस (Ayodhya Police) ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

हनुमान मंदिर के चबूतरे पर सो रहा था पंकज

जान लें कि अयोध्या में शख्स की बेरहमी से गला काट कर हत्या होने के बाद से इलाके में सनसनी मची हुई है। इसकी सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई। 

दरअसल युवक पंकज 2 महीने से अपने मामा के घर रहता था और रात में भोजन करने के बाद बिजली न होने के कारण वह घर के बाहर स्थित हनुमान मंदिर के चबूतरे पर जाकर सो गया। जब सुबह परिजन घर के बाहर निकले तो सामने पंकज का शव पड़ा हुआ था। पुलिस मामले की कई एंगल से जांच कर रही है।

सीओ ने दी ये जानकारी

सर्किल अधिकारी सत्येंद्र भूषण तिवारी ने कहा कि भाऊपुर गांव में शख्स का गर्दन कटा हुआ शव हनुमान मंदिर परिसर में पड़ा मिला। पीड़ित अमेठी जिले का रहने वाला है। 

वह अक्सर मंदिर में सो जाता था। शव का पोस्टमार्टम हो चुका है। एफआईआर दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच जारी है।


पटना में चला बुलडोजर, विरोध कर रहे 7 लोग आग में झुलसे, गुस्साई भीड़ सड़कों पर उतरी

बिहार की राजधानी पटना में प्रशासन की बड़ी कार्रवाई शुरू हो गई है। शहर के राजीव नगर में बने अवैध निर्माण पर सरकार का बुलडोजर चलना शुरू हो गया है। रविवार की सुबह भारी संख्या में पुलिस बल के साथ प्रसाशनिक अधिकारी राजीव नगर पहुंचे और अवैध मकानों को तोड़ना शुरू कर दिया

पटना: बिहार की राजधानी पटना में प्रशासन की बड़ी कार्रवाई शुरू हो गई है। शहर के राजीव नगर में बने अवैध निर्माण पर सरकार का बुलडोजर चलना शुरू हो गया है। रविवार की सुबह भारी संख्या में पुलिस बल के साथ प्रसाशनिक अधिकारी राजीव नगर पहुंचे और अवैध मकानों को तोड़ना शुरू कर दिया। इस दौरान विरोध कर रहे सात लोगों ने खुद को आग के हवाले कर लिया, जिससे वो बुरी तरह झुलो गए। इस कार्रवाई में 14 बुलडोजर लगाए गए हैं। वहीं, मौके पर करीब दो हजार पुलिस बल तैनात हैं।


जानकारी के अनुसार, राजीव नगर में प्रशासन द्वारा जब बुलडोजर से अवैध पक्के निर्माण तोड़ा जा रहा था तभी आक्रोशित लोगों ने टीम पर हमला बोल दिया। इसके बाद राजीव नगर में स्थिति तनावपूर्ण है। इस दौरान काफी संख्या में लोग सड़क पर उतर आए और प्रशासन की टीम पर पथराव शुरू कर दिया। प्रशासन ने लोगों को शांति बनाए रखने की अपील की है, लेकिन इलाके में स्थिति फिलहाल तनावपूर्ण बनी हुई है। बता दें कि पटना के राजीव नगर में करीब 20 एकड़ जमीन पर फिलहाल अस्थाई रूप से बनाए गए निर्माण को बुलडोजर से तोड़ा जा रहा है। जिला प्रशासन ने 70 मकानों को तय सीमा में खाली करने का निर्देश दिया था, लेकिन मकान खाली नहीं करने पर रविवार को उक्त कार्रवाई की जा रही है।


RTI के जवाब में भारतीय पुरातत्व विभाग बोला-'ताजमहल में नहीं है हिंदू देवी-देवताओं की मूर्ति, ना ही ये मंदिर की जमीन पर बना'

ताजमहल में हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियों और मंदिर के दावे पर RTI में बड़ा खुलासा हुआ है। ये RTI 20 जून को तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत एस गोखले ने दाखिल की थी। अब भारतीय पुरातत्व विभाग (ASI) ने इसका जवाब दिया है। ASI ने ताजमहल में हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियों के होने से इनकार किया है




नई दिल्ली: ताजमहल में हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियों और मंदिर के दावे पर RTI में बड़ा खुलासा हुआ है। ये RTI 20 जून को तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत एस गोखले ने दाखिल की थी। अब भारतीय पुरातत्व विभाग (ASI) ने इसका जवाब दिया है। ASI ने ताजमहल में हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियों के होने से इनकार किया है और यह भी कहा है कि ताजमहल किसी मंदिर की जमीन पर नहीं बना।

साकेत एस गोखले ने पहले सवाल में ताजमहल की जमीन पर मंदिर नहीं होने का सबूत मांगा था। दूसरे सवाल में उन्होंने तहखानों के 20 कमरों में हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्ति से जुड़ी बात पूछी थी। इस आरटीआई के पहले सवाल के जवाब में ASI ने एक शब्द में 'नो' लिखा है। दूसरे सवाल के जवाब में कहा है कि तहखानों में हिंदू देवी- देवताओं की मूर्ति नहीं है।

भाजपा के अयोध्या मीडिया प्रभारी डॉ. रजनीश सिंह ने 7 मई को कोर्ट में याचिका दायर कर ताजमहल के 22 कमरों को खोलने की मांग की थी। उन्होंने इन कमरों में हिंदू-देवी-देवताओं की मूर्ति होने की आशंका जताई थी। उनका कहना था कि इन बंद कमरों को खोलकर इसका रहस्य दुनिया के सामने लाना चाहिए। 
याचिकाकर्ता रजनीश सिंह ने इस मामले में राज्य सरकार से एक समिति गठित करने की मांग की थी। इसके बाद से ही देश में ताजमहल के कमरों के रहस्यों को लेकर एक नई बहस छिड़ी गई थी। वहीं, इतिहासकारों का कहना है कि ताजमहल विश्व विरासत है। इसे धार्मिक रंग नहीं देना चाहिए।

इससे पहले भी हिंदू संगठनों ने ताजमहल में हिंदू देवी देवताओं की मूर्ति के होने का दावा किया था। तब भी भारतीय पुरातत्व विभाग ने मूर्तियों के होने की बात को सिरे से खारिज कर दिया था। गौरतलब है कि कई हिंदू संगठनों ने समय-समय पर ये दावा किया है कि ताजमहल, पहले एक मंदिर था। वहीं कई हिंदू संगठन इसमें हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियों के होने का दावा भी कर चुके हैं। 


MP News: कटनी में मुस्लिम प्रत्याशी की जीत के जश्न में ‘पाकिस्तान-जिंदाबाद’ के लगे नारे, VIDEO हुआ वायरल

मुस्लिम प्रत्याशी की जीत पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वायरल वीडियो कटनी जनपद पंचायत के अंतर्गत हुए सरपंच पद के चुनाव का बताया जा रहा है।

कटनी: मुस्लिम प्रत्याशी की जीत पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वायरल वीडियो कटनी जनपद पंचायत के अंतर्गत हुए सरपंच पद के चुनाव का बताया जा रहा है।

वीडियो वायरल होने की पुष्टि पुलिस ने की है। वहीं शिकायत के बाद पुलिस वायरल वीडियो की सत्यता की जांच में जुट गई है। वायरल वीडियो में 'जीत गया.. भाई जीत गया.. वाजिद भाई जीत गया' सुनाई दे रहा है, लेकिन एक जगह पर पाकिस्तान जिंदाबाद जैसा नारा भी सुनाई दे रहा है। अब इस वीडियो की सत्यता की पड़ताल पुलिस कर रही है।

पंचायत चुनाव के दूसरे चरण का चुनाव 1 जुलाई को हुआ। दूसरे चरण में कटनी जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत चाका में भी सरपंच पद का चुनाव हुआ। चुनाव में सरपंच पद प्रत्याशियों की रात तक मतगणना चलती रही। आधी रात को सरपंच पद के प्रत्याशी राहिशा वाजिद खान की जीत हुई। जीत के बाद उमड़ी समर्थकों की भीड़ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे, देखते ही देखते वीडियो जिले में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।


पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, अमरावती हत्याकांड का मास्टरमाइंड इरफान गिरफ्तार

महाराष्ट्र के अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या के मास्टरमाइंड को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान नागपुर के एक एनजीओ के मालिक इरफान खान के रूप में हुई है। इसके साथ ही पुलिस ने बताया कि केमिस्ट हत्याकांड के मास्टरमाइंड इरफान ने ही हत्या की सारी योजना तैयार की थी।

अमरावती: महाराष्ट्र के अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या के मास्टरमाइंड को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान नागपुर के एक एनजीओ के मालिक इरफान खान के रूप में हुई है। इसके साथ ही पुलिस ने बताया कि केमिस्ट हत्याकांड के मास्टरमाइंड इरफान ने ही हत्या की सारी योजना तैयार की थी। अन्य आरोपियों को कत्ल के लिए मोटिवेट करने का काम भी इरफान खान ने ही किया था।

याद दिला दें कि 54 वर्षीय केमिस्ट की 21 जून को महाराष्ट्र के अमरावती शहर में चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस को संदेह था कि महाराष्ट्र में नृशंस हत्या तब हुई जब उसने फेसबुक पर नूपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट लिखा था। वह अमरावती में अमित मेडिकल स्टोर के नाम से केमिस्ट की दुकान चलाता था।

घटना रात 10 बजे से 10.30 बजे के बीच की है, जब कोल्हे अपनी दुकान बंद कर बाइक से घर जा रहे थे। उनका बेटा साकेत (27) और उनकी पत्नी वैष्णवी एक अलग वाहन में उनके साथ थे। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने शनिवार को कहा कि हत्या की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) करेगी। प्रवक्ता ने ट्वीट किया कि एनआईए उमेश कोल्हे की हत्या के पीछे की साजिश की जांच करेगी, जिसकी 21 जून को हत्या कर दी गई थी।

प्रवक्ता ने कहा कि एनआईए संगठनों और अंतरराष्ट्रीय संबंधों की किसी भी तरह की संलिप्तता की भी गहन जांच करेगी। मास्टरमाइंट की गिरफ्तारी के साथ ही इस मामले में अब तक 7 लोगों को गिरफ्तारी हो चुकी है।


कमलेश तिवारी की पत्नी को जान से मारने की धमकी, उर्दू में लिखा- 'पति के पास पहुंचा देंगें'

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बाद देश का माहौल पूरी तरह से गर्म हो गया। एक तरफ सभी हिंदूवादी संगठन इस घटना को लेकर रोष जाहिर करने लगे तो वहीं हिंदू संगठन के बड़े चेहरे के रूप में पहचान रखने वाले कमलेश तिवारी की हत्या के बाद अब उनकी पत्नी को जान से मारने की धमकी मिली है।

लखनऊ: राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बाद देश का माहौल पूरी तरह से गर्म हो गया। एक तरफ सभी हिंदूवादी संगठन इस घटना को लेकर रोष जाहिर करने लगे तो वहीं हिंदू संगठन के बड़े चेहरे के रूप में पहचान रखने वाले कमलेश तिवारी (Kamlesh tiwari) की हत्या के बाद अब उनकी पत्नी को जान से मारने की धमकी मिली है। पत्र के जरिए मिली धमकी के बाद कमलेश तिवारी की पत्नी की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आपको बता दें कि हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद उनकी पत्नी किरन को सुरक्षा दी गई थी लेकिन अब धमकी भरा पत्र मिलने के बाद उनकी सुरक्षा और बढ़ा दी गई है।


घर के कमरे में मिला उर्दू में लिखा धमकी भरा पत्र

 शुक्रवार को किरन को घर में ही एक पत्र के जरिए जान से मारने की धमकी मिली। लखनऊ के खुर्शेदबाग में उनके घर के कमरे में एक पत्र मिला, जिसमें उर्दू में लिखा था। उनके कमरे में मिले उर्दू में लिखे इस पत्र को ट्रांसलेट करवाया गया तो इसमें लिखा मिला जहां तुम्हारे पति को भेजा गया है, वहीं तुम्हे भी पहुंचा देंगे। इसके बाद किरन तिवारी और उनके बच्चे दहशत में हैं। सोशल मीडिया पर धमकी भरा पत्र वायरल होते ही पुलिस एक बार फिर मामले की गंभीरता को देखते हुए सक्रिय हो गई। जिसके चलते 24 घंटे मुस्तैदी के साथ उनकी सुरक्षा बढ़ाई गई है। पत्र के बारे में जानकारी मिली है कि वो उर्दू में लिखा था। पत्र पर कोई मुहर या कोई डाक टिकट नहीं है और न ही पत्र किसने भेजा यह लिखा है।
पुलिस के मुताबिक, किरन के कार्यालय के किसी वर्कर ने ये जानकारी किसी को बताई जो बाद में इंटरनेट पर वायरल हुई। इसी का संज्ञान पुलिस ने लिया और किरन से मामले को लेकर पूछताछ की गई। पत्र की बात सही होने पर किरन की सुरक्षा बढ़ाई गई है। पुलिस अफसरों ने बताया कि ये धमकी भरा पत्र किरन के कमरे तक कैसे पहुंचा, इसकी जांच की जा रही है।


उदयपुर हत्याकांड: आज राजस्थान के 5 जिलों में बंद का ऐलान, व्यापारी संगठनों ने भी किया समर्थन

हत्याकांड के विरोध में आज शनिवार को राजस्थान के 5 जिलों में बंद का ऐलान किया गया है। कोटा में हिंदू संगठनों की ओर से बंद बुलाया गया है। इसे स्थानीय व्यापारियों ने समर्थन दिया है। वहीं अलवर में व्यापारी संघ ने बंद की अपील की है। भरतपुर में सर्व समाज और हिंदू संगठनों ने बंद का आह्वान किया है। करौली शहर भी आज बंद रहेगा। बंद का आह्वान व्यापारिक व हिंदू संगठनों ने किया था।

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल के नृशंस हत्याकांड के मामले में हिंदू संगठनों में आक्रोश है। इस हत्याकांड के विरोध में आज शनिवार को राजस्थान के 5 जिलों में बंद का ऐलान किया गया है। कोटा में हिंदू संगठनों की ओर से बंद बुलाया गया है। इसे स्थानीय व्यापारियों ने समर्थन दिया है। 

वहीं अलवर में व्यापारी संघ ने बंद की अपील की है। भरतपुर में सर्व समाज और हिंदू संगठनों ने बंद का आह्वान किया है। करौली शहर भी आज बंद रहेगा। बंद का आह्वान व्यापारिक व हिंदू संगठनों ने किया था। श्रीगंगानगर में शनिवार को आधे दिन सुबह 9 से 1 बजे तक मार्केट बंद रहेगा।

गौरतलब है कि हत्याकांड के बाद उदयपुर सहित राजस्थान के कई शहरों में आक्रोश व्याप्त है। व्यापारी संगठन और आमजन दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे हैं। हत्याकांड के बाद उदयपुर में लोगों ने आक्रोशित होकर रैली निकाली। कलेक्टोरेट में ज्ञापन सौंपा गया। 

वहीं राजसमंद में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच तकरार भी हुई। इसमें एक कॉन्स्टेबल को चोट भी आई। कल जुमे की नमाज और उदयपुर रथयात्रा को लेकर इंटरनेट सेवा शाम तक बंद रखी गई थी।


जल्द ही महाराष्ट के सीएम एकनाथ शिंदे जाएंगे अयोध्या, करेंगे राम लला के दर्शन

शिंदे समर्थक बाला मुदलियार ने कहा कि 8 से 10 दिनों से जो चल रहा था तो मुझे लगा कि रामलला का दर्शन करना चाहिए जैसे ही शिंदे साहब का मुख्यमंत्री पद का ऐलान हुआ तो रात मैं अयोध्या आ गया। दिल में एक इच्छा थी कि शिंदे साहब मुख्यमंत्री बनेगे तो आऊंगा।

नई दिल्ली: एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) के महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री घोषित होने के बाद उनसे जुड़े लोग अयोध्या आकर भगवान का दर्शन कर रहे है. पटाखे फोड़ रहे है यही नहीं सड़कों पर होर्डिंग भी लगा रहे हैं, जिसमें हम हिन्दू है स्लोगन के साथ श्री राम की फ़ोटों लगी हैं। 

महाराष्ट्र से आने वाले एकनाथ शिंदे के यह वही समर्थक हैं जो अभी कुछ दिन पहले आदित्य ठाकरे के साथ अयोध्या आये थे। अब वही कह रहे हैं की उन्होंने तो मन्नत मांगी थी कि एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे तो वह अयोध्या दर्शन करने आएंगे।  अभी वह आए हैं, शीघ्र ही एकनाथ शिंदे भी साधू संतों का आशीर्वाद लेने और रामलला का दर्शन करने अयोध्या आएंगे।
 

शिंदे समर्थक बाला मुदलियार ने कहा कि 8 से 10 दिनों से जो चल रहा था तो मुझे लगा कि रामलला का दर्शन करना चाहिए जैसे ही शिंदे साहब का मुख्यमंत्री पद का ऐलान हुआ तो रात मैं अयोध्या आ गया। दिल में एक इच्छा थी कि शिंदे साहब मुख्यमंत्री बनेगे तो आऊंगा।

वहीं एक और समर्थक नितिन वाडेकर ने कहा कि सभी के मन में चल रहा था। पूरा हिंदू धर्म उनके साथ है बाला साहब का आशीर्वाद उनके साथ है।

इसीलिए उनको  जो मुख्यमंत्री बनाया गया है तो सभी उनके साथ हैं संतों का आशीर्वाद  उनके साथ है इसीलिए हम लोग आए हैं दर्शन पूजन और खुशियां मना रहे हैं।


NIA का खुलासा-कन्हैयालाल की हत्या सिर्फ दो लोगों की साजिश नहीं!

नई दिल्ली: राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की निर्मम हत्याकांड ने पुरे देश को हिला के रख दिया है। कन्हैयालाल की हत्याकांड की केस एनआईए जांच कर रही है। 


एनआईए की जांच में सामने आया है कि कन्हैया की हत्या के पीछे पकड़े गए सिर्फ दो आरोपी रियाज मोहम्मद और गौस मोहम्मद ही नहीं है। इस हत्याकांड को सेल्फ रेडिकलाइज्ड लोकल संगठन ने अंजाम दिया है, जिसमें 10 से 12 लोग शामिल हो सकते हैं। ये लोग स्लीपर सेल की तरह आम लोगों के बीच घुल मिल कर रह रहे थे। इनका तरीका आतंकी संगठन जैसा है। इन आरोपियों की आतंकी संगठन से कनेक्शन तलाशे जा रहे हैं।


सूत्रों के हवाले से जानकारी मिल रही है कि इन आरोपियों का यहां कनेक्शन और साथी हो सकते हैं।  एनआईए जांच कर रही है कि सेल्फ रेडिकलाइज्ड लोकल संगठन की लिंक देश भर में और कहां-कहां पर हैं।

एनआईए कन्हैयालाल के हत्या के मामले की लिंक गुजरात और महाराष्ट्र में इस तरह से हुई हत्याओं के कनेक्शन की भी जांच कर रही है।

21 जून को महाराष्ट्र के अमरावती में उमेश कोल्हे नाम के शख्स को नूपुर शर्मा की टिप्पणी का समर्थन करने पर सिर कलम कर दिया गया था। इस हत्याकांड में अब्दुल। शोएब, मुदस्सिर और शाहरुख को गिरफ्तार किया गया था। इससे पहले गुजरात के धंदुका में दुकानदार किशन भाड़वाड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में दो आरोपी शब्बीर और इम्तियाज को गिरफ्तार किया गया था।

ये सभी घटनाएं एक सी लग रही हैं और एनआईए इ सभी घटनाओं की पैटर्न की जांच कर रही है। हालांकि सभी मामलों में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों ने घटना को छुपाने की कोशिश नहीं की जिसकी वजह से वह वो आसानी से पकड़े गए।


'हर परिवार के एक व्यक्ति को मिलेगी नौकरी-रोजगार', CM योगी ने किया बड़ा ऐलान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा ऐलान किया। 1.90 लाख कारीगरों और छोटे उद्यमियों को 16 हजार करोड़ का लोन बांटते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम जल्दी ही हर परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी, रोजगार, स्वतः रोजगार को जोड़ने की कार्ययोजना लेकर आ रहे है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा ऐलान किया। 1.90 लाख कारीगरों और छोटे उद्यमियों को 16 हजार करोड़ का लोन बांटते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम जल्दी ही हर परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी, रोजगार, स्वतः रोजगार को जोड़ने की कार्ययोजना लेकर आ रहे है।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 के पहले एमएसएमई क्षेत्र पूरी तरह खत्म हो गया था, लेकिन 2017 में जब हम आये तो हमारे सामने चुनौती थी, देश की सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य में युवाओं के स्वावलंबन का विषय बहुत महत्वपूर्ण था, पहले की सरकारें केंद्र की योजनाओं में कोई रुचि नही लेती थीं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 में हमने आने के बाद एक जनपद एक उत्पाद की कार्ययोजना बनाकर काम शुरू किया, आज 1 लाख 56 हजार करोड़ के प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट हो रहे हैं, हस्तशिल्पी और कारीगरों ने अपने कौशल का परिचय दिया और बैंकर्स ने सहयोग किया, आज हमने बेरोजगारी दर को हमने 3 फीसदी कम कर दिया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले लोन देने के लिए किसको देना चाहिए नहीं पता होता था, कोरोनकाल में भी देश का पहला लोन मेला आयोजित किया था, सकरात्मक पहल का असर अब दिखाई दे रहा है, मैंने कारीगरों-हस्तशिल्पियों से बात की, इनका सहयोग स्थानीय प्रशासन, बैंकर्स, शासन सबने किया और आज उनके चेहरे पर नई चमक है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वो स्वयं स्वावलंबी बन रहे हैं और लोगो को भी प्रेरित कर रहे हैं, प्रधानमंत्रीजी ने कहा था कि हमारा नौजवान नौकरी देने वाला होना चाहिए, आज ये ओडीओपी कार्यक्रम इसी दिशा में आगे बढ़ रहा है, हमारा प्रयास होना चाहिए कि अगले एक साल में यूपी के हस्तशिल्पी उद्यमी के साथ राज्य सरकार मजबूती से खड़े होकर उन्हें मजबूती प्रदान करें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारा ये प्रयास शासन की 100 दिन की कार्ययोजना का हिस्सा था, अगले 6 महीने में सितंबर में हम फिर से इस योजना को और आगे बढ़ाएंगे, नौजवानों को अधिक से अधिक स्वावलंबी बनाने के कार्य में केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर काम करने की ओर अग्रसर होंगे, साथ डिजिटल पेमेंट की ओर हमे आगे बढ़ना होगा।


Bihar News: पटना सिविल कोर्ट में धमाका, 1 दारोगा सहित 3 पुलिसकर्मी घायल

पटना के सि​विल कोर्ट में एक जोरदार धमाका हुआ। इस धमाके में पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। घायल पुलिसवालों में एक दारोगा भी शामिल है।

पटना: बिहार की राजधानी पटना के सि​विल कोर्ट में एक जोरदार धमाका हुआ। इस धमाके में पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। घायल पुलिसवालों में एक दारोगा भी शामिल है।

ऐसा कहा जा रहा है कि अगमकुआं थाने की पुलिस से विस्फोटक बरामद हुआ था। इस विस्‍फोटक को सिविल कोर्ट लाया गया था। इसे एक कमरे में रखा गया था। कुछ ही समय बाद अदालत के एक कमरे में रखा गया विस्‍फोटक ब्‍लास्‍ट हो गया। इस धमाके की चपेट  में चार पुलिसवाले भी आ गए। 

गंभीर रूप से घायल दरोगा को इलाज के लिए PMCH भेजा गया है।अन्‍य दो घायल पुलिसकर्मियों का इलाज अस्पताल में जारी है। अभी तक इस बात की जानकारी नहीं है ​कि पटना सिविल कोर्ट के एक कमरे में रखा विस्‍फोटक अचानक कैसे ब्‍लास्‍ट हो गया? धमाके की आवाज सुनकर अदालत परिसर में भगदड़ मच गई। अदालत परिसर में मौजूद लोग वहां एकत्र हो गए। धमाके  में घायल पुलिसकर्मियों को पीएमसीएच में इलाज के लिए लाया गया है।


Maharashra News: पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान, कहा-'अमित शाह मेरी बात मान जाते, तो MVA का जन्म ही न होता'

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra Farmer Chief Minister Uddhav Thackeray) ने कहा कि ये जो कल हुआ, मैं पहले ही अमित शाह (Amit Shah) से कह रहा था कि 2.5 साल शिवसेना का मुख्यमंत्री हो और वही हुआ।

मुंबई: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra Farmer Chief Minister Uddhav Thackeray) ने कहा कि  ये जो कल हुआ, मैं पहले ही अमित शाह (Amit Shah) से कह रहा था कि 2.5 साल शिवसेना का मुख्यमंत्री हो और वही हुआ।

उन्होंने आगे कहा कि पहले ही अगर ऐसा करते तो महा विकास आघाडी (Maha Vikas Aghari) का जन्म ही नहीं होता। शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे ने आगे कहा कि मेरा गुस्सा मुंबई के लोगों पर मत निकालो। मेट्रो शेड के प्रस्ताव में बदलाव न करें। मुंबई के पर्यावरण के साथ खिलवाड़ न करें।

पूर्व CM उद्धव ठाकरे यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह से सरकार बनी है और एक तथाकथित शिवसेना कार्यकर्ता को मुख्यमंत्री बनाया गया है, मैंने अमित शाह से यही कहा था। ये सम्मानपूर्वक किया जा सकता था। शिवसेना आधिकारिक तौर पर(उस समय) आपके साथ थी। यह मुख्यमंत्री(एकनाथ शिंदे) शिवसेना के नहीं हैं।

बता दें कि महाराष्ट्र में लंबे राजनीतिक गतिरोध के बाद उद्धव ठाकरे को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद शिवसेना के ही एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। एकनाथ शिंदे ने करीब 40 शिवसेना विधायकों के साथ उद्धव ठाकरे के खिलाफ विद्रोह कर दिया था, जिसके बाद उद्धव ठाकरे की सरकार कमजोर पड़ गई।

उद्धव ठाकरे एनसीपी और कांग्रेस की मदद से महाराष्ट्र में महाविकास आघाडी सरकार चला रहे थे, लेकिन अब राज्य में शिवसेना और बीजेपी ने सरकार बनाई है, जिसमें एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बने हैं, तो महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है।


CAG की रिपोर्ट ने खोली नीतीश सरकार की पोल, बड़े घोटाले की आशंका

बिहार विधानसभा का मानसून सत्र इस बार खूब हंगामेदार और रोचक रहा। इस सत्र में एक दल ने अपने विधायकों की संख्या में इजाफा किया तो वहीं एक दल की विधायक टूट गए। राष्ट्रीय जनता दल ने चार विधायक जुड़े और चरों विधायक ओवैसी की पार्टी AIMIM से टूटे। RJD के अब 80 विधायक हो गए हैं और वहीं AIMIM का केवल एक ही विधायक ही रह गया है।


पटना: बिहार विधानसभा का मानसून सत्र इस बार खूब हंगामेदार और रोचक रहा। इस सत्र में एक दल ने अपने विधायकों की संख्या में इजाफा किया तो वहीं एक दल की विधायक टूट गए। राष्ट्रीय जनता दल ने चार विधायक जुड़े और चरों विधायक ओवैसी की पार्टी AIMIM से टूटे। RJD के अब 80 विधायक हो गए हैं और वहीं AIMIM का केवल एक ही विधायक ही रह गया है। मानसून सत्र के अंतिम दिन गुरुवार को सदन में CAG का रिपोर्ट पेश की गई। डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने सदन में यह रिपोर्ट पेश की। इस रिपोर्ट में नीतीश कुमार की सरकार को लेकर एक बड़ा खुलासा किया गया है।  

सदन में पेश CAG की रिपोर्ट के अनुसार, मार्च 2021 तक नीतीश सरकार ने 92 हजार 687 करोड़ रुपये का उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा ही नहीं किया है। यही नहीं, 2004-05 के बाद पहली बार 11,325 करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व का घाटा हुआ है। आसान शब्दों में कहें तो RJD की राबड़ी देवी सरकार के बाद नीतीश कुमार की सरकार में पहली बार बिहार को इतना बड़ा राजकोषीय घाटा का सामना करना पड़ा रहा है।


उदयपुर हत्याकांड : मास्टर माइंड बाबला सहित दो और पुलिस की गिरफ्त में

हत्याकांड के मामले में सूत्रों के हवाले से खबर है कि एसआईटी ने रियाज़ और गौस के अहम साथी बाबला को पकड़ लिया है। बाबला, रियाज़ और गौस का साथी था और जो नेटवर्क रियाज़ और गौस ने बनाया, उसका अहम किरदार था।

उदयपुर: हत्याकांड के मामले में सूत्रों के हवाले से खबर है कि एसआईटी ने रियाज़ और गौस के अहम साथी बाबला को पकड़ लिया है। बाबला, रियाज़ और गौस का साथी था और जो नेटवर्क रियाज़ और गौस ने बनाया, उसका अहम किरदार था। वह खांजीपीर में गौस मस्जिद के पास रहता था।
बाबला कई दिनों से फ़रार चल रहा था। दरअसल नूपुर शर्मा की पोस्ट वायरल करने पर सबसे पहले एक अन्य शख्स को मारने का प्लान बनाया गया था और इसकी ज़िम्मेदारी बाबला को दी गई थी। पुलिस इसे तलाश रही थी और अब यह पकड़ा गया।

पुलिस ने दो और आरोपियों को किया गिरफ्तार
उदयपुर हत्याकांड में एक बड़ा अपडेट आया है। इसके तहत दो और आरोपियों को देर रात गिरफ्तार किया गया है। हत्या में षड़यंत्र रचने के मामले में इन्हें गिरफ्तार किया गया है। इनके नाम मोहसिन और आसिफ हैं। वहीं 3 अन्य लोगों से पूछताछ चल रही है। इंजरी रिपोर्ट मिलने के बाद SIT ने धाराओं में भी बढ़ोतरी की है। हथियार मिलने के बाद मामले में जोड़ा गया आर्म्स एक्ट। षड्यंत्रकर्ताओं के नाम सामने आने के बाद धारा 120B भी जोड़ी गई। साथ ही धारा 307, 326 को भी एफआईआर में जोड़ा गया है।


फ्लोर टेस्ट सिर्फ एक औपचारिकता, आसानी से जीत लेंगे : CM शिंदे

शिंदे ने कहा कि चूंकि भाजपा और बागी मिलाकर 175 विधायक हैं, इसलिए फ्लोर टेस्ट सिर्फ एक औपचारिकता होगी और वे इसे आसानी से जीत लेंगे। उन्होंने कहा, 'हमारे पास 175 नंबर हैं, तस्वीर साफ है।'

मुम्बई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने इसे बालासाहेब ठाकरे की हिंदुत्व विचारधारा और आनंद ढिगे की शिक्षाओं की जीत बताते हुए कहा है कि अगर वे 'मातोश्री' जाते हैं तो लोगों को पता चल जाएगा। शिंदे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद गुरुवार देर रात वापस गोवा आए और पणजी के ताज होटल में बागी विधायकों के साथ शामिल हुए।

शिवसेना के बागी विधायक, जिन्होंने उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया, वे गोवा में डेरा डालना जारी रखेंगे और फ्लोर टेस्ट से पहले वापस जा सकते हैं।

शिंदे ने कहा कि चूंकि भाजपा और बागी मिलाकर 175 विधायक हैं, इसलिए फ्लोर टेस्ट सिर्फ एक औपचारिकता होगी और वे इसे आसानी से जीत लेंगे। उन्होंने कहा, 'हमारे पास 175 नंबर हैं, तस्वीर साफ है।'

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, समय आने पर लोगों को पता चल जाएगा कि मैं 'मातोश्री' के दर्शन करने जा रहा हूं या नहीं।

उन्होंने कहा, "यह जीत बालासाहेब ठाकरे की हिंदुत्व विचारधारा, आनंद ढिगे की शिक्षाओं और 50 विधायकों की एकता की है। इन विधायकों ने महाराष्ट्र में इतिहास रच दिया है। मैं उन्हें बधाई देता हूं।"

शिंदे ने कहा, हालांकि भाजपा के पास 115 से 120 विधायक थे, उन्होंने मेरा समर्थन किया, मैं बड़े दिल से बालासाहेब का सैनिक हूं। इसलिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और देवेंद्र फडणवीस को भी धन्यवाद देता हूं।

उन्होंने कहा, "उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के लिए शिव सैनिक का समर्थन किया है। उन्होंने राज्य के विकास का रास्ता दिखाया है।'

शिंदे ने कहा कि वह 50 विधायकों के निर्वाचन क्षेत्रों से संबंधित सभी मुद्दों को हल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं जो उनके साथ हैं।

उन्होंने कहा, "मैं उनके मुद्दों का समाधान करूंगा। मेरे पास सभी रिकॉर्ड हैं। उनके निर्वाचन क्षेत्रों में विकास कार्यो को करने के लिए धन की कोई कमी नहीं होगी। मतदाताओं की इच्छाओं को पूरा करना मेरी जिम्मेदारी है।"

शिंदे ने कहा, "हम बालासाहेब के हिंदुत्व को आगे बढ़ा रहे हैं, यहां तक कि आनंद ने भी हमें अन्याय के खिलाफ लड़ना और इसके खिलाफ आवाज उठाना सिखाया है। हम शिवसैनिकों के रूप में काम करेंगे और अपने राज्य को समग्र विकास की ओर ले जाएंगे। सभी परियोजनाएं समय पर पूरी होंगी।"


IPS विवेक फनसालकर बने मुंबई के नए पुलिस कमिश्नर

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विवेक फनसालकर ने मुंबई के नए पुलिस आयुक्त नियुक्त किए गए हैं। वे वर्तमान पुलिस आयुक्त संजय पांडे से गुरुवार को पदभार ग्रहण कर लिया है। गौरतलब है कि मुंबई के निवर्तमान पुलिस आयुक्त संजय पांडे आज पुलिस सेवा से सेवानिवृत्त हो गए हैं।




मुंबई: वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विवेक फनसालकर ने मुंबई के नए पुलिस आयुक्त नियुक्त किए गए हैं। वे वर्तमान पुलिस आयुक्त संजय पांडे से गुरुवार को पदभार ग्रहण कर लिया है। गौरतलब है कि मुंबई के निवर्तमान पुलिस आयुक्त संजय पांडे आज पुलिस सेवा से सेवानिवृत्त हो गए हैं। वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विवेक फनसालकर 1989 बैच के आईपीएस अधिकारी है।  इससे पहवले महाराष्ट्र के गृह विभाग ने बुधवार को उनकी की शीर्ष पद पर नियुक्ति की घोषणा की थी।

फनसालकर ने शाम करीब 5 बजे दक्षिण मुंबई के क्रॉफर्ड मार्केट स्थित पुलिस आयुक्त कार्यालय में अपना कार्यभार संभाला। इससे पहले वह पुलिस आवास और कल्याण निगम के डीजी और एमडी के रूप में कार्यरत थे। इससे पहल वे ठाणे पुलिस आयुक्त और राज्य एटीएस प्रमुख के रूप में विभिन्न प्रमुख पदों पर महाराष्ट्र पुलिस की सेवा में रह चुके हैं। 

मुंबई के नए पुलिस आयुक्त विवेक फनसालकर को 2008 में ठाणे में सांप्रदायिक दंगों को खत्म करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए भी जाना जाता है। उन्होंने अपने करियर के शुरुआती वर्षों में 1993 से 1995 तक पूर्व गवर्नर डॉ। पीसी अलेक्जेंडर के एडीसी के रूप में काम किया था।


दर्जी हत्याकांड: CM गहलोत ने की कन्हैया के परिवार से मुलाकात, कहा-'मौत की सजा दिलाने की रहेगी कोशिश'

उदयपुर में कन्हैया लाल की हत्या के बाद लोगों ने रोष का माहौल है। हत्याकांड की जांच के लिए NIA और SIT की टीम गठित की गई है। वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कन्हैया लाल के परिवार के घर पहुंचे हैं।

उदयपुर: उदयपुर में कन्हैया लाल की हत्या के बाद लोगों ने रोष का माहौल है। हत्याकांड की जांच के लिए NIA और SIT की टीम गठित की गई है। वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कन्हैया लाल के परिवार के घर पहुंचे हैं। उन्होंने यहां मृतक के परिवार से मुलाकात की।  उन्होंने कहा कि NIA ने केस अपने हाथ में ले लिया है। आरोपियों को फांसी की सजा दिलवाने का प्रयास करेंगे।

उन्होंने कहा कि जिसने हत्या की है और वीडियो बनाया है, इसका मतलब वह खुद ही गवाह है। हम फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलवाने की कोशिश करेंगे। हम फांसी की सजा दिलवाने की कोशिश करवाएंगे। एक महीने के भीतर सजा दिलवाने की कोशिश होगी। NIA निष्पक्ष जांच करेगी और एजेंसी को पूरा सहयोग दिया जाएगा।

राजस्थान के सीएम गहलोत दोपहर करीब डेढ़ बजे एयरपोर्ट पहुंचे, वहां से सेक्टर-14 स्थित कन्हैया लाल के घर के लिए रवाना हुए। इस दौरान मंत्री राजेन्द्र यादव और प्रदेश कांग्रेस कमेटी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा भी साथ रहे। प्रभारी मंत्री रामलाल जाट, विधायक प्रीति शक्तावत, CWC सदस्य रघुवीर मीणा और AICC सदस्य विवेक कटारा ने एयपोर्ट पर की गहलोत की अगवानी की।

इससे पहले उदयपुर हत्याकांड को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि ये दो पक्षों के बीच का धार्मिक मामला नहीं है, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रची गई साजिश है। हमने समय रहते आरोपियों को पकड़ लिया है। वरना न जाने कितने अपराधों को अंजाम देते। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं सभी से अपील करना चाहता हूं कि जब आरोपियों को पकड़ लिया गया है। NIA मामले की जांच कर रही है तो बंद और धरना-प्रदर्शन जैसे आयोजन नहीं होने चाहिए।


दर्जी कन्हैयालाल हत्याकांड: हत्यारों ने इस फैक्ट्री में बनाये थे धारदार हथियार

उदयपुर वाले मसले से हर कोई सहमा हुआ है। हर कोई कन्हैयालाल के लिए जस्टिस की मांग कर रहा है। इसी पेचीदा कड़ी में अब एक बड़ा खुलासा हुआ है। नुपूर शर्मा के सपोर्ट में ट्वीट पर हुए हत्याकांड के आरोपियों रियाज़ अत्तारी और मोहम्मद गौस ने एसके इंजीनियरिंग वर्क्स में धारदार हथियार बनाए थे। इन्हीं हथियारों का इस्तेमाल इस जघन्य हत्याकांड में किया गया।



उदयपुर: उदयपुर वाले मसले से हर कोई सहमा हुआ है। हर कोई कन्हैयालाल के लिए जस्टिस की मांग कर रहा है। इसी पेचीदा कड़ी में अब एक बड़ा खुलासा हुआ है। नुपूर शर्मा के सपोर्ट में ट्वीट पर हुए हत्याकांड के आरोपियों रियाज़ अत्तारी और मोहम्मद गौस ने एसके इंजीनियरिंग वर्क्स में धारदार हथियार बनाए थे।  इन्हीं हथियारों का इस्तेमाल इस जघन्य हत्याकांड में किया गया।  आरोपियों ने हत्या को अंजाम देने से पहले और बाद में इसी फैक्ट्री में वीडियो भी शूट किया था। हत्या में इस्तेमाल हथियार इसी फैक्ट्री से बरामद किया गया था।  

मीडिया रपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तानी एंगल सामने आने के बाद मामले की जांच की जा रही है। जांच एजेंसियों को हत्यारों के ISIS के वीडियो से प्रेरित होने का शक है। माना जा रहा है कि दोनों आरोपी पाकिस्तान के लोगों के संपर्क में थे।  जांच एजेंसियों का दावा है कि दोनों में से एक आरोपी गौस मोहम्मद साल 2014-15 में 45 दिन कराची में ट्रेनिंग लेकर आया है। इस बीच एक और खुलासा हुआ है।  भाजपा नेत्री नुपूर शर्मा मामले में हत्या की धमकी और हत्या का वीडियो आरोपी गौस मोहम्मद ने डाला था। हत्या के बाद उदयपुर से अजमेर भाग रहे दोनों आरोपी अजमेर में एक और वीडियो बनाकर डालना चाह रहे थे।  वीडियो बनाने का आइडिया पाकिस्तानी हैंडलर ने दिया था ताकि ज़्यादा दहशत और लोगों में डर बना रहे।

जानकरों के मुताबिक मृतक कन्हैया लाल के बेटे तरुण का कहना है कि, 'पुलिसवाला का कहना था कि सुरक्षा कारणों से इसे बंद कर दें हमने 6 दिन तक दुकान बंद रखी। मेरे पिता को धमकी भरे कॉल आ रहे थे। अगर पुलिस एक दिन के लिए खड़ी होती तो हालात कुछ और होते।' दूसरे बेटे अरुण ने कहा कि मेरे पिता इकलौत परिवार को सँभालने वाले थे।


उदयपुर हत्याकांड के खिलाफ प्रदर्शन पर सीएम योगी ने लगाई रोक

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में उदयपुर की घटना के खिलाफ जुलूस या किसी भी तरह का विरोध प्रदर्शन करने पर रोक लगा दी है। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डीएस चौहान ने कहा कि राज्यभर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और भड़काऊ टिप्पणी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
अतिरिक्त डीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि इस मुद्दे पर किसी भी धार्मिक या राजनीतिक समारोह के लिए अनुमति की जरूरत होगी।

प्रशांत कुमार ने कहा कि पुलिस मुख्यालय के साथ-साथ जिला स्तर पर भी सोशल मीडिया पोस्ट पर नजर रखे हुए है।

प्रशांत कुमार ने कहा, "हम खुफिया जानकारी और धमकियों को साझा करने के लिए केंद्र और राज्य की एजेंसियों के संपर्क में हैं। प्रमुख विवरणों का आदान-प्रदान किया जा रहा है।"

एडीजी ने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने सामाजिक सौहार्द बनाए रखने के लिए धर्मगुरुओं से भी बातचीत की है।

जिला पुलिस प्रमुखों ने नागरिकों से अपील की है कि वे न तो सोशल मीडिया पर कोई टिप्पणी पोस्ट करें और न ही उदयपुर हत्याकांड से संबंधित कोई वीडियो साझा करें।

गौरतलब है कि कांवड़ यात्रा जुलाई के मध्य में शुरू होने वाली है और एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आयोजन से पहले स्थिति की समीक्षा की जाएगी।


बिहार में एआईएमआईएम के 4 विधायक राजद में शामिल, भाजपा से छीना सबसे बड़ी पार्टी का तमगा

बिहार में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के पांच विधायकों में से चार विधायकों के राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में शामिल होने के बाद विधानसभा का समीकरण फिर से बदल गया। एक दिन पहले तक विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में भाजपा का मिला तमगा छीन गया और राजद अब फिर से सबसे बड़ी पार्टी बन गई।

पटना: बिहार में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के पांच विधायकों में से चार विधायकों के राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में शामिल होने के बाद विधानसभा का समीकरण फिर से बदल गया। एक दिन पहले तक विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में भाजपा का मिला तमगा छीन गया और राजद अब फिर से सबसे बड़ी पार्टी बन गई।

वैसे, विधानसभा चुनाव 2020 के बाद से ऐसा नहीं कि विधानसभा के समीकरण में यह कोई पहली बार बदलाव हुआ हो। इस चुनाव के बाद से ही सभी दल अपनी संख्या बल को मजबूत करने में जुटे रहे, जिसमें उन्हें सफलता भी मिली।

चुनाव के बाद यानी सरकार बनने के दो महीने बाद ही बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के एकमात्र विधायक जमा खान जदयू का दामन थाम लिया तो इसके कुछ ही दिनों के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के विधायक राजकुमार सिंह को भी जदयू भाने लगा और वे जदयू के सदस्य बन गए।

इसके बाद इस साल विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के तीन विधायकों ने पाला बदलकर भाजपा का दामन थाम लिया, जिससे विधानसभा के अंदर का परि²श्य बदल गया। इस दल बदल में फिलहाल विधानसभा में वीआईपी, लोजपा और बसपा के एक भी विधायक नहीं बचे।

चुनाव के बाद राजद राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। लेकिन वीआईपी में टूट के बाद भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप सामने आई। इस बीच, एआईएमआईएम के पांच में से चार विधायक राजद का दामन थाम लिया जिससे राजद राज्य में फिर से सबसे बड़ी पार्टी बन गई।

गौरतलब है कि चुनाव में राजद को 75 सीटें मिली थीं, लेकिन अब इसके विधायकों की संख्या 80 हो गई है। राजद ने वीआईपी के विधायक मुसाफिर पासवान के निधन के बाद खाली हुई सीट बोचहा में हुए उपचुनाव में भी जीत दर्ज की थी।

बिहार विधानसभा में फिलहाल राजद के पास जहां 80 सीटे हैं, वहीं भाजपा के पास 77 और जदयू के पास 45 विधायक हैं। वैसे, इन बदलावों से सरकार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।


सियासी संकट के बीच ठाकरे सरकार ने बदले दो जिलों के नाम, 'संभाजीनगर' कहलाएगा औरंगाबाद, उस्मानाबाद का नाम का नाम 'धाराशिव

CM उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में कैबिनेट ने यह भी फैसला किया है कि राज्य के लिए हल्दी अनुसंधान और प्रसंस्करण नीति लागू की जाएगी तथा हिंगोली जिले में बालासाहेब ठाकरे हरिद्रा (हल्दी) अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की जाएगी।

'मुंबई: भले ही महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी (MVA) सरकार बेहद नाज़ुक दौर से गुज़र रही है, लेकिन उसके बावजूद बुधवार को महाराष्ट्र कैबिनेट की मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य के औरंगाबाद शहर का नाम 'संभाजीनगर' तथा उस्मानाबाद शहर का नाम 'धाराशिव' रखने को मंज़ूरी दे दी गई है। 

इसके अतिरिक्त, कैबिनेट ने नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम बदलकर स्वर्गीय डी।बी। पाटिल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे रखने को भी स्वीकृति दे दी है। 

औरंगाबाद का नाम मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब के नाम पर उस वक्त रखा गया था, जब वह इस क्षेत्र का गवर्नर हुआ करता था, और इस शहर का नाम बदले जाने की मांग शिवसेना काफी लम्बे अरसे से करती आ रही थी। 

औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर किया गया है, जो छत्रपति शिवाजी महाराज के सबसे बड़े पुत्र थे। गौरतलब है कि शिवसेना का नाम भी छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर ही रखा गया है।

CM उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में कैबिनेट ने यह भी फैसला किया है कि राज्य के लिए हल्दी अनुसंधान और प्रसंस्करण नीति लागू की जाएगी तथा हिंगोली जिले में बालासाहेब ठाकरे हरिद्रा (हल्दी) अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की जाएगी।

इके अतिरिक्त, कर्जत (जिला अहमदनगर) में सिविल जज (सीनियर लेवल) कोर्ट की स्थापना की जाएगी। अहमदनगर-बीड-परली वैजनाथ नई रेलवे लाइन परियोजना के पुनर्निर्माण को मंज़ूरी दी जाएगी और राज्य सरकार इसके लिए योगदान देगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष पिछड़ा वर्ग एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए क्रांतिज्योति सावित्रीबाई फुले घरकुल योजना लागू की जाएगी।


उदयपुर दर्जी हत्याकांड: आरोपी गौस मोहम्मद निकला आतंकी, पाकिस्तान के कराची में ली थी ट्रेनिंग, DGP ने किया खुलासा

गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव ने कहा इस मामले की जांच अब NIA को हैंडओवर कर दी गई है। राजस्थान पुलिस NIA का पूरा सहयोग करेगी। पुलिस की शुरुआती जांच में कई खुलासे हुए हैं। डीजीपी एमएल लाठर ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि एक आरोपी गौस मोहम्मद का दावत ए इस्लामी नाम के संगठन के सम्पर्क में था।

नई दिल्ली: उदयपुर हत्याकांड मामले (Udaipur Murder Case) का आतंकी कनेक्शन सामने आया है। गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव की दी हुई जानकारी के मुताबिक हत्या के आरोपी गौस मोहम्मद ने साल 2014-15 में पाकिस्तान में ट्रेनिंग ली थी। 


लेकिन यह साफ है कि वो स्लीपर सेल के तौर पर कर काम रहा था। इसका खुलासा ऐसे हुआ जब गौस मोहम्मद की 8 मोबाइल नंबरों से पाकिस्तान में लगातार संपर्क में रहने की जानकारी सामने आई। मोहम्मद अरब देशों और नेपाल में भी रह कर आया था। 

गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव ने कहा इस मामले की जांच अब NIA को हैंडओवर कर दी गई है। राजस्थान पुलिस NIA का पूरा सहयोग करेगी।
पुलिस की शुरुआती जांच में कई खुलासे हुए हैं। डीजीपी एमएल  लाठर ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि एक आरोपी गौस मोहम्मद का दावत ए इस्लामी नाम के संगठन के सम्पर्क में था। 

इस संगठन के तहत ही आरोपी गौस मोहम्मद साल 2014 में पाकिस्तान के कराची में गया था। पुलिस ने बताया कि दावत ए इस्लामी संगठन का काम कुरान को लेकर ज्ञानवर्धन का है। 

उन्होंने बताया कि इस संगठन का दिल्ली और मुम्बई में मुख्यालय है। डीजीपी ने बताया कि आरोपियों को विदेशी कनेक्शन के बारे में जांच तेज कर दी है।

उन्होंने बताया कि आरोपियों के डिजिटल एविडेंस को लेकर राजस्थान पुलिस और एनआईए जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि इस मामले को एक्ट ऑफ टेरर मानते हुए यूएपीए के तहत मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। 

न्होंने बताया कि मृतक कन्हैयालाल ने 15 जून को थाने में परिवाद दिया था कि चार पांच लोग उसका पीछा कर रहे हैं। इस मामले में  दोनों पक्षों में समझौता हो गया था। 

उन्होंने बताया कि समझौता करने वाले और मृतक पर हमला करने वालों के बीच अब तक कोई कनेक्शन नहीं मिला है। लेकिन पुलिस अभी जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को एएसआई को सस्पेंड किया गया था। बुधवार को एसएचओ को भी संस्पेंड कर दिया गया है।


UP News: अब महंगा स्टांप शुल्क देने का झंझट हुआ खत्म, अब मात्र 5 हजार रुपए में कराएं रजिस्ट्री

आपको बता दें कि अब तक परिवार के अंदर गिफ्ट डीड में भी डीएम सर्किल रेट के हिसाब से शुल्क देना पड़ता था। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति अपनी 25 लाख रुपये की संपत्ति अपने परिवार के किसी सदस्य के नाम करता था तो उसे कम से कम 2 लाख 10 हजार खर्च करने पड़ते थे। हालांकि अब यह काम मात्र 6 हजार में ही पूरा हो जाएगा।

लखनऊ: अगर आप किसी अपने के नाम संपत्ति की रजिस्ट्री (property registry) करना चाह रहे हैं, साथ ही महंगा स्टांप (expensive stamp) होने से लगातार डिले हो रहा है तो ये खबर आपके बहुत काम की है।

क्योंकि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi government of Uttar Pradesh) ने अब किसी भी घर के सदस्य के नाम संपत्ति की रजिस्ट्री करने का मोटा स्टांप शुल्क खत्म कर दिया है।

नई स्कीम के तहत आप सिर्फ 5000 रुपए स्टांप शुल्क (5000 rupees stamp duty) और 1000 रुपए प्रोसेसिंग फीस देकर संपत्ति की रजिस्ट्री करा सकते हैं। आपको बता दें कि अभी तक इसके लिए संपत्ति के सर्किल रेट के हिसाब से स्टांप लगता था। 

उदाहरण के तौर पर यदि संपत्ति की कीमत 25 लाख रुपए है तो लगभग 2 लाख 10 रुपए का स्टांप लगता था। जिसे घटाकर अब महज 6000 रुपए कर दिया है।

आपको बता दें कि अब तक परिवार के अंदर गिफ्ट डीड में भी डीएम सर्किल रेट के हिसाब से शुल्क देना पड़ता था। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति अपनी 25 लाख रुपये की संपत्ति अपने परिवार के किसी सदस्य के नाम करता था तो उसे कम से कम 2 लाख 10 हजार खर्च करने पड़ते थे। हालांकि अब यह काम मात्र 6 हजार में ही पूरा हो जाएगा। 

योगी सरकार की ओर से मंजूर की गई इस नई रजिस्ट्री नीति के मुताबिक, स्टांप और रजिस्ट्रेशन विभाग द्वारा अधिसूचना जारी होने की तिथि से इस छूट का लाभ दिया जाएगा।

इस योजना के तहत छूट पाने वालों में परिवार के सदस्य, जैसे पिता-माता, पति-पत्नी, बेटा, बेटी, बहू, दामाद, सगा भाई, सगी बहन और उनके बच्चे भी आएंगे।

विभागीय जानकारी के मुताबिक, यह योजना अभी ट्रायल बेसिस पर शुरू की गई है, जिसका लाभ छह महीने के लिए मिलेगा। इस योजना से राजस्व और रजिस्ट्री पर पड़ने वाले प्रभाव का अध्ययन करने के बाद इसकी समयसीमा आगे बढ़ाने पर विचार किया जा सकता है। 

योगी सरकार ने इसी प्रावधान के आधार पर यह सुविधा देने का फैसला किया है। वैसे महाराष्ट्र, कर्नाटक और मध्य प्रदेश जैसे कई राज्यों में यह सुविधा पहले से मौजूद है।


आस्था या अंध विश्वास? तंत्र मंत्र के चक्कर में 5 दिन तक नहीं किया बेटी का अंतिम संस्कार, जीवित होने का कर रहा था परिवार इंतजार

शव कई दिन पुराना था और उससे दुर्गंध आ रही थी। इतना ही नहीं घर के अंदर तमाम सदस्य बीमार अवस्था में थे। इनमें मृतका की तीन बहनें, तीन भाई और उनके 5 बच्चे शामिल थे, जिसमें 5 साल की एक बच्ची कृति की हालत बेहद गंभीर थी।

प्रयागराज: परिवार के किसी सदस्य की मौत के बाद आम तौर पर लोग क्या करते हैं? शरीर का अंतिम संस्कार और मृत व्यक्ति की आत्मा की शांति के लिए हवन व शांतिपाठ, लेकिन प्रयागराज के एक परिवार ने 18 साल की मृत बेटी अंतिमा का शव का अंतिम संस्कार करने की बजाय उसे घर में छिपाए रखा। 

इस उम्मीद में कि उनकी लड़की उठ बैठेगी और पुनः जीवित हो जाएगी, जिसके लिए उन्हें तंत्र मंत्र का सहारा था। इतना ही नहीं घर में मौजूद इस परिवार के सभी 12 लोग बीते 5 दिनों से खाना भी नहीं खा रहे थे, केवल गंगाजल पीकर रह रहे थे।

लेकिन, परिवार की उम्मीद तब टूटी जब घर से दुर्गंध आने पर पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा खुलवाया तो अंदर का दृश्य देखकर पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। घर के अंदर एक कमरे में अंतिमा का शव पड़ा था, जिसके इर्द-गिर्द तंत्र मंत्र की सामग्री बिखरी थी। 
शव कई दिन पुराना था और उससे दुर्गंध आ रही थी। इतना ही नहीं घर के अंदर तमाम सदस्य बीमार अवस्था में थे। इनमें मृतका की तीन बहनें, तीन भाई और उनके 5 बच्चे शामिल थे, जिसमें 5 साल की एक बच्ची कृति की हालत बेहद गंभीर थी। 

बीमार पाए गए सभी 11 सदस्यों को पुलिस ने अस्पताल भेजवाया, जबकि घर के मालिक और मृतका का पिता अभयराज जो स्वस्थ्य था उसे पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया।

जानकारी के मुताबिक, अभयराज घर में आए दिन तंत्र मंत्र करता था। उसके घर तमाम अनजान और विचित्र वेशभूषा के लोग आते जाते थे। जानकारी के मुताबिक बेटी अंतिमा के बीमार पड़ने पर अभयराज ने उसका इलाज करवाने की बजाय तंत्र मंत्र का सहारा लिया, लेकिन तब तक बेटी दम तोड़ चुकी थी। 

बावजूद इसके वो पूजा पाठ में जुटा रहा। इस दौरान घर के दूसरे लोग भी बीमार हो गए, लेकिन अभयराज अपने परिवार के साथ तंत्रमंत्र में जुटा रहा। उन्हें यकीन था कि एक दिन न सिर्फ बेटी अंतिमा जी उठेगी बल्कि परिवार के दूसरे सदस्य भी स्वस्थ हो जाएंगे। 

चौंकाने की बात ये है कि अभयराज ने तांत्रिक क्रिया के दौरान परिवार के सदस्यों के खाने पीने पर भी पूरी तरह रोक लगा रखी थी। घर के लोग केवल गंगाजल पी रहे थे। इस घटना में सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि अभयराज का पूरा परिवार पढ़ा लिखा था उसकी सभी 5 बेटियां और 3 बेटे ग्रेजुएट हैं। बावजूद इसके वो अंधविश्वास के मकड़जाल में फंसे हुए थे।

पूरा मामला करछना तहसील के डीहा गांव का है। पुलिस ने अंतिमा के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, जबकि अभयराज को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है। वहीं, इस घटना के बाद से इलाके में तरह-तरह की चर्चाएं हो रहीं है, अफवाहों का बाजार गर्म है।


उदयपुर कांड: CM गहलोत ने बुलाई अधिकारियों की बैठक, कानून-व्यवस्था पर चर्चा, विपक्ष का चौतरफा हमला

उदयपुर की घटना पर आम आदमी पार्टी के नेता आतिशी मार्लेना ने कहा कि उदयपुर में जो घटना हुई है वो बहुत ही दर्दनाक और विभत्स है और अगर हमारे देश में ऐसी घटनाएं हो रही हैं तो ये देश के लिए शर्म की बात है।


नई दिल्ली: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कल, 28 जून को कन्हैया लाल की हत्या के बाद राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति के बारे में अधिकारियों के साथ बैठक बुलाई है।

वहीं, गृह मंत्रालय कार्यालय ने कहा कि राजस्थान के उदयपुर में हुई कन्हैया लाल तेली की नृशंस हत्या की जांच को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को अपने हाथ में लेने का निर्देश दिया है। किसी भी संगठन की संलिप्तता और अंतरराष्ट्रीय संपर्क की गहन जांच की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि राजस्थान की घटना बहुत दुखःद है। हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। उत्तर प्रदेश में पूरी तरह से हम लोग सतर्कता बरत रहे हैं। कांग्रेस की सरकार में जो घटना घटी है यह पहले से पुलिस को पता थी। 

उसने FIR दर्ज़ कराई थी। वहां की सरकार ने कोई गंभीर कार्रवाई नहीं की। जिन अधिकारियों ने इसे नज़रअंदाज किया है उनके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। 

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इंसानियत के ख़िलाफ़ तालिबानी क्रूरता और शैतानी जुर्म न कोई इमान वाला कर सकता है न इस्लाम वाला, यह तालिबानी वाला कर सकता है। इस तरह की तालिबानी साजिशों को परास्त करना सबकी ज़िम्मेदारी है। यह केवल इंसानियत के नहीं बल्कि इस्लाम के भी दुश्मन है।

उदयपुर की घटना पर आम आदमी पार्टी के नेता आतिशी मार्लेना ने कहा कि उदयपुर में जो घटना हुई है वो बहुत ही दर्दनाक और विभत्स है और अगर हमारे देश में ऐसी घटनाएं हो रही हैं तो ये देश के लिए शर्म की बात है। 

हम ये उम्मीद करते हैं कि जो हमारा लॉ एंड ऑर्डर है वो इस घटना के लिए जो दो लोग दोषी हैं।।।जिन्होंने खुद वीडियो बना कर ये कहा है कि उन्होंने कन्हैया लाल के सिर को काटा है, उनको तुरंत सख्त से सख्त सजा देनी चाहिए, जिससे कि दोबारा कभी भी किसी की भी ऐसी घटना को अंजाम देने की हिम्मत ना हो।


यूपी सरकार के 100 दिन: सीएम योगी पेश करेंगे सरकार का रिपोर्ट कार्ड

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार 5 जुलाई को सत्ता के 100 दिन पूरे करेगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री जनता को अपने लक्ष्यों और मंत्रियों द्वारा किए गए कामों के बारे में बताएंगे।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार 5 जुलाई को सत्ता के 100 दिन पूरे करेगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री जनता को अपने लक्ष्यों और मंत्रियों द्वारा किए गए कामों के बारे में बताएंगे। 

योगी आदित्यनाथ ने 25 मार्च को शपथ लेने के तुरंत बाद बेहतर प्रशासन और सेवा वितरण सुनिश्चित करने के लिए हर एक विभागों की प्राथमिकताएं, उद्देश्य और लक्ष्य निर्धारित किए थे।

योगी ने लक्ष्य के अनुसार, विभिन्न विभागों के मंत्रियों और अधिकारियों के लिए समय सीमा भी निर्धारित की थी।

मुख्यमंत्री ने मंत्रियों और विधायकों को अपने-अपने क्षेत्रों के लोगों से बातचीत कर उपलब्धियों को बताने और यूपी को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के सरकार के लक्ष्य को पूरा करने का निर्देश दिया है।

पिछले 100 दिनों से निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करने पर जोर देने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नेताओं और अधिकारियों को अगले 6 महीने के लिए नया लक्ष्य पूरा करने की जिम्मेदारी सौंपेगे।

उपलब्धियों की लिस्ट में तीसरे ग्राउंड-ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन शामिल होने की संभावना है, क्योंकि इसमें 1,400 से अधिक कंपनियों ने 85,000 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश का वादा किया था।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, जो पूरा होने वाला है, गंगा एक्सप्रेसवे के लिए पर्यावरण मंजूरी, आईआईटी कानपुर के साथ समझौता ज्ञापन आदि भी उपलब्धियों की लिस्ट में शामिल हो सकते हैं।


उदयपुर कांड : पूरे राजस्थान में इंटरनेट सेवाएं बंद, धारा 144 लागू

उदयपुर में मंगलवार को एक दर्जी की क्रूर हत्या के बाद राजस्थान सरकार ने अगले 24 घंटों के लिए राज्य भर में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने का आदेश दिया है। साथ ही राज्य में एक महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है।

उदयपुर: उदयपुर में मंगलवार को एक दर्जी की क्रूर हत्या के बाद राजस्थान सरकार ने अगले 24 घंटों के लिए राज्य भर में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने का आदेश दिया है। साथ ही राज्य में एक महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है।

मुख्य सचिव उषा शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में सुरक्षा चिंताओं को ध्यान में रखते हुए इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने के अलावा राज्य भर में धारा 144 लागू करने का निर्णय लिया गया।

पुलिस महानिदेशक एम.एल. लाथेर ने कहा कि इससे पहले मंगलवार की शाम राजस्थान पुलिस ने उदयपुर में दिनदहाड़े एक दर्जी का सिर काटने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया था।

गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान उदयपुर के सूरजपोल इलाके के निवासी गोस मोहम्मद, बेटे रफीक मोहम्मद और अब्दुल जब्बार के बेटे रियाज के रूप में हुई है।

मृतक की पहचान राजसमंद जिले के भीमा कस्बे के रहने वाले कन्हैयालाल तेली (40) के रूप में हुई है, जो उदयपुर में सिलाई की दुकान चलाता था।


Rajasthan News: नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने पर युवक की सरेआम हत्या

मृतक के परिजनों का कहना है कि युवक ने करीब 10 दिन पहले नूपुर शर्मा के सपोर्ट में पोस्ट किया था। इसके बाद से उसे धमकी मिल रही थी।

उदयपुरः पैगम्बर मोहम्मद साहब के खिलाफ नूपुर शर्मा के बयान का समर्थन करने वाले एक युवक अपनी जान देकर इसकी कीमत चुकानी पड़ी है. दरअसल, नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने वाले युवक को पिछले 10 दिनों से जान से मारने के धमकियां मिल रही थी।

युवक ने पुलिस में भी इसकी शिकायत दर्ज कराई, लेकिन आरोप है कि पुलिस ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की, इस बीच मंगलवार की दोपहर जब युवक अपनी दुकान में था, 

तभी दो युवक कपड़े के नाप के बहाने उसकी दुकान में घुसे और तलवार से ताबड़तोड़ हमला कर उसकी हत्या कर दी. बताया जाता है कि आरोपी ने कम से कम 10 वार किए, जिससे युवक की मौके पर ही मौत हो गई।


मृतक के परिजनों का कहना है कि युवक ने करीब 10 दिन पहले नूपुर शर्मा के सपोर्ट में पोस्ट किया था। इसके बाद से उसे धमकी मिल रही थी। 

उसने यह जानकारी पुलिस को भी दी थी. मगर पुलिस ने कोई गंभीरता नहीं दिखाई. आज दो बाइक सवार दो बदमाश कपड़े का नाप देने के बहाने दुकान में आए। 

फिर अचानक तलवार से सिर और गले पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। इससे युवक की मौके पर ही मौत हो गई। हमले का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें एक युवक ने उसके गले पर धारदार हथियार से वार करता दिख रहा है।

घटना दोपहर करीब 2.30 बजे की है। धान मंडी इलाके में भूत महल के पास सुप्रीम टेलर्स नाम की अपनी दुकान में था। इसी दौरान बाइक सवार 2 बदमाश आए।

इन लोगों ने अचानक युवक पर ताबड़तोड़ वार कर दिया। एक के बाद एक आधा दर्जन वार करने से उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इसके बाद दोनों बदमाश मौके से फरार हो गए।  

मर्डर के बाद मौके पर काफी खून फैल गया। इस बीच परिजनों ने मृतक कन्हैयालाल के पोस्ट के बाद मिल रही धमकियों की शिकायत के बावजूद पुलिस के कार्रवाई न करने पर हत्या होने पर हंगामा किया।

सीएम गहलोत ने की शांति की अपील

इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. अपने बयान में उन्होंने कहा है कि मैं उदयपुर में जघन्य हत्या की निंदा करता हूं।

अपराध में शामिल सभी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और पुलिस मामले की तह तक जाएगी। मैं सभी पक्षों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।  उन लोगों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी, जो इस तरह के जघन्य अपराध में शामिल हैं।
 
 
राहुल गांधी बोले धर्म के नाम पर बर्बरता बर्दाश्त नहीं की जा सकती

 राहुल गांधी ने ट्वीट कर लोगों से शांति की अपील की है. राहुल गांधी ने लिखा है कि उदयपुर में हुई जघन्य हत्या से मैं बेहद स्तब्ध हूं। धर्म के नाम पर बर्बरता बर्दाश्त नहीं की जा सकती। 

इस हैवानियत से आतंक फैलाने वालों को तुरंत सख्त सजा मिले। हम सभी को साथ मिलकर नफरत को हराना है। मेरी सभी से अपील है, कृपया शांति और भाईचारा बनाए रखें.


खुलासा! महाराष्ट्र में तांत्रिक ने चाय पिलाकर एक ही परिवार के 9 लोगों की कर डाली थी हत्या

महाराष्ट्र में एक ही परिवार के 9 लोगों की सामूहिक आत्महत्या के मामले में नया मोड़ आ चुका है। एक साथ एक ही परिवार के 9 लोगों की मौत को शुरू में कर्ज की वजह से सामूहिक आत्महत्या माना गया, लेकिन जांच में पता चला कि एक तांत्रिक ने पूरे परिवार को चाय में जहर मिला दिया था।



सांगली: महाराष्ट्र में एक ही परिवार के 9 लोगों की सामूहिक आत्महत्या के मामले में नया मोड़ आ चुका है। एक साथ एक ही परिवार के 9 लोगों की मौत को शुरू में कर्ज की वजह से सामूहिक आत्महत्या माना गया, लेकिन जांच में पता चला कि एक तांत्रिक ने पूरे परिवार को चाय में जहर मिला दिया था। जिसकी वजह से सबकी मौत हुई। इतने बड़े पैमाने पर हत्याओं को सामूहिक आत्महत्या का रूप दिया जा सके, इसके लिए बाकायदा सुसाइड नोट लिखा गया और कई लोगों के नाम लिख कर कर्ज होने की बात कही गई। हालांकि अब सांगली पुलिस ने तांत्रिक समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा कर दिया है। 

बता दें बीते महीने 20 जून को सांगली के म्हैसल गांव के दो घरों में 9 लोगों के शव पाए गए थे। ये सभी लोग एक ही परिवार से थे, लेकिन डेढ़ किमी की दूरी पर अलग-अलग घरों में रहते थे। इसमें एक भाई शिक्षक था और दूसरा पशु चिकित्सक, जानकारी के मुताबिक, पोपट वनमोर, डॉ माणिक वनमोर समेत उनकी 74 साल की मां, पत्नियों समेत चार बच्चे अलग अलग घरों में मृत पाए गए थे। पुलिस को दोनों ही घरों से सुसाइड नोट मिले थे। लेकिन अब मामले का खुलासा होने के बाद सभी हतप्रभ हैं।

कोल्हापुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मनोज कुमार लोहिया ने बताया कि तांत्रिक अब्बास ने वनमोर भाइयों के लिए गुप्त धन खोजने का वादा किया था और इसके एवज में उसने मोटी रकम (करीब 1 करोड़ रुपए) भी लिए थे। जब गुप्त धन नहीं मिला तो वनमोरे बंधु तांत्रिक से अपनी रकम वापस मांगने लगे। लेकिन अब्बास रुपए वापस नहीं करना चाहता था। दबाव बढ़ा तो उसने वनमोरे बंधुओं के पूरे परिवार को ही रास्ते से हटाने की योजना बनाई। और फिर एक एक करके उन्हें चाय में जहर मिला कर पिला दिया। सांगली जिले के एसपी दीक्षित गेदाम ने कहा कि मुख्य आरोपी अब्बास बागवान और सुरवासे को सोलापुर से गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत केस दर्ज किया गया है।


मूसेवाला हत्याकांड: गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को 6 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर भेजा गया

अमृतसर कोर्ट ने लॉरेंस बिश्नोई ( Gangster Lawrence Bishnoi ) को 8 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। अमृतसर एसीपी पलविंदर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को 6 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर भेजा गया है।




अमृतसर: अमृतसर कोर्ट ने लॉरेंस बिश्नोई ( Gangster Lawrence Bishnoi ) को 8 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। अमृतसर एसीपी पलविंदर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को 6 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर भेजा गया है।

इससे पहले पंजाब पुलिस गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को अमृतसर कोर्ट लेकर पहुंची। आपको बता दें कि आपको बता दें कि मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की सनसनीखेज हत्या की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने कहा कि मुख्य साजिशकर्ता जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने कबूल किया कि विक्की मिद्दुखेड़ा की हत्या का बदला लेने के लिए पिछले साल अगस्त में मारने की योजना बनाई गई थी।


मुम्बई के कुर्ला में 4 मंजिला इमारत गिरी, 25 लोगों के दबने की सूचना

BMC के अनुसार, मलबे के नीचे से बचाए गए 7 लोगों की हालत स्थिर है, 20 से 25 लोगों की मलबे में दबे होने की संभावना है।

मुम्बई: महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से बड़ी खबर सामने आई है। यहां कुर्ला के नाइक नगर में 4 मंजिला इमारत गिरने की खबर है। मौके पर दमकल की टीम और पुलिस मौजूद है। बचाव अभियान जारी है। 


BMC के अनुसार, मलबे के नीचे से बचाए गए 7 लोगों की हालत स्थिर है, 20 से 25 लोगों की मलबे में दबे होने की संभावना है। घटना की जानकारी मिलते हुए पुलिस और प्रशासन की टीम मौके के लिए रवाना हो गई है, जिसके बाद दमकल और बचाव दल को राहत कार्य में लगाया गया। प्रशासन ने अहतियात के तौर पर आसपास के मकानों को भी खाली करा लिया है।


वहीं, शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का जायजा लिया। आदित्य ठाकरे ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अभी तक 5-7 लोगों को निकाला गया है उन्हें अस्पताल ले जाया गया है। चारों इमारत को खाली करने का नोटिस दिया गया था लेकिन कई लोग अभी भी वहां रहते हैं। हमारी प्राथमिकता है कि इमारत को खाली कराया जाए और बिल्डिंग को तोड़ा जाए।

प्रशासन की ओर से अब ऐसे मकानों को चिन्हित कर खाली कराने की कार्रवाई की जा रही है।  NDRF डिप्टी कमांडर आशीष सिंह ने बताया कि अभी भी राहत बचाव कार्य जारी है। एक और व्यक्ति को बचाया गया है। 25-30 लोगों के दबे होने की आशंका है लेकिन इसके सटीक आकंड़े अभी स्पष्ट नहीं है। इमारत की मंजिल एक के ऊपर एक आकार में गिरने के कारण भीतर जाने में समय लग रहा है।

मुख्य अग्निशमन अधिकारी संजय मांजरेकर ने बताया कि करीब 12 बजे ये इमारत गिरी है। सूचना मिलने के बाद हमारे कुछ अधिकारी घटनास्थल पर आएं और उन्होंने 3 लोगों को बचाया। बचाएं हुए व्यक्तियों में से 1 व्यक्ति ने बताया की इमारत में 25-30 लोग फंसे हो सकते हैं।अभी तक हमने 12 व्यक्तियों को बाहर निकाला है और हमें अंदर 5 लोग और फंसे हुए दिख रहे हैं। उनका बचाव अभियान जारी है। हमें लग रहा है कि इस रेस्क्यू ऑपरेशन में कम से कम 1 दिन लगेगा।


पंजाब की मान सरकार ने बजट में किया ऐलान, 1 जुलाई से मुफ्त मिलेगी बिजली, नौकरियो को लेकर भी किया ये अहम एलान

पंजाब विधानसभा में बजट सत्र चल रहा है। बजट सत्र में बजट पेश के करने के दौरान पंजाब के वित्तमंत्री हरपाल सिंह चीमा ने ऐलान किया है कि आम आदमी पार्टी की ये सरकार अपने फ्री बिजली के वादे को पूरा करेगी। आगामी 1 जुलाई से किसानों समेत उन सभी लोगों को मुफ्त बिजली मिलने लगेगी, जिसका कि पार्टी ने चुनाव से पहले वादा किया था।



नई दिल्ली: पंजाब विधानसभा में बजट सत्र चल रहा है। बजट सत्र में बजट पेश के करने के दौरान पंजाब के वित्तमंत्री हरपाल सिंह चीमा ने ऐलान किया है कि आम आदमी पार्टी की ये सरकार अपने फ्री बिजली के वादे को पूरा करेगी। आगामी 1 जुलाई से किसानों समेत उन सभी लोगों को मुफ्त बिजली मिलने लगेगी, जिसका कि पार्टी ने चुनाव से पहले वादा किया था। पंजाब के वित्तमंत्री हरपाल सिंह चीमा आज भगवंत मान सरकार की तरफ से पहला बजट पेश कर रहे हैं, जिसमें सरकार की कोशिश है कि वो सभी वर्गों को खुश रहे। बता दें कि 26 जून को संगरूर लोकसभा सीट के नतीजे आए हैं, जिसमें सरकार बनाने के महज 3 महीने में ही आम आदमी पार्टी को शिकस्त झेलनी पड़ी। ये सीट खुद भगवंत मान ने खाली की थी। इसी के साथ लोकसभा से आम आदमी पार्टी पूरी तरह गायब हो चुकी है।

पंजाब विधानसभा के भीतर पंजाब के वित्त मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने की कि 1 जुलाई से मुफ्त बिजली का वादा पूरा किया जाएगा। इसके अलावा भी हरपाल सिंह चीमा ने कई अहम घोषणाएं की हैं। भगवंत मान की अगुवाई वाली सरकार के वित्त मंत्री ने कहा कि हमने तेजी से चुनावी वादों को पूरा किया है। इस सरकार ने सरकार ने 26454 कर्मचारियों की नई भर्ती को मंजूरी दे दी है। अगले कुछ महीनों में यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इसके अलावा सरकार ने 36,000 संविदा कर्मचारियों को नियमित करने का भी अहम फैसला लिया है।


सपा विधायक के भाई पर 3 तलाक देने का मामला दर्ज, दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप

समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी के भाई फरहान सोलंकी पर उनकी पत्नी को दहेज के लिए प्रताड़ित करने और तीन तलाक देने का मामला दर्ज किया गया है।


 कानुपर: समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी के भाई फरहान सोलंकी पर उनकी पत्नी को दहेज के लिए प्रताड़ित करने और तीन तलाक देने का मामला दर्ज किया गया है। फरहान की पत्नी अंबरीन फातिमा की शिकायत पर चकेरी थाने में मामला दर्ज किया गया है। शिकायतकर्ता के अनुसार, उसकी शादी 2009 में फरहान से हुई थी और 2019 में उसने तीन तलाक बोलकर उसे घर से निकाल दिया था।

उन्होंने दावा किया कि उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की, लेकिन जाहिर तौर पर इलाके में सपा विधायक के प्रभाव के कारण कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "मैंने मुख्यमंत्री सचिवालय और पुलिस आयुक्त के अधिकारियों से मुलाकात की और उसके बाद ही मेरा मामला दर्ज किया गया।"

अंबरीन ने कहा कि उसके दो बच्चे हैं और घरेलू हिंसा का शिकार हुई है। उन्होंने कहा कि उसके पति के किसी अन्य महिला से संबंध हैं और उसके देवर और भाभी ने भी उसके साथ मारपीट की और दहेज के रूप में पांच लाख रुपये की मांग की। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और रिपोर्ट के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।


पटना यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में छापेमारी, बम बनाने के सामान सहित कई युवक गिरफ्तार

राजधानी पटना के पटेल हॉस्टल (Patel Hostel Raid) में छापेमारी मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस को हॉस्टल से छापेमारी में बम बनाने का सामान मिला। इस मामले में पुलिस ने कई युवकों को हिरासत में लिया है।



पटना: राजधानी पटना के पटेल हॉस्टल (Patel Hostel Raid) में छापेमारी मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस को हॉस्टल से छापेमारी में बम बनाने का सामान मिला।  इस मामले में पुलिस ने कई युवकों को हिरासत में लिया है। हालांकि कुछ से केवल पूछताछ के करके उन्हें छोड़ दिया गया है। सामान बरामद होने के बाद कदमकुआं थानाध्यक्ष विमलेंदु कुमार के बयान पर अज्ञात छात्रों पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। इसी मामले में पुलिस अन्य कई छात्रों और छात्र नेताजी को हिरासत में लिया था।


इस मामले में कदमकुआं थानाध्यक्ष विमलेंदु कुमार ने मिडिया को बताया कि कुछ युवकों को हिरासत में लिया गया था। शनिवार की रात ही छापेमारी हुई थी। इस छापेमारी के बाद कुछ युवक हिरासत में लिए गए थे। पूछताछ की गई थी उनसे उसके बाद छोड़ दिया गया था। इसमें फिलहाल आगे की जांच की जाएगी।

आपको बता दें कि गुप्त सूचना के आधार पर पटना के कदमकुआं थाने की पुलिस शनिवार की रात पटेल हास्टल में छापेमारी करने गई थी। पुलिस ने हॉस्टल के एक कमरे से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया है। इस दौरान जब पुलिस पहुंची तो बम बनाने में जुटे बदमाश विस्फोटक पदार्थ को छोड़ कर फरार हो गए। इसके बाद पुलिस इसकी जांच में लगी कि वह कमरा किसके नाम से आवंटित है।


महाराष्ट्र में मचे सियासी बवाल के बीच शिव सेना के पूर्व विधायक अर्जुन खोटकर पर कसा शिकंजा, ईडी ने जब्त की 78 करोड़ की संपत्ति

ईडी ने पीएमएलए के तहत जालना के स्वरगांव हदप में जालना सहकारी शक्कर कारखाने का प्लांट मशीनरी और इमारत के साथ 200 एकड़ से ज्यादा जमीन अटैच की है।

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक (MSCB) घोटाला मामले में जारी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच में शिव सेना के पूर्व विधायक अर्जुन खोटकर की महाराष्ट्र के जालना की चीनी मिल की 78.38 करोड़ रुपये की संपत्ति अटैच कर ली है।  


ईडी ने पीएमएलए के तहत जालना के स्वरगांव हदप में  जालना सहकारी शक्कर कारखाने का प्लांट मशीनरी और इमारत के साथ 200 एकड़ से ज्यादा जमीन अटैच की है।

अर्जुन खोटकर ने 8 मई 2012 को कारखाना खरीदने के लिए अर्जुन शुगर इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी बनाई थी इस वक्त ये पूरी प्रापर्टी इसी कंपनी के नाम पर है। दरअसल मुंबई पुलिस ईओडब्ल्यू ने इस मामले में अगस्त 2019 में रिपोर्ट दर्ज की थी कि इस मामले को बाद में ईडी ने टेकओवर कर मनी लॉडरिंग की जांच शुरू कर दी थी।


इस मामले में दर्ज FIR के मुताबिक आरोप है कि सहकारी एसएसके को अधिकारियों और निदेशकों द्वारा निर्धारित उचित प्रक्रिया का पालन किए बिना धोखाधड़ी से बेच दिया गया था। पीएमएलए के तहत जांच में पता चला कि अर्जुन खोटकर उस अवधि के दौरान महाराष्ट्र स्टेट को-ऑप बैंक लिमिटेड के निदेशक मंडल में थे साथ ही जालना एसएसके को उसकी असल कीमत से बहुत कम 42.31 करोड़ रुपये में बेचा गया था। वहीं ईडी द्वारा किए गए संपत्ति के मूल्यांकन से पता चला कि जालना एसएसके की वैल्यू लगभग 78 करोड़ रुपये थी।


Bihar News: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ बिहार विधानसभा परिसर में विपक्षी विधायकों का हंगामा

विधानसभा के मुख्य द्वार से पूरे परिसर में विधायकों ने जमकर प्रदर्शन किया। इनकी मांग है कि इस योजना को वापस लिया जाए, नहीं तो ये सदन से सड़क तक हंगामा जारी रखेंगे।

पटना: बिहार में विधानसभा का नया सत्र शुरू हो गया है, लेकिन ये बेहद हंगामेदार रहा। सत्र की शुरुआत से ही विपक्षी दलों ने सरकार पर हमला बोल दिया। आरजेडी और वामदलों ने सरकार से अग्निपथ योजना वापस लेने की मांग करते हुए जमकर हंगामा काटा।

जानकारी के मुताबिक, बिहार विधानसभा परिसर में विपक्षी दलों के सदस्यों ने जोरदार हंगामा किया है। विधानसभा भवन में राष्ट्रीय जनता दल और वाम दल के विधायकों ने अग्निपथ योजना के खिलाफ हंगामा किया है।

विधानसभा के मुख्य द्वार से पूरे परिसर में विधायकों ने जमकर प्रदर्शन किया। इनकी मांग है कि इस योजना को वापस लिया जाए, नहीं तो ये सदन से सड़क तक हंगामा जारी रखेंगे। 

बता दें कि गुरुवार को महागठबंधन ने इस मुद्दे पर राजभवन मार्च भी किया था। आरजेडी का आरोप है कि केंद्र सरकार अग्निपथ योजना के माध्यम से देश के युवाओं को निशाना बना रही है।

बता दें कि गुरुवार को राष्ट्रीय जनता दल ने 'अग्निपथ' योजना को वापस लेने की मांग को लेकर पटना विधानसभा से लेकर राजभवन तक का विरोध मार्च निकाला। मार्च में राजद नेता तेजस्वी यादव (RJD Leader Tejashwi Yadav), तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) मौजूद रहीं। 

इसके अलावा राज्यसभा सांसद मनोज झा जैसे नेता भी मौजूद रहे। आरजेडी नेताओं ने अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग की।


Madhya Pradesh News: इंदौर में दर्दनाक सड़क हादसा, खाई में बस गिरने से 5 की मौत, 20 घायल

मध्य प्रदेश के इंदौर ज़िले के इंदौर-खंडवा मार्ग पर एक बस खाई में गिरी। पुलिस मौके पर मौजूद है और घायलों को अस्पताल भेजा गया है। पुलिस के अनुसार हादसे में 5 यात्रियों की मौत हुई है, जबकि 20 से अधिक लोग घायल हैं।

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर ज़िले के इंदौर-खंडवा मार्ग पर एक बस खाई में गिरी। पुलिस मौके पर मौजूद है और घायलों को अस्पताल भेजा गया है। पुलिस के अनुसार हादसे में 5 यात्रियों की मौत हुई है, जबकि 20 से अधिक लोग घायल हैं।

इंदौर के डीएम मनीष सिंह ने बताया कि खंडवा इलाके के एक घाट में 40 से अधिक सवारियां लेकर जा रही बस पुलिया से 20 -25 फुट नीचे खाई में गिर गई। मामले 20 से ज्यादा लोग घायल हैं जिनका इलाज चल रहा है। घायलों को लगातार अस्पताल लाया जा रहा है और सभी का निशुल्क इलाज हो रहा है।

डीएम ने आगे बताया कि 5 लोगों की डेड बॉडी अस्पताल लाई गई थी, एक की मृत्यु इलाज के दौरान हुई है। अभी कुल मौतों का आंकड़ा बता पाना मुश्किल है। मुख्यमंत्री ने मृतकों को 4 लाख और घायलों को 50 हज़ार रुपए देने का ऐलान किया है।

डीएम ने इस बात की भी जानकारी दी कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्थिति का जायजा लिया है और मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हज़ार रुपए देने की घोषणा की है। बस मालिक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज़ करने के निर्देश दिए गए हैं।


कानपुर हिंसा: पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान कनेक्शन आया सामने, मिले अहम सुराग

कानपुर में 3 जून को नई सड़क और दादा मियां हाते में हुई हिंसा मामले में अब तक का सबसे बड़ा पर्दाफाश हुआ है। एसआईटी की जांच में चौंकाने वाला तथ्य सामने आया है कि जिस वक्त उपद्रवी भीड़ बवाल कर रही थी उस समय कुख्यात अपराधी अकील खिचड़ी अपने मोबाइल फोन से पाकिस्तान अकाउंट के संपर्क में था।

कानपुर: कानपुर में 3 जून को नई सड़क और दादा मियां हाते में हुई हिंसा मामले में अब तक का सबसे बड़ा पर्दाफाश हुआ है। एसआईटी की जांच में चौंकाने वाला तथ्य सामने आया है कि जिस वक्त उपद्रवी भीड़ बवाल कर रही थी उस समय कुख्यात अपराधी अकील खिचड़ी अपने मोबाइल फोन से पाकिस्तान अकाउंट के संपर्क में था। इस जानकारी के बाद पुलिस पाकिस्तानी कनेक्शन की जांच में जुट गई है कि दंगे के दौरान खिचड़ी पकाने में अकील की कितनी भूमिका थी।

दरअसल नूपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर जौहर अली एसोसिएशन के अध्यक्ष शाह जफर हाशमी ने कानपुर में 3 जून को बाजार बंदी और 5 जून को जेल भरो आंदोलन की घोषणा की थी। बाद में बंदी का आवाह्न वापस लिया गया, लेकिन 3 जून को जुमे की नमाज के बाद नई सड़क पर भीड़ ने दूसरे संप्रदाय की दुकानों को बंद कराने की कोशिश की तो विवाद शुरू हो गया। इसके बाद नमाजियों की भीड़ ने बवाल किया गोलीबारी और बम बाजी शुरू कर दी। 

मामले में हयात जफर समेत 58 आरोपितों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है। अब तक की जांच में 2 बिंदु सामने आए हैं पहला उपद्रव की साजिश नूपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर भारत की विश्व पटल पर बदनामी कराने की गई। दूसरा स्थानीय हिंदू की बस्ती चंदेश्वर हाता खाली कराना था। हालांकि अब पुलिस की जांच में दिशा बदल गई। अगर सूत्रों की माने तो अब पाकिस्तान नंबर से जो चैट सामने आया है जिसमें अकील खिचड़ी की व्हाट्सएप का स्क्रीनशॉट उपलब्ध हुआ है उसमें वही पाकिस्तानी नंबर है चैट सामने आई है। इसकी जांच में एसआईटी जुट गई है।



मूसेवाला हत्याकांड: मिद्दुखेड़ा की हत्या करने का बदला लेने के लिए की गई थी सिद्धू मूसेवाला की हत्या

मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की सनसनीखेज हत्या की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने गुरुवार को कहा कि मुख्य साजिशकर्ता जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने कबूल किया कि विक्की मिद्दुखेड़ा की हत्या का बदला लेने के लिए पिछले साल अगस्त में मारने की योजना बनाई गई थी।


चंडीगढ़: मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की सनसनीखेज हत्या की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने गुरुवार को कहा कि मुख्य साजिशकर्ता जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने कबूल किया कि विक्की मिद्दुखेड़ा की हत्या का बदला लेने के लिए पिछले साल अगस्त में मारने की योजना बनाई गई थी। 


एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स के प्रमुख प्रमोद बान ने यहां मीडिया को बताया कि इस मामले में अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, पहली गिरफ्तारी 30 मई को हुई थी।

कनाडा स्थित गोल्डी बरार, (जो बिश्नोई गिरोह का सदस्य है) ने हत्या की जिम्मेदारी ली थी।

बान ने कहा कि शूटर 25 मई को अपराध स्थल मूसा गांव के पास मानसा पहुंचे थे। पंजाब पहुंचने पर उन्हें कुछ हथियार मुहैया कराए गए।

उन्होंने बताया कि हत्या में एके सीरीज की राइफलों का इस्तेमाल किया गया।

बान ने कहा, "आज हमने बलदेव उर्फ निक्कू को गिरफ्तार किया है, जो अपराध की रेकी करने में केकड़ा (संदीप सिंह) के साथ था। अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।"

निक्कू ने केकड़ा के साथ इलाके का मुआयना किया, मूसेवाला का पीछा किया और शूटरों को संकेत दिया, इसके अलावा गोल्डी बरार और सचिन बिश्नोई को फोन करके मारे गए गायक की गतिविधियों के बारे में रीयल-टाइम अपडेट देने के लिए कहा।

उन्होंने कहा कि बिश्नोई, (जिसे राज्य पुलिस पिछले सप्ताह दिल्ली से पूछताछ के लिए पंजाब लेकर आई थी) ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि हत्या की योजना पिछले साल शुरू हुई थी।

"उसने बरार, सचिन बिश्नोई (थापन) और उसके छोटे भाई अनमोल के साथ साजिश रचने की बात कबूल की है। हत्या से पहले कम से कम तीन रेकी की गई थी। जनवरी में, शूटरों के एक अन्य समूह ने मूसेवाला के घर का दौरा किया था।"

उन्होंने कहा कि हत्या के पीछे का मकसद, (जैसा कि बिश्नोई ने स्वीकार किया है) मिद्दुखेड़ा की हत्या का बदला लेना था। हमारी जांच के अनुसार, मिद्दुखेड़ा की हत्या में मूसेवाला का हाथ सामने नहीं आया था। लॉरेंस गिरोह द्वारा उसकी हत्या में मूसेवाला की भूमिका के बारे में एक धारणा थी।

पंजाब बान के अतिरिक्त महानिदेशक ने कहा कि पुलिस को विभिन्न गतिविधियों में गिरोह की मदद करने वाले सहयोगियों, हथियार आपूर्तिकर्ताओं, फाइनेंसरों और अन्य लोगों का विवरण मिला है। "विभिन्न जिला पुलिस ने इस गिरोह से जुड़े 19 लोगों को गिरफ्तार किया है।"

उन्होंने कहा कि बिश्नोई ने अपने भाई अनमोल और अपने करीबी सहयोगी सचिन थापन को बचाने के लिए एक सुनियोजित साजिश में और खुद को एक आदर्श बहाना बनाया, ताकि वह और उसके सहयोगी अपराध से ना जुड़े।

एडीजीपी ने कहा, "इस योजना को अंजाम देने के लिए उसने अपने भाई अनमोल बिश्नोई और सचिन थापन के फर्जी विवरणों पर पासपोर्ट हासिल किया और इस हत्या को अंजाम देने से पहले उन्हें देश से भगा दिया।"

उसने उन्हें विदेश में बसाया जहां से वे इस अपराध को देखे बिना या दोषी ठहराए बिना समन्वय, सुविधा और सफलतापूर्वक निष्पादित कर सकते थे।

अनमोल बिश्नोई का आपराधिक इतिहास रहा है और उसके खिलाफ 18 आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह जोधपुर जेल में था, जहां से उसे 7 अक्टूबर 2021 को जमानत पर रिहा कर दिया गया था। उसने फर्जी विवरण के तहत अपना पासपोर्ट हासिल किया था।

इसी तरह, लॉरेंस बिश्नोई के करीबी सहयोगी और 12 आपराधिक मामलों के साथ आपराधिक अतीत वाले सचिन थापन ने भी फर्जी विवरण के तहत आरपीओ दिल्ली द्वारा जारी पासपोर्ट प्राप्त करने में कामयाबी हासिल की।

पूछताछ के दौरान बिश्नोई द्वारा किए गए खुलासे के आधार पर 20 जून को बिश्नोई और उसके सहयोगियों के खिलाफ एक अलग मामला दर्ज किया गया था।

एडीजीपी बान ने कहा, "इस गठजोड़ में अधिकारियों की भूमिका का पता लगाने के लिए एक गहरी जांच की जाएगी, जिसमें आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति आरपीओ दिल्ली से फर्जी विवरणों पर पासपोर्ट प्राप्त करने और देश से भागने का प्रबंधन करते हैं। हमने उनके प्रत्यर्पण के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है।"


UP News: जौनपुर में गैस रिसाव से 5 झुलसे, बचाने की कोशिश में 3 की मौत

घटना से परिवार में कोहराम मच गया। लोगों ने किसी तरह से आग पर काबू पाया। सूचना पर पहुंची पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से झुलसे हुए लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया।

जौनपुर: जौनपुर में महाराजगंज के केवटली गांव में गुरूवार की सुबह घरेलू गैस सिलेंडर के रिसाव से बड़ा हादसा हो गया। दूध गर्म करते समय आग लगने से पति-पत्नी और उनके दो बच्चों समेत पांच लोग झुलस गए।

घटना से परिवार में कोहराम मच गया। लोगों ने किसी तरह से आग पर काबू पाया। सूचना पर पहुंची पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से झुलसे हुए लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया।

प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टर ने पांचों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जहां तीन लोगों की मौत हो गई। क्षेत्रीय विधायक रमेश मिश्र भी अस्पताल पहुंचे हैं।


जानकारी के अनुसार केवटली निवासी अखिलेश विश्वकर्मा की 28 वर्षीय पत्नी नीलम अपने छप्पर वाले घर में दूध गर्म कर रही थीं। छप्पर में उसके दो बच्चे 5 वर्षीय शिवांश व 3 वर्षीय युवराज और पति अखिलेश (30) सो रहे थे। इसी दौरान सिलेंडर की पाइप से गैस का रिसाव हो रहा था।

इसकी जानकारी नीलम को नहीं हो पाई। उसने दूध गर्म करने के लिए जैसे ही गैस चूल्हा का रेग्यूलेटर चालू कर माचिस जलायी वैसे ही आग लग गई। आग ने फौरन विकराल रुप धारण कर लिया। आग पूरे छप्पर में लग गयी। इसमें नीलम के अलावा परिवार के अन्य सभी सदस्य जलने लगे। चीख पुकार सुन आसपास के लोग एकत्र हो गए। 

अखिलेश के बड़े भाई 32 वर्षीय सुरेश ने छप्पर में घुसकर लोगों बचाने का प्रयास किया। इससे वह भी झुलस गया। ग्रामीणों की मदद से किसी तरह सबको बाहर निकला। सूचना पर पहुंची पुलिस स्थानीय लोगों की मदद से स्थानीय सीएचसी ले गई। 

जहां प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। परिवार को बचाने की कोशिश करने वाला सुरेश, अखिलेश की पत्नी नीलम और बेटे शिवांस की मौत हो गई।


UP News: पीलीभीत में बड़ा सड़क हादसा,एक ही परिवार के 10 लोगों की मौत 7 घायल, पेड़ से टकराई पिकअप

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से दिल दहलाने वाली खबर आ रही है। यहां एक भीषण सड़क हादसे में 10 लोगों की मौत हो गई। हादसे में 7 लोग गंभीर रूप से घायल होगए हैं।

पीलीभीत: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से दिल दहलाने वाली खबर आ रही है। यहां एक भीषण सड़क हादसे में 10 लोगों की मौत हो गई। हादसे में 7 लोग गंभीर रूप से घायल होगए हैं।


मिली जानकारी के मुताबिक, यात्रियों से भरी पिकअप अनियंत्रित हो गई और सड़क किनारे पेड़ से जा टकराई। ये हादसा इतना भयानक था कि पिकअप बुरी तरह से छतिग्रस्त हो गई. 8 लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। हादसे की सूचना मिलते ही स्थानीय लोग पहुंच गए और हादसे के शिकार लोगों को किसी तरह निकाला। 

पीलीभीत के पूरनपुर हाईवे पर गजरौला स्थित मालामुड़ पर एक पिकअप पेड़ से टकरा गई। इस हादसे में 10 श्रद्धालुओं की मौत होने की बात सामने आई है। इसके साथ ही करीब सात श्रद्धालु गंभीर रूप से घायल बताए गए हैं।

यह सभी एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं। श्रद्धालुओं का परिवार हरिद्वार में गंगा स्नान और दर्शन कर लौट रहा था। सड़क हादसे की सूचना मिलने के बाद पुलिस-प्रशासन मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने एंबुलेंस बुलाकर मृतकों और गंभीर घायलों को अस्पताल भेज। अस्पताल पहुंचने के बाद ही मृतकों की शिनाख्त हो सकेगी।

हादसा तड़के सुबह चार बजे के करीब हुआ. हादसे में 8 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो लोगों की अस्‍पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई।


Bihar News: एके-47 और हैंड ग्रेनेड रखने के जुर्म में बाहुबली अनंत सिंह को 10 साल की सजा, विधायकी खतरे में

पुलिस ने अपना आरोप साबित करने के लिए अदालत में 13 गवाहों को पेश किया था। वहीं बचाव पक्ष की ओर से 34 गवाहों का बयान करवाया गया था।

पटना: बिहार के चर्चित बाहुबली विधायक अंनत सिंह अब बड़ी मुश्किल में फंस गए हैं। एमपी एमएलए कोर्ट ने उन्हें अवैध हथियार रखने के मामले में दस साल की सजा सुनाई गई है। 

एके-47 और हैंड ग्रेनेड बरामदगी मामले में अनंत सिंह को 10 साल की सजा सुनाई गई है। गौरतलब है कि 16 अगस्त 2019 को पुलिस की छापेमारी में उनके पैतृक आवास लदमा गांव में छापेमारी के दौरान एक एके 47, 26 गोली, दो हैंड ग्रेनेड और एक मैगजीन बरामद हुई थी।

इसके बाद पुलिस ने उनके खिलाफ 389/19 के तहत केस दर्ज किया था। इस केस में आर्म्स एक्ट और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के धाराओं का इस्तेमाल किया गया है।

इससे पहले 14 जून को स्पेशल कोर्ट में सुनवाई हुई थी, जिसमें अनंत सिंह को दोषी करार दिया गया था। इसके बाद कोर्ट ने सजा के लिए 21 जून की तारीख मुकर्रर की थी। अनंत सिंह इसी मामले में करीब 34 महीने से पटना के बेऊर जेल में बंद हैं।

पुलिस ने अपना आरोप साबित करने के लिए अदालत में 13 गवाहों को पेश किया था। वहीं बचाव पक्ष की ओर से 34 गवाहों का बयान करवाया गया था।

इस सजा के बाद अब विधायक अनंत सिंह के विधायकी पर खतरा मंडराने लगा है। उनके वकील सुनील कुमार ने बताया कि हम लोग उच्च न्यायालय में अपील करेंगे। अगर सजा पर स्टे मिला तो अनंत सिंह की विधायकी बच सकती है। अनन्त सिंह के सेह इनके घर काम करने वाले सुनील राम को भी दस साल की सज़ा हुई है।


अग्निपथ स्कीम: बिहार में बवाल थमा, भारत बंद में कोई हंगामा नहीं

अग्निपथ को लेकर बिहार में जो भी उपद्रव हुआ, उसमें 16 जून से लेकर अब तक में पूरे बिहार में उपद्रवियों के खिलाफ कुल 159 FIR दर्ज हो चुकी है। इसके तहत कुल 877 उपद्रवियों को पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है।

पटना: अग्निपथ के विरोध की ज्वाला बिहार में शांत हो गई है। भारत बंद में आज शांति छाई रही, कहें तो बिहार में हालात कंट्रोल में है। बिहार में लॉ एंड ऑर्डर की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए सोमवार को पुलिस मुख्यालय में एक हाई लेवल मीटिंग हुई है।


इस मीटिंग की अगुवाई खुद DGP संजीव कुमार सिंघल ने की। सभी बड़े पुलिस अधिकारियों के साथ-साथ हर जिले के पुलिस कप्तान से बात की गई। मीटिंग में हर एक जिले की वर्तमान स्थिति की रिपोर्ट ली गई है। सूत्रों की मानें तो करीब 45 मिनट तक चले इस रिव्यू मीटिंग में बिहार पुलिस के अधिकारियों के साथ ही CRPF के अधिकारी भी शामिल थे।

ADG मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार के अनुसार, बिगड़े हुए हालात को कंट्रोल में करने के लिए ही सरकार की तरफ से एतिहात के तौर पर राज्य के 20 जिलों में इंटरनेट की सेवा बंद की गई थी। अगर हालात ऐसे ही रहे तो कुछ जिलों में इंटरनेट सेवा फिर से बहाल किए जाने पर विचार हो सकता है।

अग्निपथ को लेकर बिहार में जो भी उपद्रव हुआ, उसमें 16 जून से लेकर अब तक में पूरे बिहार में उपद्रवियों के खिलाफ कुल 159 FIR दर्ज हो चुकी है। इसके तहत कुल 877 उपद्रवियों को पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है।

इसमें सबसे अधिक 139 उपद्रवियों को पटना जिला में पकड़ा गया है, जबकि रोहतास में 89, नवादा में 68 और औरंगाबाद में 58 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है और यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।


Maharashtra News: एक ही परिवार के 9 लोगों ने की खुदकुशी

सांगली के पुलिस अधीक्षक दीक्षित कुमार गेदम, म्हैसल पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत बेंद्रे और अन्य सहित शीर्ष पुलिस अधिकारी जांच करने और स्थानीय लोगों को शांत करने के लिए वहां पहुंचे।

सांगली: मिराज के निकट म्हैसाल गांव में दो भाइयों के परिवारों के कम से कम नौ सदस्यों ने कथित तौर पर जहर खाकर आत्महत्या कर ली।

पीड़ितों में एक पशु चिकित्सक और उसका भाई, एक स्कूल शिक्षक, उनकी पत्नी और बच्चे शामिल हैं, जिनके 9 शव उनके घरों से बरामद किए गए हैं।

कठोर कदम के पीछे के मकसद, चाहे वह योजनाबद्ध हो या स्वैच्छिक हो या उन्होंने किस तरह के जहरीले पदार्थों का सेवन किया है अभी तुरंत ज्ञात नहीं हुआ है। अधिक विवरण की प्रतीक्षा है।

कथित सामूहिक आत्महत्या की खबर जंगल की आग की तरह फैल गई और गांव के अंबिका नगर इलाके में सैकड़ों लोग घरों की ओर दौड़ पड़े।

सांगली के पुलिस अधीक्षक दीक्षित कुमार गेदम, म्हैसल पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत बेंद्रे और अन्य सहित शीर्ष पुलिस अधिकारी जांच करने और स्थानीय लोगों को शांत करने के लिए वहां पहुंचे।

एक अधिकारी ने कहा कि पंचनामा रिकॉर्ड करने, शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने से पहले उनकी तस्वीरें लेने और अन्य प्रक्रियाओं का काम अभी चल रहा है।


मध्य प्रदेश नगरीय निकाय चुनाव 2022: मंत्रियों-नेताओं ने अपराधियों व दागियों को दिलाए टिकट, तो भड़क उठे CM शिवराज सिंह चौहान, कही ये बड़ी बातें

इंदौर में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खास समर्थक गैंगस्टर युवराज उस्ताद की पत्नी स्वाति काशिद को बीजेपी ने वार्ड 56 से प्रत्याशी बनाया थ। सीएम ने इस टिकट को बदलवा दिया है।

भोपाल: मध्यप्रदेश में हो रहे नगरीय निकाय के चुनावों में अपराधियों को टिकट दिये जाने को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बेहद नाराज हैं. चौहान ने साफ कर दिया है कि नगरीय निकाय चुनाव में किसी आदतन अपराधी को बीजेपी का उम्मीदवार नहीं बनाया जायेगा।

बताया जा रहा है कि बीजेपी के कुछ मंत्रियों और विधायकों ने जिलों में टिकट चयन समिति पर दबाव बनाकर अपने समर्थकों को टिकट दिलवाए। इनमें से कुछ लोग आपराधिक प्रवृति के हैं। सीएम ने इन सारे लोगों के टिकट बदले जाने को लेकर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा से बात की है।


इंदौर में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खास समर्थक गैंगस्टर युवराज उस्ताद की पत्नी स्वाति काशिद को बीजेपी ने वार्ड 56 से प्रत्याशी बनाया थ।  सीएम ने इस टिकट को बदलवा दिया है।

वहीं, भोपाल में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अपने समर्थक आदतन अपराधी भूपेन्द्र भदौरिया, सट्टा किंग बाबू मस्तान की पत्नी को बीजेपी से पार्षद प्रत्याशी बनवा दिया है। ऐसे ही छतरपुर में भी कुछ अपराधियों को टिकट दे दिया गया है।


इस सारे मामले को लेकर सीएम ने बीजेपी संगठन नेताओं को साफ कहा है कि नामांकन वापसी की तिथि के पहले यह टिकट बदले जायएं। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक बयान में कहा है कि बीजेपी स्वच्छ राजनीति की पक्षधर है। 

कांग्रेस ने राजनीति का अपराधीकरण किया है। लेकिन बीजेपी किसी आदतन, कुख्यात अपराधी को जनप्रतिनिधि नहीं बनायेगी। ऐसे अपराधियों को अगर टिकट दे भी दिया गया है, तो पार्टी उसे वापस लेकर दूसरे कार्यकर्ताओं को टिकट दे देगी।


अग्निपथ योजना का विरोध: अलीगढ़ में 9 कोचिंग संचालक गिरफ्तार, भाजपा नेता भी शामिल

अलीगढ़ में हिंसा के बाद से पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है और अब तक 9 कोचिंग संचालकों समेत कई लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है। इन कोचिंग संचालकों पर युवाओं को भड़काने के आरोप लगे हैं। गिरफ्तार लोगों में बीजेपी का एक नेता भी शामिल है, जिसका नाम सुधीर शर्मा बताया जा रहा है।

अलीगढ़: केंद्र सरकार द्वारा घोषित अग्निपथ योजना के खिलाफ पूरे देश में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए। इस दौरान यूपी के अलीगढ़ में भी हिंसा की बात सामने आई। 

अलीगढ़ में हिंसा के बाद से पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है और अब तक 9 कोचिंग संचालकों समेत कई लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है। इन कोचिंग संचालकों पर युवाओं को भड़काने के आरोप लगे हैं। गिरफ्तार लोगों में बीजेपी का एक नेता भी शामिल है, जिसका नाम सुधीर शर्मा बताया जा रहा है।


मिली जानकारी के मुताबिक, सुधीर शर्मा के साथ ही 8 अन्य कोचिंग संचालकों पर कार्रवाई हुई है। उनमें यंग इंडिया कोचिंग संचालक सुधीर शर्मा सहित जट्टारी इलाके में स्थित चौधरी कोचिंग के संचालक, तिरुपति के संचालक रामकुमार सिंह और केशव, केडी इंस्टीट्यूट के संचालक गौरव चौधरी और रोबिन चौधरी, गुरुकुल कोचिंग सेंटर के संचालक नवीन वैष्णव और अमित कुमार के नाम शामिल हैं।

अलीगढ़ के टप्पल में यंग इंडिया के नाम से कोचिंग चलाने वाले सुधीर शर्मा पर शुक्रवार के हिंसक प्रदर्शन में युवाओं को उकसाने के बाद बवाल कराने का आरोप लगा है। हालांकि, हिंसक बवाल के बाद अब अलीगढ़ में पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में कर लिया है। इस दौरान अलीगढ़ रेंज के डीआईजी दीपक कुमार ने बताया कि प्रशासन सोशल मीडिया पर खास नजर रखे हुए है।


भगवान के घर भी घोटाला: रामजन्मभूमि निधि समर्पण में श्री राम मंदिर के लिए दान में मिले 22 करोड़ के चेक बाउंस

फिलहाल अखिल भारतीय स्तर से निधि समर्पण अभियान की मानीटरिंग कर रही टीम की गणना में एक टेन्टिव रिपोर्ट सामने आई है। इसके अनुसार श्रीराम मंदिर के लिए दान करने वालों में लगभग 22 करोड़ के कई चेक ऐसे हैं जो बाउंस हो गये हैं। इन्हें अलग करते हुए एक दूसरी रिपोर्ट बनाई जा रही है।

अयोध्या: रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से चलाए गये निधि समर्पण अभियान में अब तक कुल 5457.94 करोड़ की धनराशि एकत्र हो चुकी है। हालांकि यह संख्या अभी अंतिम नहीं है क्योंकि जिलावार आडिट का काम अभी पूरा नहीं हो सका है। 


फिलहाल अखिल भारतीय स्तर से निधि समर्पण अभियान की मानीटरिंग कर रही टीम की गणना में एक टेन्टिव रिपोर्ट सामने आई है। इसके अनुसार श्रीराम मंदिर के लिए दान करने वालों में लगभग 22 करोड़ के कई चेक ऐसे हैं जो बाउंस हो गये हैं। इन्हें अलग करते हुए एक दूसरी रिपोर्ट बनाई जा रही है। 


रिपोर्ट के जरिए चेक बाउंस होने के कारणों का पता लगेगा। तकनीकी कारणों से बाउंस होने वाले चेक को बैंक के साथ बैठक करके दोबारा रिप्रेजेंट किया जाएगा। इस रिपोर्ट के मुताबिक कूपनों व रसीद के जरिए 2253.97 करोड़ की निधि एकत्र हुई।

इसी तरह से डिजिटल माध्यमों से 2753.97 करोड़ व एसबीआई-पीएनबी व बीओबी के बचत खातों में करीब 450 करोड़ की धनराशि एकत्र हुई है। ट्रस्ट की ओर से निधि समर्पणके दस, सौ व एक हजार के कूपन छपवाए गये थे। इसके अलावा इससे अधिक की धनराशि के लिए रसीदों का प्रयोग किया गया। 


ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय की ओर से तैयार की गई रिपोर्ट में बताया गया कि दस रुपये के कूपन से 30.99 करोड़, सौ रुपये के कूपन से 372.48 करोड़ व एक हजार के कूपन से 225.46 करोड़ व रसीदों के जरिए 1625.04 करोड़ की निधि एकत्र हुई। इस प्रकार कुल राशि 2253.97 करोड़ हुई।


Bihar News : स्पाइसजेट की फ्लाइट में लगी आग, करानी पड़ी एमरजेंसी लैंडिंग, सभी यात्री सुरक्षित

मानवजीत सिंह ढिल्लों, SSP, पटना ने बताया कि स्पाइसजेट की एक फ्लाइट दिल्ली जा रही थी। उड़ान भरते ही एयरपोर्ट प्राधिकरण ने ध्यान दिया कि उसके एक विंग में आग लगी है। प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग सफलतापुर्वक हो गई है। अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। अन्य प्रोटोकॉल को पूरा किया जा रहा है।

पटना: दिल्ली जाने वाली स्पाइसजेट की फ्लाइट इंजन में खराबी के बाद पटना एयरपोर्ट लौटी। 

मानवजीत सिंह ढिल्लों, SSP, पटना  ने बताया कि स्पाइसजेट की एक फ्लाइट दिल्ली जा रही थी। उड़ान भरते ही एयरपोर्ट प्राधिकरण ने ध्यान दिया कि उसके एक विंग में आग लगी है। प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग सफलतापुर्वक हो गई है। अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। अन्य प्रोटोकॉल को पूरा किया जा रहा है।

पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि स्थानीय लोगों ने पहले विमान में आग लगता हुआ देखा जिसके बाद जिला और हवाईअड्डा अधिकारियों को सूचित किया। इसके बाद दिल्ली जाने वाली उड़ान पटना हवाई अड्डे पर वापस लैंड कराई गई है। सभी 185 यात्रियों को सुरक्षित उतार लिया गया।वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।