Skip to main content
Follow Us On
Hindi News, India News in Hindi, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi, ताजा ख़बरें, News9india

यूपी पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा के नतीजे जारी, ऐसे चेक करें अपना रिजल्ट

परीक्षा में भाग लेने वालेे अभ्यर्थी अपना रिजल्ट वेबसाइट jeecup.nic.in पर चेक कर सकते हैं। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद द्वारा आयोजित यह प्रवेश परीक्षा 31 अगस्त से 4 सितंबर तक हुई थी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के राजकीय, अनुदानित और निजी पॉलीटेक्निक संस्थानों में प्रवेश के लिए हुई ऑनलाइन परीक्षा ( यूपीजेईई या जेईईसीयूपी ) के नतीजे  सोमवार को शाम 5:30 बजे जारी कर दिए गए। इस परीक्षा में भाग लेने वालेे  अभ्यर्थी अपना रिजल्ट वेबसाइट jeecup.nic.in पर चेक कर सकते हैं। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद द्वारा आयोजित यह प्रवेश परीक्षा 31 अगस्त से 4 सितंबर तक हुई थी। 
   
संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के प्रभारी सचिव राम रतन ने बताया कि 241810 सीटों के लिए हुई ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा में 187640 युवा ही शामिल हुए थे। ऐसे में 54170 सीटों का खाली रहना तय है। पांच दिनों तक चली प्रवेश परीक्षा में कानपुर में 64 फीसदी युवाओं ने हिस्सा लिया। लखनऊ में 13708 पंजीकृत थे जिनमें से 8679 (63.13 फीसदी) परीक्षा में बैठे। सचिव ने कहा कि सभी अभ्यर्थी परिषद की अधिकारिक वेबसाइट  jeecup.nic.in पर जाकर ऑनलाइन परिणाम देख सकते हैं। 

पहली बार इस साल यूपीजेईई प्रवेश परीक्षा पूरी तरह से ऑनलाइन आयोजित हुई। हिन्दी या अंग्रेजी दोनों में से किसी भी भाषा में अभ्यर्थी परीक्षा दे सकते थे।


UPSC ने DCIO, रीजनल डायरेक्टर समेत कई पदों पर निकाली वैकेंसी, आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर

योग्य उम्मीदवार यूपीएससी की आधिकारिक वेसाइट upsc.gov.in के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

नई दिल्ली: संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने डिप्टी सेंट्रल इंटेलिजेंस ऑफिसर, रीजनल डायरेक्टर समेत कई पदों के लिए भर्तियां निकाली हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर है। योग्य उम्मीदवार यूपीएससी की आधिकारिक वेसाइट upsc.gov.in के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।


इन पदों पर निकली हैं भर्तियां:

  1. रीजनल डायरेक्टर- 1
  2. डिप्टी सेंट्रल इंटेलिजेंस ऑफिसर- 10
  3. असिस्टेंट प्रोफेसर केमिस्ट्री - 1
  4. असिस्टेंट प्रोफेसर इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग - 1
  5. असिस्टेंट प्रोफेसर इलेक्ट्रॉनिक और कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग -2 
  6. असिस्टेंट प्रोफेसर (Electronics & Instrumentation Engg./Control Instrumentation Engg.)- 1
  7. असिस्टेंट प्रोफेसर (Mathematics)- 1
  8. असिस्टेंट प्रोफेसर Manufacturing Engg./ Production Engg.)- 1
  9. असिस्टेंट प्रोफेसर (Mechanical Engg.)- 1
  10. सीनियर साइंटिफिक ऑफिसर (Electronics)- 1
  11. जूनियर रिसर्च ऑफिसर- 3
  12. असिस्टेंट इंजीनियर -3 
  13. असिस्टेंट सर्वेवर- 3

आवेदन शुल्क:

सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 25 रुपये का शुल्क देय होगा। उम्मीदवार स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की किसी भी ब्रांच में जाकर कैश पेमेंट कर सकते हैं या फिर ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं।
एससी/एसटी/पीडब्ल्यूबीडी श्रेणी और महिला उम्मीदवारों को किसी भी तरह का कोई शुल्क देय नहीं होगा।


पाकिस्तान: डेढ़ लाख सरकारी कर्मचारियों को इमरान सरकार ने नौकरी से निकाला !

'आवामी आवाज़' ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि मौजूदा पीटीआई सरकार ने तीन सालों के दौरान अपने डेढ़ लाख कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है। रिपोर्ट के मुताबिक इससे पता चलता है कि संघीय सरकार एंटी-सिंध रवैया अपना रहा है और यहां के लोगों को आर्थिक रूप से कमजोर करने की कोशिश कर रही है।

इस्लामाबाद: पाकिस्तान आर्थिक रूप से लगभग कंगाल हो चुका है और उसकी गिनती अब भिखारी देश के रूप में हो रही है। पाकिस्तान की कंगाली का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसने लगभग डेढ़ लाख सरकारी कर्मचारियों को नौकरी से बिना किसी पूर्व सूचना के निकाल दिया है। 

स्थानीय मीडिया ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि इन सभी लोगों को पिछले 3 सालों के दौरान हटाया गया है। सोमवार को 'आवामी आवाज़' ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि मौजूदा पीटीआई सरकार ने तीन सालों के दौरान अपने डेढ़ लाख कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है। रिपोर्ट के मुताबिक इससे पता चलता है कि संघीय सरकार एंटी-सिंध रवैया अपना रहा है और यहां के लोगों को आर्थिक रूप से कमजोर करने की कोशिश कर रही है।

'आवामी आवाज' ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि करीब 16,000 कर्मचारियों को इस सप्ताह विभिन्न संघीय सरकारों ने नौकरी से निकाला है। इनमें से करीब 2000 सिंध प्रक्षेत्र से हैं। पाकिस्तानी कानून के मुताबिक किसी भी सरकारी कर्मचारी को नौकरी से हटाए या निकाले जाने से पहले उन्हें तीन महीने का नोटिस देना जरुरी होता है। आवामी आवाज ने देश की सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि इन कर्मचारियों को बिना किसी नोटिस के कैसे नौकरी से हटाया जा सकता है। 

पाकिस्तानी की खराब अर्थव्यवस्था के कारण देश में महंगाई चरम पर है। कोरोना महामारी की वजह से यहां आम लोगों से लेकर सरकारी कर्मचारियों तक की हालत खराब हो चुकी है। पिछले ही साल अक्टूबर के महीने में खबर आई थी कि अलग-अलग सरकारी महकमें काम करने वाले हजारों कर्मचारियों ने देश में बढ़ती महंगाई को लेकर विरोध जताया था। उस वक्त प्रदर्शनकारियों ने सरकार से मांग की थी कि उनके वेतन और अन्य भत्तों को बढ़ाया जाए। 


उत्तराखंड के युवाओं के लिए खुशखबरी, 8वीं और 10वीं पास के लिए इन पदों पर निकली सरकारी नौकरी

कुल 164 पदों पर नियुक्तियां की जाएंगी। कुल भर्ती में 161 ड्राइवरों के लिए हैं, जबकि 2 पद इंफोर्समेंट ड्राइवर के लिए हैं और एक पद डिस्पैच राइडर पोस्ट के लिए है।

देहरादून: अगर आप उत्तराखंड में रहते हैं और सरकारी नौकरी की तलाश में हैं तो आपके लिए बेहतर मौका है। उत्तराखंड सबऑर्डिनेट सर्विस सेलेक्शन कमीशन (Uttarakhand Subordinate Service Selection Commission UKSSSC) ने ड्राइवर, इंफोर्समेंट ड्राइवर और डिस्पैच राइडर पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए हैं। इसके तहत कुल 164 पदों पर नियुक्तियां की जाएंगी। कुल भर्ती में 161 ड्राइवरों के लिए हैं, जबकि 2 पद इंफोर्समेंट ड्राइवर के लिए हैं और एक पद डिस्पैच राइडर पोस्ट के लिए है। 

ऐसे में जो भी उम्मीदवार इन पदों के लिए ऑनलाइन अप्लाई करना चाहते हैं, वे यूकेएसएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट www.sssc.uk.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। हालांकि इन पदों पर आवेदन की प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई है।

आवेदन की प्रक्रिया 27 अगस्त, 2021 से शुरू होगी और 10 अक्टूबर तक, 2021 तक चलेगी। ऐसे में जो भी उम्मीदवार इन पदों के लिए ऑनलाइन अप्लाई करना चाहते हैं, वे इस दौरान कर दें।यह भर्ती अभियान ड्राइवरों के 164 पदों को भरने के लिए है। 161 पद ड्राइवरों के लिए हैं, जबकि 2 पद  इंफोर्समेंट ड्राइवर के लिए हैं और एक पद डिस्पैच राइडर पोस्ट के लिए है।

  • यूकेएसएसएससी नोटिफिकेशन जारी होने की तारीख- 24 अगस्त, 2021
  • ऑनलाइन आवेदन शुरुआत होने की तारीख- 27 अगस्त, 2021
  • ऑनलाइन आवेदन जमा करने की आखिरी तारीख- 10 अक्टूबर, 2021
  • ऑनलाइन आवेदन फीस जमा करने की लास्ट डेट- 12 अक्टूबर, 2021
  • यूकेएसएसएससी लिखित परीक्षा की संभावित तिथि- दिसंबर, 2021

ड्राइवर के पद पर आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को आठवीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए। इसके अलावा ड्राइविंग में पांच साल का अनुभव होना चाहिए। वहीं डिस्पैच राइडर पदों पर आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए और ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए। उम्मीदवारों को हिंदी की नॉलेज होनी चाहिए।


ये होनी चाहिए उम्र

उम्मीदवार की आयु 21 वर्ष से कम और 42 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को सरकार के नियमानुसार छूट दी जाएगी। वहीं इस भर्ती से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा। 


CDS परीक्षा के लिए आवेदन की आखिरी तारीख 24 अगस्त तक, ऐसे करें अप्लाई, जानिए क्या होनी चाहिए योग्यता

उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि सीडीएस परीक्षा के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन दो चरणों में पूरा होना है और दोनो ही चरणों को उम्मीदवारों को कल शाम 6 बजे तक कर लेना होगा।

नई दिल्ली: सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा (CDS) के लिए आवेदन की आखिरी तारीख कल, 24 अगस्त 2021 को है। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा सीडीएस परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया 4 अगस्त 2021 से शुरू की गयी थी। 

उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि सीडीएस परीक्षा के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन दो चरणों में पूरा होना है और दोनो ही चरणों को उम्मीदवारों को कल शाम 6 बजे तक कर लेना होगा। 

ऐसे में उम्मीदवारों को वर्ष 2021 की दूसरी सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा के लिए जल्द से जल्द आवेदन कर लेना चाहिए क्योंकि अंतिम क्षणों में यूजर्स की अधिक संख्या के चलते अप्लीकेशन पेज पर तकनीकी समस्या होने की संभावना रहती है।


आवेदन उम्मीदवार यूपीएससी पोर्टल, upsconline.nic.in पर कर सकते हैं। हालांकि, आवेदन के पहले उम्मीदवारों को परीक्षा से सम्बन्धित यूपीएससी द्वारा जारी विस्तृत अधिसूचना को ध्यान से पढ़ लेना चाहिए। दूसरी तरफ, उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि आयोग द्वारा प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर परीक्षार्थियों की संख्या सीमित रखी जानी है और केंद्र का आवंटन पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर किया जाना है।

यूपीएससी सीडीएस परीक्षा के अंतर्गत आईएमए के लिए किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक में डिग्री या समकक्ष योग्यता रखने वाले उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं। वहीं, आईएनए के भारतीय नौसेना अकादमी में दाखिले के लिए इंजीनियरी में डिग्री होनी चाहिए और वायु सेना अकादमी के लिए 10+2 स्तर पर गणित व भौतिकी विषयों के साथ स्नातक या इंजीनियरी में स्नातक होना चाहिए। उम्मीदवारों को आयु सीमा की शर्तों को भी पूरा करना होगा। कैंडीडेट्स की आयु 20 वर्ष से 24 वर्ष के बीच होनी चाहिए।


केंद्र सरकार ने खत्म किया IPS, दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों में 4 फीसदी का दिव्यांग आरक्षण !

जिन सेवाओं से दिव्यांग जनों के आरक्षण को खत्म किया गया है, उनमें इंडियन पुलिस सर्विसेज, दिल्ली, अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह, लक्षद्वीप, दमन एवं दीव और दादर एवं नागर हवेली पुलिस शामिल हैं। इसके अलावा बीएसएफ, एसएसबी, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी जैसे अर्धसैनिक बल भी शामिल हैं।

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने आईपीएस, रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स और तमाम अर्धसैनिक बलों में दिव्यांग जनों को मिलने वाले 4 फीसदी कोटे खत्म कर दिया गया है। यह फैसला दिल्ली समेत कई अन्य केंद्र शासित राज्यों की पुलिस को लेकर भी लिया गया है। इसके साथ ही अब एसएसबी, बीएसएफ, आईटीबीपी, असम रायफल्स, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ में दिव्यांग जनों को कोटा नहीं मिल सकेगा। 

समानता के अवसर और समाज के पिछड़े वर्गों को आरक्षण देने की बात करने वाली बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार का यह फैसला चौंकाने वाला है। दिव्यांग जन सशक्तीकरण विभाग की ओर से जारी किए गए नोटिफिकेशन में आरक्षण के प्रावधान को खत्म किए जाने की जानकारी दी गई है। 

नोटिफिकेशन में कहा गया है कि सेक्शन 34 के सब-सेक्शन (1) के तहत दिव्यांग जनों को मिलने वाले आरक्षण के दायरे से कुछ सेवाओं को बाहर कर दिया गया है। उनके काम की प्रकृति देखते हुए यह फैसला लिया गया है। 

जिन सेवाओं से दिव्यांग जनों के आरक्षण को खत्म किया गया है, उनमें इंडियन पुलिस सर्विसेज, दिल्ली, अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह, लक्षद्वीप, दमन एवं दीव और दादर एवं नागर हवेली पुलिस शामिल हैं। इसके अलावा बीएसएफ, एसएसबी, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी जैसे अर्धसैनिक बल भी शामिल हैं। इसके अलावा रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स को लेकर भी यह फैसला लागू होगा।


UPSC यूपीएससी ने EPFO 2021 भर्ती परीक्षा के जारी किया एडमिट कार्ड, यहां से करें डाउनलोड

यूपीएससी ने जनवरी 2020 में भर्ती निकालकर इन पदों के लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी की थी। बता दें कि कोविड 19 की वजह से इस भर्ती की परीक्षा का आयोजन लंबे समय बाद किया जा रहा है।

नई दिल्ली: यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (यूपीएससी) ने ईपीएफओ एनफोर्समेंट ऑफिसर/अकाउंट ऑफिसर के 421 पदों पर होने वाली भर्ती परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं। यह भर्ती परीक्षा 5 सितंबर 2021 को देश के विभिन्न शहरों में आयोजित की जाएगी। इन पदों के लिए हजारों उम्मीदवारों ने ऑनलाइन आवेदन किया है।

जिन उम्मीदवारों ने इन पदों के लिए आवेदन किया है वह यूपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। यूपीएससी ने जनवरी 2020 में भर्ती निकालकर इन पदों के लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी की थी। बता दें कि कोविड 19 की वजह से इस भर्ती की परीक्षा का आयोजन लंबे समय बाद किया जा रहा है।


ऐसे डाउनलोड करें एडमिट कार्ड

  • सबसे पहले उम्मीदवार यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट https://upsc.gov.in पर जाना होगा
  • यहां होम पेज पर आपको Admit Cards के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा. जब आप यहां क्लिक करेंगे तो आपके सामने E- Admit Cards पर क्लिक करना होगा
  • यहां आप E-Admit Cards for various Examinations of UPSC पर क्लिक करें
  • इस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने ईपीएफओ भर्ती के एडमिट कार्ड का लिंक दिखाई देगा, जिसमें आप डाउनलोड पर क्लिक करें।
  • आप अपना एप्लीकेशन नंबर/रजिस्ट्रेशन नंबर व अन्य डिटेल डालकर एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं. उम्मीदवार यह डाउनलोड करने के बाद इसका प्रिंट आउट जरूर निकाल लें


MP High Court में निकली PA की वैकेंसी, आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर

मपी हाईकोर्ट ने पर्सनल असिस्टेंट के पदों पर वैकेंसी निकाली है। इसके तहत कोर्ट कुल 21 पदों पर नियुक्तियां करने जा रहा है। आवेदन की प्रक्रिया करने की शुरुआत 17 अगस्त, 2021 से होगी। वहीं ऑनलाइन आवेदन करने की जमा अंतिम तारीख 30 सितंबर, 2021 है।

भोपाल: एमपी हाईकोर्ट ने पर्सनल असिस्टेंट के पदों पर वैकेंसी निकाली है। इसके तहत कोर्ट कुल 21 पदों पर नियुक्तियां करने जा रहा है। आवेदन की प्रक्रिया करने की शुरुआत 17 अगस्त, 2021 से होगी। वहीं ऑनलाइन आवेदन करने की जमा अंतिम तारीख 30 सितंबर, 2021 है।

ऐसे करें आवेदन

अप्लाई करने के लिए अभ्यर्थियों को हाईकोर्ट की आधिकारिक वेबसाइट mphc.gov.in पर जाकर नोटिफिकेशन को अच्छी तरह पढ़ने के बाद अप्लाई करना होगा। अभ्यर्थी ध्यान दें कि अगर आवेदन पत्र में कोई गड़बड़ी पकड़ में आती हैं तो फिर आवेदन पत्र रिजेक्ट कर दिया जाएगा। 

ऑनलाइन आवेदन जमा करने की शुरुआत: 17 अगस्त 2021
ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि: 30 सितंबर 2021

आवेनक के लिए शर्तें

  • किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक होना चाहिए
  • अंग्रेजी में टाइपिंग परीक्षा @ 80 शब्द मिनट होनी चाहिए
  • इसके अलावा मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से कंप्यूटर एप्लीकेशन में डिप्लोमा होना चाहिए
  • उम्मीदवारों की आयु सीमा 18 से 40 वर्ष तक होनी चाहिए
  • आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को सरकार के नियमानुसार आयु में छूट होगी

ये होगी फीस

एमपी हाईकोर्ट की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक पर्सनल असिस्टेंट के पदों पर अप्लाई करने वाले सामान्य और अन्य राज्य के उम्मीदवारों को 922.16 रुपये का शुल्क देना होगा। वहीं ओबीसी, एससी, एसटी उम्मीदवारों को 722.16 रुपये देना होगा।

ऐसे होगा सेलेक्शन 

उम्मीदवार का चयन प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा। वहीं इस भर्ती से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए अभ्यर्थियों को एमपी हाईकोर्ट की आधिकारिक वेबसाइट पर डिटेल्ड नोटिफिकेशन चेक करना होगा।


मेडिकल एजुकेशन को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, OBC को 27% और EWS को 10% आरक्षण

26 जुलाई, 2021 इस मुद्दे को लेकर मीटिंग हुई थी। जिसमें प्रधानमंत्री मोदी ने मीटिंग में केंद्रीय मंत्रालयों को इस मुद्दे के समाधान का निर्देश दिया था। जिसके बाद OBC और EWS वर्ग के उम्मीदवारों के लिए ये फैसला लिया गया।

नई दिल्ली: मेडिकल एजुकेशन को लेकर आज केंद्र की मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। दरअसल, केंद्र ने मेडिकल एजुकेशन को लेकर उन छात्रों को राहत दी है जो मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनाने की इच्छा रखते हैं।


पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट  करते हुए  कहा, "हमारी सरकार ने वर्तमान शैक्षणिक वर्ष 2021-22 से अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट मेडिकल/ डेंटल कोर्स (MBBS / MD / MS / Diploma / BDS / MDS) के लिए ऑल इंडिया कोटा (AIQ) स्कीम में OBC के लिए 27% आरक्षण और आर्थिक रूप से कमजोर (EWS) वर्ग के लिए 10% आरक्षण प्रदान करने का एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है।


बता दें,  26 जुलाई, 2021 इस मुद्दे को लेकर मीटिंग हुई थी। जिसमें प्रधानमंत्री मोदी ने मीटिंग में केंद्रीय मंत्रालयों को इस मुद्दे के समाधान का निर्देश दिया था। जिसके बाद OBC और EWS वर्ग के उम्मीदवारों के लिए ये फैसला लिया गया।


इस निर्णय से हर साल MBBS में लगभग 1500 OBC छात्रों और  पोस्ट ग्रेजुएट में 2500 OBC छात्रों और MBBS में लगभग 550 EWS छात्रों और पोस्टग्रेजुएशन में लगभग 1000 EWS छात्रों को लाभ होगा इस फैसले के बाद लगभग 5,550 छात्रों को फायदा मिलेगा।


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को हुई एक बैठक में लंबे समय से लंबित इस मुद्दे के प्रभावी समाधान का संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों को निर्देश दिया था। चिकित्सा अभ्यर्थियों की ओर से चिकित्सा शिक्षा के अखिल भारतीय कोटे में ओबीसी आरक्षण देने की लंबे समय से मांग की जा रही थी।


उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय बेरोजगारों को ही मिलेगी पंचायत में नौकरी

यूपी की 58,189 ग्राम पंचायतों में एकाउंटेंट कम डाटा एंट्री ऑपरेटर के पदों पर जल्दी ही भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। हाल ही में कैबिनेट के निर्णय के बाद अब हर ग्राम पंचायत में इस पद के लिए गांव के स्थानीय बेरोजगार युवा को ही अवसर दिया जाएगा।

लखनऊ: यूपी की 58,189 ग्राम पंचायतों में एकाउंटेंट कम डाटा एंट्री ऑपरेटर के पदों पर जल्दी ही भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। हाल ही में कैबिनेट के निर्णय के बाद अब हर ग्राम पंचायत में इस पद के लिए गांव के स्थानीय बेरोजगार युवा को ही अवसर दिया जाएगा।

बता दें कि इस पद पर भर्ती के लिए केंद्रीयकृत प्रक्रिया नहीं होगी बल्कि प्रत्येक ग्राम पंचायत अपने स्तर पर ही इस पद के लिए चयन करेगी। गांव के बेरोजगार कंप्यूटर प्रशिक्षण प्राप्त युवा के हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा के लिए कुल प्राप्तांक के प्रतिशत के दो से भाग देने पर जिसके सर्वाधिक अंक आएंगे, उसका साक्षात्कार के आधार पर चयन कर लिया जाएगा।

वेतन और जिम्मेदारी

इस पद पर चयनित युवा को छह हजार रुपए मासिक वेतन का भुगतान दिया जाएगा। इसका वेतन ग्राम पंचायत अपने बजट से ही देगी। चयनित व्यक्ति पब्लिक फाइनेंस मैनेजमेंट सिस्टम और पंचायतीराज विभाग के अन्य पोर्टल को संचालित करेगा। इसी ग्राम सचिवालय में बीसी सखी भी बैठेगी जो ग्रामीण के बैंक खातों का आधार कार्ड के आधार पर संचालन करवाएगी। किसान को मिलने वाले सरकारी अनुदान आदि की मानीटरिंग करेगी।


ड्रैगन की इस हरकत से हजारों लोगों की नौकरी पर मंडरा रहा खतरा, जानिए-क्या है मामला

संगठन ने केंद्रीय मंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा है कि चीन द्वारा इस तरह का प्रतिबंध लगाने से कल से कम 21 हजार भारतीय प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से नौकरी खोने के कगार पर हैं।

नई दिल्ली: पड़ोसी देश की एक नापाक हरकत की वजह से हजारों लोगों के सामने रोजी-रोटी का खतरा उत्पन्न हो गया है। दरअसल, बीजिंग ने उन जहाजों के चीनी बंदरगाहों पर पर आने से रोक लगा दी है, जिन भारतीय काम कर रहे हैं। समु्द्री श्रमिकों के एक संगठन ने इस अनाधिकारिक प्रतिबंध का जिक्र किया है। ऑल इंडिया सीफेयरर एंड जनरल वर्कर्स नाम के इस संगठन इसको लेकर बंदरगाह, जहाजरानी और समुद्री जलमार्ग मंत्री सर्वानंद सोनोवाल को पत्र लिखा है।


संगठन ने केंद्रीय मंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा है कि चीन द्वारा इस तरह का प्रतिबंध लगाने से कल से कम 21 हजार भारतीय प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से नौकरी खोने के कगार पर हैं।


संगठन के अध्यक्ष अभिजीत सांगले ने एक समाचार पत्र को दिए साक्षात्कार में कहा है कि यह चीन की एक चाल है। वह भारतीय समद्री श्रमिकों को काम करने से रोक रहा है, ताकि अपने श्रमिकों को बढ़ावा दे सके। 

उन्होंने कहा कि हमने इस बारे में केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल को पत्र लिखा है। साथ ही शिपिंग के डीजी और विदेश मंत्रालय को भी मामले की जानकारी दी गई है। हमने इस गंभीर मामले को देखने के लिए कहा है। अभिजीत सांगले ने कहाकि उन्होंने विदेश मंत्री एस जयशंकर को अलग से पत्र लिखकर तेजी से एक्शन लेने की दरख्वास्त की है। 

उन्होंने आगे कहा कि इस साल की शुरुआत में भी चीन ने उन विदेशी जहाजों को रोक दिया था, जिन पर भारतीय काम कर रहे थे। इसके चलते करीब 40 भारतीय क्रू मेंबर्स कुछ दिनों के लिए चीन में फंस गए थे। 

वहीं, जब इस बारे में जब इस बारे में डीजी शिपिंग अमिताभ ठाकुर से बात की तो उन्होंने कहाकि हमें इस बारे में कोई पत्र नहीं मिला है। उन्होंने यह भी कहाकि उन्हें आधिकारिक रूप से चीन द्वारा ऐसे किसी प्रतिबंध की भी सूचना नहीं है। 

उन्होंने कहा कि हमारे आंकड़ों में ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है, जिससे कहा जाए कि 21 हजार भारतीय नौकरी खोने के कगार पर हैं। उन्होंने कहाकि यह कुछ लोगों की निजी राय हो सकती है। हालांकि नेशनल शिपिंग बोर्ड के सदस्य कैप्टन संजय पराशन ने कहाकि चीन अब अपनी शर्तें लाद रहा है।

उनके मुताबिक चीन ने विदेशी जहाज कंपनियों से कहा है कि वह तभी यहां अपने ला और ले जा सकते हैं, जब वह उनकी शर्तों को मानेंगे। इन शर्तों में कहा गया है कि अगर वो चीनी समुद्री सीमा में आने चाहते हैं तो उन्हें अपने जहाज पर भारतीयों को काम पर रखना बंद करना होगा। 

चीन ने मार्च से ही शुरू कर दिया था प्रतिबंध लगाना

ब्रिटेन एक की एक जहाज कंपनी की भारतीय शाखा के प्रमुख राकेश कोएल्हो ने बताया कि भारतीय क्रू के खिलाफ चीन का यह प्रतिबंध मार्च में शुरू हुआ। उन्होंने कहाकि इसके पीछे भारत में कोरोना के वैरिएंट को वजह बताया जा रहा है। लेकिन अब तो सभी देशों में डेल्टा वैरिएंट मिल रहा है, इसलिए इस तर्क में कोई दम नहीं है।

उन्होंने कहा कि भारतीय नाविक दुनिया में सबसे बेहतरीन माने जाते हैं। लेकिन चीन के इस कदम के बाद अमेरिका, इंग्लैंड और पश्चिमी यूरोपीय देशों ने भारतीय क्रू मेंबर्स को काम पर रखना बंद कर दिया है। इनकी जगह अब वे फिलीपीन्स, विएतनाम और चीनी नागरिकों को नियुक्त कर रही हैं। 


गौरतलब है कि शिपिंग इंडस्ट्री में भारतीय नाविकों की तूती बोलती है। पिछले साल तक भारत की तरफ से सालाना 2.4 लाख नाविक भेजे जाते थे। इनमें से 2.1 लाख नाविक विदेशी जहाजों पर तैनात हुए थे जबकि 30 हजार भारतीय जहाजों पर। 


पश्चिम बंगाल पुलिस में निकली 330 सब इंस्पेक्टरों की भर्ती, ग्रेजुएट कर सकते हैं आवेदन

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल पुलिस ने 330 सब-इंस्पेक्टर / सब-इंस्पेक्टर (अनआर्म्ड ब्रांच ) के पदों के लिए एक आधिकारिक  नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। सरकारी परिणाम में रुचि रखने वाले ग्रेजुएट पास उम्मीदवारों से सार्जेंट रिक्ति WB पुलिस SI और सार्जेंट ऑनलाइन आवेदन 19 अगस्त 2021 से पहले आवेदन कर सकते हैं। परीक्षा से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़ें डिटेल्स।


ऑनलाइन आवेदन जमा करने की प्रारंभिक तारीख-  19 जुलाई 2021

ऑनलाइन / ऑफलाइन आवेदन जमा करने की आखिरी तारीख-  19 अगस्त 2021

फीस का भुगतान करने की आखिरी तारीख-  21 अगस्त 2021
 

क्या है योग्यता

किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन की डिग्री ली हो

उम्र सीमा

उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र  20 साल  और अधिकतम उम्र 27 साल होनी चाहिए।

आवेदन फीस

जनरल/ OBC कैटेगरी के लिए 270 रुपये है और SC/ST के लिए 25 रुपये है। किसी भी बैंक के डेबिट कार्ड / क्रेडिट कार्ड / नेट-बैंकिंग के माध्यम से परीक्षा शुल्क का भुगतान करें। फीस का भुगतान विभिन्न ई-वॉलेट के माध्यम से भी किया जा सकता है।  


क्या है सिलेक्शन प्रोसेस

चयन प्रारंभिक लिखित परीक्षा, शारीरिक मानक और शारीरिक दक्षता परीक्षा, अंतिम लिखित परीक्षा और व्यक्तित्व परीक्षण के माध्यम से होगा।


अडाणी ग्रुप ने संभाला मुंबई एयरपोर्ट मैनेजमेंट का चार्ज, हजारों लोगों को रोजगार देने का किया वादा

गौतम अडाणी के अडाणी ग्रुप ने मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का टेकओवर पूरा कर लिया है। इस बात की जानकारी खुद गौतम अडाणी ने ट्वीट करके मंगलवार को दी।

मुंबई: अडाणी ग्रुप बीते कुछ सालों से एविएशन सेक्टर में अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है और आज इसी के तहत मुंबई एयरपोर्ट के मैनेजमेंट का काम टेकओवर कर लिया है। गौतम अडाणी के अडाणी ग्रुप ने मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का टेकओवर पूरा कर लिया है। इस बात की जानकारी खुद गौतम अडाणी ने ट्वीट करके मंगलवार को दी।

गौतम अडाणी ने ट्वीट किया, ‘वर्ल्ड क्लास मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मैनेजमेंट का टेकओवर करके हमें खुशी है। मुंबई को गौरवान्वित महसूस कराना हमारा वादा है। अडाणी समूह बिजनेस, लक्जरी और मनोरंजन के लिए भविष्य का एयरपोर्ट इकोसिस्टम खड़ा करेगा। हम हजारों स्थानीय लोगों को नया रोजगार देंगे।’


देश के प्रमुख एयरपोर्ट का मैनेजमेंट प्राइवेट हाथों में देने के लिएकेन्द्र सरकार ने वर्ष 2019 में बिडिंग मंगवाई थी। इसमें अहमदाबाद, लखनऊ, जयपुर, मंगलुरू, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम के हवाईअड्डों के मैनेजमेंट का ठेका अडाणी समूह को ही मिला था। अडाणी ग्रुप के पास इन एयरपोर्ट को ऑपरेट करने का 50 साल का ठेका है। एयरपोर्ट मैंनेजमेंट सेक्टर में GMR जैसे बड़े प्लेयर को ध्वस्त कर अडाणी ग्रुप ने ये ठेका हासिल किया था।

कंपनी ने कहा, भारत के 2024 तक दुनिया के तीसरे सबसे बड़े विमानन बाजार बनने के साथ अडाणी समूह के छह हवाई अड्डों के मौजूदा पोर्टफोलियो में मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा जुड़ने और ग्रीनफील्ड नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (एनएमआईएएल) का संचालन एक ट्रांसफॉर्मेशनल एविएशन प्लेटफॉर्म प्रदान करता है, जो अडानी ग्रुप को अपने बी2बी और बी2सी बिजनेस को इंटरलिंक करने के साथ-साथ ग्रुप के अन्य बी2बी बिजनेस के लिए कई रणनीतिक नजदीकियां बनाने की इजाजत देता है। अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड अगले महीने नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण शुरू करेगी और अगले 90 दिनों में फाइनेंशियल क्लोज़र को पूरा करेगी। यह नया अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा 2024 में चालू हो जाएगा।


शिक्षा मंत्री ने किया NEET Exam 2021 के तिथि का एलान, जानिए कब से किया जा सकता है आवेदन

पहले नीट परीक्षा का आयोजन 1 अगस्त को होना था लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते मेडिकल प्रवेश परीक्षा और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन दोनों का एग्जाम शेड्यूल आगे बढ़ाया गया है।

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर लगातार छात्रों द्वारा की जा रही NEET 2021 एग्जाम की मांग केंद्रीय शिक्षा मंत्री द्वारा मान लिया गया है। नए शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने नीट एग्जाम के तिथि की घोषणा कर दी है। आज से एग्जाम के लिए आवेदन किया जा सकता है। मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट का आयोजन 12 सितंबर को होगा। इसके लिए छात्र मंगलवार (13 जुलाई) शाम 5 बजे से ntaneet.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकेंगे। 


शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने सोमवार को यह घोषणा की। पहले नीट परीक्षा का आयोजन 1 अगस्त को होना था लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते मेडिकल प्रवेश परीक्षा और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन दोनों का एग्जाम शेड्यूल आगे बढ़ाया गया है। नीट परीक्षा के जरिए छात्र देश भर के मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस, बीडीए, बीएएमएस समेत विभिन्न कोर्सेज में एडमिशन ले सकेंगे।


शिक्षा मंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'नीट यूजी का आयोजन देश भर में कोविड-19 प्रोटोकॉल के साथ 12 सितंबर 2021 को होगा। आवेदन की प्रक्रिया एनटीए वेबसाइट के जरिए कल शाम 5 बजे से शुरू होगी। नीट एग्जाम सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कराई जा सकें, इसके लिए परीक्षा वाले शहरों की संख्या 155 से बढ़ाकर 298 कर दी गई है। परीक्षा केंद्रों की संख्या भी 3862 (वर्ष 2020) से बढ़ा दी गई है।'


शिक्षा मंत्री ने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'कोविड-19 गाइडलाइंस के साथ परीक्षा कराने के लिए सभी स्टूडेंट्स को परीक्षा केंद्रों पर नए फेस मास्क दिए जाएंगे। एंट्री व एग्जिट गेट पर भीड़ न लगे, इसके लिए अलग अलग रिपोर्टिंग टाइम दिए जाएंगे। रजिस्ट्रेशन कॉन्टेक्टलैस होगा। पूरा सैनिटाइजेशन किया जाएगा।'


GAIL में निकली बम्पर भर्ती, ऐसे करें आवेदन, 5 अगस्त 2021 है अंतिम तिथि

नई दिल्ली: गैस अथॉर्टी इंडिया लिमिटेड (GAIL) में सरकार नौकरी करने के इच्छुक लोगों के लिए बम्पर भरती निकली है। गेल ने विभिन्न विभागों में कुल 220 सरकारी नौकरियों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया है। यह भर्ती मेकेनिकल, मार्केटिंग, एचआर, सिविल, विधि, राजभाषा, समेत कई विभागों में मैनेजर, सीनियर इंजीनियर, सीनियर ऑफिसर और ऑफिसर के पदों के लिए निकाली गई है।

ऐसे करें आवेदन

गेल (इंडिया) लिमिटेड की ऑफिशियल वेबसाइट, gailonline.com पर उपलब्ध कराये गये ऑनलाइन अप्लीकेशन फॉर्म के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया बुधवार, 7 जुलाई से ही शुरू हो चुकी है और उम्मीदवार 5 अगस्त 2021 तक अपना अप्लीकेशन ऑनलाइन सबमिट कर पाएंगे। उम्मीदवारों को 200 रुपये का शुल्क भी भरना होगा, जिसका भुगतान आवेदन के दौरान ऑनलाइन मोड में किया जा सकेगा। हालांकि, एससी, एसटी और दिव्यांग उम्मीदवारों को आवेदन शुल्क नहीं जमा करना है। इन उम्मीदवारों को आवेदन शुल्क में पूरी छूट दी गयी है।


इन पदों के लिए होनी है भर्ती


मैनेजर (मार्केटिंग-कमोडिटी रिस्क मैनेजमेंट): 4 पद 4
मैनेजर (मार्केटिंग इंटरनेशनल एलएनजी और शिपिंग): 6 पद
सीनियर इंजीनियर (केमिकल): 7 पद
सीनियर इंजीनियर (मैकेनिकल): 51 पद
सीनियर इंजीनियर (इलेक्ट्रिकल): 26 पद
सीनियर इंजीनियर (इंस्ट्रुमेंटेशन): 3 पद
सीनियर इंजीनियर (सिविल): 15 पद
सीनियर इंजीनियर (गेलटेल टीसी/टीएम): 10 पद
सीनियर इंजीनियर (बॉयलर ऑपरेशन): 5 पद
सीनियर इंजीनियर (पर्यावरण इंजीनियरिंग): 5 पद
सीनियर ऑफिसर (ईएंडपी): 3 पद
सीनियर ऑफिसर (एफ एंड एस): 10 पद
सीनियर ऑफिसर (सी एंड पी): 10 पद
सीनियर ऑफिसर (बीआईएस): 9 पद
सीनियर ऑफिसर (मार्केटिंग): 8 पद
सीनियर ऑफिसर (एचआर): 18 पद
सीनियर ऑफिसर (कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन): 2 पद 2
सीनियर ऑफिसर (लॉ): 4 पद 4
सीनियर ऑफिसर (एफ एंड ए): 5 पद
ऑफिसर (प्रयोगशाला): 10 पद
ऑफिसर (सिक्योरिटी): 5 पद 5
ऑफिसर (राजभाषा): 4 पद


बेसिल एम्स भर्ती 2021: AIIMS दिल्ली में कंसल्टेंट की भर्ती के लिए बेसिल ने निकाली भर्ती

इंजीनियरिंग कंसल्टेंट्स इंडिया लिमिटेड (बेसिल) ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली के प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट (पीएमयू) में कंसल्टेंट और सीनियर कंसल्टेंट के पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया है।

नई दिल्ली: AIIMS में नौकरी करने का वालों के लिए अच्छी खबर हैं। दरअसल, इंजीनियरिंग कंसल्टेंट्स इंडिया लिमिटेड (बेसिल) ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली के प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट (पीएमयू) में कंसल्टेंट और सीनियर कंसल्टेंट के पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया है।

कंपनी द्वारा 2 जुलाई 2021 को जारी भर्ती विज्ञापन के अनुसार दोनो ही पदों की कुल 5 रिक्तियों पर संविदा के आधार पर भर्ती की जानी है, और संविदा की अवधि आरंभ में एक वर्ष होगी। हालांकि, इस अवधि को उम्मीदवार के प्रदर्शन और संस्थान की आवश्यकता के आधार पर बढ़ाया जा सकता है।

बेसिल एम्स भर्ती 2021 विज्ञापन के अनुसार आवेदन के इच्छुक उम्मीदवार ,ऑफिशियल वेबसाइट, becil.com पर जाकर निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार आवेदन कर सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया 2 जुलाई से ही शुरू हो चुकी है और अंतिम तिथि 15 जुलाई 2021 निर्धारित की गयी है।

उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए ऑनलाइन आवेदन समय उन्हें 750 रुपये का आवेदन शुल्क भरना होगा और एक से अधिक पदों के लिए आवेदन करने पर दूसरे पद के लिए 500 रुपये अतिरिक्त शुल्क भी भरना होगा।


इन पदों के लिए हो रही है भर्ती

सीनियर कंसल्टेंट / कंसल्टेंट (हॉस्पिटल मैनेजमेंट)
सीनियर कंसल्टेंट / कंसल्टेंट (प्रोजेक्ट मैनेजमेंट)
सीनियर कंसल्टेंट / कंसल्टेंट (प्रोक्योरमेंट)
सीनियर कंसल्टेंट / कंसल्टेंट (प्रोजेक्ट फाइनेंशियल मैनेजमेंट)
सीनियर कंसल्टेंट / कंसल्टेंट (आईटी प्रोजेक्ट मैनेजमेंट)

वेतन
 
कंसल्टेंट पदों के लिए 50 हजार रुपये प्रतिमाह
सीनियर कंसल्टेंट पदों के लिए 1 लाख रुपये प्रतिमाह


हिमाचल प्रदेश के वन विभाग में निकली फॉरेस्ट गार्ड की भर्ती, आवेदन की अंतिम तिथि 6 जुलाई

विभाग द्वारा 18 जून 2021 को जारी नोटिस और शेड्यूल के अनुसार बिलासपुर चंबा धर्मशाला हमीरपुर कुल्लू मंडी नाहन शिमला और अन्य समेत राज्य के विभिन्न सर्किल में कुल 311 फॉरेस्ट की भर्ती की जानी है। साथ ही हिमाचल प्रदेश फॉरेस्ट गार्ड की भर्ती संविदा के आधार पर की जानी है।

नई दिल्ली: वन विभाग  में फॉरेस्ट गार्ड भर्ती की तैयारी में जुटे युवाओं के लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल, हिमाचल प्रदेश के वन विभाग ने फारेस्ट गॉर्ड के लिए वैकेंसी निकाली है। विभाग द्वारा 18 जून 2021 को जारी नोटिस और शेड्यूल के अनुसार बिलासपुर चंबा धर्मशाला हमीरपुर कुल्लू मंडी नाहन शिमला और अन्य समेत राज्य के विभिन्न सर्किल में कुल 311 फॉरेस्ट की भर्ती की जानी है। साथ ही हिमाचल प्रदेश फॉरेस्ट गार्ड की भर्ती संविदा के आधार पर की जानी है।

आवेदन विवरण और शेड्यूल

हिमाचल वन विभाग वन रक्षक भर्ती नोटिस के अनुसार इन पदों के लिए आवेदन की प्रक्रिया जुलाई के पहले सप्ताह के दौरान 6 जुलाई से शुरू होनी है जो कि 45 दिनों तक यानि 19 अगस्त 2021 तक चलेगी। वन विभाग भर्ती के लिए निर्धारित चयन प्रक्रिया के अंतर्गत आवेदन के आधार पर योग्य पाये गये उम्मीदवारों के लिए फिजिकल टेस्ट का आयोजन 21 सितंबर से 20 अक्टूबर 2021 तक किया जाएगा। इसके बाद उम्मीदवारों के लिए ओएमआर आधारित लिखित परीक्षा का आयोजन 31 अक्टूबर को किया जाएगा जिसमें सम्मिलित होने के लिए उम्मीदवारों के प्रवेश पत्र 21 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक डाउनलोड के लिए उपलब्ध कराये जाएंगे।


आवश्यक योग्यता

हिमाचल प्रदेश वन रक्षक पदों पर भर्ती के लिए आवेदन के इच्छुक उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से इंटरमीडिएट या कक्षा 12 की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए।

इस तरह से होगा चयन

हिमाचल प्रदेश वन विभाग में फॉरेस्ट गार्ड पदों के लिए उम्मीदवारों का चयन फिजिकल फिटनेस टेस्ट लिखित परीक्षा रेटिंग के आधार पर किया जाएगा। फिजिकल फिटनेस टेस्ट क्वालीफाईंग नेचर का होगा। चयन प्रक्रिया की अधिक जानकारी के लिए भर्ती से सम्बन्धित नोटिस देखें।


GSTA: 12वीं के छात्रों को दी जाएगी फ्री करियर काउंसलिंग की सुविधा

छात्र एक्सपर्ट्स के आर्ट्स, कॉमर्स, इंजीनियरिंग, पॉलिक्टेनिक, फॉर्मा, लॉ और जर्नलिज्म आदि से जुड़े करियर संबंधित सवाल पूछ सकेंगे। इसके अलावा एसोसिएशन के ऑफिस में 28 जून से छात्रों की ऑफलाइन समस्याओं का हल बताया जाएगा।

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली  के सरकारी स्कूल टीचर्स एसोसिएशन ने कक्षा 12 के छात्रों के लिए फ्री करियर कांउसलिंग के लिए हेल्पडेस्क की शुरुआत की है। इसके जरिए छात्रों को उनकी रुचि के हिसाब से सही करियर चुनने में मदद मिलेगी। एसोसिएशन की ओर से एक गूगल फॉर्म उपलब्ध कराया गया है जिसमें छात्रों को मांगी गई जरूरी जानकारी भरनी होगी।

छात्र एक्सपर्ट्स के आर्ट्स, कॉमर्स, इंजीनियरिंग, पॉलिक्टेनिक, फॉर्मा, लॉ और जर्नलिज्म आदि से जुड़े करियर संबंधित सवाल पूछ सकेंगे। इसके अलावा एसोसिएशन के ऑफिस में 28 जून से छात्रों की ऑफलाइन समस्याओं का हल बताया जाएगा।

ऐसे भरें गूगल फॉर्म:

1. सबसे पहले गूगल फॉर्म ओपन करें।
2. इसके बाद मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि जानकारी भरें।
3. स्कूल का नाम, जिला, तहसील और स्ट्रीम आदि की जानकारी भरें।
4. गूगल फॉर्म में उपलब्ध कोर्स में से छात्र अपने पसंदीदा कोर्स के बारे में जानकारी के लिए उसका चुनाव करें।
5. अगर कोई सवाल है तो उसे कमेंट में लिखें।
6. सबमिट करें।
7. एसोसिएशन की ओर से आपके सवाल का जवाब दिया जाएगा।







कोरोना की हार और नौकरियों की बहार ! अप्रैल 2021 में 12.76 लाख कर्मचारी EPFO से जुड़े

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के साथ अप्रैल 2021 में 12.76 लाख कर्मचारी जुड़े। इसमें मार्च की तुलना में 13.73 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

नई दिल्ली: कोरोना की दूसरी लहर अब खत्म होने की कगार पर है। कोरोना काल में लाखों लोगों ने अपनी नौकरियों से हाथ धोया है। लेकिन अब धीरे धीरे जिंदगी पटरी पर लौटनी शुरू हो गई है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के साथ अप्रैल 2021 में 12.76 लाख कर्मचारी जुड़े। इसमें मार्च की तुलना में 13.73 प्रतिशत की वृद्धि हुई। मार्च 2021 में यह 11.22 लाख थी। श्रम विभाग की ओर से यह जानकारी दी गई है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में ईपीएफओ ने कुल 77.08 लाख नए सदस्य जोड़े, यह संख्या एक साल पहले 78.58 लाख थी।इससे यह पता चलता है कि कोविड-19 महामारी के बीच संगठित क्षेत्र में नौकरी के अवसर कैसे रहे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, ईपीएफओ में अप्रैल 2021 में 12.76 लाख सदस्य (कर्मचारी) जुड़े। कोविड-19 की दूसरी लहर के बावजूद मार्च 2021 की तुलना में नए कर्मचारियों की संख्या में शुद्ध रूप से 13.73 प्रतिशत का इजाफा देखा गया। जारी आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2021 की तुलना में अप्रैल 2021 में ईपीएफओ की सदस्यता छोड़ने वालों की संख्या 87,821 कम रही। इसी तरह इस दौरान दोबारा ईपीएफओ से जुड़ने वाले सदस्यताओं की संख्या मार्च से 92,864 ज्यादा रही।

मई 2021 में जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक पिछले साल अप्रैल में ईपीएफओ में कर्मचारियों के नए नामांकन में 2,84,576 की गिरावट दर्ज की गई थी। इसका सीधा सा अर्थ है कि अप्रैल 20 में ईपीएफओ की सदस्यता छोड़ने वाले लोगों की संख्या योजना से जुड़ने वाले या दोबारा जुड़ने वाले लोगों से अधिक थी। इसका मुख्य कारण कोविड-19 की पहली लहर के दौरान सरकार की ओर से लगाए गए लॉकडाउन के असर के कारण हुआ था। अप्रैल 2021 में ईपीएफओ से जुड़ने वाले 12.76 लाख नए सदस्यों में से करीब 6.89 लाख सदस्य पहली बार ईपीएफओ के सामाजिक सुरक्षा कवच में आए हैं।


यहां निकली 25 जूनियर असिस्टेंट की भर्ती, आप भी करें आवेदन

नई दिल्ली: अगर आप ग्रेजुएट हैं और सरकारी नौकरी की तलाश में हैं तो यह खबर आपके काम की है। दरअसल, असम चाय बागान कामगारों की सामाजिक सुरक्षा के लिए कार्य कर रहे असम टी इंप्लॉयीज प्रोविडेंट फंड ऑर्गेनाइंजेशन (एटीईपीएफओ) ने अपने मुख्यालय और विभिन्न जिला कार्यालयों में जूनियर असिस्टेंट के 25 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया है।

संगठन ने जूनियर असिस्टेंट की भर्ती के लिए विज्ञापन बुधवार, 16 जून 2021 को ऑफिशियल वेबसाइट, atppf.nic.in पर जारी किया। विज्ञापन के अनुसार जूनियर असिस्टेंट की पे-बैंड-2 रु.14000-49000 के साथ ग्रेड पे 6200 पर भर्ती की जानी हैं। हालांकि, विभिन्न प्रकार लागू भत्ते भी नियुक्त किये गये उम्मीदवारों को दिये जाएंगे।

क्या होनी चाहिए अभ्यर्थी की योग्यता

जूनियर असिस्टेंट की सरकारी नौकरी के लिए वे ही उम्मीदवार आवेदन के पात्र हैं जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में स्नातक डिग्री ली हो। साथ ही, उम्मीदवारों को कंप्यूटर में कम से कम 6 माह का डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स किया होना चाहिए। साथ ही, उम्मीदवारों की आयु 1 जून 2021 को 21 वर्ष से कम और 38 वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए। 


हालांकि, एससी, एसटी, ओबीसी और अन्य वर्गों के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में छूट का भी प्रावधान किया गया है। अधिक जानकारी के लिए भर्थी अधिसूचना देखें।


हरियाणा पुलिस में निकली 520 सिपाहियों की भर्ती, ऐसे करें आवेदन

ऑफिशियल वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया कल, 14 जून, 2021 से शुरू की जानी है। आवेदन करने की लास्ट डेट 29 जून, 2021 है।

चंडीगढ़: हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) ने पुलिस विभाग के कमांडो विंग (ग्रुप-सी) में मेल कॉन्स्टेबल के पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी करते हुए आवेदन आमंत्रित किये हैं। ऑफिशियल वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया कल, 14 जून, 2021 से शुरू की जानी है। आवेदन करने की लास्ट डेट 29 जून, 2021 है। इच्छुक व पात्र उम्मीदवार, adv12021.hryssc.in पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई कर सकेंगे। वहीं, hssc.gov.in पर जाकर डिटेल नोटिफिकेशन चेक कर सकते हैं।

इस भर्ती के माध्यम से मेल कॉन्टेबल के कुल 520 रिक्त पद भरे जाने हैं। उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर नोटिफिकेशन के माध्यम से कटेगरी के अनुसार वैकेंसी डिटेल्स चेक कर सकते हैं। नोटिफिकेशन में शैक्षिक योग्यता, आयु सीमा व अन्य पात्रता सहित आवेदन से संबंधित विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई गई है।

आवेदन से जुड़ी महत्वपूर्ण तिथियां

  • ऑनलाइन आवेदन शुरू होने की तिथि : 14 जून, 2021
  • ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि : 29 जून, 2021
  • शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि : 5 जुलाई, 2021

योग्यता मानदंड

इस भर्ती के लिए वैसे उम्मीदवार आवेदन करने के पात्र हैं, जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त शिक्षा बोर्ड या संस्थान से 10+2 या समकक्ष परीक्षा पास की हो। इसके अलावा, मैट्रिक या उच्च शिक्षा में हिंदी या संस्कृत एक विषय के रूप में हो। वहीं, जहां तक आयु सीमा की बात है तो सभी वर्गों के उम्मीदवारों की आयु 18 से 21 वर्ष निर्धारित की गई है। आयु की गणना 1 जून 2021 के अनुसार की जाएगी। योग्यता मानदंड की डिटेल जानकारी के लिए अधिसूचना देख सकते हैं।


ऐसे होगा चयन

उम्मीदवारों का चयन पीएमटी, पीएसटी और नॉलेज टेस्ट के आधार पर किया जाएगा। चयन प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी अधिसूचना में दी गई है। उम्मीदवार इसे चेक कर सकते हैं।

इस तरह से करें ऑनलाइन आवेदन

ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए उम्मीदवारों को ऑफिशियल वेबसाइट, adv12021.hryssc.in पर विजिट करना होगा। वेबसाइट पर 14 जून से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और एप्लीकेशन फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।


MBA पास युवाओं के लिए खुशखबरी, योगी सरकार देगी हॉस्पिटल्स में नौकरी, संभालनी होगी मैनेजमेंट की जिम्मेदारी

MBA पास युवाओं के लिए खुशखबरी, योगी सरकार देगी हॉस्पिटल्स में नौकरी, संभालनी होगी मैनेजमेंट की जिम्मेदारी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में एमबीए पास युवाओं के लिए खुशखबरी है। यूपी में एमबीए पास युवाओं को जल्द ही सरकारी हॉस्पिटल में रोजगार का मौका मिलेगा।

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार काे लखनऊ में टीम-9 के साथ बैठक में कहा कि अस्पताल में डॉक्टरों से केवल इलाज करवाने का ही काम लिया जाए। स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग के अलग-अलग अस्पतालों या कार्यालयों जहां भी डॉक्टरों की तैनाती प्रशासनिक या प्रबंधकीय कार्यों में की गई है, उन्हें तत्काल कार्यमुक्त कर दिया जाए।  इन लोगों को चिकित्सकीय कार्यों में ही लगाया जाए। प्रबंधन के कार्यों के लिए आवश्यकतानुसार एमबीए पास युवाओं को मौका दिया जाना चाहिए। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड केस कम होने के अब गतिविधियां धीरे-धीरे सामान्य हो रही हैं। अस्पतालों में ओपीडी और आईपीडी सेवाएं, सर्जरी आदि शुरू की गई हैं, लेकिन वही लोग अस्पताल आएं, जिनकी स्थिति गंभीर हो। घर से बाहर कम से कम निकलें।

सीएम ने कहा कि टेलीकन्सल्टेशन का उपयोग करें। सभी मेडिकल कॉलेजों, जिला स्तरीय अस्पतालों में टेलीकन्सल्टेशन की व्यवस्था को और बेहतर किया जाए। अधिकाधिक डॉक्टरों को इससे जोड़ा जाए। लोगों को इस सेवा के उपयोग के लिए जागरूक किया जाए।


क्या आप जानते हैं सबसे पहला आधार कार्ड किसका बना था ?

क्या आप जानते हैं सबसे पहला आधार कार्ड किसका बना था ?


IAS या IPS बनना इतना आसान नहीं है। क्योंकि UPSC की सिविल सेवा परीक्षा को पास करना काफी मुश्किल होता है। हर साल लाखों छात्र परीक्षा देते हैं। उनमें से कुछ ही होते हैं, जो मेरिट में स्थान बनाकर IAS या IPS बनते हैं। सबसे पहले प्रीलिम्स की परीक्षा पास करनी होती है। इसके बाद बारी आती है मैंस और इंटरव्यू की।


बताया जाता है कि इनमें सबसे मुश्किल इंटरव्यू होता है। इंटरव्यू में अभ्यर्थी के विषय से इतर भी कई सवाल पूछे जाते हैं। ऐसे ही कुछ सवाल  नीचे दिए गए हैं। अब आप देखिए कि इनमें से कितने के सही जवाब जानते है। 

सवाल- ऐसा कौन-सा जानवर है, 6 दिनों तक सांस रोक सकता है?

जवाब- बिच्छू

 
सवाल- एक वर्ष में कितने मिनट होते हैं?

जवाब-  एक वर्ष में 525600 मिनट होते हैं।



सवाल- IP का फुलफॉर्म बताइए?

जवाब-  इंटरनेट प्रोर्टोकॉल


सवाल- सबसे कठोर पदार्थ कौन-सा है?

जवाब-  हीरा


सवाल- भारत में सबसे पहले आधार कार्ड किसका बना था?

जवाब-  रंजना सोनावने (Ranja Sonawane)


सवाल- भारत में ऐसा कौन-सा रेलवे स्टेशन है, जिसका आधा हिस्सा महाराष्ट्र और आधा गुजरात में है?

जवाब- नवापुर


सवाल- हमारा राष्ट्रगीत कौन-सा है?
जवाब- वंदे मातरम्


12वीं के बाद कीजिये ये कोर्स, लाइफ हो जाएगी सेट

नई दिल्ली: 12वीं परीक्षा पास करने के बाद हर छात्र चाहता है वह कुछ न कुछ ऐसा कोर्स करें जिसकी बदौलत वह अच्छी नौकरी हासिल कर सके। तो आइए हम आपको बताते है कि 12वीं के बाद आप कौन कौन से कोर्स करके अपनी जिंदगी बना सकते हैं।




1 फोटोग्राफी कोर्स


कई इंस्टीट्यूट और यूनिवर्सिटी में फोटोग्राफी कोर्सेज करवाए जा  रहे हैं। इस कोर्स में फोटोग्राफी के टेक्निकल पहलुओं को शामिल किया जाता है। अगर आप इस कोर्स में रुचि रखते हैं तो बता दें, आगे फोटोग्राफी के फील्ड में काफी स्कोप है। आप भविष्य में फोटोजर्नलिज्म में ग्रेजुएशन की डिग्री ले सकते हैं।


2 ज्वेलरी डिजाइनिंग कोर्स


ज्वेलरी डिज़ाइन में करियर बनाने के लिए डिप्लोमा, डिग्री या सर्टीफिकेट कोर्स कर सकते है। ज्वेलरी डिजाइन में करियर बनाने के लिए 12वीं पास होना बहुत जरूरी है। इसके बाद आप आगे के कोर्स कर सकते हैं। 10वीं पास वालों के लिए भी ज्वेलरी डिज़ाइन में बेहतरीन करियर विकल्प है।


3 एनीमेशन कोर्स

एनीमेशन फील्ड सबसे क्रिएटिव फील्ड में से एक है। एनिमेशन एक ऐसा कोर्स है,  एनीमेशन कला और प्रौद्योगिकियों का एक संयोजन है जिसमें 2 डी और 3 डी में दर्शकों और उपयोगकर्ताओं को प्रभावित और शिक्षित किया जा सकता है। अगर आप ये कोर्स करना चाहते हैं तो 12वीं के बाद एनिमेशन-3D,  BA (ऑनर्स) एनिमेशन, BFA (एनीमेशन), BA इन एनीमेशन एंड डिजिटल आर्ट्स की ड्रिग्री ले सकते हैं।

4 लैंग्वेज कोर्स

अगर आपको कई भाषाएं सीखने में दिलचस्पी है तो आप लैंग्वेज कोर्स कर सकते हैं। आप जर्मन, स्पैनिश और फ्रेंच भाषा सीखने के लिए कोर्स कर सकते हैं। कोर्स के बाद आप किसी कंपनी में भाषा अधिकारी की नौकरी कर सकते हैं। इसके अलावा आप ट्रेवल गाइड जैसी पार्ट टाइम जॉब कर के भी अच्छे पैसे कमा सकते हैं।


5 इवेंट मैनेजमेंट

अगर आप पार्टियों के शौकीन है और आपको हर चीज मैनेज करना पसंद हैं, तो आपके लिए इवेंट मैनेजमेंट एक अच्छा कोर्स है। इवेंट मैनेजमेंट का स्कोप इंटरनेशन लेवल पर भी अच्छा है।


यूपी पुलिस भर्ती 2021: SI की 9534 वैकेंसी के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाई गई

यूपी पुलिस भर्ती 2021: SI की 9534 वैकेंसी के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाई गई

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ( UPPRPB या UPPBPB ) की ओर से निकाली गई यूपी पुलिस में सब-इंस्पेक्टर (एसआई) की 9534 वैकेंसी के लिए आवेदन की अंतिम तिथि एक बार फिर बढ़ा दी गई है। यूपीपीआरपीबी ने अंतिम तिथि 16 दिन बढ़ाते हुए अब 15 जून 2021 तय की है। पहले यह 30 मई थी।


यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट uppbpb.gov.in पर नोटिस जारी कर कहा है कि कोविड-19 महामारी व लॉकडाउन होने, सायबर कैफ बंद होने आदि कारणों से भर्ती के लिए आवेदन करना चाह रहे अभ्यर्थियों को आवेदन पत्र भरे जाने के लिए जरूरी प्रमाणपत्र बनवाने में समस्याएं आ रही हैं। उनकी दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए बोर्ड ने आवेदन की अंतिम तिथि 16 दिन और बढ़ाते हुए 15 जून 2021 किए जाने का निर्णय लिया है।  

एसआई के कुल 9534 पदों में 3613 पद अनारक्षित हैं। 902 पद ईडब्ल्यूएस, 2437 पद ओबीसी, 1895 एससी, 180 एसटी वर्ग के लिए आरक्षित हैं।


भर्ती से जुड़ी जरूरी जानकारी

- एसआई के 9534 रिक्त पदों में नागरिक पुलिस में 9027, प्लाटून कमांडर पीएसी में 484 और अग्निशमन द्वितीय अधिकारी के 23 पद हैं। 

योग्यता 

नागरिक पुलिस व प्लाटून कमांडर पीएसी में एसआई पद के लिए - किसी भी विषय में ग्रेजुएशन


अग्निशमन द्वितीय अधिकारी के लिए - साइंस साइड में ग्रेजुएट।

आयु सीमा - 21 से 28 वर्ष। इस भर्ती के वही उम्मीदवार आवेदन कर सकता है जिसका जन्म 02 जुलाई 1993 से पहले और 01 जुलाई 2000 के बाद न हुआ हो। 

उत्तर प्रदेश के एससी, एसटी, ओबीसी वर्ग को आयु सीमा में 5-5 वर्ष की छूट दी जाएगी।

वेतनमान - 9300- 34800 व ग्रेड पे - 4200 रुपये 



कद-काठी संबंधी योग्यता 

ऊंचाई 


सामान्य, ओबीसी व एससी वर्ग के लिए - कम से कम 168 सेमी
एसटी वर्ग के लिए - 160 सेमी
सीना 
सामान्य, ओबीसी व एससी वर्ग के लिए - बिना फुलाए 79 सेमी और फुलाकर 84 सेमी
एसटी वर्ग के लिए - बिना फुलाए 77 सेमी और फुलाकर 82 सेमी
ध्यान रहे कि कम से कम 5 सेमी सीने का फुलाव अनिवार्य है।


महिलाओं के लिए 

ऊंचाई 
सामान्य, ओबीसी व एससी वर्ग के लिए - कम से कम 152 सेमी
एसटी वर्ग के लिए - 147 सेमी

वजन 
सभी महिला अभ्यर्थियों के लिए कम से कम 40 किलोग्राम
कैसे होगा चयन 
लिखित परीक्षा और शारीरिक दक्षता परीक्षा।



लिखित परीक्षा का पैटर्न 

लिखित परीक्षा 400 अंकों की होगी जिसमें ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाएंगे। दो घंटे की इस ऑनलाइन लिखित परीक्षा में चार अलग अलग विषयों का एक-एक प्रश्न पत्र होगा। 

सामान्य हिन्दी - 100 अंक
मूलविधि/संविधान/सामान्य ज्ञान- 100 अंक
संख्यात्मक एवं मानसिक योग्यता परीक्षा - 100 अंक
मानसिक अभिरुचि परीक्षा/बुद्धिलब्धि परीक्षा/तार्किक परीक्षा - 100 अंक
लिखित परीक्षा में पास अभ्यर्थियों को शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा। शारीरिक दक्षता परीक्षा केवल क्वालिफाइंग होगी। 

शारीरिक दक्षता परीक्षा 

पुरुषों के लिए - 4.8 किमी की दौड़ 28 मिनट में पूरी करनी होगी।
महिलाओं के लिए - 2.4 किमी की दौड़ 16 मिनट में पूरी करनी होगी।

आवेदन फीस 

जनरल व ओबीसी - 400 रुपये 
एससी, एसटी - 400 रुपये 


फाइनल मेरिट 

ऐसे अभ्यर्थी जो शारीरिक दक्षता परीक्षा क्वालिफाई कर लेंगे, उन्हें लिखित परीक्षा में प्राप्तांक के आधार पर मेडिकल के लिए बुलाया जाएगा। लिखित परीक्षा में प्राप्तांक के आधार पर ही फाइनल मेरिट लिस्ट बनेगी।



 हर बार की तरह लाखों अभ्यर्थी इसके लिए आवेदन करेंगे, ऐसे में जाहिर है कई उम्मीदवारों के मार्क्स में टाई होगा। आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को सबसे पहले लिखित परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा। लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को शारीरिक दक्षता परीक्षा (पीईटी) के लिए बुलाया जाएगा। जो पीईटी में सफल होंगे, उन्हें लिखित परीक्षा में प्राप्त मार्क्स के आधार पर फाइनल मेरिट में जगह मिलेगी। 
अगर फाइनल मेरिट में दो या उससे अधिक अभ्यर्थियों के मार्क्स समान आते हैं तो किसका चयन होगा? किसे मेरिट में ऊपर रखा जाएगा? इसके लिए यूपीपीआरपीबी ने तीन नियम बनाए हैं। इन नियमों पर खरा उतरने वाले अभ्यर्थी को मेरिट में ऊपर रखा जाएगा। 


रूल नंबर - 1

1- (a) जिसके पास DOEACC/NIELIT सोसायटी से कंप्यूटर में ओ लेवल का सर्टिफिकेट हो। 

 (b)- प्रादेशिक सेना में कम से कम 2 साल तक सेवा की हो

 (c)- एनसीसी बी सर्टिफिकेट हो। 


अगर ऊपर दी गई योग्यता रखने वाले व्यक्ति को वरीयता दी जाएगी। अगर किसी व्यक्ति के पास ऊपर में से एक से अधिक योग्यता है तो उसकी योग्यता कोई एक ही मानी जाएगी। 


रूल नंबर 2 - अगर अब फैसला नहीं होता है तो अधिक आयु वाले अभ्यर्थी को वरीयता दी जाएगी। 


रूल नंबर 3 - 10वीं के सर्टिफिकेट में जो अभ्यर्थी का नाम होगा, उसके नाम के पहले अंग्रेजी अक्षर के अनुसार वरीयता दी जाएगी। जिसका अंग्रेजी अक्षर वर्णमाला में पहले आएगा, उसे वरीयता दी जाएगी।


बढ़ती बेरोजगारी पर फूटा लोगों का गुस्सा, सरकार को सुनाई खरी-खोटी, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #डिग्री_जलाओ_आंदोलन

बढ़ती बेरोजगारी पर फूटा लोगों का गुस्सा, सरकार को सुनाई खरी-खोटी, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #डिग्री_जलाओ_आंदोलन

नई दिल्ली: कोरोना काल में बढ़ती बेरोजगारी के खिलाफ लोगों का गुस्सा एक बार फिर से सरकार के खिलाफ फूटा है। लोगों ने सोशल मीडिया पर अपने गुस्से का इजहार किया। लोगों ने तरह-तरह के कमेंट सरकार के खिलाफ किया।


लोगों ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए ट्विटर पर #डिग्री_जलाओ_आंदोलन ट्रेंड कराया। इसे ट्विटर पर अच्छा खासा रेस्पॉन्स मिला है। लोगों ने कांग्रेस और भाजपा दोनों को ही बढ़ती बेरोजगारी के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

इतना ही नहीं ट्विटर पर 'बैचलर ऑफ बेरोजगार' लिखे प्रतीकात्मक डिग्रियों की जलती हुई तस्वीरें भी ट्वीट की है। लोग अलग अलग तरीके से अपने गुस्से का इजहार कर रहे हैं।


Merger of Banks से जनता कितनी खुश या नाराज? RBI 21 राज्यों में करने जा रहा सर्वे

Merger of Banks से जनता कितनी खुश या नाराज? RBI 21 राज्यों में करने जा रहा सर्वे

by राजन सिंह

मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने हाल में हुए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय के संबंध में ग्राहकों की संतुष्टि के बारे में पता लगाने के लिए एक सर्वे करने का फैसला किया है. इसके तहत अन्य सवालों के अलावा यह भी पूछा जाएगा कि क्या विलय ग्राहक सेवाओं के लिहाज से सकारात्मक रहा या नहीं. इस सवाल के जवाब में ग्राहकों के पास - अत्यधिक सहमत, सहमत, ठीकठाक, असहमत, अत्यधिक असहमत, जैसे विकल्प होंगे.

लोगों से पूछे जाएंगे 22 सवाल

ये सर्वे उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), महाराष्ट्र (Maharashtra), पश्चिम बंगाल (West Bengal), तमिलनाडु (Tamil Nadu), बिहार (Bihar), कर्नाटक (Karnataka), मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) और गुजरात (Gujarat) सहित 21 राज्यों के कुल 20,000 पर किया जाएगा, जिनसे 22 सवालों के जवाब देने होंगे. इन 22 सवालों में चार सवाल खासतौर से उन बैंकों के ग्राहकों के लिए हैं, जिनकी शाखाओं का दूसरे बैंक की शाखाओं में विलय किया गया है. इन ग्राहकों से ग्राहक सेवाओं और शिकायतों के समाधान को लेकर उनके अनुभवों के बारे में पूछा जाएगा.